POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: deepti saxena

Blogger: Deepti Saxena
समय अपनी धुरी पे सदा ही घूमता है, समय की सार्थकता उसकी प्राथमिकता को शायद कोई भी नहीं पहचान सकता आप और हम भी नहीं, हर वर्ष हमें कुछ ना कुछ सीखा कर अवश्य ही जाता है, साथ लाता है बहुत सारी आशा और जोश और साथ लेकर जाता है बहुत सारी उपलब्धिया , यह वर्ष तो ” मोदी जी ” का था, जहा दे... Read more
clicks 174 View   Vote 0 Like   11:45am 26 Dec 2014
Blogger: Deepti Saxena
अभी पिछले ही दिनों टीवी पर धर्म का फिर से आडम्बर दिखा, की हिन्दू धर्म में लोगो की फिर से वापसी हो रही है, हम उन्हें घर वापस लेकर आ रहे है, राम मंदिर पर ” अमित शाह ” का क्या कहना है? क्या बीजेपी हिन्दुवाद से ग्रसित है , बहुत तरीके के विचार परामर्श और हज़ारो की संख्या में वा... Read more
clicks 147 View   Vote 0 Like   6:10am 16 Dec 2014
Blogger: Deepti Saxena
या देवी सर्वभूतेषु शक्ति रूपेण संसिस्था, नमस्तस्यै , नमस्तस्यै ,नमस्तयै , नमो नमा नारी को शक्ति का रूप माना जाता है. इतिहास गवाह है की यदि नारी जीवनदायिनी है, तो जीवन पथ पर एक कुशल योद्धा भी है, जो हर कसौटी क... Read more
clicks 133 View   Vote 0 Like   2:22pm 13 Dec 2014
Blogger: Deepti Saxena
इतिहास हमेशा बलिदानो का होता है, मिटटी पर मर मिटने वालो का होता है, युद्ध के बाद हम राजा की जीत को उसके रणकौशल का स्मरण करते है, जैसे ” छापामार ” युद्ध कौशल , जिसके द्वारा मुगलो की सेना के दात खट्टे हो गए, हम सब ” शिवाजी ” ” लक्ष्मीबाई” का नाम बड़े ही सम्मान और गर्व क... Read more
clicks 132 View   Vote 0 Like   5:38am 11 Dec 2014
Blogger: Deepti Saxena
गंदगी की बिसात है, या मटमैला जाल, अज़गर और सांपो से भी ज्यादा है खतरनाक फितरत इनकी. कहते कुछ , करते कुछ , चाल क्या है इनकी? विपक्ष है सिर्फ दहाड़ने को. कलात्मकता है ही कहा, पार्लमेंट नहीं, जूतो और बकवास की है जमात . कभी ऍफ़, दी आई, तो कभी “अच्छे दिन ” पर ही है नयी बिसात. कुर्सी का ह... Read more
clicks 150 View   Vote 0 Like   2:36pm 8 Dec 2014
Blogger: Deepti Saxena
सरहद पर जो ना आये कभी बाज़ , बहरा है जो सदियो से , ना सुने जो कभी इंसांनियत की आवाज़……… नाम तो है पाक , पर हरकते है नापाक ? सदियों से खून से रंगी है वादियाँ , सुकून नहीं , प्यार नहीं सिर्फ है दहशत गरदो का राज….. सर्द रातो में, खिलखिलाती धूप में, सिर्फ है सिसकियो की आहट. थम जा क... Read more
clicks 137 View   Vote 0 Like   7:31am 7 Dec 2014
Blogger: Deepti Saxena
देखा है मैंने मुखौटे के पीछे के भयानक चेहरे को, देखा है दम तोड़ती सांसो को, जीवन के इस मंज़र पर आज पाना ही है सुब कुछ, दौड़ को है जीतना चाहे परिणाम कुछ भी हो अपना , आगे बढ़ना है बस फिर चाहे कीमत हो कुछ भी , भोपाल गैस कांड आज भी है ताज़ा, पर है फिर भी प्रकृति के साथ खिलवाड़…… इराक जान... Read more
clicks 128 View   Vote 0 Like   1:29pm 4 Dec 2014
Blogger: Deepti Saxena
एक इंसान जब धरती पर जन्म लेता है, तो उसके साथ ही उसे कई अधिकार प्राप्त होते है, जैसे ज़िन्दग़ी ज़ीने का अधिकार , समानता का अधिकार , स्वतंत्रता का अधिकार , और भी ना जाने कितने अधिकार प्राप्त होते है, जो देश की सीमाओ के साथ बदलते है, जैसे अमेरिका और कनाडा अपने नागरिको को ६०% बेरोज़... Read more
clicks 123 View   Vote 0 Like   3:51am 4 Dec 2014
Blogger: Deepti Saxena
हर इंसान कुदरत का एक अनमोल हीरा है. अग्नि पुराण के अनुसार ” मनुष्य ईश्वर की सर्वश्रेष्ठ रचना है”, भगवान ने हर मानव को कोई न कोई हुनर ज़रूर दिया है, ज़रूरत है तो उसे पहचानने की, आज मैं आप सबको कुछ ऐसे ही इंसानो के बारे में जानकारी दूंगी जिनके पास कोई डिग्री नहीं थी, न ही कि... Read more
clicks 134 View   Vote 0 Like   3:23pm 28 Nov 2014
Blogger: Deepti Saxena
एक समय था जब प्यार को ज़ीने की वज़ह बताया जाता था.हमारी इस दुनिया में सोनी महिवाल, हीर रान्ज़ा, लैला मज़नू की मिसाले दी जाती है, लोग अपने प्यार को पाने के लिए ना जाने कैसी कैसी “अग्नि परीक्षा ” दिया करते है , सच्चा प्यार तो दो आत्माओ का मिलनं कहा जाता है, समय के साथ सब बदल जात... Read more
clicks 130 View   Vote 0 Like   1:27pm 25 Nov 2014
[ Prev Page ] [ Next Page ]


Members Login

Email ID:
Password:
        New User? SIGN UP
  Forget Password? Click here!
Share:
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3910) कुल पोस्ट (191405)