Deprecated: mysql_connect(): The mysql extension is deprecated and will be removed in the future: use mysqli or PDO instead in /home/hamariva/public_html/config/conn.php on line 13
बातचीत : View Blog Posts
Hamarivani.com

बातचीत

...
बातचीत...
Mahendra Arya
Tag :
  November 11, 2017, 9:48 am
पीपल , गंगा और गाय कई बार मन में आता है ; क्यों महत्व है इन सब का हिन्दुओं के जीवन में ! यूँ तो महत्व बहुत सारी  वस्तुओं का है , लेकिन क्यों कुछ वस्तुओं या जीवों का विशेष महत्व है ? इस चिंतन में मन में एक बात आयी। हम जीवन पर्यन्त संसार की जिस सामग्री का उपयोग करते हैं , उनका...
बातचीत...
Mahendra Arya
Tag :
  May 25, 2017, 12:57 pm
विपक्षी दलों की एकता आपने भी पढ़ा होगा की दो दिन पहले नितीश कुमार  श्रीमती सोनिया गाँधी से मिलने गए । मुद्दा था - राष्ट्रपति चुनाव में पूरा विपक्ष एक होकर अपना उम्मीदवार उतारे। सब कुछ तो मीडिया को भी पता नहीं होता। ये रही अंदर की बात -नितीश - सोनिया जी , आज मैं एक खास मुद...
बातचीत...
Mahendra Arya
Tag :
  April 22, 2017, 9:52 am
लो जी हमने कल फूंक दिए देश के सारे रावण ! कोई भी नहीं बचा। खेल ख़त्म पैसा हजम ! किसे भुलावा देते हैं हर साल ? जिसे जलाते हैं , वो तो सिर्फ एक पुतला था , जिसे बनाकर किसी गरीब के घर का चूल्हा जला होगा। सड़कों पर बाजार लगते हैं रावण के पुतलों के। छोटा रावण , बड़ा रावण , मूंछ वाला रावण , ...
बातचीत...
Mahendra Arya
Tag :
  October 12, 2016, 1:17 pm
देश की प्रतिक्रियाउरी हमले के बाद पाकिस्तान सोशल मिडिया में छाया हुआ है। ब्रह्मपुत्र के जल की धारा में रुकावट डालने से चीन ने अपना खुला समर्थन पाकिस्तान को दे दिया। तब से लगातार ऐसे सन्देश और संवाद व्हाट्सप्प , ट्विटर और फेसबुक पर घूम रहें हैं , की भारत के लोगों को इन द...
बातचीत...
Mahendra Arya
Tag :
  October 5, 2016, 11:57 am
प्रिय कौन ?कल एक रिश्तेदार की मृत्यु हो गयी।  जब उनके घर पहुंचा , तो देखा की मृत शरीर एक अर्थी पर लेटाया हुआ था। परिवार के पुरुष उस अर्थी के ऊपर कपडा और रस्सी आदि बाँध रहे थे। महिलाएं शोक विह्वल होकर एक तरफ खड़ी थी। मृत व्यक्ति के पुत्र शोकाकुल होकर रो रहे थे।  समाज ...
बातचीत...
Mahendra Arya
Tag :
  September 14, 2016, 1:10 pm
कुंठा जीवन की एक सच्चाई है।  असफलता जन्म देती है , निराशा को और निराशा ह्रदय की कुढ़न बन कर बन जाती है - कुंठा। असफलता के कई कारण हो सकते है - खेल कूद , पढ़ाई , व्यापार या प्यार।  फिल्मों से मिलने  वाले उदाहरण प्रायः प्रेम की असफलता के कारण ही होते हैं।  इस गीतों भरी बात...
बातचीत...
Mahendra Arya
Tag :
  July 26, 2016, 10:04 am
पर्यावरण की सुरक्षा जीवन के हर काम में निहित होनी चाहिए। एक मजेदार बात ; ख़ास कर हम भारत में रहने वालों के लिए। एक दिन मैंने देखा की हमारी गली में एक मकान के सामने के एक कंक्रीट मिक्सर की गाडी आकर खड़ी थी।  उसका मिक्सर वाला टैंक घूम रहा था।  हमारे देश में इस तरह की ...
बातचीत...
