Hamarivani.com

यही है जिन्दगी

इस यात्रा के बारे में शुरू से पढ़ने के लिए यहां क्लिककरें–आज पुरी में हमारा दूसरा दिन था और आज हम भुवनेश्वर जाने वाले थे। जैसा कि मैं पिछले भाग में भी उल्लेख कर चुका हूं कि भले ही यह जनवरी का अन्तिम सप्ताह था लेकिन पुरी में ठंड का कोई असर नहीं था। हां,कही–कहीं कुहरा दिख ...
यही है जिन्दगी...
Tag :यात्रा
  March 8, 2017, 10:41 pm
इस यात्रा के बारे में शुरू से पढ़ने के लिए यहां क्लिककरें–समुद्र स्नान में 10.30 बज गये। वापस लौटे तो कमरे पर नहा–धोकर फ्रेश होने में 12 बज गये। अब चिन्ता थी पुरी के स्थानीय भ्रमण के लिए साधन खोजने की। चक्रतीर्थ रोड पर जगह–जगह आटो वाले खड़े–खड़े सवारियों का इन्तजार करते म...
यही है जिन्दगी...
Tag :यात्रा
  February 28, 2017, 8:33 pm
जय जगन्नाथǃयह उद्घोष जहां होता है वह है जगन्नाथ की नगरी– ‘पुरी‘ या जगन्नाथपुरी।समुद्र के किनारे बसे इस छोटे से शहर में,यहां के निवासियों के साथ–साथ समुद्र भी निरन्तर जय जगन्नाथ का उद्घोष करता रहता है। प्राकृतिक और धार्मिक सुन्दरता से भरपूर इस शहर की यात्रा पर एक दि...
यही है जिन्दगी...
Tag :यात्रा
  February 22, 2017, 6:16 pm
इस यात्रा के बारे में शुरू से पढ़ने के लिए यहां क्लिककरें–गोदौलिया बनारस का सबसे पुराना बाजार है। इसलिए भीड़ तो होगी ही। चौराहे पर लगा बोर्ड बता रहा था– काशी विश्वनाथ मन्दिर 500 मीटर और दशाश्वमेध घाट 700 मीटर। चौराहे से पैदल ही जाना है और यही उचित है क्योंकि बाजार और संकर...
यही है जिन्दगी...
Tag :वाराणसी
  January 24, 2017, 8:51 pm
भोले बाबा की नगरी–वाराणसीमां गंगा का नगर,भगवान बुद्ध का नगर,फक्कड़ों का नगर,पंडो–पुजारियों का नगर, मन्दिरों का नगर,घाटों का नगर,गलियों का नगर,अखाड़ों का नगर,सन्तों का नगर,औघड़ों का नगर ............और भी पता नहीं कितने विशेषण जुड़े हैं इस शहर के साथ।लेकिन वाराणसी या बन...
यही है जिन्दगी...
Tag :वाराणसी
  January 19, 2017, 2:28 pm
इस यात्रा के बारे में शुरू से पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें–11 अक्टूबर को हमने नैनीताल के आस–पास के पर्यटन–स्थलों तक पहुंचने की सोची। कई विकल्प सामने थे– एक तो था भुवाली–रानीखेत–अल्मोड़ा,दूसरा था जिम कार्बेट तथा तीसरा था– लेक टूर यानी सातताल–भीमताल–नौकुचियाताल...
यही है जिन्दगी...
Tag :यात्रा
  January 10, 2017, 4:07 pm
इस यात्रा के बारे में शुरू से पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें–12 अक्टूबर को हम लेक टूर पर निकले। लेक टूर यानी नैनीताल के अास–पास स्थित झीलों का दर्शन। हमने एक छोटी गाड़ी 1500 रूपये किराये पर ले ली और निकल पड़े। सबसे पहले नैनीताल से लगभग 22 किमी दूर स्थित सातताल। कहते हैं कि ...
यही है जिन्दगी...
Tag :भीमताल
  January 3, 2017, 7:44 pm
इस यात्रा के बारे में शुरू से पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें–9 अक्टूबर को यानी नैनीताल पहुंचने के अगले दिन हमने स्नो व्यू प्वाइंट तक पैदल चलने का निश्चय किया और चल दिये। बिल्कुल सही रास्ता पता नहीं था अतः पूछते हुए चल दिये। एक दिन पहले टैक्सी से भी हम यहां पहुंच चुके थ...
