Hamarivani.com

MERI SOCH MERI MANJIL

मेरा  नहीं  तुम्हें   था   गैरों  के  खोने  का  ग़म ।शायद  मेरा  प्यार   कहीं   पड़  गया  है  कम ।।देखा  तुझे   रोमांस  करते   गैरों  के  साथ  में ।नशें फटीं, उबाल आया, हुआ ख़ून मेरा गरम ।।ज़िस्म   तुम्हारा   है   या   कोई   धरम   शाला ।कितनी  ब...
MERI SOCH MERI MANJIL...
Tag :
  April 28, 2017, 2:13 pm
मेरे   दिल  के  वो  टुकड़े   हजार  कर   गयी ।मेरी   ज़िन्दगी  में  घुस  के  अत्याचार   गयी ।।अब तो ज़िन्दगी का आखिरी मेला भी ख़तम हुआ ।आज डोली उसकी घर को मेरे पार कर गयी ।।ज़िन्दगी   ने    जिससे    भी   की    बेवफाई ।मौत  की   सहेली  उससे   प्यार  ...
MERI SOCH MERI MANJIL...
Tag :
  November 3, 2016, 10:05 am
कुछ - कुछ होता है दिल में, मेरी उलझन को सुलझा दो ।कहते किसे हैं प्यार मुझे,  प्यार का मतलब समझा दो ।।अब तुम छोड़ो रीति रिवाज़, अपना होता नहीं है समाज ।तुम मुझसे मिलने आ जाओ, सारी दुनियाँ को ठुकरा दो।।मुझे  रब  के  दर्शन  करने  का   शौक  नहीं  है  बिल्कुल ।मेरे  य...
MERI SOCH MERI MANJIL...
Tag :
  October 14, 2015, 9:25 am
माँ का शब्द ही मरहम का काम करता है।हर सुपुत्र अपने बाप का नाम करता है।।मिल जाता है सुकुन उसको।जो माँ की पूजा सुबह शाम करता है।।...
MERI SOCH MERI MANJIL...
Tag :
  May 10, 2015, 9:38 pm
चित्र स्रोत - गूगलआशियाना   न   बना   गर   तेरी   गली   में ।क़ब्र  के   लिए  जगह   मिले   तेरी  गली  में ।।होगा   दीदार    तुम्हारा    किसी   बहाने   से ।सोचकर  आशिक़   भटकता   तेरी  गली  में ।।घर  का   तेरे  पता   मालूम   नहीं   फ़िर  भी ।मं...
MERI SOCH MERI MANJIL...
Tag :
  May 2, 2015, 5:49 pm
आसमान   का   सीना   चीर   के   आता   प्रकाश   है ।धरती    के    ऊपर     साया    करता    आकाश    है ।।कभी भौतिकी कभी जैविकी, रसायन में उपयोग हुआ ।विज्ञान  की  हर  शाखा  में  प्रकाश  का प्रयोग  हुआ ।।विज्ञान  के  इमारत  की  नीं...
MERI SOCH MERI MANJIL...
Tag :
  April 6, 2015, 1:10 pm
तुमको  हमसे  जब से  मोहब्बत  नहीं रही ।मेरे  प्यार  में भी  उतनी  शिद्द्त  नहीं रही ।।अपना बना के छोड़ देना आदत है तुम्हारी ।इतना  पता  चला  फिर  नफ़रत  नहीं रही ।।...
MERI SOCH MERI MANJIL...
Tag :
  March 14, 2015, 5:37 pm
उससे    हमारा    रिश्ता   कुछ   अज़ीब   सा   है।मेरी   ज़िन्दगी   का  लगता   वो  नसीब  सा  है।।बहुत सोचता है इज़हार - ऐ - मोहब्बत से पहले।प्यार    देने    में    वो    थोडा    गरीब    सा   है।।दूरी   इतनी   कि   मिल   पाना   आसाँ  नहीं  है...
MERI SOCH MERI MANJIL...
