Hamarivani.com

Khwahish

चलते चलते थक कर पूछा पाव के छालों ने बस्ती कितनी दूर बसा ली दिल मैं बसने वालों ने ...
Khwahish...
Tag :
  May 21, 2013, 4:47 pm
तू मिल जाये तो दुआएं छोड़ दू  मांगना मेरी तलब ख़तम हो जाती है तुजे पाने के बाद पल ...
Khwahish...
Tag :
  May 21, 2013, 4:38 pm
सिलसिला तोड़ दिया उस ने तो अब ये सदाएँ कैसी ???अब जो मिलना ही नहीं फिर ये  वफायें कैसी ???मैंने चाहां था सब शिकवे गिले दूर करू उन्होने ज़हमत ही ना की सुनने की तो अब शिकायत कैसी  ???ले लो वापीस ये आसू ..ये तड़प  और ये यादें सारी ..नहीं कोई जुर्म मेरा तो अब ये सजाएं कैसी ???पल ...
Khwahish...
Tag :
  May 20, 2013, 5:18 pm
उनकी चाहत मैं दिल मजबूर हो गया रुसवाई उनका दस्तूर हो गया कसूर ना  उनका था ना  मेरा मैंने चाहा ही इतना की उनको गुरुर हो गयापल ...
Khwahish...
Tag :
  May 9, 2013, 2:53 pm
हमने उन के इंतज़ार मै घर के रास्ते पर ....इतने दिए जलाये की पूरा रास्ता रोशन कर दिया ..पर वो ये सोच कर लौट गए ...की रात का वडा था अब तो दिन निकल आया है ....पल ...
Khwahish...
Tag :
  May 8, 2013, 6:33 pm
कुछ कहना सुन ना बाकी था गर शब्द थोडा और साथ देते कुछ लेना देना बाकी था गर तुम हाथ ना हटा लेते .कुछ एहसास जागने बाकी थे तुम कुछ पल जो ठहर जाते कुछ जज़्बात जागने बाकी थेतुम बहो  मैं जो समेट लेते कुछ कसमे वादे पुरे कर लेते मैंने उनको गर रोक लिया होता कुछ कदम साथ चल लेते तुम...
Khwahish...
Tag :
  May 8, 2013, 6:00 pm
चाँद  बदला हैं कभी झील बदल जने से आइना कोइ भी हो अक्ष तुम्हारा होगा.............पल ..................
Khwahish...
Tag :
  December 4, 2012, 6:25 pm
मुज को जिन्दगी का ये हिस्सा समझ नहीं आता क्यूँ जीता है इंसान यह फल्साफा समझ नहीं आता कुछ तरस जाते जैन कहने कोऔर कुछ को कहने के मायने समज नै आते कुछ फटे हाल सड़कों पर घुमा करते है और कुछ को महलो मैं भी आराम नहीं आता...मुज को जिन्दगी का ये हिस्सा आज भी समझ नहीं आता ......
Khwahish...
Tag :
  February 24, 2012, 2:57 pm
पलकों से उठा के ये ख्वाब सजाये है कदमो मैं तेरे संभल के रखना कदम अपने कही कुचल न जाये ख्वाब ये मेरे Pal...
Khwahish...
Tag :
  November 10, 2011, 2:22 pm
Conditional loveThe perception of conditional love and unconditional application and experience for humanity is a major cause of segregation, alienation and slights that exist between people and peoples.Although most people do not think about the subject, it is an undeniable reality and easily verifiable, it is distinct from the fact that the patriot who loves his country but dislike another country "enemy", the religion that values ​​the devotee who is faithful and unquestionably follow his teachings, but excommunicates or slander the followers of other faiths, the mother who caresses and supports their descendants, but can curse upon the children of others, the spouse who accepts the l...
Khwahish...
Tag :
  October 19, 2011, 1:54 pm
यु ना बुरा मान अगर " तुज को मैं  प्यार करती हु "ये तोह बता गुनाह कोन सा ऐसा " मैं यार करती हु "मेरी खताओं मैंमेरी समज का" नहीं कोई दखल "मैं जो भी करती हु"बे - इख्तियार करती हु"तू कितने प्यार के काबिल है " क्या खबर मुज को "के मैं तो जितना भी मुमकिन हो " सिर्फ तुजे ही प्यार करती ह...
