Hamarivani.com

छद्मलेखक !

राजेन्द्र ने घड़ी की तरफ एकटक देखा ! सफ़ेद दीवारों पर एकलौती दिवार घड़ी ,रात्री के दो बजने का इशारा कर रही थी ! आज किसी का फोन नहीं आया ,राजेन्द्र के होठो पर एक मुस्कराहट थी .उनके सामने टेबल पर मौजूद स्टीरियो पर मद्धिम संगीत बज रहा था ! किशोर कुमार का गीत ‘जिन्दगी प्यार का ग...
छद्मलेखक !...
Tag :
  December 21, 2013, 1:24 am
आज ऑफिस जाने के लिये रिक्शा में बैठा ! हमारे यहाँ शेयर ऑटो हुआ करता है जी .हम बैठे थे तभी एक और व्यक्ति आया ,और बैठने से पहले उसने ऑटोवाले से पूछताछ की ..''भैया आपके पास छुट्टा तो होगा ना ? '' ( किराया उस स्टॉप का दस रूपये था )''हां हां क्यों नहीं ? बोलिए कितने का छुट्टा चाही ?''ऑटो वा...
छद्मलेखक !...
Tag :
  December 19, 2013, 5:03 pm
जैसा के आप सभी मित्र जानते ही है ,के हम कुछ मित्रो का समूह एक प्रोजेक्ट पर काम कर रहा है ! जिसका नाम है''आर्यन क्रिएशनज ''  ,तो पेश है आर्यन क्रिएशनज के सदस्यों का परिचय !हमारी स्टाईल में .कैप्शन जोड़ें...
छद्मलेखक !...
Tag :
  December 5, 2013, 9:31 pm
अपने आर्यन क्रिएशनज को मूर्त रूप देने के लिये हमारी टीम अपना पूरा सहयोग दे रही है, किन्तु बीच बीच मेंकुछ हलके फुल्के पल संजोने के प्रयास में कुछ मजेदार कॉमिक स्ट्रिप बनाते रहते है .जिसमे हम अपने कुछ मित्रो को स्थान दे  रहे है ,यह कॉमिक स्ट्रिप हमारी पिछली कॉमिक स्ट्रि...
छद्मलेखक !...
Tag :
  December 3, 2013, 11:05 am
‘’आर्यन क्रियेशनज ‘की ओर से एक कॉमिक स्ट्रिप ,जो समर्पित है कॉमिक फेस्टिवल के लिये आधिकारिक तौर पर मनाये जानेवाले पहले ‘भारतीय कॉमिक्स फेस्टिवल ‘ दिल्ली , के लिये हमारे ‘’आर्यन क्रियेशनज ‘की ओर से एक कॉमिक स्ट्रिप ,जो समर्पित है कॉमिक फेस्टिवल के लिये , कॉमिक फेस्टिव...
छद्मलेखक !...
Tag :
  November 26, 2013, 7:10 pm
आज सुबह अपने छोटे भाई के साथ ‘ भाग मिल्खा भाग ‘ देख रहा था ! ( हां जी ,जो भी वयस्क दृश्य थे उस फिल्म में ,मैंने उसे एडिट करके काट दिया है ! अब परिवार के साथ देख सकता हु ) मैंने यह फिल्म अब तक कम से कम 5-6 बार तो देखि है ! गजब की फिल्म है ,हर बार देखने पर पहली बार देखने जैसा लगता है , ‘मिल...
छद्मलेखक !...
Tag :
  November 23, 2013, 6:19 pm
केंद्रीय जलसंधारण मंत्री 'हरीश रावत '' ''प्रभु श्रीराम जी 'कि ''सीता ''भी विदेशी थी ! किन्तु फिर भी भगवान श्रीराम ने उन्हें अपनाया और भारतीयो ने उन्हें 'अराध्य 'माना तो 'सोनिया गांधी 'के विदेशी होने पर इतना बवाल क्यों ? ऐसा कहना है केंद्रीय जलसंधारण मंत्री 'हरीश रावत ''का ! उन्...
छद्मलेखक !...
