POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: मानव 'मन'

Blogger: Manav Mehta
इक ‘रेस’ सी लगी है मानोदौड़ते जाते हैं सब एक दूसरे से आगे –जाने सफर जिंदगी का मुकम्मल कब होगा !!मानव मेहता ‘मन’ ... Read more
clicks 239 View   Vote 0 Like   5:01pm 2 May 2013 #रेस
Blogger: Manav Mehta
बाद-ए-अरसे तो तू मुझको मिला है ऐ मेरे नाहिद फिर यूँ ना कर तू मुझसे अब ये बेरुखी की बातें कि मेरे हालात तुझे खोने की गुंजाईश नहीं रखते !!‘मन’* नाहिद – प्रियवर,महबूब,प्रेयसी ... Read more
clicks 213 View   Vote 0 Like   9:27am 26 Apr 2013 #हालात
Blogger: Manav Mehta
जब से बा-रंग हुई है जिंदगी,खुद को ढूँढता फिरता हूँ मैं...न जाने किस ओर गुम हो गया हूँ मैं,हो गर वाकिफ़ तो बताओ पहचान मेरी......कुछ इस तरह से है ; कि जिंदगी में,भर आया है इक प्यार का दरिया...डूब गया हूँ शायद मैं इसमे,या तैर रहा हूँ मौजे-सुखन में...नहीं एहसास अब कोईइक दर्द-ए-इश्क के सिव... Read more
clicks 197 View   Vote 0 Like   5:54pm 19 Apr 2013 #प्यार
Blogger: Manav Mehta
शाम ढली तो लेम्प के इर्द-गिर्दकुछ अल्फाज़ भिन-भिनाने लगे.......‘टेबल’ के ऊपर रखे मेरे ‘राईटिंग पेड’ के ऊपर-उतर जाने को बेचैन थे सभी ......कलम उठाई तो गुन-गुनाई एक नज़्म-मूँद ली आँखें दो पल के लिए उसको सुनने की खातिर हुबहू मिलती थी उससे –एक अरसा पहले जिसे मैंने सुना था कभी ....आँख ख... Read more
clicks 155 View   Vote 0 Like   5:35pm 10 Apr 2013 #तेरा नाम
Blogger: Manav Mehta
कुछ अनकहे लफ्ज़-टांगे हैं तेरे नाम,इक नज़्म की खूंटी पर...और वो नज़्म-तपती दोपहर में...नंगे पाँव-दौड़ जाती है तेरी तरफ ...!!गर मिले वो तुझको,तो उतार लेना वो लफ्ज़-अपने जहन के किसी कोने मेंमहफूज कर लेना....!!और मेरी उस नज़्म के पांव के छालों पर,लगा देना तुम अपनी मोहब्बत का लेप.....!!मा... Read more
clicks 139 View   Vote 0 Like   5:25pm 29 Mar 2013 #लफ्ज़
Blogger: Manav Mehta
कुछ रोज पहले ही तो-दफ़नाया था तुझको...मकान के पिछले लॉन में.....मिट्टी की जगह डाले थे,कुछ लम्हें अफसुर्दगी के-और अपनी आँखों का खरा पानी भी-और सबसे ऊपर अपने ज़ख्मों का-बड़ा सा पत्थर भी रख छोड़ा था उस पर....सोचा था जिंदगी अब से आसान गुजरेगी....हूँ.....!!!वहम था मेरा.....भला अँगुलियों से भ... Read more
clicks 151 View   Vote 0 Like   5:12am 20 Mar 2013 #दर्द
clicks 110 View   Vote 0 Like   10:33am 14 Mar 2013 #
Blogger: Manav Mehta
“तारो-ताज़ा लग रहा है आज ये मन मेरा,जाड़ों की खिली धूप में नहा कर निकला हो जैसे...जर्द पत्ते भी अब हरे हो गए हैं इसके,टहनियों पर इसके खुशियों के फूल उग आये हैं...बदला बदला सा लग रहा है आज हर मौसम,इसकी दीवारों से दर्द के सीलन की महक हट गई है,परदे भी कुछ उजले से नज़र आ रहें हैं मुझ... Read more
clicks 190 View   Vote 0 Like   5:04pm 22 Feb 2013 #रिश्ता
Blogger: Manav Mehta
जी चाहता है रंग दूँ सपनों को अपने,हाथों  में  तेरे  हिना  भी  रंग  दूँ...भर दूँ तेरी दुनिया खुशियों से हमदम,आँचल  में  तेरे सितारे  भी  भर दूँ... ना हो तेरी महफ़िल में पतझड़ का मौसम,तेरे  चमन को हमदम  बहारों से भर दूँ...तू  जो चले  मेरे जानिब  दो कदम,इस जादा-ऐ-तलब को नज़ारों से भर द... Read more