Khwahish...
Tag :
  August 18, 2011, 1:37 pm
  उस ने  कहा कुछ बातें कर ले....मैंने कहा                   - क्यों आज इजाजत ले रहे हो उस ने  कहा.....                  -अच्छा अगर जो मैं ना होता तो क्या होता ?मैंने कहा.......                  -तो मैं भी ना होती ।उस ने पूछा ...                  -वो क्यों ?मैंने कहा.......                  -क्योंकि जब तुम्हारा होना तय हुआ होगा तो...
Khwahish...
Tag :
  August 17, 2011, 7:32 pm
आज जब बारिश हुए ये भी एक ख्याल आया क्यों न एक बदल हो जो मेरा राज़दार हो जो कुछ गुज़रा है सुने वो एक पल ठहर के तुम से जो भी कहना है सुने वो हस कर फिर चले वो मुस्कुरा के फिर बरसे वो बेधड़क हो कर आज ही तेरे दिल पर... ...
Khwahish...
Tag :
  August 17, 2011, 1:57 pm
ना दो मुझे कोई पहचान मुझे सिर्फ इंसान रहने दो मज़हब की जरूरत होगी तुमको मुझे तो अब बेदाग़ रहने दो खुदा के बन्दों को अब ना कोई  नाम की जरुरत है हर शख्स को जीने के लिए अब तो सिर्फ सुकून की जरुरत है मजहब  को  मेरा  अब अपना  मामला  रहने  दो  ना दो मुझे कोई पहचान मुझे सिर्फ इं...
Khwahish...
Tag :
  August 5, 2011, 2:37 pm
तेरे होठों की हसी बनने का ख्वाब है तेरे आगोश मैं  सिमट जाने का ख्वाब है तू लाख बचा ले दामन  इश्क के हाथो असमान बन कर तुजे पर छाने का ख्वाब है आज़माइश यु तो अच्छी नहीं होती इश्क की तू चाहे तो तेरी तकदीर सजाने का ख्वाब है वो मौत भी लौट जाये तेरे दरवाजे पे आ कर तुजे ऐसे जिन्द...
Khwahish...
Tag :
  August 4, 2011, 2:26 pm
एक पुरानी किताब के पन्नों पे आज उंगली चलाईजाने कहाँ से कुछ धीमी आवाज़ें आईआवाज़ एक जानी पहचानी सीआवाज़ें कुछ बरसों पुरानी सीएक हँसी थी दूर से आती हुईगूंजती थी दिल को भरमाती हुईकितनी ही बातें थी उस आवाज़ मेंजाने क्या कह गई अपने ही अंदाज़ मेंएक संगीत खामोशी की नींद तोड...
Khwahish...
Tag :
  July 21, 2011, 2:49 pm
तेरे जाने के बाद इतना सा गिला रहा हम को तू पलट कर देख लेता अगर तो जिन्दगी इंतज़ार मै गुजार लेते ...
Khwahish...
Tag :
  July 8, 2011, 2:00 pm
कभी  पूछ का देख अपनी यादो का आलम सारी सारी रात सितारों  से तेरा जिक्र करते है ...
Khwahish...
Tag :
  July 8, 2011, 1:49 pm
काश कहा होता तुम्हे ख़ुशी चाहिए , हम दुनिया भर की दे देते,काश तुम ने कहा होता,ख्वाहिश पूरी करने को,हम एक भी अरमान बाकि नहीं रखते,कहा काश तुम ने कहा होता,तारे तोड़ लेन को, सारा आकाश ले आते,काश तुम ने कहा होता,प्यार करने को, आखिरी सास तक करते,काश तुम ने कहा होता ,जान दे देने को,हस...
Khwahish...
Tag :
  June 14, 2011, 5:29 pm
नाम मेरा लेते हुएअब वो डरता हैजो पल पल कहता था मेरे पास कुछ नहीं है तेरे नाम के सिवा .......
Khwahish...
Tag :
  April 30, 2011, 8:19 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3652) कुल पोस्ट (163549)