POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: कल्पनाओं का वृक्ष More for your Finance

Blogger: विवेक रस्तोगी
    गुरू द्रोण और द्रुपद दोनों ने एक साथ महर्षि अग्निवेश के आश्रम में धनुर्वेद की शिक्षा प्राप्त की, तब दोनों अच्छे मित्र हुए..     उस समय द्रुपद ने द्रोण से कहा था .. "प्रिय द्रोण, तुम मेरे अत्यंत प्रिय मित्र हो, जब मैं आने पिता की राजगद्दी पर बैठूंगा, उस समय मेरे राज्य का त... Read more
clicks 80 View   Vote 0 Like   3:16am 18 Jun 2013 #मेरी पसंद
Blogger: विवेक रस्तोगी
    बिना पेन कार्ड के म्यूचयल फ़ंडमें निवेशकरना बहुत मुश्किल है, वह भी जब से नियामक ने KYC के नियम म्यूचयल फ़ंडखरीदने के लिये लागू कर दिये हैं, तब २०११ में नियामक ने म्यूचयल फ़ंडखरीदने के लिये जिन लोगों के पास पेन कार्ड नहीं थे उन लोगों के लिये नियामक ने माइक्रो निवेश सुविधा ... Read more
clicks 85 View   Vote 0 Like   11:24am 17 Jun 2013 #Financial Planning
Blogger: विवेक रस्तोगी
     एक किस्सा बताते हैं, एक बार नौकरीशुदा आदमी ने सोचा चलो अपने गृहनगर में नये फ़्लैट बन रहे हैं, और अपनी पहुँच में हैं तो क्यों ना उसमें एक फ़्लैट ले लिया जाये, पता लगाया गया बंदा भारत के दूसरे कोने में रहता था, उसने अपने पापा को कहा कि आप इसके बारे में पता कीजिये, पापा ने कहा ... Read more
clicks 91 View   Vote 0 Like   10:53am 16 Jun 2013 #वित्तीय उत्पाद
Blogger: विवेक रस्तोगी
    हमने क्रेडिट कार्ड लगभग ६ वर्ष पहले उपयोग करना शुरू किया था, तब हमें ज्यादा जानकारी नहीं थी सैलेरी बैंक अकाँऊट ने हमें क्रेडिट कार्ड के लिये कहा तो हमने भी ले लिया।  क्रेडिट कार्ड लेने के पहले इसके उपयोग और जीवनक्रम की पूर्ण जानकारी ले ली गई, उसका फ़ायदा यह है कि आज तक ... Read more
clicks 91 View   Vote 0 Like   2:59am 15 Jun 2013 #वित्तीय उत्पाद
Blogger: विवेक रस्तोगी
    सेबी के परिपत्र CIR/IMD/DF/21/2012 दिनांक १२ सितंबर २०१२ के अनुसार एवं AMFI के विभिन्न दिशानिर्देशों के अनुसार अब म्यूचयल फ़ंड खरीदते समय निवेशक को आवेदन पत्र / ट्रांजेक्शन रिक्वेस्ट पर Employee Unique Identification Number (EUIN) और डिस्ट्रीब्यूटर एवं सबडिस्ट्रीब्यूटर का AMFI Registration Number ("ARN") क होना सुनिश्च... Read more
clicks 80 View   Vote 0 Like   3:12am 14 Jun 2013 #वित्तीय उत्पाद
Blogger: विवेक रस्तोगी
    अभी कुछ दिनों पहले मुंबई आने के पहले एक दिन के लिये बैंगलोर में था तब नारायण मूर्ती जी को जिन्होंने बहुत करीब से देखा था, उनसे मुलाकात हुई, हालांकि यह मुलाकात व्यक्तिगत नहीं व्यावसायिक थी । उन्होंने बताया कि वे NRN को भगवान का दर्जा देते हैं, क्योंकि उनकी किसी से भी तुल... Read more
clicks 81 View   Vote 0 Like   2:16am 13 Jun 2013 #मेरी पसंद
