Hamarivani.com

Lamhay

तेरे खतों को तेरी अमानत समझ कर बैठे हैं उनके लव्जों को वादा समजकर बैठे हैं ये उम्मीद हैं के कभी तो लौट के आएगा तू तेरे इन्ताज्ज़र मैं इन्हे सिने  से लगा कर बैठे हैं पल ...
Lamhay...
Tag :
  May 21, 2013, 5:17 pm
मैं उस के ख्याल से जाऊ तो कहा जाऊ वो मेरी सोच के हर रास्ते पर नज़र आता हैं पल ...
Lamhay...
Tag :
  May 21, 2013, 4:43 pm
कितनी अजीब हैं मेरे अंदर की तन्हाइया हजारों  अपनो  की भीड़ मैं बस याद तुम ही आते हो. पल [ pg ]...
Lamhay...
Tag :
  May 21, 2013, 4:33 pm
 कभी उल्फत भरा लहजा कभी उतरा हुआ चेहरा समज मैं नहीं आता बता मेरा गुनाह क्या है ..??मेरी उलझन मिटा  दे मुझे इतना बता तोह दे मैं  मुजरिम हु या मेहराम हु मेरी सजा क्या हैं ??मेरी जज़ा क्या है ?? मेरी सांसे तो चलती हैं तेरी यादों से ऐ ह्मदम मेरा दिल मेरी जान ये सब कुछ नाम तेरे ...
Lamhay...
Tag :
  May 20, 2013, 5:32 pm
कोई तुम से पूछे कौन हु मैं तुम केह  देना कोई खास नहीं एक दोस्त है  कच्ची पक्की सी  एक जूठ है आधा अधुरा सा एक फूल है रुखा सुख सा एक सपना है बिन सोचा सा एक अपना है अनदेखा सा एक रिश्ता है अंजना सा हकीकत मैं  अफसाना सा कुछ पगली  सी कुछ दिवानी सी बस एक बहाना अच्छा सा जीवन की ऐ...
Lamhay...
Tag :
  May 20, 2013, 5:02 pm
खयालों मैं जब आता है उस का चेहरा तो लबो पर अक्सर  फ़रियाद आती है हम भूल जाते है उस के सारे सितम जब उस की थोड़ी सी महोब्बत याद आती है पल ...
Lamhay...
Tag :
  May 9, 2013, 3:03 pm
 उस की की आखों मैं महोब्बत की चमक आज भी है…हालां की उसे मेरी महोब्बत पर शक आज भी है ....कश्ती  मै बैठ कर धोये थे हाथ मैंने कभी उस के साथ .....पूरे तालाब मैं मेहँदी की महक आज भी हैं ........पल…. ...
Lamhay...
Tag :
  May 8, 2013, 6:25 pm
रुख पर पसीना ..तेज़ धडकने ..हल्का सा एहसास - ए - हया ..हम पर क्या कुछ बीत गया ....एक तेरा हाथ थामने  से ....पल .......
Lamhay...
Tag :
  May 8, 2013, 6:13 pm
मै कतरा  कतरा  बरसात मै बरसू गी जो उन बरिसो  मै भीगो तो याद करना मै सास सास  तेरी यदो मै बसी  हू जब सास को उखरता पाओ तो याद करना मै लम्हा लम्हा तेरी याद मै जलती  हू  कभी खुद को खुद से खफ़ा पाओ तो याद करना मै रात रात तुजे रब से मगती  हू  कभी तुम भी हाथ उठा ओ  तो याद करना पलक ...
Lamhay...
Tag :
  December 4, 2012, 5:55 pm
इस दिसम्बर के महीने मैं ठीक एक साल पहले सर्दी की काली रातों मैं छत पर किसी कोने मैं बैठे एक दोस्त बनाया था मैंने थोडा सा नटखट थोडा सा पागलमेरी जिन्दगी के कैनवास पर इन्द्रधनुष सा उतरा था एक अलग ही रंग आज फिर दिसम्बर आया है मगरखबर नहीं मुज को उसकी वो इंतज़ार कर चला गया ...
Lamhay...
Tag :
  February 25, 2012, 2:18 pm
ये आइना हैं  जो हमेशा सच बोलता है नकाब पोश के राज़ - ऐ - चेहरा खोलता है यूँ  तो चलती है दुनिया लाख चेहरे लिए हर शक्श यहाँ जूठ का पाठ करता है मिलता  है सुकून देख कर ये आइना मुझे यही तो मेरी चेहरा - ऐ - तस्वीर खोलता है शुकून है के देख कर आइना यकीं होता है दयार - ऐ - दुनिया  मैं कोई ...