Tag :
  February 22, 2015, 2:16 pm
आती     है     याद     तेरी    ओ     बेवफा ।जाती     है    जान    मेरी    ओ     बेवफा ।।पूछते  हैं  दिल  के  टुकड़े   बता  दो  मुझे ।धोखा   मुझे   दिया   तूने   क्यों   बेवफ़ा ।।अभी चलती है धड़कन न छोड़ जाओ तुम ।हम मर जायें बिना दीद के ...
MERI SOCH MERI MANJIL...
Tag :
  February 17, 2015, 10:47 am
निकल गया वो ज़माना जब तुम्हारा सज़दा करते थे ।तुम  भी  नहीं  थे  बेवफ़ा  तब  हमसे  वफ़ा  करते  थे ।।जुदाई  का  हर  लम्हा  गुज़रता  था  तेरी  इबादत  में ।तुम  ख़ुश  रहना  हमेशा  बस  इतनी  दुवा  करते  थे ।।तड़पता  था  तेरी  याद  में  जब  &...
MERI SOCH MERI MANJIL...
Tag :
  February 10, 2015, 1:15 pm
हाइड्रोजन  ऑक्सीजन  मिलकर  जो  बनता  वो  पानी  है ।इसका  महत्व  इतना  है  विज्ञान  भी  इसकी  दिवानी  है ।।जीवन    की   हर    क्रिया    पूरी    होती   है   जीवद्रव   में ।जल की हिफाज़त करना लिखा  है  हम सब के कर्तव्य में ।।ब्रह्माण्ड  क...
MERI SOCH MERI MANJIL...
Tag :
  February 1, 2015, 5:21 pm
हिंदुस्तान   का  जहाँ  में  जवाब  नहीं ।इसकी चमक है हक़ीक़त  महताब  नहीं ।।कहते कलाम  हिंदुस्तान  होगा विकसित ।भारत की शक्ति से दुनियाँ हुयी परिचित ।।हमने देखा है सपना  कोई  ख्वाब  नहीं ।हिंदुस्तान  का  जहाँ  में   जवाब  नहीं ।।हिंद के जवानों ...
MERI SOCH MERI MANJIL...
Tag :
  January 26, 2015, 11:46 am
दुश्मन    तो   मुल्क   पे   वार   कर  रहा ।देखो   हमारा   भारत   श्रंगार   कर   रहा ।।इस मुल्क का हर बच्चा ऐसा काम करेगा ।विश्व   में    भारत     का    नाम   करेगा ।।आने  वाले  कल  का  इन्तज़ार  कर  रहा ।देखो   हमारा   भ...
MERI SOCH MERI MANJIL...
Tag :
  January 24, 2015, 6:29 pm
मालूम  है  वो  हमारी   किस्मत  में  नहीं  है ।फिर भी उस से दूर होने को दिल नहीं करता ।।********************************************कभी      ख़्वाहिश      थी     उसे     पाने     की ।अब तो लगता है वो मेरा बना रहे वही काफी है ।।********************************************हर्फ़  रोने  लगते  हैं  मैं  जब  ...
MERI SOCH MERI MANJIL...
Tag :
  January 18, 2015, 1:15 pm
गहरी  झील ने  हमारी  किया है इशारा ।मुबारक़ हो तुमको जनम दिन तुम्हारा ।।निकले हैं जफ्ज़ दिल से  क़बूल कर लो ।इनके सिवा दुनियाँ में कुछ नहीं हमारा ।।भीड़ में जिसको  तलाशे  नज़र तुम्हारी ।नज़रों का तुम्हारी वो बन जाये नज़ारा ।।हँसते  हुए   दिल  को   जो  रुला   जा...
MERI SOCH MERI MANJIL...
Tag :
  January 15, 2015, 4:24 pm
यादों   को   उसकी    हम   भुला   न   सके ।किसी  और  से   दिल  को  लगा  न   सके ।।कभी  माँगने  लगे  न  वो  तस्वीर  अपनी ।यही   सोच   कर    हम    जला   न    सके ।।उसके बिना  ज़िन्दा रहना मुश्किल है मेरा ।हैं   हालात   ऐसे   उसको   बुला   न  ...
MERI SOCH MERI MANJIL...
