POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: रायटोक्रेट कुमारेन्द्र

Blogger: कुमारेन्द्र सिंह सेंगर
बुन्देलखण्ड क्षेत्र में पावन पर्व कजली उत्साह और श्रद्धा के साथ मनाया जाता है. यहाँ की लोक-परम्परा में शौर्य-त्याग-समर्पण-वीरता का प्रतीक माने जाने वाले कजली का विशेष महत्त्व है. इस क्षेत्र के परम वीर भाइयों, आल्हा-ऊदल के शौर्य-पराक्रम के साथ-साथ अन्य बुन्देली रण-बाँ... Read more
clicks 0 View   Vote 0 Like   6:17pm 4 Aug 2020 #कजली
Blogger: कुमारेन्द्र सिंह सेंगर
आज, 31 जुलाई को लोग कई-कई कारणों से याद रखते हैं. कोई पार्श्व गायक मुहम्मद रफ़ी के कारण याद रखता है तो कोई साहित्यकार प्रेमचंद के कारण. इनके अलावा और भी बहुत से कारण होंगे आज की तारीख को याद करने के. इन्हीं बहुत से कारणों में एक कारण याद रखने का है, इस तिथि को विश्व पत्र दिवस मन... Read more
clicks 2 View   Vote 0 Like   11:33am 31 Jul 2020 #पत्र
Blogger: कुमारेन्द्र सिंह सेंगर
जिस तरह से कोरोना संक्रमण की स्थिति दिखाई दे रही है, उसके अनुसार सरकारों द्वारा लॉकडाउन पुनः लगाये जाने के सम्बन्ध में जिस तरह के कदम उठाये जा रहे हैं, उन्हें देखकर लगता नहीं है कि शिक्षण संस्थान सहज रूप में जल्दी शुरू हो सकेंगे. प्राथमिक और माध्यमिक स्तर के शिक्षण संस... Read more
clicks 8 View   Vote 0 Like   6:24pm 25 Jul 2020 #ऑनलाइन शिक्षण
Blogger: कुमारेन्द्र सिंह सेंगर
एक बहुत पुराना मधुर गीत है, पल भर के लिए कोई हमें प्यार कर ले, झूठा ही सही. इस गीत को जितनी बार सुनो, एक अलग तरह का सन्देश देता है. अब यह सन्देश सभी सुनने वालों के लिए एक जैसा होता होगा या नहीं, कहा नहीं जा सकता. इस गीत को दो तरह से समझने की आवश्यकता है. एक तरफ यदि इस गीत को देखा ज... Read more
clicks 44 View   Vote 0 Like   6:27pm 24 Jul 2020 #दोस्त
Blogger: कुमारेन्द्र सिंह सेंगर
एक मछली सारे तालाब को गंदा कर देती है, इसे सुनते रहे मगर देखने को अब मिल रहा है। एक प्राइमरी शिक्षक फर्जी मिला तो समूचे प्रदेश के शिक्षकों के कागज जाँचने की प्रक्रिया शुरू हो गई। जो शिक्षिका कई-कई जगहों पर नौकरी करती पाई गई उसके खिलाफ तो कार्यवाही हो गई मगर क्या वह बिना त... Read more
clicks 12 View   Vote 0 Like   6:11pm 22 Jul 2020 #शिक्षक
Blogger: कुमारेन्द्र सिंह सेंगर
तकनीक का लाभ समय-समय पर लेते रहना चाहिए. पिछले दिनों आत्मकथा कुछ सच्ची कुछ झूठीके प्रकाशन के सम्बन्ध में बहुत परेशानी उठानी पड़ी. ये और बात है कि अंततः वह प्रकाशित हो ही गई. तकनीक के दौर में इसका लाभ इसलिए भी लेते रहना चाहिए क्योंकि इससे प्रचार-प्रसार सहज हो जाता है. किसी ... Read more
clicks 27 View   Vote 0 Like   6:28pm 20 Jul 2020 #किंडल संस्करण
