Hamarivani.com

आरंभन

                उसके यूँ तो छमिया, छम्मकछल्लो, हरामजादी, रानी वगैरह कई नाम थे, मगर मुझे उसके नाम में कभी दिलचस्पी नहीं रही ...वो हर बार कुछ और बन जाती थी मेरे लिए.....और मैं इसीलिए उसके पास जाता थावो मेरे लिए समंदर किनारे की रेत थी जब तक दिल किया उसके साथ खेला....... कुछ भी अपन...
आरंभन...
Tag :कहानी
  December 18, 2013, 1:40 pm
दरवाजा खुला रखो, इंतज़ार करो कभी किसी मुसाफिर से प्यार करोकलियों ! आज ज़रा देर से खिलोप्यासे भँवरे को और बेक़रार करो तनहाई में कमरे से भी बात करोकभी दीवारों को अपना राज़दार करो तुम्हारी नफरत से मैं नहीं डरने वाला रास्ता अब कोई और इख्तियार करो बुत-ए-पत्थर का अब भरम छोड...
आरंभन...
Tag :ग़म
  March 1, 2013, 2:10 pm
इजहार-ए-इश्क़ तो दोनों ने किया थावो भी बदल गयी मैं भी मुकर गयाइक अज़ीज़ दोस्त था दिल के करीब थामुसीबत के वक़्त में जाने किधर गयाढूंढती रही नज़रे तुझको ही चारो ओरनज़र को नहीं मिला, नज़र से उतर गयाकोई दर्द ही दे दे मुझे महसूस करने कोये तो पता चले कि हूँ ज़िंदा कि मर गयामज़म...
आरंभन...
Tag :ग़म
  February 24, 2013, 11:17 pm
प्यार के गीत वो जब भी कभी गाता होगा चेहरा मेरा भी उसके जेहन में आता होगामुझको सोने नहीं देता है तसव्वुर जिसका मुझको ख्वाबों में क्या वो भी कभी लाता होगाबातें दिल की थीं जो दिल मे ही छुपा ली मैंनेवो भी दिल मे है तो वो जान तो जाता होगा धरती प्यासी है बरस जाओ ऐ काले बादल हाल...
आरंभन...
Tag :ग़म
  February 19, 2013, 7:18 pm
मैं सुनता रहूँतुम कहती रहो रग रग में तुम यूँ ही मेरे तुम बहती रहो रात ढल जाने दो चाँद गल जाने दोहो जाने दो सहर सूर्य जल जाने जोबस कहती रहोतुम कहती रहोमैं सुनता रहूँतुम कहती रहो शब्द खोये हैं मेरे कुछ भी करूँ कैसे बयाँ तुम जानती हो सब कहने को बाकी क्या रहा बस तेरे ख्वा...
आरंभन...
Tag :प्यार
  February 11, 2013, 10:42 pm
अब मैं यहाँ नहीं रहतायाद और ग़म की ये गली अब छोड़ दी है मैंनेमैंने नया घर बनाया हैउधर खुशियों की तरफमुस्कान के बगीचे के बगल मे मिलना हो अगर मुझसे आ जाना उधर कभी भी भूलने लगो अगर रास्तापूछ लेना किसी जुगनू सेघर तक छोड़ देगा.........
आरंभन...
Tag :प्यार
  February 7, 2013, 2:31 pm
दिन भी बदला रातें बदलीं बदले मौसम चार पर विक्रम वही का वही कपड़े बदले लत्ते बदले बदले साज श्रंगार पर विक्रम वही का वही शक्लें बदलीं अक्लें बदली कोई बदले रूप हजार पर विक्रम वही का वही रिश्ते बदले नाते बदलेबदले नेक विचार पर विक्रम वही का वही कुछ बुरे जो बदले अच्छे बद...
आरंभन...
Tag :गीत
  January 21, 2013, 6:22 pm
1मेरी गुस्ताख़ नज़रों से जो बच पाओ तो बच लो तुमनज़र का तीर है इसको कोई पर्दा क्या रोकेगा??…………………………………………2 बड़े अनमोल मोती हैं इन्हे यूं ज़ाया न करोहर किसी की बात पर यूं मुस्कुराया न करोइन खंजरों से होना क़त्ल बस मेरा ही हक़ हैमुस्कान के खंजर सब पे यूं चलाया न करो……………...
आरंभन...