Lamhay...
Tag :
  February 24, 2012, 7:01 pm
आईने में चेहरा अपना देखा,और तस्वीर तेरी नज़र आई..ए- सितमगर आज मुझे,तेरी बेवफाई फिर नज़र आई..मिटा नही पाया तेरी कमी दिल से कभी,आज मुझे अपनी यह मज़बूरी नज़र आई..दर्द से जिंदा रहने का एहसास होता है,ऐसे हालात में फंसी मुझे अपनी जिंदगी नज़र आई..जिस पल तू खो गया कहीं भीड़ में,उस पल ...
Lamhay...
Tag :
  February 24, 2012, 2:44 pm
आज तुम्हारा ख़त मिला जिस में  तुम ने पूछा के अब हालत कैसे है मेरे दिन रात कैसे है क्या कहू ..के न दिन है न अब ये रात पर हाँ इतने सालो बाद फिर वही आप का स्पर्श मुझे इस ख़त के साथ मिल गया फिर लौट आई जिन्दगी पलक ...
Lamhay...
Tag :
  November 9, 2011, 9:30 pm
कितनी प्यारी कितनी रंगीन कांच की चूड़ी जैसे एक लड़की तनहा बैठी अपने ही खयालो मैं गूम सी जाने किस खयालो से झगडती ..उस का हाथ कलाई पर था और वो कुछ कुछ खौफजादा थी सोचती हुए के अब क्या होगा..?मै भी उस के पास ही बैठापुछा कुछ डर कर क्या किस्सा  है  ??उस की आखें भीग गई..और बोली सहेम ...
Lamhay...
Tag :
  August 18, 2011, 1:57 pm
उस ने  कहा कुछ बातें कर ले....मैंने कहा                   - क्यों आज इजाजत ले रहे हो उस ने  कहा.....                  -अच्छा अगर जो मैं ना होता तो क्या होता ?मैंने कहा.......                  -तो मैं भी ना होती ।उस ने पूछा ...                  -वो क्यों ?मैंने कहा.......                  -क्योंकि जब तुम्हारा होना तय हुआ होगा तो म...
Lamhay...
Tag :
  August 17, 2011, 7:35 pm
एक बार सुनो कुछ ऐसा हुआवो मुझे मिला मैं उसे मिली.आखें मिली..ख़ामोशी ने बाते की..इज़हार हुआ इकरार हुआ वो चाहने लगा मैं चाहने लगीउसे प्यार था बहोत मुझे एतबार था बहोत फिर कुछ यु हुआवो  छोड़  गया मैं टूट गई   वक़्त ने रफ़्तार ली फिर कुछ यु मिलेवो अकेला था मैं तन्हा थी बस हम दोनों थ...
Lamhay...
Tag :
  August 17, 2011, 2:26 pm
...
Lamhay...
Tag :
  August 8, 2011, 9:30 am
पिछले प्रहर की रात थी तन्हाई और तेरी याद थी वही कही से चाँद आ गया सिराहने तक पूछने लगा जिन्दगी कैसी है ..? मैंने कहा कोई खास नहीं वही हस कर फिर से पुछा क्या चाहते हो ..?मैंने कहा कोई चाहत नहीं कोई आस नहीं वही फिर मुस्कुराया और पुछा कभी प्यार किया है ..?मैंने कहा कुछ याद तोह न...
Lamhay...
Tag :
  August 7, 2011, 8:18 pm
चलो तुम  साथ  मत  देना  मुझे  बेशक  भुला  देना नए  सपने  सजा  लेना नए रिश्ते बना लेना  भुला देना सभी वादे सभी कसमे ..सभी नाते ..मगर अब तुम किसी से भी ऐसा अनोखा प्यार मत करना...
Lamhay...
Tag :
  August 6, 2011, 9:02 pm
कब से कहने की हिम्मत जुटा रहे है के तुम से इज़हारे महोब्बत कर ले पर  न जाने आज ऐसा क्या हुआ के दिल ने कहा की कह ही दू आज जब किताब के पन्नो की सफेदी तुम्हारे चेहरे पर छलकती है दिल कही रुक सा जाता है जब हसी की एक ठंडी लहर मेरे कानो मई गूंजती है वक़्त कही थम सा जाता है ना जान...
Lamhay...
Tag :
  August 4, 2011, 2:36 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3652) कुल पोस्ट (163585)