Hamarivani.com

शब्द क्रांति

सपने थे हजार उनके मन में,पर कोई उजाला ला न सका ।भटकता रहा दर-दर पगडंडियों पे,पर कोई सामने आ न सका।हजार रास्ते बनाये रहमो-करम ने,पर कोई रास्ता पहुँचा न सका ।ढोता रहा सपनों का बोझ,पर कोई उसे उठा न सका ।सहता रहा हजार जुल्मों-सितम,पर कोई कहर का जवाब दे न सका ।सपने थे हजार उनके म...
शब्द क्रांति...
Tag :
  May 11, 2017, 12:28 pm
काश तु मिलती तो एक दिन ।आखें फड़फड़ाके कहती है ।दो जिस्म एक जान होती ।धड़कने पुकार कर कहती है ।झुठ नहीं बोलती वो नयन ।जो गिड़गिड़ा के कहती है ।जग जाहिर ही होते है वो ।सपने जिनके कामयाब होती है ।आँखों के आसुँ से भर गये गागर ।गागर की लहरे उफान भरके कहती है ।काश तु मिलती त...
शब्द क्रांति...
Tag :
  May 11, 2017, 11:47 am
आवारा कुत्ता और देशद्रोही दोनों में काफी समानता है । आवारा कुत्ता की उत्पति स्वामी भक्त, विश्वास भक्त कुत्ते से हुई और उसी तरह देशद्रोही की उत्पति देशभक्त से हुई । आवारा कुत्ता स्वामी भक्त कुत्ता बनकर अपनी स्वामी की सेवा करता था जैसे गेट के पास अनजान आदमी को देखकर भौक...
शब्द क्रांति...
Tag :
  April 12, 2017, 3:50 pm
छटा धुंध कुहासा हटीफागुनी रूप निखराई है।प्रकृति दुलहनि रूप धरकरस्नेह सुधा बरसाई है ।हमारी नव वर्ष आई है।शस्य- श्यामल&#...
शब्द क्रांति...
Tag :होली
  March 13, 2017, 8:21 am
होली की हर्षित बेला पर, खुशियां मिले अपार।यश,कीर्ति, सम्मान मिले, और बढे सत्कार।।शुभ रहे हर दिन हर पल, शुभ रहे विचार।उत्स...
शब्द क्रांति...
Tag :
  March 12, 2017, 11:10 am
बात आज से 18-19 वर्ष पहले की है, जब मैँ अपने ननिहाल में रहता था । होली में हमलोग गोबर और कीचड़ को एक- दूसरे पर फेककर मजे लेते थे । को...
शब्द क्रांति...
Tag :
  March 12, 2017, 9:45 am
एक बार होली में हमारे ननिहाल में नई नवेली मामी आई हुई थी । उस होली के दिन मैंने होली के सुबह धुरखेली के समय गोबर और कीचड़ से ब...
शब्द क्रांति...
Tag :
  March 12, 2017, 9:42 am
कल रांची में एक छात्रा के साथ गैंग रेप की बुरी तरह रूह को कंपकपाने वाली घटना से मौत हुई..इस पर तड़पती मेरी चंद पंक्तियां...टूट...
शब्द क्रांति...
Tag :
  December 18, 2016, 4:11 pm
दोस्तों, कल मैं एक कवि सम्मेलन में गया था,वहां कवि सम्मेलन के पोस्टर में कवि सम्मेलन की जगह कवि सम्म लेन लिखा हुआ था. इस बात...
शब्द क्रांति...
Tag :
  November 24, 2016, 10:53 pm
मेरी दुआ है कि यह पवित्र त्योहार आपके जीवन में उत्साह, खुशियाँ, शांति और प्यार से सदा के लिए आपके जीवन को भर दे!यह उत्साह वा...
शब्द क्रांति...
Tag :
  October 30, 2016, 7:46 am
लगे है वाइ-फाई जबसे​ ​तार भी नहीं आते​​;​​​बूढी आँखों के अब मददगार भी नहीं आते​​;​​​​गए है जबसे शहर में कमाने घर के छोरे;​&#...
शब्द क्रांति...
Tag :
  October 28, 2016, 10:01 pm
विवश है आज धरा पर नारी, अपनी अस्मत बचाने को ।रक्षक ही भक्षक बन बैठे,पल-पल उन्हें सताने को ।मुद्दे जघन्य है जर्रा-जर्रा पर, क...
शब्द क्रांति...
Tag :
  September 18, 2016, 5:19 pm
हिन्दी मूलतः फारसी भाषा का शब्द है, जिसका अर्थ है- हिन्दी का या हिंद से सम्बन्धित । हिन्दी शब्द की उत्पति सिन्धु-सिंध से हुई है, क्योंकि ईरानी भाषा में ‘स’को ‘ह’बोला जाता है । इस प्रकार हिन्दी शब्द वास्तव में सिन्धु शब्द का प्रतिरूप है । कालांतर में हिंद शब्द सम्पूर्ण भ...
