Deprecated: mysql_connect(): The mysql extension is deprecated and will be removed in the future: use mysqli or PDO instead in /home/hamariva/public_html/config/conn.php on line 13
Krisuman : View Blog Posts
Hamarivani.com

Krisuman

राजेश और महेश दोनों मित्र थे। बहुत बढ़िया दोस्त। लेकिन किसी काम में मतभेद होने पर दूसरा मित्र साथ छोड़ता नहीं, उसके काम में साथ देता। एक दिन उन्होंने सोचा कि क्यों न पास के पेड़ों के झुंड पर बैठे पक्षियों का शिकार किया जाए। शिकार करने के लिए उन्होंने गुलेल ली। महेश की ऐ...
Krisuman...
Tag :
  April 29, 2016, 12:16 am
प्रिय पुत्री, जानती हो? वास्तव में बेटियां ओस की बूंद के समान कोमल होती हैं, पर मां बाप के लिए चांद की तरह शुभ्र उज्ज्वल मन वाली कलियां। बेटा एक कुल को रोशन करता है, पर बेटियां दो-दो कुलों में अपनी शीतल चांदनी बिखेरती हैं। पुत्री पिता की धरोहर या कोई वस्तु नहीं, जो दान की ज...
Krisuman...
Tag :
  April 27, 2016, 12:00 pm
कहते हैं, यदि आप यह नहीं जानते कि आपको जाना कहां है, तो फिर हर रास्ता गलत होता है। किसी भी क्षेत्र के किसी भी सफल व्यक्ति का उदाहरण ले लें। आप पाएंगे कि हर सफल व्यक्ति एक विशेष दिशा पकड़ कर अपनी सारी ऊर्जा उसी ओर लगा देता है। अमिताभ बच्चन महान अभिनेता इसलिए हैं कि बहुत समय ...
Krisuman...
Tag :
  April 14, 2016, 12:07 am
एक निठल्ला आदमी एक पेड़ के नीचे सो रहा था। एक साहूकार उधर से गुजरा। उसने कहा, ‘तुम इस तरह जमीन पर सो रहे हो। कुछ काम क्यों नहीं करते?’ ‘काम करने से क्या होगा?’ ‘काम करने से पैसे मिलेंगे।’ ‘पैसों का क्या करना है?’ ‘उससे तुम सुख-सुविधा के सब साधन खरीद सकते हो।’ ‘उसके बाद क्या...
Krisuman...
Tag :Hindi
  April 9, 2016, 1:44 am
आधुनिक जीवनशैली ने अनेक बीमारियों को जन्म दिया है। उनमें से मधुमेह (Diabetes) भी एक है। मधुमेह के मरीजों की संख्या तेजी के साथ बढ़ती जा रही है। समय रहते अगर इस पर काबू नहीं पाया गया तो वह दिन दूर नहीं जब यह बीमारी महामारी का रूप ले लेगी। शारीरिक श्रम से बचने, विलासिता का जीवन ज...
Krisuman...
Tag :Hindi
  April 4, 2016, 11:26 pm
वेद में एक वाक्य है कि वाणी की मधुरता से सहज ही सभी को मित्र और कर्कश वाणी से दुश्मन बनाया जा सकता है। एक बार कुछ शिक्षक श्री अरविंद आश्रम (पांडिचेरी) गए। एक शिक्षक ने श्री माता जी से पूछा, ‘सदैव प्रसन्न रहने के लिए क्या करना चाहिए?’ माता जी ने कहा, ‘अपनी वाणी से अमृत बिखेर...
Krisuman...
Tag :Hindi
  March 30, 2016, 11:49 pm
आचार्य चाणक्य अपने नीति वाक्यों के कारण दूर-दूर तक विख्यात थे। अनेक जिज्ञासु रोजाना उनके पास पहुंचते और अपनी शंकाओं का समाधान पाया करते थे। एक बार एक व्यक्ति ने आचार्य से प्रश्न किया, ‘भगवान की प्राप्ति का सरलतम साधन क्या है।’ आचार्य ने उत्तर दिया, भावे हि विद्यते देव...
Krisuman...
Tag :Hindi
  March 29, 2016, 12:03 am
पति और पत्नी का रिश्ता एक अनोखा रिश्ता होता है। संसार को चलाने और समाज को नई दिशा देने में इसके महत्व को कभी अनदेखा नहीं किया जा सकता। पति-पत्नी एक दूसरे के अनुगामी होते हैं। सुख-दुख के साथी होते हैं। मगर यह रिश्ता तभी तक वाजिब है, जब दोनों के बीच विश्वास और प्रेम हो। एक -द...
Krisuman...
Tag :Hindi
  March 26, 2016, 11:32 pm
भोजन में सिर्फ स्वाद ही नहीं बल्कि पौष्टिकता भी होनी चाहिए। और यह तभी संभव है, जब आप खाना पकाते समय उचित पोषण पर ध्यान दें। भोजन स्वादिष्ट और पौष्टिक हो, इसके लिए थोड़ी सावधानी तो बरतनी ही पड़ेगी। यहां कुछ टिप्स दी जा रही हैं, जिन्हें अपनाकर आप भोजन की पौष्टिकता बनाए रख ...
Krisuman...
Tag :Hindi
  March 19, 2016, 12:19 am
ऋषि-मुनि व दार्शनिक हमेशा सकारात्मक सोच बनाए रखने की प्रेरणा देते हैं। वे विपरीत परिस्थितियों में भी धैर्य बनाए रखने, विपत्तियों को भी वरदान मानकर सहन करते रहने की बात किया करते हैं। संत प्रवर मुनि नछमल जी ‘अपनी-अपनी दृष्टि’ कथानक में बताते हैं कि, जानिए: चेतना के च...
Krisuman...
Tag :Hindi
  March 16, 2016, 9:38 am
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3712) कुल पोस्ट (171544)