Hamarivani.com

उड़न तश्तरी ....

हम हिन्दुतानी अति ज्ञानी...जिसकी भद्द न उतार दें बस कम जानिये.साधारण सा शब्द है ’खाना’...संज्ञा के हिसाब से देखो तो भोजन और क्रिया के हिसाब से देखो तो भोजन करना...मगर इस शब्द की किस किस तरह भद्द उतारी गई है जैसे कि माथा खाना, रुपया खाना,लातें खाना से लेकर अपने मूँह की खाना तक ...
उड़न तश्तरी .......
Tag :Jugalbandi
  August 13, 2017, 6:54 am
अपने दिल की किसी हसरत का पता देते हैंमेरे बारे में जो अफवाह उड़ा देते हैं...कृष्ण बिहारी नूर को यह शेर कहते सुनता हूँ, तो मन में ख्याल आता है कि ’अफवाह वह अनोखा सच है जो तब तक सच रहता है जब तक झूठ न साबित हो जाये’. जब से यह विचार मन में आया है तबसे एकाएक दार्शनिक सा हो जाने की सी ...
उड़न तश्तरी .......
Tag :hindi satire
  August 6, 2017, 6:02 am
ये बंधन तो प्यार का बंधन है, जन्मों का संगम हैयह गीत के बोल हैं करण अर्जुन फिल्म के जो इस वक्त कार में रेडिओ पर बज रहा है.सोचता हूँ कि कितने ही सारे बंधन हैं इस जीवन में. विवाह का बंधन है पत्नी के साथ. प्यार भी ढेर सारा और कितना ही टुनक पुनक हो ले, लौट कर शाम को घर ही जाना होता ह...
उड़न तश्तरी .......
Tag :satire
  July 30, 2017, 10:37 am
भरपूर बारिश का इन्तजार किसान से लेकर हर इंसान और प्रकृतिके हर प्राणी को रहता है. भरपूर बारिश शुभ संकेत होती है इस बात का कि खेती अच्छी होगी, हरियाली रहेगी, नदियों, तालाबों, कुओं में पानी होगा. सब तरफ खुशहाली होगी. लेकिन जब यही बारिश भरपूर की मर्यादा तोड़ बेइंतहा का दा...
उड़न तश्तरी .......
Tag :Jugalbandi
  July 23, 2017, 5:55 am
कम्प्यूटर पर उपल्ब्ध अनगिनित खेलों में से एक है – बर्स्ट द बबल.इस खेल में कम्प्यूटर स्क्रीन के अलग अलग कोने में कहीं से भी एक बबल (बुलबुला - बुदबुदा) उठता है और आपको अपने कर्सर से नियंत्रित सुई को उस बबल पर ले जाकर उसे फोड़ना होता है. अगर आप निर्धारित समय में निशाना साध कर ब...
उड़न तश्तरी .......
Tag :hindi satire
  July 20, 2017, 5:47 am
बताते हैं छिद्दन बाबू का नाम चिन्तन के अपभ्रंश से बना. बचपन में उनका नामकरण चिन्तन हुआ था. जथा नाम तथा काम की तर्ज पर बचपन से हर विषय पर इतना अधिक चिन्तित हो लेते कि पूरा परिवार परेशान हो उठता. ऐसे में ही एक बार बारिश को देखकर ऐसा चिन्तित हुए कि कहने लगे कि जाने कौन को ऐसी ग...
उड़न तश्तरी .......
Tag :Jugalbandi
  July 16, 2017, 5:52 am
जूते पर १८ प्रतिशत जीएसटी..मगर जूते अगर ५०० रुपये से कम के हैं तो ५ प्रतिशत जीएसटी..इसका क्या अर्थ निकाला जाये?५०० से कम का जूता पैरों में पहनने के लिए हैं इसलिए कम टैक्स और महँगा जूता शिरोधार्य...इसलिए अधिक टैक्स? एक देश एक टैक्स के जुमले की बरसात में एक वस्तु अनेक टैक्स ...
उड़न तश्तरी .......
Tag :hindi satire
  July 9, 2017, 6:03 am
किसान है बिरजू..तो तय है परेशान तो होगा ही..मरी हुई फसलें और उनके चलते सर पर चढ़े बैंक के लोन का बोझ..ये परेशानी भी ऐसी वैसी नहीं है..उस सीमा तक की है कि बिरजू जान गया था अब आत्म हत्या के सिवाय कोई विकल्प बाकी नहीं बचा है.वो सुबह सुबह उठा, पत्नी और बच्चों को सोते में ही देखकर मन क...
उड़न तश्तरी .......
