POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: khayal mere

Blogger: chakresh
मेरी हर नज़्म की रूह हो तुम,हर अल्फाज में छिपी जो तुम।तुम से आगे कुछ लिख न सका,हर अहसास में सिमटी हो तुम।।कैसे लिख दूं तुम से परे मैं,हर जज़बात में ठहरी हो तुम।कभी झांक सकती दिल में मेरे,तस्वीर में दिल की दिखती तुम।।मेरी सुनहरी सी सुबह में,सोने सी दमकती हो तुम।चांद की चां... Read more
clicks 33 View   Vote 0 Like   5:43am 13 Apr 2021 #
Blogger: chakresh
Wanna reciprocate gifts,Return the passion Return the nights,Return the envious thoughtsAnd Return the loveWhy Think about worldly things..Wanna reciprocate giftsReturn the prioritiesReturn the lifeReturn the words And return the loveWhy think only about materials..Return those dreamsReturn wrinkles of pillowsReturn hearth aches And return all promisesThen return the loveOnly materials are counted as gifts?... Read more
clicks 26 View   Vote 0 Like   11:25am 10 Apr 2021 #
Blogger: chakresh
अलविदा कह कर तुम्हें,आखिरी सलाम करता चलूं।हुकुम तुम्हारा सिर माथे पे,इश्क को बदनाम करता चलूं।।बिन खिड़की दरवाजे के घर बना,खुद को मैं गुमनाम करता चलूं।दगाबाज का तमगा दिल से लगा,साबित अपना इमान करता चलूं।।अकेले में कब तक करूं बात तुमसे,यह अखिरी पैगाम पढ़ता चलूं।भूलना ... Read more
clicks 35 View   Vote 0 Like   1:48am 3 Mar 2021 #
Blogger: chakresh
तुमसे सपनों में मिल जाता हूं,सुबह निशान तुम्हारे ढूंढता हूं।मिलता हूं खुद से ही फिर मैं,अपनी अलग दुनिया में बनाता हूं।।दूरियां तुम्हें सुहाती ही होगी,मैं हैरान, परेशान सा रहता हूं।समझ कुछ आता नहीं मुझे,खुद से ही खफा खफा सा रहता हूं।।तुम्हारी बातें, तुम्हारी यादें,दि... Read more
clicks 26 View   Vote 0 Like   3:16am 1 Mar 2021 #
Blogger: chakresh
दूरियां कितनी भी हो दरम्यान,चाहतें जिंदा रहती हैं।भरे मेले में तुम्हारे बिन,तन्हाईयां साथ मेरे रहती हैं।।यह उल्फत कैसी हैं तेरी,बात तक करने से मुकरती हैं।मैसेज तक न कर पाती तू,मजबूरियों तेरी तू ही समझती हैं।।उम्मीदें टूटी हैं, पर हारा नही,दिल की जुस्तजू तू ही हैं।गफ... Read more
clicks 32 View   Vote 0 Like   4:12am 20 Feb 2021 #
Blogger: chakresh
इस बार आना तो फिर न जाना,फूलों में महक सी ठहर जाना।रुक जाना मेरे पास तुम,ज़िंदगी भर का साथ निभाना।इस बार आना तो फिर न जाना।।सहन नहीं कर पाता दर्द दूर होने का,बार बार यह दर्द न दे जाना।दिल में तस्वीर जो मेरे लगी हैं,मेरे जीवन में उसे तुम सजाना।इस बार आना तो फिर न जाना।।रेश... Read more
clicks 27 View   Vote 0 Like   7:54pm 15 Feb 2021 #
Blogger: chakresh
  बेचैनी तो तुम्हें जतला चुका हूं, अब सब्र भी दिखा दूंगा। भूलना बहुत मुश्किल हैं तुम्हें, जुबां से पर नाम तक न लूंगा मैं।।चाहती हो जो तुम मुझसे हमेशा,इस बार कर के दिखा दूंगा।बंद कर दूंगा दिल के रास्ते सारे,खुद को ऐसी सजा दूंगा मैं।।दिल, प्यार, अहसास और सपने,सब टूट ज... Read more
clicks 14 View   Vote 0 Like   3:26am 11 Feb 2021 #
Blogger: chakresh
आंखों में बची थी एक चिंगारी,उसका बुझ जाना बाकी रह गया।तुम्हें देखते ही दिल का उलझ जाना,उलझन को मेरी सुलझाना बाकी रह गया।।तुम्हारी मुस्कान को दिल से लगा,तुम्हारी गोद में सो जाना बाकी रह गया।जाना तुम्हारा कुछ जल्दी रहा,दो पल का मिलना बाकी रह गया।।कुछ दिनों के लिए तुम्हे... Read more
clicks 26 View   Vote 0 Like   2:58am 29 Jan 2021 #
Blogger: chakresh