Mahendra Arya
Tag :
  July 10, 2016, 6:24 pm
किसी भी देश को महान बनते हैं वहां के नागरिक और वहां का प्रशासन ! सिंगापुर में ये दोनों ही इतने चुस्त हैं की जन जीवन में किसी प्रकार की बुराई नजर ही नहीं आती। फेरीवाले प्रायः हर देश में पाये जाते हैं। अंग्र्जी में इन्हे हॉकर्स कहते हैं। सस्ते दर पर तैयार भोजन खिलते हैं ये ...
बातचीत...
Mahendra Arya
Tag :
  July 4, 2016, 8:47 am
ये मेरी तीसरी यात्रा है सिंगापुर की। हर यात्रा में यहाँ के जीवन की विशेषताएं सीख कर जाता हूँ।  छोटी छोटी बातें जो यहाँ के जीवन को कितना सुरक्षित , सुखद और आरामदायक बन देती है। मेरी बेटी यहाँ अकेली रहती है ; उसे डेढ़ साल पहले एक अच्छी मल्टी नेशनल कंपनी में यहाँ काम मिल ग...
बातचीत...
Mahendra Arya
Tag :
  June 28, 2016, 8:55 am
देश बड़े नए किस्म के ज्वलंत प्रश्नों से जूझ रहा है -१. नेताजी सुभाष की मौत कैसे हुयी ? कब हुयी ? २. शनि मंदिर में महिलाएं क्यों न जाएँ ?३. भारत माता की जय क्यों बोलें ?४. भाजपा को देशभक्ति करने का क्या अधिकार है ?५. जम्मू कश्मीर में भारतीय सेना बलात्कार क्यों करती है ?६. मौलाओं के ...
बातचीत...
Mahendra Arya
Tag :
  April 4, 2016, 4:07 pm
पुल टूटने से पहले -भले ही इस पुल की नींव पिछली सरकार ने रखी थी , लेकिन पूरा किसने किया ? हमने !!!पुल टूटने के बाद -इस पुल का ठेका पिछली सरकार ने दिया था , आज अगर ये गिर गया तो कौन जिम्मेवार होगा ? हम ???...
बातचीत...
Mahendra Arya
Tag :
  April 3, 2016, 6:18 pm
 कन्हैया और अनुपम ! व्यंजन और स्वर - दोनों प्रकार के अक्षरों का  प्रथम अक्षर - क और अ ! किसी शब्द के पहले क या क की कोई मात्रा  दीजिये , तो बन  जाता है एक अपशब्द - जैसे कुरूप , कुशासन , कुदृष्टि और क की जगह अ लगा दें तो बन जाता है अति सुन्दर जैसे की - अद्वितीय , अप्रतिम, अनुपम !...
बातचीत...
Mahendra Arya
Tag :
  March 8, 2016, 10:14 am
एक अति लघु कथा मैंने एक अनजान व्यक्ति से कहा - नया साल मुबारक हो !उसने उत्तर दिया - क्यों ?मैं निरुत्तर हो गया। ...
बातचीत...
Mahendra Arya
Tag :
  January 1, 2016, 10:47 am
बड़ा विचित्र किस्म का भिखारी था वो। सुबह सुबह उठ कर गले में एक रुद्राक्ष की माला डाल  कर शिव मंदिर के सामने बैठ जाता था। आते जाते लोग उसकी चटाई पर कुछ छुट्टे कुछ रुपैये डाल देते  थे। दोपहर में  गुरूद्वारे के पास  बैठ जाता था ,  सिखों वाली पगड़ी पहन कर।  लोग काफ...
बातचीत...
Mahendra Arya
Tag :
  July 15, 2015, 10:25 am
कमाल का देश है हमारा ! नरेंद्र मोदी के निरंतर चल रहे एक के बाद एक देश के उत्थान के कार्यक्रम न मिडिया को दिखते  हैं न विपक्ष को ; लेकिन एक बेमतलब के बेकार से गुजरे हुए इतिहास ललित मोदी की एक एक ट्वीट हेडलाइन बन रहा है। वो कांग्रेस जो भ्रष्टाचार के कारनामों के नीचे दब कर ...
बातचीत...
Mahendra Arya
Tag :
  June 28, 2015, 12:47 pm
इंग्लैंड की बीबीसी टेलीविजन चैनल कम्पनी ने एक फिल्म बनाई है - इंडियाज डॉटर यानि भारत की बेटी। फिल्म एक डाक्यूमेंट्री है - निर्भया बलात्कार काण्ड के विषय में।  इस  फिल्म को लेकर पूरे देश में बहुत बड़ा विवाद खड़ा हुआ है। इस विवाद का प्रमुख कारण है , फिल्म निर्देशक द्वारा ...