Tag :satire
  July 4, 2017, 6:47 am
लगान भूमि पर सरकार द्वारा लगाया गया कर है. इस बात से अनजान मात्र आमजन नहीं, बल्कि सरकार पक्ष के नेता भी अपनी बात और पक्ष साबित करने के लिए जी एस टी को लगान लगान पुकारे जा रहे हैं. मित्र कहने लगे कि सरकार बिल्कुल पुराने राजे महाराजे वाले समय की तरह हरकत कर रही है, आमजन की सुन ...
उड़न तश्तरी .......
Tag :satire
  July 2, 2017, 4:31 am
मेरो मन अनत कहाँ सुख पावेजैसे उड़ी जहाज को पंछी,पुनि जहाज पे आवेये जितना सच और सामयिक आज हिन्दी ब्लॉगरों की घर वापसी अभियान के तहत लग रहा है उतना तो उस घर वापसी में नहीं लगा था जिसमें घर वापसी के नाम पर धर्म परिवर्तन से लेकर मारा पीटी, हत्या और जाने क्या क्या सियासी खेल खे...
उड़न तश्तरी .......
Tag :ब्लॉग दिवस
  July 1, 2017, 5:48 am
देश गढ्ढे में था और उसी गढ्ढे के भीतर गुलाटी मार मार कर योगा किया करता था.सन २०१४ में एक फकीर अवतरित हुआ जिसकी वजह से देश गढ्ढे से आजाद हुआ और निकल कर विकास के राज मार्ग पर आ गया. जब देश राज मार्ग पर आ गया तो गुलाटीबाज योगा को भी राज गद्दी मिल गई. सारी दुनिया ने इसे एकाएक पहच...
उड़न तश्तरी .......
Tag :Jugalbandi
  June 25, 2017, 5:54 am
पहली ही मुलाकात में वे बड़े गर्व के साथ बता रहे हैं कि खेल ही उनका जीवन है और किरकिट में उनकी जान बसती है. रणजी से लेकर आई पी एल और वर्ल्ड चैम्पियनशीप सब खेलते हैं. उनकी नजर में कोई भी मैच छोटा बड़ा नहीं होता. वो २०-२०, डे नाईट, ५० ओवर, वन डे, ५ डे टेस्ट किरकिट को बस खेल मानते हैं. फ...
उड़न तश्तरी .......
Tag :Jugalbandi
  June 18, 2017, 7:22 am
जैसे की सबके एक दादाजी होते हैं, हमारे भी थे -दादा जी १००० एकड़ जमीन के मालिक थे..जमींदार थे.. खेत लहलहाते थे..सारा गाँव दादा जी के खेतों में काम करता था. दादा जी का एक भरा पूरा परिवार था..तीन भाई तो उनके खुद के थे.. खेत बंटा तो नहीं था शर्मो लिहाज में मगर हर भाई के हिस्से था २५...
उड़न तश्तरी .......
Tag :Jugalbandi
  June 11, 2017, 6:07 am
परीक्षा के परिणाम आते ही टॉपर ऐसे चर्चा में आ लेते हैं कि लगने लगता है कि अगर ये न होते तो हम किसकी बात करते? दूसरे जो चर्चा में हर वक्त रहते हैंवे विदेश यात्रा पर हैं. मगर गहराई से सोचें तो हैं तो वो भी टॉपर ही..चाहे चुनाव जीतने की बात हो या जुमले फेंकने की बात हो. आज अगर ओलंप...
उड़न तश्तरी .......
Tag :Jugalbandi
  June 4, 2017, 8:10 pm
शाम टहलने निकला था. सामने से आती महिला के कारण तो नहीं मगर उसके साथ पतले से धागेनुमा किसी डोरी में बँधे बड़े से खुँखार दिखने वाले कुत्ते के कारण वॉक वे छोड़ कर किनारे घास पर डर कर खड़ा हो गया. कुत्ता मेरे सामने से बिना मुझे देखे निकल गया मगर शायद वह महिला मेरा डर भाँप गई और मु...
उड़न तश्तरी .......
Tag :satire
  May 30, 2017, 8:03 am
हम गवां उसी चीज को सकते हैं जो हमारे पास होती है. जैसे अगर रुपया है ही नहीं, तो उसे आप गवां कैसे सकते हैं? बाल अगर हैं ही नहीं सर पर, तो उसकी हानि कैसे होगी.मात्र मान (इज्जत) ऐसी चीज है जिसकी हानि उसके बिना हुए भी होती रहती है. यह हानि भी संसद की केन्टीन में सस्ते खाने से लेकर हव...
उड़न तश्तरी .......
Tag :Jugalbandi
  May 28, 2017, 6:21 am
जनता के बिना किसी नेता की कल्पना करना भी संभव नहीं. नेता होने के लिए जनता का होना जरुरी है. भक्त न भी हों तो भी चलेगा. भक्त नेतागिरी में नया कान्सेप्ट है. इससे पहले इनके बदले पिछ्लग्गु एवं चमचे हुआ करते थे. भक्त भगवान के होते थे. अब पिछ्लग्गु ही भक्त कहलाते हैं या नेता भगवा...
