Hamarivani.com

तीर-ए-नजर

                                      ट्रेन स्टेशन पर आ लगी थी । उन्होंने खिड़की से बाहर झांका । अगवानी के लिए कोई उपस्थित नहीं था । यात्रियों की भीड़ छँटने के बाद अपना सामान समेटा और दरवाजे तक आ गये । उन्हें लगा कि उनके आने से पहले ही उनक...
तीर-ए-नजर...
Tag :
  March 21, 2017, 3:19 pm
                  वह जैसे ही ढाबों के सामने पहुँचा, ढाबे वाले उस पर टूट पड़े । उसे लगा कि उसकी खुशी के भी फूट पड़ने का यही वक्त है । क्यों न लपककर दोनों हाथों से इस वक्त को ही लूट लूँ । वह लूटने के लिए थोड़ा और आगे बढ़ा । ढाबे वाले भी टूटने के लिए आँधी के पंख पर सवार ...
तीर-ए-नजर...
Tag :इज्जत
  March 14, 2017, 3:31 pm
                    नए साहब के आने से पहले ही उनके बारे में सच्ची और अच्छी खबरें आने लगी थीं । जितनी खुशी थी, उससे अधिक हैरानी थी लोगों के मन में । कौतूहल चरम पर था कि आज के जमाने में भी ऐसे लोग धरती की शोभा बढ़ाने के लिए अवतरित हो रहे हैं । साहब कितने न्यायप्रिय ...
तीर-ए-नजर...
Tag :खर्च
  February 26, 2017, 3:32 pm
                                  पिछली बार भइया जी जब सत्ता में आए थे, तो अपने सारे नेताओं को निर्देश निर्गत किया था कि वे प्रत्येक कम से कम एक महंगी गाड़ी अवश्य ही हस्तगत कर लें । पूछने पर बताया था कि ऐसा दो कारणों से नितांत आवश्यक था । एक, नेता...
तीर-ए-नजर...
Tag :काम बोलता है
  February 16, 2017, 3:56 pm
                        तिलकू की चाल उसकी खुशी को बयान कर रही थी । उसे लग रहा था, जैसे वह हवा में उड़ता चला जा रहा हो । सच भी है, जब अंदर खुशी का अहसास होता है, तो अजीब सा हल्कापन भी महसूस होता है । या फिर खुशी की अधिकता शरीर में पंख लगा देती है । जो भी हो, तिलकू के पाँव...
तीर-ए-नजर...
Tag :कर्ज
  February 6, 2017, 4:55 pm
                        erms.rcnc.org से साभार       तीसरी बार उन फटेहाल, अधनंगों को आधा दर्जन पुरानी साड़ी-धोती खैरात-स्वरूप बाँटते ही मुझे आत्म-ज्ञान की प्राप्ति हो गई । मुझे लगा कि मैं भी खैरात बाँटकर लोगों का विकास कर सकता हूँ । कर क्या सकता हूँ, बल्कि मैंने त...
तीर-ए-नजर...
Tag :खैरात
  January 17, 2017, 3:15 pm
                    चाय की अड़ी पर इस समय भी तीन लोग अड़े हुए थे । सामने की सड़क लगभग वीरान हो चुकी थी । कभी-कभार इक्के-दुक्के लोग ही आते-जाते दिख जाते थे । कोयले की अतिरिक्त खुराक न मिलने के कारण अंगीठी अब ठंडी हो चली थी, पर शीशे के गिलासों में उड़ेली गई चाय पूरी ...
तीर-ए-नजर...
Tag :कश्मीर
  January 10, 2017, 5:02 pm
               संयोग ऐसा हुआ कि दोनों की गाड़ियां एक साथ रुकीं मंदिर के बाहर । दोनों को हड़बड़ी थी, अतः दोनों दौड़ने लगे मंदिर के अहाते में । दोनों एक साथ मंदिर के प्रवेश द्वार पर पहुँचे और मुश्किल से टकराते-टकराते बचे । शारीरिक भिड़न्त तो नहीं हुई, पर मुँह भिड़ ...
तीर-ए-नजर...
