Hamarivani.com

शरारती बचपन

शहीद नगरी बेवर से --- हम लड़ेंगे जिन्दगी के वास्ते अंधेरो से कभी मुठ्ठियों की हरकत से घर – घर नया उजाला होगा फिर बारी आई है बुझी मशाल जलाने की हम लड़ेंगे जिन्दगी के वास्ते अंधेरो से रौशनी के वास्ते इसी रौशनी के वास्ते शहीद नगरी बेवर में विगत पैतालीस वर्षो से शहीद मेला का आय...
शरारती बचपन...
Tag :
  February 19, 2017, 12:58 pm
गदर लहर का रोशन चिराग --क्रांतिवीर करतार सिंह सराभा जो कोई पूछे कि कौन हो तुम , तो कह दो बागी है नाम मेरा |जुल्म मिटाना हमारा पेशा , गदर करना है काम अपना |नमाज संध्या यही हमारी , और पाठ पूजा सभी यही है ,धरम- करम सब यही है हमारा , यही खुदा और राम अपना | सराभा बेशक सराभा के बचपन के बा...
शरारती बचपन...
Tag :
  February 18, 2017, 2:43 pm
पंडित गेंदालाल दीक्षित जी लोग आप को भले न जाने हम चंद सिरफिरे आप को सलाम करते है – आने वाला कल आपको जानेगा जरुर !‘ मातृवेदी ‘ सगठन के सौ बरस पंडित गेंदा लाल दीक्षित --- लेखन – रामप्रसाद ‘बिस्मिल ‘( काकोरी एक्शन के नायक )आपको बताते चले की मातृवेदी संगठन बना कैसे इसकी जानकार...
शरारती बचपन...
Tag :
  January 1, 2017, 2:08 pm
अपना शहर मगरुवाहद हो गईल नोट बंदी के सबकर इज्जत दांव पर -- मगरू आखिर कल मगरुवा संजय जी के बगल में आकर बैठ गया दुआ सलाम किया और लगा पूछने संजय बाबू से कि नोट बंदी पे राय का ह आपके ? संजय बाबू लगे कहने यार का बताई गयनी हम आपन पइसा निकाले जब हमार नम्बर आइल तब खिड़की बंद हो गएल सर...
शरारती बचपन...
Tag :
  November 24, 2016, 2:12 pm
विदेशो में भारतीय स्वतंत्रता आन्दोलन –‘’अप्रवास की परिधि से बाहर , राजनितिक कार्यो के कारण मुकदमो के शिकार , निष्कासन की धमकियों से त्रस्त , नागरिकता से वंचित , भूमि के स्वामित्व से विहीन , यहाँ तक कि उन राज्यों द्वारा , जहा अधिकांशत: वे रहते थे , जीवन –साथी के चयन में भी ब...
शरारती बचपन...
Tag :
  November 13, 2016, 2:09 pm
अपना शहर मगरुवा मोदी जी मजूरन के घरे चूल्हा न जल्ल -- मगरुवाकैफ़ी के इस नज्म के साथ ---- ''कोई तो सूद चुकाए , कोई तो जिम्मा ले उस इन्कलाब का , जो आज तक उधार सा है 'आज जब सुबह मगरू अपने ठीहा से निकला तो देखा उसके साथी लोग भीड़ में एक व्यक्ति से बात कर रहे थे , भीड़ होने के कारण वो कुछ दे...
शरारती बचपन...
Tag :
  November 12, 2016, 10:56 am
लियो टालस्टायटालस्टाय ने अपने संस्मरणों में लिखा है कि मैं एक दिन जा रहा था एक राह के किनारे से , एक भिखमंगे ने हाथ फैला दिया | सुबह थी , अभी सूरज उगा था और टालस्टाय बड़ी प्रसन्न मुद्रा में था , इनकार न कर सका | अभी - अभी चर्च से प्रार्थना करके भी लौट रहा था , तो वह हाथ उसे परमात्...
शरारती बचपन...
Tag :
  October 31, 2016, 1:06 pm
गदर पार्टी --- पृष्ठभूमि आजादी या मौत तीस जून सत्रह सौ सत्तावन – हिन्दुस्तान के इतिहास में एक काला दिन भागीरथी नदी के तट पर बसा एक गाँव | पलाश – आम्र – कुंजो से घिरा | कोलकाता से डेढ़ सौ किलोमीटर उत्तर में बंगाल राज्य की राजधानी मुर्शिदाबाद से पच्चीस किलोमीटर दूर | पलाश पु...
शरारती बचपन...