Tag :ग़म
  January 20, 2013, 8:11 pm
जो कोई पूछता है, कैसा तू इंसान है विक्रमकभी शैतान है विक्रम कभी भगवान है विक्रमवो कहते है समझ पाना तुझे मुश्किल बड़ा है यारतू दिल से दिल मिलाकर देख बड़ा आसान है विक्रमहै मौसम सा मिजाज इसका पल भर मे बदलता हैकभी है जान-ए-महफिल तो कभी बेजान है विक्रमबुरा न मानिए साहिब इसकी ...
आरंभन...
Tag :ग़ज़ल
  December 18, 2012, 4:48 pm
तुम तो यहीं थी मेरे भीतरएक खुशबू की तरह मुझे महकाती हुयी और मैं पागल ढूँढता रहा तुम्हें बाहर कस्तूरी मृग की तरह पर तुम चुप क्यूँ रही?कुछ तो कहतीडांट ही देती मुझेमेरी मूर्खता परया आनंद आता हैमुझे सताने मे यही बता दो अबक्या मेरे कष्टमेरे दुख देख तुम्हें पीड़ा न हुयीन...
आरंभन...
Tag :
  December 11, 2012, 12:08 am
...
आरंभन...
Tag :
  September 2, 2012, 4:37 pm

...
आरंभन...
Tag :
  September 2, 2012, 3:58 pm
Jane kyu Feat Vikrant...
आरंभन...
Tag :
  September 2, 2012, 3:56 pm
ज़माने  बाद आज खुशियाँ दर पे आई,चंद लम्हों की  मुलाकात संग लाई  ।पहनकर सफ़ेद  परियों सा चोला,आईने के सामने अपनी लटो को खोला।मिलन की बात पर हम निखर आए थे, अचानक आईने में वो नज़र आए थे ।कहे की ओढ़ लो कोई काली सी ओढ़नी ,बन जाओ आज तुम मेरी रागिनी।धड़कने तेज़ मध्यम सी होने लगी,...
आरंभन...
Tag :
  June 25, 2012, 11:23 pm
उसकी इस ख़ता की भी कोई सज़ा नहीं  मिलने का किया वादा पर वो  मिला नहीं वो हसीं बात आज उसने ही बोल दी यारो  जो मेरे दिल मे थी मैंने मगर  कहा नहीं हाल-ए-दिल खत में तुझे तो मैंने रोज़ लिखाक़ासिद को खत दिया पर तेरा पता लिखा नहीं  मेरी खता है जो छूना तुझे चाहूँ मैं मगरइतना हसीं है तू, क्...
आरंभन...
Tag :
  March 25, 2012, 9:03 pm
उसकी इस ख़ता की भी कोई सज़ा नहीं  मिलने का किया वादा पर वो  मिला नहीं वो हसीं बात आज उसने ही बोल दी यारो  जो मेरे दिल मे थी मैंने मगर  कहा नहींहाल-ए-दिल खत में तुझे तो मैंने रोज़ लिखाक़ासिद को खत दिया पर तेरा पता लिखा नहीं  मेरी खता है जो छूना तुझे चाहूँ मैं मगरइतना हसीं है त...
आरंभन...
Tag :प्यार
  March 25, 2012, 9:03 pm
हयात-ए-ग़म का ये सफर नहीं आसान मेरे यार, यहाँ आएंगे अभी और भी तूफान मेरे यार | ज़रा सी तीरगी से हो गए हो हिरासान मेरे यार, ज़िंदगी है ये तारीकियों का उनवान मेरे यार |लड़ना मुश्किलों से है हर इंसान की किस्मत, इनसे मोड़ ले जो मुंह वो क्या इंसान मेरे यार??आधे रास्ते से हारकर तु...
आरंभन...
Tag :ग़ज़ल
  March 18, 2012, 11:27 pm
बेशक गुज़रो मेरी गली से, मगर नकाब ओढ़ के | न गिराओ किसी पर बर्क-ए-हुस्न मुझे छोड़ के |ये बिजलियाँ मुझ पे गिराओ मैं जलना चाहता हूँ हद है तेरा हुस्न, मैं हद से गुजरना चाहता हूँ हदें तोड़ जमाने की, मुझ पर एतबार तो कर |मैंने सौ बार किया, तू भी इक बार तो कर |तू भी इक बार किसी से प्यार ...
आरंभन...