उड़न तश्तरी .......
Tag :hindi satire
  May 21, 2017, 6:10 am
हमारे शहर की पान की दुकान पर एक बोर्ड लगा हुआ है कि कृप्या यहाँ पर अपना ज्ञान न बांटे, यहाँ सभी ज्ञानी हैं.ज्ञानी के ज्ञानी होने के लिए मूर्खों का होना अति आवश्यक है. सोचिये अगर सभी अच्छे हों और कोई बुरा हो ही न तो अच्छा होने की कीमत तो दो कौड़ी की न रहेगी.एक अमीर दूसरे अमीर क...
उड़न तश्तरी .......
Tag :satire
  May 19, 2017, 7:18 am
टॆलीफोन विषय पर यह निबंध क्लास ५ की रंजू की उत्तर पुस्तिका से उड़ाया है.टॆलीफोन मुख्यतः तीन प्रकार के होते हैं. एक आई फोन, दूसरा सेमसंग और तीसरा अन्य.इसे ऐसे समझे जैसे भारत में तीन प्रकार के लोग होते हैं- एक नेता, दूसरे उनसे गाढ़े संबंध रखने वाले व्यापारी और बाकी के अन्य.आई ...
उड़न तश्तरी .......
Tag :hindi satire
  May 14, 2017, 9:16 am
रंगों की पहचान के मामले में भारतीय पुरुष से ज्यादा निर्धन, दयनीय और निरीह प्राणी कोई नहीं होता. हम भारतीय पुरुषों को बस गिने चुने रंग मालूम होते है जैसे नीला, पीला, लाल ,गुलाबी, भूरा, हरा, सफेद और काला आदि. ज्यादा स्मार्ट हुए तो नीला और बैंगनी में फर्क कर लेंगे या काला और सि...
उड़न तश्तरी .......
Tag :vyangya
  May 12, 2017, 6:53 am
उनको इतना समझाया था कि चाहे भड़काऊ भाषण देकर देशद्रोह कर लो या कंपनी खोलकर करोड़ों का घोटाला कर लो या  बैंक से दूसरों की कमाई का हजारों करोड़ पैसा लेकर देश से भाग जाओ या नहीं तो गोरक्षक सेना में ही शामिल होकर गुंडागीरी कर लो..इतना भी न बन पड़े तो लव जेहाद के नाम पर प्रेमी युग...
उड़न तश्तरी .......
Tag :hindi satire
  May 9, 2017, 6:33 am
याद आता है २००३ का पावर आउटेज -जिसने पूरे उत्तरी अमेरिका को अपनी चपेट में ले लिया था ,सारे शहर तीन दिन के लिए बिना बिजली के हो गये थे. कहा जाता है कि यहाँ का जीवन यांत्रिक है. बिना बिजली के एक सांस लेना भी मुश्किल है. सब दावों को धता बताते हुए जीवन चला था उन तीन दिनो...
उड़न तश्तरी .......
Tag :hindi satire
  May 7, 2017, 10:37 am
याद आता है २००३ का पावर आउटेज -जिसने पूरे उत्तरी अमेरिका को अपनी चपेट में ले लिया था ,सारे शहर तीन दिन के लिए बिना बिजली के हो गये थे. कहा जाता है कि यहाँ का जीवन यांत्रिक है. बिना बिजली के एक सांस लेना भी मुश्किल है. सब दावों को धता बताते हुए जीवन चला था उन तीन दिनो...
उड़न तश्तरी .......
Tag :hindi satire
  May 7, 2017, 10:37 am
कान में जूँ का रेंगना भी अजब सी घटना है. जाने किस बात पर रेंग जाये और जाने किस बात पर न रेंगे. इसका बात की बड़ी या छोटी होने से कुछ लेना देना नहीं है.मंचों और माईकों से भाषण से लेकर प्रवचन तक सब दिये गये कि भ्रष्टाचार मिटाओ. समझाया गया कि आप जब रिश्वत दोगे नहीं, तो कोई लेगा कैस...
उड़न तश्तरी .......
Tag :satire
  May 1, 2017, 6:11 am
हवाई चप्पल वालों के लिए हवाई यात्रा की घोषणा कर साहेब ने यह तो कर दिखाया कि अच्छे दिन वाली बात पूरी तरह से हवाई किला नहीं थी, एकाध कमरे असली भी बन रहे हैं.अब बताईये कुतर्की ऐसा कह रहे हैं कि भले वो बंदा एयरपोर्ट तक आने के लिए टैक्सी का किराया न भर पाये मगर हवाई यात्रा की की...
उड़न तश्तरी .......
Tag :satire
  April 30, 2017, 6:25 am
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3685) कुल पोस्ट (167882)