रूह से खुशी का पता पूछना,तुम्हें मुझ तक ले आएगी।दिल के कोने में कभी झांक कर देखना,तस्वीर मेरी सजी मिल जायेगी।।जा तो रही हो दूर मुझसे बहुत तुम,कभी कभी याद भी आएगी।यूं नहीं टूटता दिल का रिश्ता,आह दिल से तुम्हारे भी निकल जायेगी।।शुष्क हुआ अगर दिल कभी तुम्हारा,बारिश की हर ब... Read more
clicks 58 View   Vote 0 Like   5:11pm 23 Dec 2020 #
Blogger: chakresh
कितनी बार हारा हूं मै तुम्हें,गिन भी न पाऊंगा।हर हार पर ऐसे टूटा हूं,अब फिर जुड़ भी न पाऊंगा।।तेरी खता कुछ भी नहीं,पर मैं संभाल न पाऊंगा।खो देने का मलाल ताउम्र रहेगा,खुश कैसे रह पाऊंगा।।तू गलत कहां रही है कभी,पर हर गलती मैं कर जाऊंगा।अजीब खेल होता है मेरे साथ,हर बार यूं ह... Read more
clicks 41 View   Vote 0 Like   3:06am 16 Dec 2020 #
Blogger: chakresh
मुश्किल कितना होता है,किसी को भुला देना।गुलाब के पौधे से जैसे,उसकी खुशबू मिटा देना।।बसा दिल में हो जाने कब से,बेदखली की सजा क्यूं देना।जलते हुए चिराग को बुझा,जीवन में अंधेरा फैला देना।।जहां रोशन हुआ जिस रोशनी से,कैसे उस शमा को हवा देना।बहुत देर कर दी आने में तूने,मेरा ... Read more
clicks 138 View   Vote 0 Like   7:27pm 4 Dec 2020 #
Blogger: chakresh
 Like a margin in a notebook, I am the optional one. Presence may be there,  Though I am insignificant one..  Like a one sided love story, I am the obsessed one, Like a weed in your garden, I am the unwanted one..  Hundreds of mistakes last time,  I am the careless one.  People know how to move on,  I am the adamant one.... Read more
clicks 37 View   Vote 0 Like   1:02am 27 Nov 2020 #
Blogger: chakresh
गर आज अहाटें आ भी रही हैं,तो दिल तक पहुंचेगी नहीं।भूलना होगा उस शख्स को,बसता है जो दिल में कहीं।।अनसुनी करनी होगी दस्तक,दर पे खटखटा हैं रहा है वही।यादों का क्या हैं, जिद भी हैं,बात पता नहीं होगी कि नहीं।।खामखां उसे परेशान क्यूं करना,चला मैं अपनी राह पर कहीं।दिल भी मचलना ... Read more
clicks 39 View   Vote 0 Like   12:59pm 31 Oct 2020 #
Blogger: chakresh
तुम्हारे जाने और साथ रहने का,अगर मुझ पर कोई असर न होता।दिल का दर्द छलकता हुआ सा,मेरी ज़ुबान से यूं न बह रहा होता।।क्यूं बात बात में वहीं चला जाता हूं,अगर कभी तुमने समझा होता।शायद बात बात पर जाने की,तू ऐसे बात न कर रहा होता।।ग़म यह भी हैं के तू बहुत देर से आया,काश! तू बहुत पह... Read more
clicks 42 View   Vote 0 Like   2:51am 26 Oct 2020 #
Blogger: chakresh
आहटें तेरी मुझ तक पहुंचती रही हैं,तुझे समझ न आये तो मैं क्या करूं।करता रहूं तुझे याद हर पल मैं,जज़्बात पहुंच न पाए तो मैं क्या करूं।।अजीब से बैचैनी लिया बैठा हूं मैं,मुझे याद तेरी आए तो मैं क्या करूं।भीगता रहूं बारिश में देर तक, जलन न बुझ पाए तो मैं क्या करूं।।सोचता हू... Read more
clicks 51 View   Vote 0 Like   4:10pm 13 Oct 2020 #
Blogger: chakresh
तू बोतल मेरी, मैं ढक्कन तेरा,ढक ले मुझे, उड़ न जाए इत्र मेरा।आधा अधूरा सही, पर रहा में तेरा,समझ पाया गर कभी इशारा तू मेरा।नारियल सा मैं थोड़ा सख्त सा,समा जा मुझ में, बन पानी मेरा।शुष्क सा हूं थोड़ा सा बाहर से,झांक दिल में, मिलेगा प्यार तेरा।।शब्दों पर मत जाया कर मेरे,भावों ... Read more
clicks 44 View   Vote 0 Like   11:07am 10 Oct 2020 #
Blogger: chakresh
जाने क्या खता की जो,उम्र भर की सजा देने लगा।जीवन का हिस्सा माना उसे,अचानक अलविदा करने लगा।।दुनिया की कहानी में बह कर,खुद से क्यों झगड़ने लगा।जूझता रहा खुद आंधी से,लौ सा जलने बुझने लगा।।जिन अक्षरों से जहां बना हैं,वह उनको अब समझने लगा।पूछता हैं क्यों हैं इतना लगाव,दिल की ... Read more