यही है जिन्दगी...
Tag :यात्रा
  January 2, 2017, 9:39 pm
सच में,नैनीताल तुम बहुत खूबसूरत होǃनैनीताल से वापसी के समय ट्रेन में बगल की सीट पर एक खूबसूरत नवयुगल यात्रा कर रहा था। मेरी नजर बार–बार उधर गयी तो उनकी नजरें भी मेरी तरफ आने लगीं। और जब कई बार ऐसा हुआ तो मैंने नजरें हटाना ही बेहतर समझा। अन्त में हार मानकर मैंने खिड़की स...
यही है जिन्दगी...
Tag :यात्रा
  December 11, 2016, 6:55 pm
पंचों,त्योहारों का मौसम आ गया है।आजकल बड़ी गहमागहमी है। अपने मनबढ़ पड़ोसी ससुर पाकिस्तान को लेकर देश की सारी जनता गुस्से में है। हर कोई अपने–अपने तरीके से मन की भड़ास निकाल रहा है। कोई देशभक्ति की राजनीति कर रहा है तो कोई देशद्रोह की राजनीति कर रहा है। कोई सर्जिकल स्...
यही है जिन्दगी...
Tag :
  October 7, 2016, 7:49 am
इस यात्रा के बारे में शुरू से पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें–28 मई की शाम को थके होने के कारण अगले दिन के लिए हम कोई प्रोग्राम तय नहीं कर पाये। अभी हमारे पास चार दिन थे क्योंकि हमारा वापसी का रिजर्वेशन 1 जून को था और घूमने के स्थान भी दिमाग में कई थे–हरिद्वार,ऋषिकेश,मंस...
यही है जिन्दगी...
Tag :हरिद्वार
  September 2, 2016, 1:06 pm
इस यात्रा के बारे में शुरू से पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें–26 मई को जानकी चट्टी से दिन में 1 बजे हम वापस पुराने रास्ते पर ही चल दिये और बड़कोट पहुंचे। बड़कोट से हमने गंगोत्री के लिए रास्ता बदला और धरासू की ओर चल दिये। बड़कोट से धरासू के रास्ते में कोई बड़ी नदी नहीं है प...
यही है जिन्दगी...
Tag :यात्रा
  August 25, 2016, 1:45 pm
इस यात्रा के बारे में शुरू से पढ़ने के लिए यहां क्लिककरें–25 मई को सुबह 7.10 बजे हमारी इण्डिगो कार यमुनोत्री के लिये रवाना हो गयी और शाम 5 बजे जानकी चट्टी पहुंच गयी। लगभग पूरा रास्ता पहाड़ी है और साथ ही चढ़ाई वाला भी। हम देहरादून–मसूरी–बड़कोट के रास्ते होकर गये। मई का मह...
यही है जिन्दगी...
Tag :यात्रा
  August 25, 2016, 10:54 am
हरिद्वार कहिए या हरद्वार या और कुछ भी। हरिद्वार तो इसलिए कहा जाता है कि श्री बद्रीनारायण की यात्रा या चार धाम यात्रा का शुभारम्भ इसी स्थान से होता है और उनके हरि नाम के कारण इसको हरिद्वार कहा जाता है। शिवजी के परमधाम केदारनाथ की यात्रा भी यहीं से आरम्भ होती है।हर की पै...
यही है जिन्दगी...
Tag :हरिद्वार
  August 21, 2016, 6:17 pm
इस यात्रा के बारे में शुरू से पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें–23 जून को हम गुलमर्ग की तरफ चले। 18 में से 2 लोग स्वास्थ्य वगैरह कारणों से होटल में ही रूक गये। जिससे बस में जो हमारी एडजस्ट करने वाली समस्या थी वह समाप्त हो गयी। श्रीनगर से तंगमर्ग होते हुए गुलमर्ग की दूरी 50 किम...
यही है जिन्दगी...
Tag :यात्रा
  August 21, 2016, 4:04 pm
इस यात्रा के बारे में शुरू से पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें–21 जून 2014 को सुबह 8.30 बजे हमारी मिनी बस श्रीनगर के लिए रवाना हुई। हमलोगों की संख्या जो कि 18 थी, के हिसाब से यह थोड़ी छोटी थी क्योंकि इसमें 17 यात्रियों के बैठने के लिए पर्याप्त जगह थी। इस वजह से इसमें एडजस्ट करने मे...
