Hamarivani.com

रंग बिरंगी एकता

मुसलसल हलकी-हलकी हुड़क है,तेरी सम्त जाती मेरी हर सड़क है,मेरी कायनात का मरकज़ है तूआरज़ू शब-ओ-रोज़ है तेरी,तू माशूका नहीं, कोई नशा नहीं,ये तिश्नगी क्या, ये तलब क्यों?मेरे लफ़्ज़ों में तेरी रूह,मेरे ख्यालों में तेरी ख़ुशबू ,तेरे असर के बिना मैं क्या ...
रंग बिरंगी एकता...
Tag :Delhi
  April 18, 2017, 5:24 pm
मेरा नाम जपते-जपते,वो मुझसे दूर चले गए,मुझे ढाल लिया अपनी पसंद में,और मेरे वजूद से दूर चले गए...मुझे बेचते-बेचते,वो कहाँ से कहाँ चले गए,मैं यहाँ इंतज़ार में हूँ उनके,जो घर से मेरे दूर चले गए...मेरी मुहोब्बत बांधते-बांधते,मज़हबी नामों-ओ-इमारतों में,वो आज़ादी-ए -मुआफ़ी स...
रंग बिरंगी एकता...
Tag :
  April 15, 2017, 11:02 pm
सीरिया, इराक हो या फिलिस्तीन का मामला, या फिर कश्मीर का मसला हो, सालों से लोग बस तड़प रहें हैं. छोटे-छोटे बच्चे ज़ुल्म और जंग में बड़े हो रहे हैं। कैसा बचपना और कैसा भविष्य? कुछ बच्चे अब जवान हो गए हैं. क्या सोचते होंगे यह दुनिया के बारे में? अब तो यह जानते होंगे के इन्हें अप...
रंग बिरंगी एकता...
Tag :
  March 21, 2016, 6:06 am
मेरी दिल्ली फिर जल रही है,यहाँ दूर बैठे मेरा दिल बैठा जा रहा हैयह भारत माँ का लाडला,माँ की बर्बादी क्यों गा रहा है?वो न्याय के लिए लड़ने वाला,न्याय को ही क्यों हरा रहा है?दुनिया की ख़बर सुनाने वाला आज,पिट कर खुद ख़बरों में आ रहा है?ये पोलिस वाला चुप क्यों है,जनता को नही...
रंग बिरंगी एकता...
Tag :
  February 16, 2016, 4:45 pm
क्यों दिल के चक्कर में पड़ते हो,क्यों किस्मत से लड़ते हो?जाने दो...फिर वही हिंदुस्तान को तरसोगे ,फिर यादों के जंगल में भटकोगे,जाने दो,क्यों दिल के चक्कर में पड़ते हो?क्यों वक़्त अपना ज़ाया करते हो,क्यों वही पुरानी ख़्वाहिश करते होजाने दो,क्यों दिल के चक्कर में पड...
रंग बिरंगी एकता...
Tag :
  January 8, 2016, 9:15 pm
2016 आप सभी के लिए मंगलमय हो और ईश्वर से मेरी यही प्राथना है हम सबको अपनी उपस्थिति से भर दे।  आप जो भी हैं, जैसे भी हैं, किसी भी धर्म के मानने वाले हैं, वो आपको बहुत प्रेम करता है। पूरे विश्वास के साथ उस की ऒर देखें, वो आपको अपनी शान्ति से भर देगा। खुश रहें और खुश रखें! :-) :-)तु...
रंग बिरंगी एकता...
Tag :
  January 1, 2016, 7:44 pm
कई रास्तों पे सफर किया है मैंने,दरिया का किनारा हो,या समंदर की गहराई,लम्बी-लम्बी सड़कें हों,या बहती नदी,अकेला रास्ता हो,या साथ में कोई,रात अँधेरी हो,या हर तरफ रौशनी,माहौल ग़मगीन हो,या राहें हों मुस्कुरातीं,अपनों का साथ हो,या अजनबी से दोस्ती,ख़ाली हाथ सहमे हों,या ज...
रंग बिरंगी एकता...
Tag :
  December 27, 2015, 8:28 pm
कई न्यूज़ चैनल बदल के देख लिए, देश की हवा कुछ-कुछ बदली-बदली सी लगती है। ऐसा नहीं है  इस तरह के हादसे पहले नहीं हुए, आज भी याद है १९८४ की बर्बरता या गोधरा की मार्मिक कहानियाँ। मगर इस तरह आये दिन धार्मिक कट्टरता के किस्से पहले कभी नहीं सुने। यहाँ तक के भारत के राष्...
रंग बिरंगी एकता...