Tag :
  October 30, 2016, 12:25 pm
---------- आजादी या मौत ------ ( गदर पार्टी का संक्षिप्त इतिहास )तीस जून सत्रह सौ सत्तावन – हिन्दुस्तान के इतिहास में एक काला दिन भागीरथी नदी के तट पर बसा एक गाँव | पलाश – आम्र – कुंजो से घिरा | कोलकाता से डेढ़ सौ किलोमीटर उत्तर में बंगाल राज्य की राजधानी मुर्शिदाबाद से पच्चीस किलोम...
शरारती बचपन...
Tag :
  October 26, 2016, 1:01 pm
छोटी बहन अजना सक्सेना से वार्ता -अंजना कबीर सुर साधिका है कबीर को लगातार पढ़ रही है समझ रही है , मैंने उनसे पूछा 'प्रकृति के साथ सवाद की सम्भावनाये उन्होंने उत्तर दिया मानव और प्रकृति का सम्बन्ध सनातन समय से रहा है | प्रकृति ने मानव जीवन को बेहतरी की दिशा में ले जाने में ...
शरारती बचपन...
Tag :
  October 26, 2016, 11:34 am
भारतीय शिक्षा की वास्तविक समस्याए इन दिनों शिक्षा के क्षेत्र में सुधार की बाते काफी जोरो से की जा रही है | इस बात की जरूरत भी लम्बे समय से महसूस की जा रही थी | सुधार की इन बातो के दो सिरे है --- पहला सिरा शिक्षा के इन्फ्रास्ट्रक्चर के विकास के बारे में है और दूसरा विचारधारा...
शरारती बचपन...
Tag :
  September 28, 2016, 1:37 pm
​सिंह की तरह गर्जना है --स्वरागिनी जन विकास समिति द्वारा सेवा सदन में दिनाक 10 सितम्बर दिन शनिवार को सेवा सदन में भारतीय नारी दशा और दिशा पर राष्ट्रीय संगोष्टी आयोजित की गयी |स्वरागिनी संगीत संस्था व स्वरागिनी जन विकास समिति के अध्यक्षा श्रीमती अंजना सक्सेना ने कहा क...
शरारती बचपन...
Tag :
  September 27, 2016, 11:53 am
अपना शहर मगरुवा – कल घूमते घूमते राजघाट पहुच गया और चुपचाप एकांत में बैठकर वहा का तमाशा देखने लगा , बहुत से लोग उस दिन आये थे दुनिया से आखरी विदाई लेने अलग अलग परिवारों से उनकी बाते भी बड़ी अजीब लगी | एक मुर्दा फूंकने आया युवक बोला सरवा जियत रहे त गांड में पैना कइले रहे सा...
शरारती बचपन...
Tag :
  August 25, 2016, 2:06 pm
भूमि - अधिग्रहण कानून के संशोधन में आखिर अडचन कंहा हैं ?अधिग्रहीत जमीनों का मालिकाना ले रही कम्पनियों के मुँह से ही उनकी अडचन सुन लीजिएकृषि भूमि अधिग्रहण को लेकर उठते विवादों ,संघर्षो का एक प्रमुख कारण ,मौजूदा भूमि अधिग्रहण कानून में बताया जाता रहा है |इस कानून को ब्र...
शरारती बचपन...
Tag :
  August 20, 2016, 1:10 pm
नकली आजादी ;सत्ता शक्ति का हस्तान्तरण भारत की स्वतंत्रता कैसी? विषय पर शिब्ली पी जी कालेज आजमगढ़ में भारत की स्वतंत्रता कैसी ? विषय पर विचार गोष्ठी हुई अध्यक्षी सम्बोधन में सवाल उठा अगर हम इन बातो पे गौर करे तो हम स्वंय ही समझ सकते है आजादी है या नही ?पहले तो हमे कुछ बातो क...
शरारती बचपन...
Tag :
  August 15, 2016, 1:45 pm
देवल रानी---------- युवराज ने भरे कंठ से कहा ''प्यारी देवल , तुम सचमुच वफा की देवी हो ,दिल्ली के सुलतानो की राजनेति खून , हत्या षड्यंत्र विश्वासघात से दूध पानी की तरह घुली मिमिली थी | जिसके प्रमाण इतिहास के प्रत्येक पृष्ठ पर अंकित है , उनके महलो के भीतर भी इसी तरह के घृणित षड्यंत...
शरारती बचपन...
Tag :
  August 11, 2016, 11:13 am
चे ग्वेरा ----- दुनिया का शानदार दोस्त अमेरिकी महाद्दीपो में ही एक विलक्ष्ण हत्या का जिक्र करना जरूरी है | लैटिन अमेरिका के देश यूरोप के राजनितिक प्रभुत्व से उन्नीसवी शताब्दी में मुक्त हो चले थे , पर पूरे महाद्दीपो पर आर्थिक प्रभुत्व संयुक्त राज्य अमेरिका का ही कायम था...