Blogger: विवेक रस्तोगी
    सुबह जल्दी की फ़्लाईट हो तो सारी दिनचर्या अस्तव्यस्त हो जाती है, एक दिन पहले सारा समान पैक करा, टिकट भी एयर इंडिया में मिला था तो समान भी केवल १५ किलो, पहले तो सारा समान पैक कर लिया गया और फ़िर तोला गया पता चला कि २१ किलो हो गया है, फ़िर एक और बैग किया गया, जिसमें चेक इन वाले ब... Read more
clicks 89 View   Vote 0 Like   2:11am 5 Jun 2013 #मुंबई
Blogger: विवेक रस्तोगी
     “धर्मो रक्षति रक्षत:”अर्थात धर्म की रक्षा से ही सबकी रक्षा होती है, अगर हम धर्म की रक्षा करेंगे तो धर्म हमारी रक्षा करेगा ।     वेदों को बहुत करीब से जानने की बहुत ही तीक्ष्ण इच्छा थी, और वेदों को पढ़ना कहाँ से शुरू किया जाये बहुत देखा, बहुत सोचा, फ़िर कल्याण के दो माह पहल... Read more
clicks 85 View   Vote 0 Like   3:29am 22 May 2013 #मेरी पसंद
Blogger: विवेक रस्तोगी
    भारतवर्ष पर प्रकृति की विशेष कृपा है। विश्व में यही एक देश है, जहाँ वर्षा में छ: ऋतुओं का आगमन नियमित रूप से होता है। सभी ऋतुओं में प्रकृति की निराली छ्टा होती है और जीवन के लिये प्रत्येक ऋतु का अपना महत्व होता है।     काल-क्रम से बसन्त ऋतु के बाद ग्रीष्म ऋतु आती है। भार... Read more
clicks 78 View   Vote 0 Like   3:41am 21 May 2013 #मेरी पसंद
Blogger: विवेक रस्तोगी
    करीबन ढ़ाई वर्ष पहल मुँबई से बैंगलोर आये थे तो हम सभी को भाषा की समस्या का सामना करना पड़ा, हालांकि यहाँ अधिकतर लोग हिन्दी समझ भी लेते हैं और बोल भी लेते हैं, परंतु कुछ लोग ऐसे हैं जो हिन्दी समझते हुए जानते हुए भी हिन्दी में संवाद स्थापित नहीं करते हैं, वे लोग हमेशा कन्नड़ ... Read more
clicks 77 View   Vote 0 Like   1:25am 20 May 2013 #मुंबई
Blogger: विवेक रस्तोगी
यातयामं गतरसं पूति पर्युषितं च यत् ।उच्छिष्टमपि चामेध्यं भोजनं तामसप्रियम् ॥ १० ॥ अध्याय १७     अर्थात - खाने से तीन घंटे पूर्व पकाया गया, स्वादहीन, वियोजित एवं सड़ा, जूठा तथा अस्पृश्य वस्तुओं से युक्त भोजन उन लोगों को प्रिय होता है, जो तामसी होते हैं ।     आहार का उद्देश्... Read more
clicks 77 View   Vote 0 Like   3:48am 15 May 2013 #मेरी पसंद
Blogger: विवेक रस्तोगी
स्पर्शान्कृत्वा बहिर्बाह्यांश्चक्षुश्चैवान्तरे भ्रुवोः ।प्राणापानौ समौ कृत्वा नासाभ्यन्तरचारिणौ ॥ २७ ॥यतेन्द्रियमनोबुद्धिर्मुनिर्मोक्षपरायणः ।विगतेच्छाभयक्रोधो यः सदा मुक्त एव सः ॥ २८ ॥अर्थात समस्त इन्द्रियविषयों को बाहर करके, दृष्टि को भौंहों के मध्य म... Read more
clicks 76 View   Vote 0 Like   2:32am 12 May 2013 #मेरी पसंद
Blogger: विवेक रस्तोगी