clicks 56 View   Vote 0 Like   6:56pm 30 Sep 2020 #
Blogger: chakresh
एक मीठी सी सरगम,कभी सुनाना तुझे चाहता हूं।थिरकता रहूं साथ तेरे,धुन एक ऐसी बजाना चाहता हूं।।साथ चलूं जीवन की राह पर,हम राह तुझे बनाना चाहता हूं।इन्द्रधनुष सा घुल कर फिजा में,नए रंग जीवन में भरना चाहता हूं।।कुछ खामोश पल बिता साथ तेरे,धड़कन तेरी सुनना चाहता हूं।फ़ुरसत क... Read more
clicks 65 View   Vote 0 Like   9:25am 27 Sep 2020 #
Blogger: chakresh
दिल पर एक बोझ लिए फिरता हूँ,मैं आज भी तुमसे इश्क़ करता हूँ।दूर निकल गई हो मुझसे तुम, जुनून एक सिर पर लिए फिरता हूँ।।चैन नहीं पल भर का दिल में मेरे,धड़कन अपनी छुपाए रखता हूँ।होठों से न निकल जाए नाम तेरा,ज़ुबान पर ताला लगाए रखता हूँ।।मेरा दर्द मेरा हैं, तू इसे अपना न करमैं अप... Read more
clicks 47 View   Vote 0 Like   8:02am 19 Sep 2020 #
Blogger: chakresh
क्यों उस गली जा रहे हो,जो छोड़ आये हो पहले कभी।जिंदगी खड़ी हैं सामने तुम्हारे,गले लगा लो मुस्करा कर अभी।।बीते पलों को याद कर,दुखी होने से होगा क्या।नदी सी सागर की ओर,निकल पड़ो अभी।।समय चक्र चलता रहेगा,बढ़ते रहो जीवन पथ पर।मंजिल दूर सही, राह कठिन सही,थकना नहीं, रुकना नही कभी।... Read more
clicks 65 View   Vote 0 Like   2:22am 14 Sep 2020 #
Blogger: chakresh
खुशियों की लहरें तुम्हारे कदम चूमे,हवा तुम्हारे बदन पर खुशबु से झूमे।पल एक नहीं,जीवन सारा लय में हो।बांसुरी की सरगम,हमसफ़र तुम्हारी बने।।ख्वाईश तुम्हारी कोई,अधूरी न रहे।धुन प्रेम की,तुम्हारे आंगन में पले।।जन्मदिन पर तुम्हें,प्यार सदाबहार मिले।आनंद, शांति और स्... Read more
clicks 66 View   Vote 0 Like   4:38am 12 Sep 2020 #
Blogger: chakresh
तस्वीर देख कर तुम्हारी,कविता खुद बन जाती हैं।हिलते हैं होंठ खुद ही,धुन कोई निकल जाती हैं।।चांद छुपा हैं बादलों में,चांदनी आंखों में उतर जाती हैं।मुस्कान बिखरी हैं ऐसी,इत्र हवा में मिल जाती हैं।।तकता रहा हूँ बार बार यूँ,नज़र खुद ब खुद चली जाती हैं।दिल ने रोकना चाहा तो ब... Read more
clicks 64 View   Vote 0 Like   5:59pm 4 Sep 2020 #
Blogger: chakresh
फिल्मों सा प्यार कभी जीवन में नहीं होता।जो छूटता हैं हाथ,वह वापिस क्यों नहीं होता।।कर लेता हैं राह अलग,तू फिर हमराह नहीं होता।भागेगा कब तक यूँ ही तू,सच से तेरा सामना नहीं होता।।आग कैसी लगाए बैठा हैं,जिसमें धुआँ नहीं होता।सुलगता रहा हैं ता उम्र इस कदर,तू कभी राख नहीं ... Read more
clicks 74 View   Vote 0 Like   11:06pm 28 Aug 2020 #
Blogger: chakresh
साथ है भगवान तेरे, तू इतना डरता क्यों है। हाथ तेरा थाम लेगा वो, फिर फिक्र करता क्यों है। कारवाँ है साथ तेरे, तन्हां सा रहता क्यों है। चलता रह तू हो बेफिक्र, तू थका सा रहता क्यों है। जिन्दगी हंस के जी जरा, तू हैरान लगता क्यों है।हौसला रख सीने में अपने तू, त... Read more
clicks 52 View   Vote 0 Like   6:56pm 21 Aug 2020 #
Blogger: chakresh
सोचता हूँ जाने कितनी बार,की फिर बात करूं तुमसे।पूछूं कैसा हैं वह हाथ तुम्हारा,जो रसोई घर में जल गया।।या यह भी पूछूं के कभी तुमसे,भूल गई हो शायद बहुत जल्दी।मुझस समय न दे पाना तुम्हारा,मुझे बहुत बुरा लग गया।।सोचा था पूछोगी किसी रोज,क्यों बात नहीं कर रहा हूँ।पर शायद आगे नि... Read more
clicks 56 View   Vote 0 Like   3:32pm 2 Aug 2020 #
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3990) कुल पोस्ट (194120)