शरारती बचपन...
Tag :
  August 10, 2016, 11:15 am
आयातनिर्यात का एक दिलचस्प उदाहरणदेश के कुल निर्यात में पिछले 17महीनों से कमोवेश लगातार कमी आ रही है | यह गिरावट और ज्यादा होती अगर भेड़ , बकरी , भैस , मुर्गी तथा बैल आदि के निर्यात ( जीवित प्राणियों के रूप में निर्यात ) में 400% की वृद्दि नही होतीमवेशिवो के निर्यात में सबसे ज्या...
शरारती बचपन...
Tag :
  August 6, 2016, 12:30 pm
धनाढ्यो की उलटबासी कबीर की उलटबासिया जनमानस में प्रचलित रही है और लोकोत्तियो का हिस्सा रही है | लोग अपने अपने हिसाब से उसका गूढ़ अर्थ निकालते व समझते है | लेकिन विडम्बना यह है कि आधुनिक वैज्ञानिक युग में भी ऐसी उलटबासिया का दौर बढ़ता जा रहा है | उस उलटबासी के रूप में नही बल...
शरारती बचपन...
Tag :
  August 3, 2016, 12:48 pm
निर्भीक लेखनी को सलाम आजमगढ़ जहा लोग भूख का भूगोल और विद्रोह का इतिहास पढ़ते है - ---- बाबू गुजेशवरी प्रसाद मैं 1982 में रैदोपुर कालोनी में रहने लगा था मेरा सौभाग्य था कि बिलकुल मेरे बगल में समाजवादी चिन्तक व विचारक बड़े भाई श्री विनोद श्रीवास्तव जी क...
शरारती बचपन...
Tag :
  June 27, 2016, 2:03 pm
चमचमाती दिल्ली का सचगांवों की लगातार उपेक्षा के कारण रोजगार के जो भी अवसर थे खत्म होते जा रहे हैं। खेती की लागत लगातार बढ़ती जा रही है। किसानों की जमीन विभिन्न योजनाओं की तहत छीना जा रहा है। शासक वर्गोंद्वारा यह सोची-समझी साजिश के तहत किया जा रहा है जिससे शहरों की संख...
शरारती बचपन...
Tag :
  June 23, 2016, 5:29 pm
रहस्यदर्शी कबीर कबीर जीवन के लिए बड़ा सूत्र हो सकते है इसे तो पहले स्मरण कर ले | इसीलिए कबीर को मैं अनूठा कहता हूँ |महावीर सम्राट के बेटे है ; - कृष्ण भी , राम भी , बुद्द भी ; वे सब महलो से आये है कबीर बिलकुल सडक से आये है ; महलो से कोई भी नाता नही है |कबीर अनूठे है और प्रत्येक के लिए...
शरारती बचपन...
Tag :
  June 18, 2016, 4:33 pm
रजिया बेगम के बाद दिल्ली की राजगद्दी पर बलबन का आधिपत्य हुआ |पिता और पुत्र -------- दूसरा भागइस मनमौजी सुलतान का मन दिल्ली से ऊब गया , यहाँ भीड़ -- भाड़ , छोटे -- बड़े मकानों और टेडी - मेढ़ी गलियों के भूलभुलैया को देखकर उस का मन कुढ़ जाता | उस की समझ में यह बात बैठती ही नही थी कि जितने लोग ...
शरारती बचपन...
Tag :
  June 14, 2016, 12:13 pm
एक मुलाक़ात शून्य से शिखर की ओरअगर मनुष्य दृढ संकल्पि हो तो वो अपना मुकाम हासिल कर सकता है , यह अपने कर्म क्षेत्र में सचिन सक्सेना ने कर दिखाया है | श्री बिहारी लाल सक्सेना के तीन पुत्रो में सबसे छोटे सचिन के बड़े भाई डॉक्टर रवि सक्सेना जी जो सूरत मेडिकल कॉलेज में प्रफ़...
शरारती बचपन...
Tag :
  June 12, 2016, 12:29 pm
इंदौर जहा लोग खाने के शौक़ीन हैरात दस के बाद जमती है महफिल भोर पांच बजे तकरात भर सराफे बाजार में रहती है हलचल इंदौर एक खुबसूरत शहर इस शहर को होलकर वंश ने बसाया था इसे सवारा था अहिल्याबाई होलकर ने यह शहर देश में अलग किस्म का है | यहाँ के लोग आज भी अपने को मालवा से जोड़कर देख...
शरारती बचपन...
Tag :
  June 11, 2016, 12:35 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3685) कुल पोस्ट (167942)