clicks 124 View   Vote 0 Like   5:12pm 13 Feb 2013 #तेरे लिए
Blogger: Manav Mehta
Valentine Week Special :)झुकी हुई पलकों से कुछ इशारे हो गए,डूबते हुए नखुदा को सहारे हो गये...उम्र भर चाहता रहा खुद को,इक नज़र में गैर भी प्यारे हो गए...नशा छाया तुम्हारा हम पे कुछ ऐसा,बिन सोचे समझे हम तुम्हारे हो गए...मुझे जब से फलक पर बिठा दिया है तुमने,तबसे मेरे हमराह चाँद सितारे हो गए...इक अ... Read more
clicks 125 View   Vote 0 Like   5:16pm 8 Feb 2013 #वीरान-ए-बहार
Blogger: Manav Mehta
तेरे शब्दचोट करते हैंमुझ पर....किसी लोहार केहथोड़े कि मानिद...मैं सोच रहा हूँआखिरतुम मुझे __किस शक्ल मेंढालना चाहती हो........ Read more
clicks 104 View   Vote 0 Like   11:37am 27 Oct 2012 #
Blogger: Manav Mehta
आओ दोनों लोहे की जंज़ीरों से बंध जायें...दोनों सिरे मिलाकर एक जिंदा लगा दें,सुना है कच्चे धागे का रिश्ता-अक्सर टूट जाया करता है.......!!!... Read more
clicks 129 View   Vote 0 Like   8:55am 13 May 2012 #
Blogger: Manav Mehta
वक्त को हथेली पर रख करऊँगलियों पर लम्हें गिने हैं...दर्द देता है हौले से दस्तक-इन लम्हों के कई पोरों में बसा हुआ है वो....!!ज़ब्त करती हैं जब पलकें,किसी टूटे हुए ख्वाब को-आँखों में दबोचती हैंतब पिघलता नहीं है मोम-बस टुकड़े चुभते हैं उस काँच के....!!इन आँखों से अब पानी नहीं रिसता,द... Read more
clicks 100 View   Vote 0 Like   4:04pm 8 May 2012 #
Blogger: Manav Mehta
कुछ लफ्ज़ अपनी मोहब्बत के-बिखेर दो मेरे आँगन....इन हवाओं में घोल दो-अपनी चाहत की नमी...!!बरस जाओ बन के बादलमेरे जिस्म-ओ-जां पर...कि मेरी रूह का इक टुकड़ा भी प्यासा ना रहें...!!उतर आओ सितारों के झीने से इक रोज,और बाँट लो खुद को मेरी रगों में...आहिस्ता आहिस्ता ;पिघल जाओ बदन में मेरे-कि... Read more
clicks 126 View   Vote 0 Like   10:26am 15 Jan 2012 #एहसास
Blogger: Manav Mehta
मुझसे रूठ कर जो जाओगे तो कहाँ जाओगे,मेरे वजूद, मेरे एहसास को कैसे छुपाओगे....मेरी यादें बेचैन कर देंगी तुमको,महफ़िल में जो कभी खुद को तनहा पाओगे..रुक जाएँगी सांसें, थम जाएगी धड़कन,अचानक से मेरा नाम जो कभी गुनगुनाओगे...छत पर टहलते हुए, तारों की छाँव में,अपने अक्स की जगह सिर्फ ... Read more
clicks 137 View   Vote 0 Like   10:51am 26 Nov 2011 #एहसास
Blogger: Manav Mehta
"कौन है तेरा वहां, किस के पास जायेगा अब तू, 'कौन पहचानेगा तुझे, बस्ती में जो जाएगा अब तू....' 'वो तो बनते है तेरे सामने, तजाहुल-पेशगी*, 'बाद ए मौत ही उसका साथ, पायेगा अब तू...'सुराब* न निकले, उनकी भी ये दोस्ती कहीं,'दुआ कर ले खुदा से, वर्ना मर जाएगा अब तू.....''हर वक्त तो रहती है आँखो... Read more
clicks 128 View   Vote 0 Like   4:58pm 25 Sep 2011 #अकेलापन
Blogger: Manav Mehta
