Hamarivani.com

S.M.Masum

आज कल ज़माना है खुद के वेबपोर्टल्स का जिस से आप अपनी पहचान आसानी से बना सकते हैं और अगर आपकी लेखनी में दम है तो आप कमा भी सकते हैं आसानी से |  सुनने में यह आसान लगता है लेकिन अक्सर लोग यह समझ नहीं पाते की खुद का पोर्टल शुरू कैसे करें ?  किसी भी वेबपोर्टल शुरू करने के लिए आव...
S.M.Masum...
Tag :
  January 7, 2019, 8:42 am
आज आपके सामने है मेरे घराने का इतिहास |जौनपुर में हमारा घराना पिछले सात सौ से अधिक वर्षों से रहता आया है |जौनपुर में सबसे पहले हमारे घराने के आने वाले व्यक्ति थे सय्यद अली दावूद जिनकी शान में लाल दरवाज़ा मस्जिद और मदरसा बना और उन्ही के नाम पे इलाक़ा सय्यद अली पुर (सदल्लीपु...
S.M.Masum...
Tag :
  December 10, 2018, 6:01 pm
1 दिसंबर का दिन हर साल विश्व एड्स दिवस (वर्ल्ड एड्स डे) के तौर पर मनाया जाता है| इस दिन HIV/AIDS को लेकर लोगों में जागरूकता बढ़ाने के लिए बहुत से प्रोग्राम हुआ करते है | हमारा जौनपुर टीम समय समय पे महामारियों  पे लोगों को जागरूक करने का काम करती है इस बार अपने इसी मिशन पे एड्...
S.M.Masum...
Tag :महिला जगत
  December 3, 2018, 1:14 pm
हिंदी ब्लॉगजगह ने मुझे बहुत प्रेम दिया और २००९ में जब मैंने हिंदी ब्लॉग जगत में क़दम रखा तो ब्लॉगर भाइयों ने मेरा स्वागत दिल से किया और मैंने एक मिशन चलाया जिसका नाम था "अमन का पैगाम " जिसमे आगे बढ़ चढ़ के अधिकांश देश विदेश के ब्लॉगरो ने हिस्सा लिया और उनके लेख आज भी मेरे इस ...
S.M.Masum...
Tag :
  December 3, 2018, 1:09 pm
हिंदी ब्लॉगजगह ने मुझे बहुत प्रेम दिया और २००९ में जब मैंने हिंदी ब्लॉग जगत में क़दम रखा तो ब्लॉगर भाइयों ने मेरा स्वागत दिल से किया और मैंने एक मिशन चलाया जिसका नाम था "अमन का पैगाम " जिसमे आगे बढ़ चढ़ के अधिकांश देश विदेश के ब्लॉगरो ने हिस्सा लिया और उनके लेख आज भी मेरे इस ...
S.M.Masum...
Tag :
  December 3, 2018, 11:07 am
अधिक नागरिकों की पसंद के अनुसार राजनैतिक पार्टियां अपने अपने मुद्दे का चुनाव करती हैं| अब कोई राजनैतिक पार्टी गरीबी,अशिक्षा और भुखमरी इत्यादि की जगह मंदिर-मस्जिद मुद्दे पे चुनाव लड़ना चाहती है तो जनता खुद की मानसिकता को बदले राजनैतिक पार्टी को दोष क्यों देते हो भाई ...
S.M.Masum...
Tag :
  December 2, 2018, 11:15 pm
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); हालीवुड के एक्शन हीरो और बाडी बिल्डर एथलीट रहे अर्नोल्ड श्वार्ज़नेगर ने इंस्टाग्रामपे एक फोटो पोस्ट की है -अपनी मूर्ति के नीचे सोते हुए जो उस होटल मे लगी है जिसका फीता उन्होने कैलीफोर्निया के गवर्नर रहते काटा था | होटल ने उनकी मूर्ति लगाते हुए उन...
S.M.Masum...
Tag :s.m.masoom
  December 2, 2018, 11:21 am
इंदौर की अर्चना जीका शुक्रिया जिन्होंने इस पोस्ट को बेहतरीन अंदाज़ मैं पढ़ा.. आप सब भी सुने. इमाम हुसैन की शहादतको नमन करते हुए हमारी ओर से श्रद्धांजलि…इस लेख़ के ज़रिये मैंने एक कोशिश की है  यह बताने की के धर्म कोई भी हो जब यह राजशाही , बादशाहों, नेताओं का ग़ुलाम बन जाता ह...
S.M.Masum...
