Hamarivani.com

एहसास

. बहुत नया पाया तुमको जब छंटा कुहासा और झाँका मैंने आँखों में तुम्हारीकुछ दिखा चमकता सा जैसे मोती , जैसे  हीराया बूँद ओंस की क्या नाम "प्रेम" दे दूँ उसको ?कई वर्षों के बाद आज सुना मैंने तुम्हारी आवाज़ का स्पंदन ह्रदय भर मैंजीवित हुआमानो फिर से ...
एहसास...
Tag :
  July 2, 2012, 9:16 pm
एक लम्बे अरसे के बाद इस ब्लॉग को पुनर्जीवित करने की कोशिश करते हुए एक कविता प्रकाशित कर रहा हूँ ,कृपया अपनी प्रतिक्रियाएं अवश्य दें जिससे निरंतर लिखते रहने का उत्साह बना रहे ,कविता कुछ इस तरह है ....कितने आकाश हैंइसआकाश के नीचेऔरकितने ही धरातलइसजमीन के ऊपरजिनके मध्यतै...
एहसास...
Tag :
  January 3, 2012, 10:33 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3685) कुल पोस्ट (167831)