Tag :
  January 13, 2015, 2:20 pm
मालूम नहीं था  वो जफ़ा करेंगे ।जिसने कहा था हम वफ़ा करेंगे ।।दूर  मुझसे  होकर  वो  कहते  हैं ।तुम ख़ुश रहना  हम  दुवा करेंगे ।।...
MERI SOCH MERI MANJIL...
Tag :
  January 12, 2015, 3:42 pm
नाम उसके अपनी साँसे धड़कन दिल कर दिया ।ख़ुद डूब गये और उसके पास साहिल कर दिया ।।कहते हैं लोग  कि यादें जीने का सहारा होती  हैं ।पर  मेरा तो यादों ने  जीना मुश्किल  कर दिया ।।...
MERI SOCH MERI MANJIL...
Tag :
  January 10, 2015, 10:34 am
मेरी गुज़ारिश पर भी मुझसे मुलाक़ात नहीं करती ।ख़ूब   किया   याद   अब   याद   भी  नहीं   करती ।।उसने   कहा   था  कि   अपनी   तस्वीर   भेज  दो ।अब   कैसे   भेजूँ  जब  वो   बात  ही  नहीं  करती ।।...
MERI SOCH MERI MANJIL...
Tag :
  January 8, 2015, 12:05 pm
वक़्त  के  साथ  में  क्या  -  क्या  बदल   गया ।हम  वही  तुम  वही  बस   वक़्त   बदल  गया ।।बेदर्द    इस   ज़माने   में    ज़िन्दा   वही   रहा ।वक़्त    से   पहले    जो    भी    सँभल    गया ।।ऐतबार   नहीं   मुझको   अब   रहा   किसी   पे ।धोख...
MERI SOCH MERI MANJIL...
Tag :
  January 6, 2015, 1:02 pm
बूँद - बूँद से घड़ा है भरता । शिक्षा बिना  काम  नहीं चलता ।।शुरू करो न काम ऐसा । जिसको करने में दिल नहीं लगता ।।कश्ती   पार   होती  उसकी । तूफ़ानों   से  जो   नहीं   डरता ।।जीना  दूभर  होता  उसका । रोता  ज्यादा  कम  जो  हँसता ।।जीवन तो कट ही जाता है । साथ मे...
MERI SOCH MERI MANJIL...
Tag :
  January 5, 2015, 12:28 pm
ख़ुदा   का   आज   पैदा    पैग़म्बर   हुआ ।नबी   का    आख़िरी    ये   नम्बर   हुआ ।।मोहम्मद   ने   पहला   क़दम   जब  रखा ।जमीं   ख़ुश    हुयी   और   अम्बर   हुआ ।।भाई - चारे से रहना जब सिखलाया उसने ।खुराफ़ातियों का मन फिर दिगम्बर हुआ ।।बज़्म - ए - नबी  की जो &...
MERI SOCH MERI MANJIL...
Tag :
  January 4, 2015, 1:55 pm
खुशियों  की  नई  किरण  लेकर  आया  वर्ष  नूतन ।इतना  खूबसूरत  हो  वर्ष  जितनी  होती  है  दुल्हन ।।इन खुशियों की किरण से आपका उज्जवल हो भविष्य ।आपकी   छवि   फैले  जहाँ  हों   धरती  और  गगन ।।...
MERI SOCH MERI MANJIL...
Tag :
  January 3, 2015, 1:39 pm
देखने को मिला जो हमको नया वर्ष है ।कैसे बतायें दिल में मेरे कितना हर्ष है ।।पाकर के बधाई प्रियजनों की झूमने लगे।झूमते  हम  ऐसे  जैसे  पी  ली  चर्स  है ।।...
MERI SOCH MERI MANJIL...
Tag :
  January 3, 2015, 1:33 pm
गुजरा     हुआ     साल     तो     ख़्वाब     था ।नये   साल   के   इंतज़ार    में   दिल   बेताब   था ।।नये     साल     की     हक़ीक़त     हो     ऐसी ।तुम निकलो जिधर से लोग समझें कोई महताब था ।।...
MERI SOCH MERI MANJIL...
Tag :
  January 3, 2015, 1:28 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3685) कुल पोस्ट (167914)