Tag :India
  October 21, 2015, 3:25 am
पिछले चार सालों से सीरिया में humanitarian crisis चल रहा है मगर हमारे world leaders हाथ पर हाथ रख कर बैठें हैं. अगर आप अपनी जान बचा कर अपने  देश से निकल आएं तो आपको शायद रिफ्यूज मिल जाए मगर गारंटी कोई नहीं है! UN Security Council की तरफ से आज तक कोई ठोस कदम नहीं लिया गया है. कितने शर्म की बात है की अन्याय ब...
रंग बिरंगी एकता...
Tag :Syria
  September 6, 2015, 9:01 am
सभी को स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनायें! फोटो: देखा है दिल्ली को बचपन से,बड़ो से सुना है, किताबों में पढ़ा है,बड़ी अदा से सलाम करती है,हर आने वाले को,जब तक हद से न गुज़र जाए,बड़े सब्र से सहन करती है,सियासत के हर पैंतरे को,देख चुकी है,ताकत की कई शक्लें,सुन चुकी है,सि...
रंग बिरंगी एकता...
Tag :
  August 15, 2015, 5:02 pm
अक्सर हवाईजहाज़ की खिड़की से,कोशिश करती हूँ,नीचे ज़मीन पे ढून्ढ सकूँ,कहाँ एक देश की सीमा ख़त्म हुई,कहाँ दुसरे की शुरू,सरहदें कुछ ठीक से दिखाई नहीं दीं कभी,जब कोई शहर सा नज़र आता है,घरों में कोई फ़र्क़ नहीं दिखता,कौन सा हिन्दू का है या  कौन सा मुस्लिम का,जानती हूँ, सम...
रंग बिरंगी एकता...
Tag :
  July 4, 2015, 9:18 pm
एक अजीब सी ख़ामोशी है आज सीने में, या ज़िन्दगी के शोर-ओ-गुल में दिल सुन्न हो गया है शायद,होठों पे मुस्कराहट तो है, आँखों तक का रास्ता खो गया है शायद......
रंग बिरंगी एकता...
Tag :
  June 30, 2015, 5:00 pm
तुम्हारे जाने के धमाके ने,मेरे घरोंदे में,कई छोटे-बड़ेसुराख़ बना दिए थे,दूसरों के प्यार के सीमेंट से,कुछ भर गए हैं,मगर, कुछ रह गए हैं,न वक़्त, न साथ किसी का,भर पता है उन सुराखों को,आज भी तुम्हारी यादों की,नसीम बहती है वहाँ से,तुम्हारी बसीरत की रौशनी,पहुँचती है मुझ तक वहीँ ...
रंग बिरंगी एकता...
Tag :
  June 23, 2015, 5:22 am
तुम्हारे जाने के धमाके ने,मेरे घरोंदे में,कई छोटे-बड़ेसुराख बना दिए थे,दूसरों के प्यार के सीमेंट से,कुछ भर गए हैं,मगर, कुछ रह गए हैं,न वक़्त, न साथ किसी का,भर पता है उन सुराखों को,आज भी तुम्हारी यादों की,नसीम बहती है वहाँ से,तुम्हारी बसीरत की रौशनी,पहुँचती है मुझ तक वहीँ से,...
रंग बिरंगी एकता...
Tag :
  June 23, 2015, 5:22 am
इन यादों को कहाँ रखूं?खुशियों में,या ग़मों में?ये ऐसी जगह पड़ी हैं,जहाँ कभी धुप पड़ती है,तो कभी घनी छाया,कभी सो जातीं हैं,रात की गहराई में,तो कभी मचल के उठ जातीं हैं,बारिश की बूंदों से,फिर याद आया के ये यादें बोहोत दूर हैं मेरी पहुँच से,यह यूं ही पड़ी रहेंगी इसी जगह,सोएंग...
रंग बिरंगी एकता...
Tag :
  May 29, 2015, 12:24 am
कहते हैं कुछ बातें अनकही ही अच्छीं, कुछ एहसास बिन इज़हार ही बेहतर :-)मुझे माफ़ कर देना,गर लफ्ज़-ओ-आवाज़ न दे सकूँ तुम्हें,पड़े रहना मेरे ज़हन की तहों में,कट जाएगा वक़्त करवटें बदलने में,मुस्कराहट की ओट में ही रहना, बाहर झांकों जो कभी चेहरे से,बिखर जाना हवा में यूँ,होठ...
रंग बिरंगी एकता...
Tag :
  March 6, 2015, 4:08 am
इस रचना में अपने करियर की कुछ झलकियाँ प्रस्तुत करी हैं. इन यादों को शब्दोँ में संजोना ज़रूरी है इस से पहले के ये खो जाएँ। छोटी-छोटी पँक्तियों में कई तरह के अनुभव छुपे हैं। १२ साल पहले गुजरात के भुज में भूकंप पीड़ितों के साथ काम करने के लिए रेड क्रॉस के साथ जुड़ी। तब ...