Tag :प्यार
  March 5, 2012, 7:58 pm
तू असलियत में क्या है, आज देख लेते हैं ।तू है पत्थर या खुदा है, आज देख लेते हैं ।इम्तिहाँ मेरा लिया तूने रोज़ रोज़ खूब ।  आज तेरा इम्तिहाँ है, आज देख लेते हैं ।मैं तुझे जानता, पहचानता, मानता नहीं ।तेरे सच से कौन आशना है, आज देख लेते हैं ।मैं भरोसा करूँ तेरा, या न करूँ, है मेरी म...
आरंभन...
Tag :मैं
  March 4, 2012, 12:13 am
तुझे भूलना मुमकिन भी हो जाता लेकिन तेरी याद दिलाने का जहां में दस्तूर बहुत हैन की कद्र तेरी जब थी जानाँ पास तू मेरे आज जब कद्र करता हूँ तो तू दूर बहुत हैहमारा इश्क ग़र परवान चढ़ता तो क्यूँ करमैं मगरूर बहुत हूँ और तू मजबूर  बहुत है   सैकड़ो ज़ख्म सह कर भी जी लेता है इंसान मग...
आरंभन...
Tag :ग़म
  February 21, 2012, 8:39 pm
बेशक हार हुयी है मेरीपर हारा नहीं हूँ मैंमुझको लाचार न समझो तुमबेचारा नहीं हूँ मैंरुका हूँ, गिरा हूँ, ज़मीं पर पड़ा हूँपर ज़िंदा हूँ अभी,किस्मत का मारा नहीं हूँ मैंफिर उठूँगा, बढ़ूँगा,फ़लक तक चढ़ूँगामैं  सूरज हूँ, उगना ढलना आदत है मेरीटूट के पल में  खो जायेवो तारा नहीं ...
आरंभन...
Tag :मैं
  January 30, 2012, 11:04 am
मिलताहूँहरइकरातमै,राहोपेअकेला|मिलनाजोहोदिलहारसे,दिलहारचलाआ|कहताहूँसबकादर्दमै,गा-गाकेसुरीला|सुननाजोहोखुदआहको,दिलहार  चलाआ|बैठेंगेसभीशानसे,बाटेंगेदर्द-ये-गम|कहनाजोहोगमआपको,दिलहार  चलाआ|खोजाओगेयूराहमे,भटकोगेदर-बदर|रौशनकरूगुम-राहमै  ,दिलहारचलाआ|सुनताहूँस...
आरंभन...
Tag :
  January 1, 2012, 1:04 am
 कोई प्रेमकीलिखदोकविता  और  गाओमनभाजाये|मुझमेभरदोसुंदरतामेराअंग-अंगखिलजाये|तुमचाहोतोमेरेमनकीदीवारोंपेछाजाओ,मेराहृदयहैखालीकमराइसहृदयमेतुमआजाओ|कोईप्रेमकीभाषालिखतामेरीआंखेजोबतलाये|उसमेगातेतुमकविताकोईऔरसमझनपाये|हरआसबंधीहैतुमसेमैंपासतेरेआजाऊ|येसा...
आरंभन...
Tag :
  January 1, 2012, 1:01 am
हुईफिरराततन्हाही,हुआफिरशामवीराना|कदमरुकतेनहींरोके,चलूफिरआजमयखाना|करूदोचारबातेजो,मै!मयसेप्यारकेअपने|मिटादेदर्दपलभरमे,पिऊदो-चारपैमाना|उठा  हरजामहोठोतक,सभीखोजाएख्वाबोमे  |मैखोजूरातभरखुदको,मुझेफिरआजखोजाना|हुईफिरराततन्हाही,हुआफिरशामवीराना|कदमरुकतेनहीं...
आरंभन...
Tag :
  January 1, 2012, 12:57 am
खुशबू, भँवरे, बहार और गुलाब भी होगाउसका नूर है यहाँ, तो आफताब भी होगा उसकी कत्थई आँखों में हैं मस्तियाँ कितनी उसकी आँखों का दूसरा नाम शराब भी होगा मैं फकीर बनके रोज़ उसके दर पे जाता हूँ जाने कब अपने घर वो वहाब भी होगा ये पल मे बनते है पल ही मे टूट जाते हैं मेरे ख्वाबो सा क्य...
आरंभन...
Tag :
  December 2, 2011, 12:50 am
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3693) कुल पोस्ट (169554)