शब्द क्रांति...
Tag :
  September 12, 2016, 1:12 pm
1. स्त्रियां अपनी भाषा और शब्द-चयन को लेकर अपेक्षाकृत अधिक सजग होती है । यदि वे थोड़ी और जागरूक हो जाए, तो घर की नई पीढ़ी विदेशी भाषा में शिक्षा प्राप्त करने के बावजूद अपनी भाषा और संस्कृति से बराबर जुड़ी रहेगी ।2. विद्यालय में भले ही अंग्रेजी अनिवार्य हो, लेकिन घर पर मातृ...
शब्द क्रांति...
Tag :
  September 12, 2016, 1:10 pm
1. हिंदी की लिपि ‘देवनागरी’है । यह दो भिन्न शब्दों से बना समस्त पद है । ‘देव’ अर्थात ईश्वर तथा ‘नागरी’अर्थात नगर अथवा शहर से संबंधित । इस शब्द की व्युत्पति यह बताती है कि एक काल विशेष में यह लिपि एक मुख्य व्यवहार के लिए प्रयुक्त हुई होगी ।2. वेद, पुराण आदि कई हिंदू धर्मग्र...
शब्द क्रांति...
Tag :
  September 12, 2016, 1:08 pm
“निज भाषा उन्नति अहै, सब उन्नति को मूल,बिनु निज भाषा ज्ञान के, मिटै न हिय को शूल.”      उपरोक्त पंक्तियाँ भारतेंदु हरिश्चंद ने हिंदी के बारे में वैसे समय में लिखी, जब उन्हें लगा कि अब हिंदी के अस्तित्व पर खतरा मंडराने लगा है । इसी खतरे को भांपते हुए उतरोत्तर समय मे...
शब्द क्रांति...
Tag :
  September 12, 2016, 1:07 pm
हे वीर शहीदो, हे वीर शहीदों ।जाने न दूँगा तेरे शहीदी बेकार ।चाहे धरा पर आँधी आये ।चाहे तन पर व्याधि आये ।चाहे राज पर खाज आये ।चाहे धरा पर बाज आये ।एक मरे तो करूँगा सौ तैयार ।हे वीर शहीदो, हे वीर शहीदों ।जाने न दूँगा तेरे शहीदी बेकार ।इस गण का तंत्र मै हूँ ।सब मंत्रों का मंत...
शब्द क्रांति...
Tag :
  August 15, 2016, 12:34 pm
पास्ट हो या फ्यूचर,फेसबुक हो या ट्विटर,व्हाट्सएप्प हो या मूषक,सब में है योगदान ।मेरा देश महान, हमारा देश महान ।इस देश का है ऐसा आइडिया,चाहे वर्ल्ड का कोई हो सोशल मिडिया,सब पर रखता अभिमान,मेरा देश महान, हमारा देश महान ।टी मैन हो या संतरी,आउटसाईडर हो या मंत्री,सब होते है यह...
शब्द क्रांति...
Tag :
  August 15, 2016, 12:18 pm
स्वतंत्रता दिवस है राष्ट्र पर्व,हम राष्ट्र ध्वज फहराएंगे,दुश्मनों को छक्के छुड़ाकर,देश का सम्मान बढ़ाएंगे।कर्तव्य पथ पर अडिग रहकर,शीश कभी न झुकाएँगे।जो थाती मिली है  गर्दिश में,उसको हम मिलकर बचाएंगे ।हम ऐसा राष्ट्र बनाएंगे ।सर्व-धर्म का हित जहां होगा।स्वतंत्रता, प...
शब्द क्रांति...
Tag :
  August 14, 2016, 9:08 pm
चक्कर कई तरह के होते हैं, जैसे चक्कर खाना, चक्कर खाकर गिर जाना, दफ्तर का चक्कर लगाना, किसी अधिकारी का चक्कर लगाना या पूजा-पा...
शब्द क्रांति...
Tag :
  May 14, 2016, 1:04 pm
वक्त बदला, सत्ता बदली,न बदला कोई आचार-व्यवहार ।पहले दिल्ली फिर केरल,नारी शक्ति हुई शर्मसार ।अन्तर सिर्फ इतना रह गया,सत्ê...
शब्द क्रांति...
Tag :
  May 11, 2016, 10:13 pm
जमशेदपुर शहर के मशहूर टीवी कलाकार प्रत्यूषा बनर्जी का असमय गुजरने पर जमशेदपुर शहर में रहने वाले जेपी हंस की कलम भला कैस...
शब्द क्रांति...
Tag :
  April 3, 2016, 4:05 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3666) कुल पोस्ट (165894)