रंग बिरंगी एकता...
Tag :
  February 22, 2015, 6:41 am
 बैसाखी की ज़रुरत पड़ती है मेरे होठों को अक्सर,मेरी आँखें न पढ़ सकेगा तो मुझे समझ न सकेगा तू.…लफ़्ज़ों में न बयाँ हो पाएगी कहानी मेरी,मेरी ख़ामोशी न सुन सकेगा तो मुझे समझ न सकेगा तू.…सिमटे हुए हैं एहसास-ओ-ख़्वाब मेरे अंदर,मेरे ज़हन की परतें न खोल सक...
रंग बिरंगी एकता...
Tag :
  January 7, 2015, 5:49 am
माँ की आँखों का दुलारा कहाँ खो गया?कुछ तो बता.... क्यों दी ये सज़ा?क्या थी उनकी खता?कुछ तो बता… नन्हों का खून बहने दिया, क्यों तूने होने दिया?कुछ तो बता.…माँओं का आँचल सूना किया,कैसे तूने बर्दाश्त किया?कुछ तो बता… अँधेरा जहाँ हो गया उन घरों का क्या?कुछ तो बता… ज़...
रंग बिरंगी एकता...
Tag :terrorism
  December 24, 2014, 8:32 am
नहीं कहनी तकरीरें मुझको,बस संग सबके मुस्कुराने दोहिन्दू को, मुसलमां को, ईसाई-ओ-यहूदी को,मेरे दिल के सुर्ख़ कोने में सुकूं से रहने दोनहीं जीतनी कोई बेहस मुझे,बस इन्सां को गले से लगाने दोमैं भी वाकिफ़ हूँ फ़र्क़ों से, मगरमुझे मुशबिहात में रम जाने दोमेरे पास ...
रंग बिरंगी एकता...
Tag :
  November 11, 2014, 7:47 pm
इधर आजकल मन बहोत उदास सा है, मगर ऐसा नहीं है की खुशियाँ  नहीं हैं। कभी बीती यादेँ सताती हैं, तो कभी कुछ और :-) और दिल इतना निक्कमा है की बरकतेँ गिनना भूल कर हर छोटी बात पे हाय-तौबा मचाने लगता है.…ख़ुशी और ग़म, मोहब्बत और शिकायत,साथ साथ ही पलते हैं,खट्टे-मीठे जज़्ब...
रंग बिरंगी एकता...
Tag :
  November 8, 2014, 2:41 am
कल फिर तुम मिले,बड़ा अच्छा लगता है तुमसे मिलके,मेरी दुनिया जैसे पूरी हो जाती है,मगर फिर सुबह हो जाती है,या आँख खुल जाती है,फिर तुम नहीं होते,दिल्ली भी नहीं होती,बस हक़ीक़त होती है,'आज'होता है,सपनों में कल में लौटती हूँ,और नींद टूटने पर आज में,यह सफ़र थका देता है, पापा...
रंग बिरंगी एकता...
Tag :
  November 7, 2014, 2:25 am
विदेशियों की बगल में हवाई जहाज़ की सीट पे आलती-पालती मार के बादलों से उलझते हुए हिंदी के अक्षरों में अपनी ज़िंदगी और उसके मकसद को सोचने का अलग ही मज़ा है... अक्सर सोचती हूँ, क्यों जाती हूँ अपनों को छोड़ कर बार बार? घर पर हर तरह का आराम है फिर क्यों निकल जाती हूँ गाँव-गा...
रंग बिरंगी एकता...
Tag :
  October 28, 2014, 7:16 am
हाँ, जानती हूँ चलते रहना ज़रूरी है,यह ज़िन्दगी सीधे-सपाट रास्ते ढूंढ नहीं पाती,बस और कोई बात नहीं …बाक़ियों के साथ मिलके चलना चाहती हूँ तो हूँ,मेरी सोच अक्सर मुझसे बहोत दूर है निकल जाती,बस और कोई बात नहीं …दुनिया-भर में घूमती-फ़िरती हूँ  मगर,कभी-कभी खुद से खुद का फ़ा...
रंग बिरंगी एकता...
Tag :
  July 19, 2014, 6:51 pm
पिछले दिनों हिंदुस्तान में काफी राजनितिक माहौल  बना रहा। हर दूसरा शख्स राजनीतिज्ञों जैसी भाषा बोल रहा था। एक दुसरे की पार्टी पर हम सबने अपनी-अपनी राय रखी। तरह-तरह की तोहमतें लगाईं। इसी तरह धार्मिक इलज़ाम भी लगते हैं और कई बार तो यह छींटाकशी अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर ...
रंग बिरंगी एकता...
Tag :
  June 29, 2014, 5:46 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3685) कुल पोस्ट (167911)