Tag :Editorial
  November 21, 2018, 8:57 pm
कर्बला की जंग असत्य पे सत्य की विजय क्यों कही जाती है जबकि दुनियावी लिहाज़ से यज़ीद की फ़ौज तो हज़रत मुहम्मद (स.अ.व) के नवासे हुसैन (अ.स)  और उनके घराने वालो को शहीद करने के बाद जीत की ख़ुशी मना रहे थे । इसे समझने के लिए इस्लाम के इस उसूल को समझना आवश्यक है की जीत उसकी हुआ करती ह...
S.M.Masum...
Tag :कर्बला
  September 21, 2018, 12:15 pm
कुछ  दिन  पहले मैंने इमाम हुसैन (ए.स) कोश्रधांजलि देते हुए एक पोस्ट मैं यह बताने कि कोशिश कि थीकि धर्म कोई भी हो जब यह राजशाही , बादशाहों, नेताओं का ग़ुलाम बन जाता है तो ज़ुल्म और नफरत फैलाता  है और जब यह अपनी असल शक्ल मैं रहता है तो, पैग़ाम ए मुहब्बत "अमन का पैग़ाम " बन जा...
S.M.Masum...
Tag :peace message
  September 21, 2018, 12:15 pm
हर  साल  मुहर्रम  का  चाँद  दिखाई  देते  ही ,हर तरफ कर्बला, या हुसैन की सदा सुनाई देने लगती है, लोगों की ज़बान पे पैगाम है इंसानियत,सब्र ए हुसैन (ए.स) और कुर्बानियों  की कहानी फिर से सुनाई देने लगती है. कल १० मुहर्रम आशूरा का रोज़  है जिस दिन इमाम हुसैन शहीद  ह...
S.M.Masum...
Tag :Editorial
  September 21, 2018, 12:14 pm
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});बादशाह अकबर की अंगूठी गुम हो गई| बादशाह ने बहुत तलाश की किंतु अंगूठी नहीं मिली| उन्होंने इस बात का जिक्र बीरबल से किया तो उसने पूछा – “हुजूर, आपको याद है, आपने अंगूठी कब उतारी थी?” “कल सुबह शौच जाने से पहले उतारकर अलमारी में रखी थी, वापस आने पर नहीं मिल...
S.M.Masum...
Tag :Editorial
  September 3, 2018, 6:11 pm
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); हमारे घराने की गिनती जौनपुर के लगभग ७०० साल पुराने ऐतिहासिक घरानो में हुआ करती है जिसका ज़िक्र तजल्ली ऐ नूर ,जौनपुर नामा इत्यादी बहुत से मशहूर इतिहास की किताबों में मिलता है |शार्की समय में जौनपुर में १४०० से अधिक ज्ञानी , संत और सूफी का आगमन हुआ जिनम...
S.M.Masum...
Tag :history
  July 25, 2018, 10:02 am
डॉ टी एस दाराल जी मेडिकल डॉक्टर, न्युक्लीअर मेडीसिन फिजिसियन हैं , ओ आर एस पर शोध में गोल्ड मैडल-- एपीडेमिक ड्रोप्सी पर डायग्नोस्टिक क्राइटेरिया ,सरकार से स्टेट अवार्ड प्राप्त, दिल्ली आज तक पर ,दिल्ली हंसोड़ दंगल चैम्पियन, नव कवियों की कुश्ती में प्रथम पुरूस्कार प्राप...
S.M.Masum...
Tag :bloggers
  July 9, 2018, 1:20 pm
आज अमन का पैग़ाम पे कानपुर के सनोवर अली साहब का तोहफा कुबूल करें.कुछ येसी हवाओं (लोगों) की तलाश है मुझको जो दबाकर फिरका परस्ती को झोंकों में मजलूमों को खुशनुमा हवा देते हैं.कुछ येसी हवाओं (लोगों) की तलाश है मुझको जो गैरों के जख्मों को सिफ़ा देते हैं पोंछ कर अश्क उनकी ...
S.M.Masum...
Tag :bloggers
  July 8, 2018, 8:32 am
आज अमन का पैग़ाम पे पेश हैं भागलपुर बिहार के गिरिजेश कुमार जीका लेख़ "इंसानियत ही सबसे बड़ा धर्म" मैं पुरे विश्व में  रेशम नगरी के नाम से मशहूर भागलपुर (बिहार)से सम्बन्ध रखता हूँ| समाज और सामाजिक समस्याओं के प्रति दिलचस्पी ने पत्रकारिता जगत की ओर आकर्षित किया| लिखने क...
S.M.Masum...
Tag :peace message
  July 7, 2018, 8:33 am
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});अरे यार लोग अपने भाई अपने दोस्त अपने पड़ोस की तरक्क़ी देख के ही क्यूँ जल भुन जाते हैं ? दुसरे ना जाने कहाँ कहाँ तरक्की करते जा रहे हैं लेकिन न उन्हें देख जलते हो ना उनकी टांग खींचते हो | इरादा क्या है भाई क्या अपने आस पास का पूरा इलाक़ा जलन हसद ,इर्ष्या की आग ...