Blogger: कुमारेन्द्र सिंह सेंगर
किसी गलती की क्या सजा हो सकती है? ये गलती पर निर्भर करता है या सजा देने वाले की मानसिकता पर? अब सजा देने वाले के मन की कोई क्या जाने मगर जहाँ तक हमारी व्यक्तिगत राय है तो कोई भी सजा उसकी गलती के आधार पर ही निर्धारित होनी चाहिए. ऐसा इसलिए क्योंकि सजा देने वाले की मानसिकता मे... Read more
clicks 10 View   Vote 0 Like   6:25pm 10 Jul 2020 #दोस्ती
Blogger: कुमारेन्द्र सिंह सेंगर
इसे शायद मानवाधिकार का उल्लंघन माना जायेगा मगर हमारा व्यक्तिगत तौर पर मानना है कि दुर्दांत अपराधियों को, आतंकियों को सार्वजनिक रूप से अत्यंत कष्टकारी और दुखद मौत देनी चाहिए. उनको दी जाने वाली सजा इतनी भयावह और दर्दनाक हो कि आने वाले समय में लोग अपराध करने से डरें. फाँ... Read more
clicks 16 View   Vote 0 Like   6:25pm 9 Jul 2020 #अपराधी
Blogger: कुमारेन्द्र सिंह सेंगर
कुछ लोग नमस्कार करते समय अपनी गर्दन, सिर को इतना ही हिलाते हैं कि बस उसके मन को मालूम चलता है कि नमस्कार की गई।बेचारी गर्दन और बेचारे सिर को तो पता ही नहीं चल पाता कि उनके मालिक ने किसी को नमस्कार करने में उनका दुरुपयोग कर लिया।जिसको नमस्कार की गई उसकी जानकारी की बस कल्प... Read more
clicks 27 View   Vote 0 Like   6:23pm 6 Jul 2020 #व्यंग्य
Blogger: कुमारेन्द्र सिंह सेंगर
बच्चों के लिए जुलाई का आना पिछले वर्ष तक उत्साह का समय होता था. इस वर्ष गर्मियों की छुट्टियाँ आईं भीं और चली भी गईं मगर छुट्टियों जैसा माहौल न बना सकीं. इन गर्मियों में सभी अपनी-अपनी जगह कैद होकर रहे. न कोई कहीं घूमने जा सका, न बच्चे लोग अपनी दादी-नानी के घर जा सके. इन दिनों ... Read more
clicks 49 View   Vote 0 Like   6:28pm 3 Jul 2020 #नैतिक शिक्षा
Blogger: कुमारेन्द्र सिंह सेंगर
आज ओपीएस भाईसाहब किसी को नहीं रोक रहे होंगे ज़िन्दाबाद कहने पर...आज से लगभग तीन दशक पहले ऐसी स्थिति नहीं थी. तब ओपीएस भाईसाहब हम लोगों को रोकते थे अपने नाम की ज़िन्दाबाद बोलने पर. साइंस कॉलेज, ग्वालियर हॉस्टल का अपना स्वर्णिम इतिहास रहा है, उतना ही जगमगाता हुआ वर्तमान भी है... Read more
clicks 24 View   Vote 0 Like   4:46pm 2 Jul 2020 #कांग्रेस
Blogger: कुमारेन्द्र सिंह सेंगर
जनपद जालौन की तहसील कोंच के उत्साही युवा पारसमणि द्वारा कोंच फिल्म फेस्टिवल का आयोजन ऑनलाइन किया जा रहा है. उस युवा की क्षमता पर हमें भरोसा है, यदि कोरोना संक्रमण से सुरक्षित रहने की, लॉकडाउन-अनलॉक जैसी व्यवस्था का पालन करने की उसकी ईमानदारी न होती तो निश्चित ही ये आयो... Read more
clicks 28 View   Vote 0 Like   5:30pm 24 Jun 2020 #कोंच
Blogger: कुमारेन्द्र सिंह सेंगर