    हम बेटेलाल के साथ खेल रहे थे और अच्छी बात यह थी कि बेटेलाल कैरम में हमसे जीत रहे थे, तभी हमें थोड़ी खाँसी उठी, मुँह में बलगम था,  हम बलगम थूकने के लिये  उठे तो बेटेलाल बोले “डैडी, आज हार रहे हो, तो बीच में ही उठकर जा रहे हो”, हमने कहा “अरे नहीं, अभी दो मिनिट में आ रहे हैं, बलगम थ... Read more
clicks 80 View   Vote 0 Like   4:21pm 10 May 2013 #Indiblogger
Blogger: विवेक रस्तोगी
चाँद जब रोटी सा गोल होता है,पूर्ण श्वेत, अपने पूर्ण रूप में,उसकी आभा और निखर आती है,मिलते तो रोज हैं छत पर,पर देखना तुम्हें केवल इसी दिन होता है,काश की चाँद हर हफ़्ते पूर्ण हो,महीने में एक बार तुम्हें देखना,फ़िर दो पखवाड़े उसी सुरमई तस्वीर को,सीने से चिपकाकर सोता हूँ,तुम्हार... Read more
clicks 79 View   Vote 0 Like   11:12am 9 May 2013 #मेरी कविता
Blogger: विवेक रस्तोगी
    जब से मानव सभ्यता इस दुनिया में आई है शायद तभी से रिश्ते भी अस्तित्व में हैं, रिश्ते मतलब कि एक दूसरे से किसी भी प्रकार से जुड़ना, रिश्ता कैसा भी हो, रिश्ते में गर्माहट बहुत जरूरी है। रिश्ते भी कई प्रकार के हैं, खून के रिश्ते याने कि रिश्तेदार, दोस्त जो साथ पढ़ते हैं या का... Read more
clicks 72 View   Vote 0 Like   1:46am 8 May 2013 #मेरी पसंद
Blogger: विवेक रस्तोगी
    परिवार गर्मी की छुट्टियों में घर गया हुआ है, यही दिन होते हैं जब हम अकेले होते हैं और बेटेलाल अपने दादा दादी और नाना नानी का भरपूर स्नेह पाते हैं। बेटेलाल सुबह से रात तक अपने हमउम्र दोस्तों के साथ खेलने में व्यस्त होते हैं, वहाँ उनकी भरपूर मंडली है, और यहाँ बैंगलोर में... Read more
clicks 101 View   Vote 0 Like   2:05pm 2 May 2013 #उज्जैन
Blogger: विवेक रस्तोगी
    प्रगति कि पथ पर मानव बहुत दूर चला आया है। जीवन के हर क्षेत्र में कई ऐसे मुकाम प्राप्त हो गये हैं जो हमें जीवन की सभी सुविधाएँ, सभी आराम प्रदान करते हैं। आज संसार मानव की मुट्ठी में समाया हुआ है। जीवन के क्षेत्रों में सबसे अधिक क्रांतिकारी कदम संचार क्षेत्र में उठाए ग... Read more
clicks 80 View   Vote 0 Like   4:08pm 1 May 2013 #internet sharing
Blogger: विवेक रस्तोगी
    प्रगति कि पथ पर मानव बहुत दूर चला आया है। जीवन के हर क्षेत्र में कई ऐसे मुकाम प्राप्त हो गये हैं जो हमें जीवन की सभी सुविधाएँ, सभी आराम प्रदान करते हैं। आज संसार मानव की मुट्ठी में समाया हुआ है। जीवन के क्षेत्रों में सबसे अधिक क्रांतिकारी कदम संचार क्षेत्र में उठाए ग... Read more
clicks 77 View   Vote 0 Like   4:08pm 1 May 2013 #internet sharing
Blogger: विवेक रस्तोगी
दृश्य – हम घर से महाकाल अपनी बाईक पर जा रहे थे, गोपाल मंदिर से निकलते ही सिंहपुरी के पास हमारे एक पुराने मित्र मिल गये जो हमारे साथ एम.ए. संस्कृत में पढ़ते थे, अब पंडे हैं ।मित्र – और देवता क्या हाल चाल हैं ?हम – ठीक हैं, आप बताओ कैसे क्या चल रिया है ?मित्र – बस भिया महाकाल की छा... Read more