"मैंने ज़िन्दगी को नहीं, ज़िन्दगी ने मुझे जिया लगता है,एक अजीब सा खारापन, आँखों ने 'पिया' लगता है...एक उम्र से मैं अपनी ज़िन्दगी की तलाश में हूँ,ये जीवन तो जैसे, किसी से, उधार 'लिया' लगता है...ख्वाहिशों  के फूल मुरझा गए मेरे जेहन के अन्दर ही,चाक है सीना जख्मों से, फिर भी 'सिया' लगत... Read more
clicks 119 View   Vote 0 Like   4:26pm 16 Sep 2011 #दर्द
Blogger: Manav Mehta
 ममता की मूरत होती है माँ,ज़िन्दगी की जरुरत होती है माँ...खुशियों का खजाना होती है माँ,देवी सी सूरत होती है माँ...माँ ही हमको देती है शिक्षा,गुरु है वो नहीं लेती दीक्षा...उसके ही आँचल में हमें मिलता है प्यार,हद से ज्यादा हमें देती है दुलार...दिखाती है हमें वो मंजिल सही,वहां जा... Read more
clicks 106 View   Vote 0 Like   1:07pm 5 Aug 2011 #माँ
Blogger: Manav Mehta
ख़ामोशी.............लम्बी ख़ामोशी................ चलो अब इसका मज़ा भी चख लें.............. तुझसे होते हुए कई शब्दों को सुना मैंने ,कुछ शहद की तरह मीठे थे और कुछ नीम की तरह कडवे............कुछ में तेरे प्यार की खुशबू महकती थी तो कुछ यूँ लगता था जैसे कोई अजनबी ने राह चलते हुए पुकारा हो ..........कुछ को समझ पायाऔर... Read more
clicks 128 View   Vote 0 Like   10:08am 12 Jun 2011 #ख़ामोशी
Blogger: Manav Mehta
"तेरा वजूद है कायम मेरे दिल में उस इक बूँद की तरह, जो गिर कर सीप में इक दिन मोती बन गयी....."     ... Read more
clicks 122 View   Vote 0 Like   7:47am 1 Jun 2011 #
Blogger: Manav Mehta
कौन चलता है ताउम्र किसी के साथसाँसें भी थम जाती हैं धड़कन रूक जाने के बादतुमसे नहीं गिला कोई जो किया अच्छा कियारिश्ते बदल जाते हैं अकसर मौसम बदल जाने के बाद.......                           मानव मेहता ... Read more
clicks 113 View   Vote 0 Like   10:02am 21 May 2011 #
Blogger: Manav Mehta
बादलों की ओट से निहारता है चन्दा जब तेरी छत परसिहरन सीदौड़ जाती हैतन बदन मेंचान्दनी की ठंडकजब छू सी जाती है तेरी आँखों कोमेरे लबों कीखुशबुतेरी आँखों को महका सी जाती है....ये हवा कीझीनी चादरजब उड़ा जाती हैतेरे बालों कोमेरे हाथों कीनर्मीतेरे सर कोसहला सी जाती है........बादल ढक ... Read more
clicks 122 View   Vote 0 Like   4:10pm 10 May 2011 #मदहोशी
Blogger: Manav Mehta
किस ओर की अब राह लूँ मैं,किस ओर मंजिल की डगर है,हूँ खड़ा मैं सोचता पथ पर,किस ओर जाऊं हर ओर तिमिर है...इन्हीं अंधेरों में डूब गयी हर चाह मेरी,किस ओर ले जाती है अब ये राह मेरी....स्वप्न मेरे खो गये सब,खो गयी सारी दिशायें,मूक बन कर रह गयी अब,मेरी सारी अभिलाषाएं....गूंजती है उर में अ... Read more
clicks 113 View   Vote 0 Like   1:32am 25 Apr 2011 #
Blogger: Manav Mehta
ज़िन्दगी बेबस है इन ग़मगीन हालातों में,उम्मीद का कोई सूरज नया उगा ले....मेरी दुआएं कबूल हो ये मुमकीन नहीं लगता,तू अपने लिए आशियाना कोई और नया बना ले...ये चाहत के सपने, ये सपनों की बातें,सपनों से बढ़ कर नहीं कोई अपना,माना कि मुमकिन नहीं अपना मिलना,मगर कोई ऐसा इक सपना तो सजा ले....... Read more
clicks 130 View   Vote 0 Like   7:12am 15 Apr 2011 #

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3968) कुल पोस्ट (190548)