बातचीत...
Mahendra Arya
Tag :
  March 7, 2015, 11:50 am
होली के अवसर पर जीवन के  सबसे मूर्खता पूर्ण अनुभव की तलाश में था।  तब ये घटना याद आ गयी।बात है १९८२ की। मैं , मेरी पत्नी रेणु , बहन सविता और बहनोई अशोकजी  एक साथ नैनीताल गए थे। तीन दिन वहां रहने के बाद हमने सोचा क्यों न एक दिन के लिए जिम कॉर्बेट पार्क चलें। टूरिज्म वि...
बातचीत...
Mahendra Arya
Tag :
  March 5, 2015, 10:18 am
मैं इंटरव्यू ले रहा था , एक स्टेनो सेक्रेटरी के पद के लिए। अगला प्रार्थी थी एक दक्षिण भारतीय महिला।  सामान्य प्रश्नोत्तर के दौरान मैंने पूछा - आप के पति क्या करते हैं ?उसने जरा बुझे से स्वर में कहा - उसका डेथ हो गया। कैंसर था।न चाहते हुए भी मैं पूछ बैठा - बहुत यंग रहे होंग...
बातचीत...
Mahendra Arya
Tag :
  March 3, 2015, 9:36 am
आम आदमी पार्टी  संक्षिप्त नाम यानि 'आप' ,  हिंदी भाषा  का एक शब्द होने के कारण बहुत सारे फ़िल्मी गानों में प्रयुक्त हुआ है।  हमने चुने हैं कुछ ऐसे ही गाने जो दिल्ली के चुनाव के बाद बहुत दिलचस्प ढंग से किसी न  किसी व्यक्तित्व से मेल खाते हैं।  उद्देश्य विशुध्...
बातचीत...
Mahendra Arya
Tag :
  February 17, 2015, 10:18 am
दिल्ली विधान सभा के २०१५ के परिणामों ने पूरे देश को चौंका दिया। आम आदमी के पक्ष में जो फैसला आया उससे तो आम आदमी पार्टी भी स्तब्ध रह गयी। बीजेपी ने ऐसे परिणामों की स्वप्न में भी कल्पना नहीं की थी। कांग्रेस पार्टी तो लगभग अपना वजूद ही खो बैठी है। आइये २०१३ से २०१५ तक के ...
बातचीत...
Mahendra Arya
Tag :
  February 16, 2015, 5:15 pm
किरण बेदी को दिल्ली के चुनाव में  ला  कर बीजेपी ने एक बहुत बड़ा दांव खेल दिया है।  आम आदमी  पार्टी के लिए दिल्ली में ये शायद सबसे बड़ी चनुौती होगी। दिल्ली में बीजेपी पर कई चुनावी आरोप थे।  सबसे बड़ा आरोप था की दिल्ली में बीजेपी के पास कोई मुख्यमंत्री पद के लायक नाम ...
बातचीत...
Mahendra Arya
Tag :
  January 18, 2015, 10:57 am
मुन्नी अपनी नयी गुड़िया  बहुत खुश थी।  वो अपनी गुड़िया को नए नए कपडे  पहनाती , उसके बाल  बनाती और उसे अपने पास सुलाती। इतना ही नहीं उसने अपनी सहेली के गुड्डे के साथ उसका ब्याह ही रचा डाला। अपने सुख दुःख की बाते गुड़िया से करती। कभी गुस्सा आता तो वो गुड़िया को  डां...
बातचीत...
Mahendra Arya
Tag :
  January 5, 2015, 10:00 am
वास्तव में उसकी बहुत ऊंची पहुँच थी। अब सबको अपने बच्चे का दाखिला कराना होता है किसी अच्छे स्कूल में।  बच्चा कितना भी मेधावी क्यों न हो , आखिर स्कूल में सीटें तो सीमित ही होती हैं।  उसमे से फिर सिफारिशी कोटे में आधी तो यूँ ही निकल जाती है। इसलिए जो समझदार और पैसे वाले म...
बातचीत...
Mahendra Arya
Tag :
  December 31, 2014, 11:47 am
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3712) कुल पोस्ट (171555)