बाबा रामदेव के द्वारा कोरोना वायरस इलाज हेतु दवा का बाजार में उतारा जाना समूचे बाजार में हलचल मचा गया. इसके साथ-साथ विभिन्न विचारधाराओं की धाराओं में भी भँवरें पड़ने लगीं. ऐसा कोलाहल सा दिखाई देने लगा मानो अभी सुनामी आने वाली हो. बाबा की इस दवाई से ऐसी तबाही मचने वाली है ... Read more
clicks 22 View   Vote 0 Like   6:00pm 23 Jun 2020 #आयुर्वेद
Blogger: कुमारेन्द्र सिंह सेंगर
किसी घटना के सामने आने के बाद वैचारिकी उसी तरफ मुड़ जाती है या कहें कि तमाम विचार उसी घटना के इर्द-गिर्द भटकने लगते हैं. इन विचारों में पक्ष, विपक्ष जैसी स्थिति देखने को मिलने लगती है. विचार-विमर्श की दृष्टि से ऐसा होना गलत नहीं है मगर इसे लेकर विचार रखने वाले का आकलन, विश्... Read more
clicks 28 View   Vote 0 Like   4:17pm 19 Jun 2020 #दोस्ती
Blogger: कुमारेन्द्र सिंह सेंगर
लॉकडाउन में छुट्टी जैसा माहौल रहा. उस माहौल के अपने मजे भी रहे, कष्ट भी रहे. उस खाली समय का अपनी तरफ से सदुपयोग किया गया. चार चरणों में लॉकडाउन के बाद अनलॉक जैसी व्यवस्था भी क्रमशः देखने की स्थिति बन रही है. इस अनलॉक के दौर में विद्यालयों का आधिकारिक अवकाश घोषित हो चुका है.... Read more
clicks 26 View   Vote 0 Like   6:20pm 18 Jun 2020 #पेंटिंग
Blogger: कुमारेन्द्र सिंह सेंगर
आज कुछ भी लिखने का मन नहीं, इसलिए आज कुछ भी न लिखेंगे। आप सभी क्षमा करिएगा।धन्यवाद .#हिन्दी_ब्लॉगिंग... Read more
clicks 18 View   Vote 0 Like   5:54pm 17 Jun 2020 #
Blogger: कुमारेन्द्र सिंह सेंगर
व्यक्ति कितनी जल्दबाजी में रहता है इसको सोशल मीडिया पर देखा जा सकता है. एक-दो पंक्तियों की पोस्ट को तो व्यक्ति पढ़ लेता है मगर कुछ लम्बी पोस्ट दिखाई देने की स्थिति में लोग बस लाइक का बटन खटका कर आगे बढ़ जाते हैं. कुछ तो पोस्ट पर बस लाइक का खटका दबाने ही आते हैं. एक मिनट में बी... Read more
clicks 25 View   Vote 0 Like   6:28pm 16 Jun 2020 #सोशल मीडिया
Blogger: कुमारेन्द्र सिंह सेंगर
कल रात नियमित भ्रमण पर हमारीवाणी पर टहलना हो रहा था. अभी ज्यादा दूर जाना नहीं हो सका था कि एक पोस्ट का शीर्षक हमें अपनी कविता जैसा दिखा. ब्लॉगर का नाम भी पहचाना हुआ था. इसलिए लगा नहीं कि हमारी कविता वहाँ पोस्ट की गई होगी. इसके बजाय लगा कि कहीं हमारी कविता के बारे में तो कुछ ... Read more
clicks 31 View   Vote 0 Like   11:36am 15 Jun 2020 #चोरी
Blogger: कुमारेन्द्र सिंह सेंगर
युवा फ़िल्मी कलाकार सुशांत की आत्महत्या ने सोशल मीडिया पर विमर्श का दौर आरम्भ करवा दिया. यह विमर्श उस दौर में आरम्भ हुआ है जबकि हमारा देश प्रतिदिन सैकड़ों मौतों को कोरोना वायरस से होते देख रहा है. यह विमर्श उस देश में शुरू हुआ है जहाँ इस लॉकडाउन के पहले तक हजारों-लाखों की ... Read more
clicks 25 View   Vote 0 Like   6:09pm 14 Jun 2020 #तनाव