S.M.Masum...
Tag :
  July 6, 2018, 10:51 am
कुँवर कुसुमेशजी का नाम इस ब्लॉगजगत के लिए एक जाना पहचाना नाम है. इनके कलाम ही इनकी पहचान हैं. यह वोह नाम है जिनसे हम जैसों को हिम्मत मिला करती है...पेश ए खिदमत है "अमन के पैग़ाम पे  सितारों की तरह चमकें की ५२ वीं    पेशकश....कुँवर कुसुमेशनया  पैग़ाम  लेकर  आ  गईं  ...
S.M.Masum...
Tag :blogger
  July 6, 2018, 7:53 am
पेश ए खिदमत है "अमन के पैग़ाम पे  सितारों की तरह चमकें की नवीं  पेशकश …अंजना जी (गुडिया) "अमन का पैगामएक ऐसा मंच है जहाँ पर लोग अपने फर्क भुला  कर एक खूबसूरत मकसद के लिए जुड़ते हैं... अमन के लिए जुड़ते हैं! काश ये कोशिश कामयाब हो और जो नफरत और खुदगर्ज़ी की गुलामी कर रहे है...
S.M.Masum...
Tag :peace message
  July 4, 2018, 9:59 pm
इंसान आज परेशान अपनों से अधिक गैरो से कम है | आज जिस समाज में हम रह रहे हैं उसमे हर इंसान परेशान नज़र आता है और उसे अधिक परेशानी उन्होंने दी है जिनसे यह आशा की जानी चाहिए कि वो परेशानी को दूर करने में मददगार होंगे जैसे पडोसी, क़रीबी रिश्तेदार इत्यादि । आज मुझे एक सज्जन मिल गए...
S.M.Masum...
Tag :
  July 4, 2018, 7:59 pm
बचपन से सुना और पढ़ा . मनुष्य एक सामाजिक प्राणी है, समाज मैं रहने के लिए अच्छे चरित्र, शील, सद्व्यवहार,  सदाचार आदि की आवश्यकता हुआ करती है. किसी भी समाज के स्थायित्व व वृद्धि तथा विकास के लिए कुछ नैतिक संहिताएं होती हैं. कुछ ऐसी मर्यादा कायम की जाती है जिसका उल्लंघन समस...
S.M.Masum...
Tag :social issues
  July 4, 2018, 9:15 am
  मैं एक गृहिणी हूँ। मुझे पढ़ने-लिखने का शौक है तथा झूठ से मुझे सख्त नफरत है। मैं जो भी महसूस करती हूँ, निर्भयता से उसे लिखती हूँ। अपनी प्रशंसा करना मुझे आता नही इसलिए मुझे अपने बारे में सभी मित्रों की टिप्पणियों पर कोई एतराज भी नही होता है। मेरा ब्लॉग पढ़कर आप नि:संकोच ...
S.M.Masum...
Tag :blogger
  July 4, 2018, 8:35 am
हम को अल्लाह ने इंसान बनाया "अशरफुल मख्लूकात " का दर्जा दिया  लेकिन हम हैं कि जानवरों कि फितरत को ही अपनाने अपनी शान समझने लगे हैं.|  चलिए  आज किसी और की  बात ना कर के आप को मक्खी के बारे मैं बताता हूँ.| मक्खी कि फितरत यह होती है कि सुंदर से सुंदर बगीचे मैं पहुँच जाए ...
S.M.Masum...
Tag :Teachings
  July 3, 2018, 3:41 pm
अरब मैं जब इस्लाम आया था तो वहाँ ग़रीबी भी थी, जहालत भी थी. हज़रत मुहम्मद (स.अ.व) के किरदार  को उन लोगों ने इतना बुलंद देखा, कि ईमान ले आये, इस्लाम कुबूल कर लिया। इस्लाम हकीकत मैं किरदार की बुलंदी से फैला है और इस सुबूत यह है की हज़रत मुहम्मद (स.अ.व) ने एलान ए रिसालत उस वक़्त क...
S.M.Masum...
Tag :Teachings
  July 3, 2018, 12:12 pm
हज़रत इमाम जाफ़रे सादिक अलैहिस्सलाम मक्का व मदीने के दरमियान का रास्ता तय कर रहे थे। मसादफ़ आप का मशहूर गुलाम भी आप के साथ था कि अस्नाए राह में उन्होंने एक शख़्स को देखा जो दरख़्त के तने पर अजीब अन्दाज़ से पड़ा हुआ था। इमाम ने मसादफ़ से फ़रमाया, उस शख़्स की तरफ़ चलो, कहीं...
S.M.Masum...
Tag :इंसानियत
  July 3, 2018, 9:09 am
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3846) कुल पोस्ट (185853)