clicks 82 View   Vote 0 Like   2:32am 30 Apr 2013 #उज्जैन
Blogger: विवेक रस्तोगी
    भारत में वर्षा ऋतु एक महत्वपूर्ण ऋतु है। यह ऋतु आषाढ़, श्रावण और भादो मास में मुख्य रूप में विराजमान रहती है। वर्षा ऋतु हमें भीषण गर्मी से राहत दिलाती है। यह मौसम भारतीय किसानों के लिये बहुत हितकारी है।     फ़सलों के लिये पानी मिलता है तथा सूख गये कुएँ तालाब नदियाँ आदि ... Read more
clicks 81 View   Vote 0 Like   11:00pm 26 Apr 2013 #मेरी पसंद
Blogger: विवेक रस्तोगी
    प्रदेश की मुख्य सहकारी बैंक (अपेक्स बैंक) में KYC के कारण जाना हुआ, अब हमारे पिताजी चूँकि बात कर रहे थे, इसलिये हमने आगे रहकर बात करना उचित नहीं समझा। KYC के लिये जब पिताजी बात करके आये तो उसने साफ़ मना कर दिया और कहा कि अगले महीने आईये, उन्होंने जोर दिया तो उसने मैनेजर के केब... Read more
clicks 75 View   Vote 0 Like   1:36pm 25 Apr 2013 #मेरी पसंद
Blogger: विवेक रस्तोगी
    आज एक समाचार देखा निजी बैंक को एक कंपनी ने फ़र्जीवाड़े प्रोजेक्ट में ३३० करोड़ का चूना लगाया, उस कंपनी ने बैंक को एक प्रोजेक्ट रिपोर्ट दी कि हम बीबीसी के सारे वीडियो २ डी से ३ डी करने वाले हैं तो उसके लिये हमें उपकरण खरीदने हैं । कंपनी वाले बंदे ने एक बीबीसी वाले बंदे से ब... Read more
clicks 72 View   Vote 0 Like   2:48am 24 Apr 2013 #मेरी पसंद
Blogger: विवेक रस्तोगी
अधिकतर निवेशक इस द्वन्द से गुजरते हैं कि एक-मुश्त रकम को कहाँ और कैसे निवेश करें। जिन निवेशकों ने निवेश के लिये योजना बना रखी है और योजनाबद्ध तरीके से निवेश कर रहे हैं उनके लिये कोई परेशानी नहीं है, परंतु परेशानी उन निवेशकों के लिये है जिनके पास योजनाबद्ध निवेश की कोई य... Read more
clicks 71 View   Vote 0 Like   11:00pm 20 Apr 2013 #शेयर मार्केट
Blogger: विवेक रस्तोगी
आज की जटिल वित्तीय दुनिया में, निवेश के लिये निर्णय लेना भी बहुत बड़ी चुनौती बन चुकी है। दुर्भाग्यवश से एक अच्छा निवेश का विकल्प म्युचयल फ़ंड भी व्यक्तिगत निवेश के जगत में स्थाई जगह नहीं बना पाया है। वस्तुत: म्यूचयल फ़ंड स्कीमों में निवेश के विभिन्न विकल्प विभिन्न आवश्य... Read more
clicks 72 View   Vote 0 Like   11:00pm 19 Apr 2013 #शेयर मार्केट
Blogger: विवेक रस्तोगी
RGESS राजीव गांधी इक्विटी सेविंग स्कीम में आप टैक्स बचत का फ़ायदा ले सकते हैं अगर आपने अभी तक शेयर बाजार में निवेश नहीं किया है। इस स्कीम में आप म्यूचयल फ़ंड में भी निवेश कर सकते हैं इसमें ओपन एन्डेड और क्लोज एन्डेड दोनों स्कीम पिछले वर्ष आयी थीं ।RGESS राजीव गांधी इक्विटी सेवि... Read more
clicks 90 View   Vote 0 Like   11:09pm 18 Apr 2013 #शेयर मार्केट

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3965) कुल पोस्ट (190496)