Tag :दरबार
  January 3, 2017, 4:20 pm
                   सुबह से ही करीमन की दुकान पर भीड़ उमड़ने लगी थी । आस-पास के सभी लोग तो लेट-लतीफ ट्रेनों की तरह काफी पीछे चल रहे थे । उनके लिए तो उसकी दुकान पर जाना रोजमर्रा की ही बात थी । उन्हें लगा कि रोज वाली ही बात होगी । जो लेना होगा, आराम से चलकर ले लेंगे उसे ...
तीर-ए-नजर...
Tag :इज्जत
  November 24, 2016, 3:54 pm
                   ‘चित्रगुप्त जी, आजकल आपके रहन-सहन कुछ ठीक दिखाई नहीं देते...जब देखो आँखें बन्द ।’ महाराज यमराज अपने सिंहासन पर पहलू बदलते हुए बोले । चेहरा तनिक क्रोध से लालिमा के छींटों से युक्त होने लगा था ।   ‘क्षमा महाराज, ऐसी कोई बात नहीं है ।’ महाराज य...
तीर-ए-नजर...
Tag :खुशी
  November 16, 2016, 4:47 pm
                      यहाँ स्थानान्तरित होकर आने के बाद मैंने अपने कार्य-क्षेत्र के पड़ोसियों पर एक जासूस की तरह निगाह दौड़ाई । पड़ोसियों से अभिप्राय अलग-अलग कार्यों के प्रभार वाले मेरे सहकर्मी । आपसी बातचीत के बाद मुझे सौ टका यकीन हो गया कि मुझसे अधिक य...
तीर-ए-नजर...
Tag :अर्थनीति
  November 9, 2016, 5:44 pm
                                            महाराज सियार इस वक्त अपने सिंहासन पर मौजूद हैं । पिछली रातों में बिन बुलाए मेहमान की तरह आ धमके सपनों ने उन्हें परेशान कर रखा है । प्रत्येक सपना चीख-चीख कर यही संदेश दे रहा है कि सिंहासन पर उ...
तीर-ए-नजर...
Tag :खबरी खरगोश
  November 1, 2016, 3:07 pm
                     चूहों की सालाना आम बैठक आहूत की गई थी । तमाम पदाधिकारी और सिविल सोसायटी के चूहे अपने-अपने तर्कों-कुतर्कों के साथ अपने लिए निर्धारित सीटों पर ठसक और कसक के साथ शोभा को प्राप्त हो रहे थे । ठसक इस बात का...कि वे हाई प्रोफाइल चूहे हैं और उनके बैठ...
तीर-ए-नजर...
Tag :असहिष्णुता
  October 25, 2016, 5:13 pm
                      सिंहासन की ओर देखते-देखते आँखें पथरा गई हैं । युवराज सियार को तो बस खाट का ही सहारा है । खाट की हिमाकत इतनी कि वह उन्हें काट रही है । एक चादर भला कितनी सुरक्षा प्रदान कर सकती है । जिसका जन्म सिंहासन पर बैठने के लिए हुआ हो, वह खाट पर बैठे-यह सच्...
तीर-ए-नजर...
Tag :किसान
  October 14, 2016, 4:50 pm
                      नींद नहीं आ रही थी । करवट बदल-बदल कर उसे बुलाने की सारी कोशिशें बेकार गई थीं । अंततः बिस्तर को छोड़ देना ही मुझे उचित जान पड़ा । मैं घर से बाहर निकल आया और धीरे-धीरे सड़क पर बढ़ने लगा । पार्क के पास आते ही अचानक मुझे खतरे का अहसास हुआ । सामने ब...
तीर-ए-नजर...
Tag :अंधेरा
  October 11, 2016, 4:40 pm
                      शाम को पार्क में टहलते हुए शुक्ला जी मिल गए । आज रोज की तरह उनकी चाल में वह तेजी नहीं थी । सामना होते ही मैंने पूछा, ‘क्या बात है मान्यवर, आप तो जैसे पैसेन्जर ट्रेन हो लिए हैं आज?’   उन्होंने मुझे ध्यान से देखते हुए कहा, ‘कोई बात नही...
तीर-ए-नजर...
Tag :उद्योग
  October 7, 2016, 3:58 pm
                            अगले दिन अवकाश होने पर रात को यह दृढ़ संकल्प लेकर सोया कि कल देर तक नींद का सुख लूटूँगा, पर सुबह मुँह अँधेरे ही पत्नी ने इस अरमान पर झाड़ू फेर दिया । वह चिल्लाते हुए बोली-–पड़ोसी झाड़ू लेकर निकल गये हैं और तुम हो...