यही है जिन्दगी...
Tag :श्रीनगर
  August 19, 2016, 7:30 pm
इस यात्रा के बारे में शुरू से पढ़ने के लिए यहां क्लिककरें–19 जून की शाम को ही हम अगले दिन का कार्यक्रम तय करने निकले,ट्रैवल एजेन्सी में। बस स्टैण्ड के सामने स्थित मूनलाइट एजेंसी में 200 रूपये प्रति व्यक्ति की दर से सीट बुक हुई। अगले दिन 20 जून की सुबह 9 बजे से बस कटरा से शिवख...
यही है जिन्दगी...
Tag :शिव खोड़ी
  August 19, 2016, 5:26 pm
जम्मू कश्मीर यात्रा का कार्यक्रम 17 जून 2014 से 25 जून 2014 तक कुल 9 दिनों का था और दसवें दिन की सुबह में यात्री वापस घर आ गये। यह एक बड़े समूह के साथ की गयी यात्रा थी। कुछ अध्यापक मित्रों एवं कुछ स्थानीय लोगों को शामिल करते हुए कुल 18 लाेग समूह में थे। यात्रा का मुख्य उद्देश्य वैष्...
यही है जिन्दगी...
Tag :जम्मू
  August 18, 2016, 2:43 pm
26 मई 2010 को जी.आर्इ.सी़ प्रवक्ता की मेरी हरिद्वार में परीक्षा थी। दो मित्र और भी मिल गये जिनका भी लक्ष्‍य यही था। फिर क्या था, बन गया कार्यक्रम हरिद्वार और मसूरी की यात्रा का। अत्यधिक भीड़ होने के कारण ट्रेन में आरक्षण नहीं हो पाया और हरिहरनाथ एक्सप्रेस (मुजफ्फरपुर–अम्ब...
यही है जिन्दगी...
Tag :हरिद्वार
  August 7, 2016, 5:09 pm
आशा की डाली हुई पल्लवित औप्रकाशित हुई रवि किरण हर कली में,जगी भावनायें किसी प्रिय वरण कीसजाये सुमन उर की प्रेमांजली में,अरेǃ तुम अभी आ गये क्रूर पतझड़सुरभि उड़ गई, जा मिली रज तली में।हुआ दग्ध अन्तर, उड़ा जल गगन मेंबना वाष्प संग्रह, उठा भाव मन में,कि हो इन्द्रधनु सप्तरं...
यही है जिन्दगी...
Tag :मेरी कविताएं
  August 6, 2016, 8:51 am
त्याग दिये पत्ते क्यों, हे तरूǃहारे बाजी जीवन की।क्यों उजाड़ते हो धरती को,हरते शोभा उपवन की।हुए अचानक क्यों तुम निष्ठुर,बहुत सुना तेरा गुणगान,पर उपकारी, बहु गुणकारी,तरू धरती का पुत्र महान।सोच लिया क्या करूं पलायन,देख विकट इस जग की मार,छाेड़ चले ‘तरू बन्धु‘, ‘धरा मां‘,‘...
यही है जिन्दगी...
Tag :मेरी कविताएं
  August 4, 2016, 7:16 pm
मेरा यह यात्रा कार्यक्रम कुल छः दिनों का था। 15 अक्टूबर 2009 से 20 अक्टूबर 2009 तक। मेरे मित्र ईश्वर जी भी मेरे साथ थे। हमारा रिजर्वेशन कामायनी एक्सप्रेस,1072 अप में था जो वाराणसी से लाेकमान्य तिलक टर्मिनल को जाती है। वाराणसी से इसका प्रस्थान समय शाम 4 बजे था जबकि हम सुबह 10 बजे ही ...
यही है जिन्दगी...
Tag :यात्रा
  July 31, 2016, 6:51 pm
एक दिनमैंने बनाई,एक खूबसूरत पेंटिंगमन के विस्तीर्ण कैनवस पर।जिसमें खिला था–सुनहरा सवेरा,महाकवि माघ के प्रभात को लज्जित करता हुआ।झील से मिलते धरती और आकाश,बुझती युगों–युगों की प्यास।गिरि–शिखरों के कोने से झांकता सूरज।फूटती किरणें–मानों मेरी आशायें फूट रही हों...
यही है जिन्दगी...
Tag :यथार्थ
  July 24, 2016, 1:34 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3652) कुल पोस्ट (163572)