Blogger: कुमारेन्द्र सिंह सेंगर
जब आप किसी की ख़ुशी में शामिल होते हैं तो न केवल उस परिवार की ख़ुशी में वृद्धि होती है बल्कि खुद को भी प्रसन्नता महसूस होती है. ऐसी ख़ुशी उस समय भी मिलती है जबकि आप किसी की ख़ुशी में बिना किसी स्वार्थ के सम्मिलित होते हैं. ऐसी ही ख़ुशी में शामिल होने का अवसर अनाज बैंक टीम को आज म... Read more
clicks 50 View   Vote 0 Like   6:06pm 12 Jun 2020 #लॉकडाउन
Blogger: कुमारेन्द्र सिंह सेंगर
विगत कुछ समय से अनेक उदाहरण ऐसे सामने आ रहे हैं जिनमें मुख्य तत्त्व है अहंकार. इन तमाम मामलों को देखने-समझने के बाद समझ नहीं आ रहा कि व्यक्ति का जीवन ज्यादा महत्त्वपूर्ण है या फिर उसका अहंकार? सामने आने वाले इन मामलों में अहंकार है भाई से भाई का, दोस्त से दोस्त का, परिवार ... Read more
clicks 31 View   Vote 0 Like   6:29pm 11 Jun 2020 #पति
Blogger: कुमारेन्द्र सिंह सेंगर
किसी व्यक्ति के साथ गुजारा समय जितना महत्त्वपूर्ण होता है, उससे महत्त्वपूर्ण होता है उन पलों में उस व्यक्ति का व्यवहार. यही व्यवहार उस व्यक्ति की स्मृतियों को चिर-स्थायी करता है. यही स्मृतियाँ उस व्यक्ति को सदैव दिल में जीवित बनाये रखती हैं. श्वेता के साथ की कुछ ऐसी अल... Read more
clicks 39 View   Vote 0 Like   6:22pm 10 Jun 2020 #भावना
Blogger: कुमारेन्द्र सिंह सेंगर
स्नातक स्तर तक की पढ़ाई पूरी न हो सकी थी कि पिताजी का आदेश मिला कि वापस घर आ जाओ, आगे नहीं पढ़ाना है. उस समय हम स्थिति समझ सकते थे. घर से पढ़ने के लिए ग्वालियर पहुँचे और वहाँ पढ़ने से ज्यादा नाम सामने आने लगा लड़ाई-झगडा करने में. कहते हैं न कि बद अच्छा, बदनाम बुरा. कुछ नाम वास्तविक ... Read more
clicks 41 View   Vote 0 Like   5:31pm 5 Jun 2020 #परिवार
Blogger: कुमारेन्द्र सिंह सेंगर
कोरोना संक्रमण से बचने के लिए केन्द्र सरकार द्वारा देशव्यापी लॉकडाउन को क्रमशः चार चरणों में लागू किया गया था. यह लॉकडाउन 25 मार्च 2020 को आरम्भ हुआ और जो विभिन्न चरणों से गुजरता हुआ 30 जून 2020 को समाप्त हुआ. इसके बाद कुछ शर्तों के साथ अनलॉक 1 को शुरू किया गया.लॉकडाउन अवधि में न... Read more
clicks 28 View   Vote 0 Like   10:32am 5 Jun 2020 #
Blogger: कुमारेन्द्र सिंह सेंगर
अनलॉक के दौरान बाजार में भीड़ अब अपने पुराने रूप में आती दिख रही है. उरई में शाम पाँच बजे तक बाजार खोलने की अनुमति है. जैसा कि ऊपर से आदेश हैं, उसके अनुसार रात नौ बजे तक नागरिकों के आवागमन पर प्रतिबन्ध नहीं है. एक आवश्यक काम से शाम को सात बजे के बाद निकलना हुआ. उस समय बाजार पू... Read more
clicks 34 View   Vote 0 Like   6:28pm 4 Jun 2020 #
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3975) कुल पोस्ट (190916)