तीर-ए-नजर...
Tag :India
  October 4, 2016, 4:37 pm
                          उस दिन रात कुछ ज्यादा ही काली और डरावनी थी । झींगुर तक डर के मारे अपने वाद्य यंत्रों को समेट कर इधर-उधर छिप गए थे । कभी-कभी चमगादड़ों की चिंचियाहट स्तब्ध नीरवता को छेड़ जाती थी । दूर-दूर से आती सियारों के रोने की आवा...
तीर-ए-नजर...
Tag :अहंकार
  October 1, 2016, 3:54 pm
                          इस वक्त दरबार-ए-खास में महाराज सियार के अलावा कुछ खास मंत्री और खबरी खरगोश ही उपस्थित हैं । पुरानी नौटंकियों की प्रस्तुति का समय, जनता के सामने रखने का ढंग तथा उससे प्राप्त लाभ पर गहन मंथन चल रहा है । इसके आलोक में नई नौटंकी कब और कैसे ...
तीर-ए-नजर...
Tag :अस्पताल
  September 28, 2016, 5:06 pm
                                              दृश्य-एक   ( स्थान- दरबार-ए-खास । महाराज सियार सिंहासन पर चिपके हुए हैं । मुट्ठियां हत्थों पर कसी हुई हैं । सामने आसनों पर महाराज के अपने लोग विराजमान हैं । सभी की आँखें बाहर की ओ...
तीर-ए-नजर...
Tag :Mulayam Singh Yadav
  September 24, 2016, 5:19 pm
                  जब से राजमाता लोमड़ी ने वानप्रस्थ आश्रम में जाने की तैयारी शुरु की है, तभी से अखिल जंगल दल का समूचा बल युवराज के सिर पर टूट पड़ा है । सत्ता का सुख ही ऐसा होता है कि त्याग की मूर्ति देवी को भी राजमाता लोमड़ी बना देता है । वहीं सत्ता का दुख भी इतना द...
तीर-ए-नजर...
Tag :खटमल
  September 20, 2016, 5:16 pm
                  जब से राज ज्योतिषी ने अपनी पहली गणना का निष्कर्ष निकाला है, तब से महाराज सियार की रातों की नींद उड़ गई है । दिन में भयानक सपने दिखाई देने लगे हैं । यह सपने नींद की वजह से नहीं, बल्कि खुली आँखों से दिखाई दे रहे हैं । मंत्री और उनके समर्थक जनता के बी...
तीर-ए-नजर...
Tag :खैनी
  September 17, 2016, 4:43 pm
               उत्तर से प्रश्न बन गया प्रदेश अपनी रोनी सूरत लिए खड़ा है । आँखों में उसके पानी है, मुँह में वही कहानी है । वह खड़ा है चौराहे पर । उसे चुप कराने और अपना बनाने के लिए सभी में होड़ है । सभी दौड़ पड़े हैं उसकी तरफ । गर्द-ओ-गुबार से आसमान की छाती ढकन...
तीर-ए-नजर...
Tag :आँख
  September 13, 2016, 5:10 pm
                        घर में आने वालों का ताँता लगा हुआ था । किसी के हाथ में गले में डालने के लिए फूलों की माला थी, तो किसी के हाथ में थमाने के लिए पुष्पगुच्छ । कोई चमकीले कागजों से आवरणबद्ध अपनी पसंद के उपहार लाया था, तो कोई यूँ ही आ खड़ा हुआ था...खाली हाथ, मगर मन ...
तीर-ए-नजर...
Tag :आदर्श
  September 9, 2016, 5:37 pm
                  दरबार-ए-आम आज बतकहियों, कहकहों, हँसी-ठहाकों से गुंजायमान है । हर वर्ग की जनता उपस्थित है । जिसे होना चाहिए, वह तो है ही; जिसका होना जरूरी नहीं, वह भी मौजूद है । सभी के दिलों में जोश व उत्साह की लहरें हिलोरें मार रही हैं, वहीं दरबार-ए-आम की हवा में गर्...
तीर-ए-नजर...
Tag :अधिकारी
  September 2, 2016, 5:16 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3652) कुल पोस्ट (163593)