Tag :
  November 21, 2013, 7:21 pm
मेरी प्रथम पब्लिश हुई रचना ! 'भोपाल 'से प्रकाशित पत्रिका 'रुबरु दुनिया 'के नवंबर २०१३ के अंक में .'भोपाल 'से प्रकाशित पत्रिका 'रुबरु दुनिया 'के नवंबर २०१३ के अंक में .  'रुबरु दुनिया 'के विषय में अधिक जानने के लिये लिंक पर क्लिक करे !https://www.facebook.com/#!/photo.php?fbid=544150812327842&set=a.346357598773832.79963.335869879822...
छद्मलेखक !...
Tag :
  November 20, 2013, 9:36 pm
भोजपुरी स्टार का भोजपुरी फिल्मो में बढ़ति अश्लीलता विषय में लिया गया इंटर व्यू, तिवारी जी द्वारा ( सम्पूर्ण तीनो भाग  )नोट : सभी पात्र एवं घटनाये काल्पनिक है ! उद्देश्य मात्र मनोरंजन है, दिल पे ले हमारी बला से  तिवारी जी आज बड़े खुश थे ! उभरते पत्रकार थे , और उन्हें अपनी पत...
छद्मलेखक !...
Tag :
  November 15, 2013, 2:07 pm
भोजपुरी स्टार का भोजपुरी फिल्मो में बढ़ति अश्लीलता विषय में लिया गया इंटर व्यू, तिवारी जी द्वारा (  भाग 2 ) नोट : सभी पात्र एवं घटनाये काल्पनिक है ! उद्देश्य मात्र मनोरंजन है, दिल पे ले हमारी बला से हीहीही !तिवारी : जाने दीजिये संदेस जी ! हम दुसरा सवाल पूछते है,क्या आपको नह...
छद्मलेखक !...
Tag :
  November 11, 2013, 3:42 pm
भोजपुरी स्टार का भोजपुरी फिल्मो में बढ़ति अश्लीलता विषय में लिया गया इंटर व्यू, तिवारी जी द्वारा ( प्रथम भाग ) नोट : सभी पात्र एवं घटनाये काल्पनिक है ! उद्देश्य मात्र मनोरंजन है, दिल पे ले तो हमारी बला से हीहीही !तिवारी जी आज बड़े खुश थे ! उभरते पत्रकार थे , और उन्हें अपनी पत्र...
छद्मलेखक !...
Tag :
  November 8, 2013, 9:40 pm
काफी दिन हो गये कुछ लिखे हुये, सोचा के अब छोटा मोटा क्या लिखू !क्यों ना एक नोवे...ल लिखने की कोशिश करू ,तो बस शुरू हो गया ! कहानी काफी दिनों से दिमाग में थी ,बस वक्त नहीं मिल रहा था ! कल से लिखना शुरू किया ...तो सोचा के दोस्तों की राय ले लू के हम नोवेल लिखे या रहने दे ...हमारे बस का है ...
छद्मलेखक !...
Tag :
  October 26, 2013, 7:54 pm
   ‘ तो देखा आपने के किस कदर इन तीन ‘दरिंदो ’ ने अपनी दरिंदगी एक मासूम के साथ दिखाई !आखिर क्यों ? क्या वजह है के समाज ईस कदर अपनी मानवता खोते जा रहा है ? कब तक हम यु ही खड़े तमाशा देखते रहेंगे ? कब तक मासूम बेटिया दरिंदगी की भेंट चढती रहेंगी ?मत भूलिये के अगर आज हम खामोश है तो ...
छद्मलेखक !...
Tag :
  October 26, 2013, 7:52 pm
 सुरेश झुंझलाया हुवा था ! आखिर साल भर के इन्तेजार के बाद बोनस मिला था , खुश होने के बजाय वह काफी नाराज था . “यह क्या है यार ? हमें कहा गया था के बोनस में एक बेसिक सैलरी मिलेगी ! और हाथ में थमा दिया गया यह , आधी बेसिक से भी कम “ “जाने दे सुरेश ! अब गुस्सा करने से क्या फायदा है ? ...
छद्मलेखक !...
Tag :
  October 26, 2013, 7:48 pm
'रोहन 'मै अब भी कहता हु यहाँ रुकना सेफ नहीं है !चुप कर यार ! और ध्यान उस बन्दे पर दे जो उस बोरी को घसीट कर ले जा रहा है .लेकिन मदन ,यह बन्दा इतनी रात को भला इस तरह जंगल में यह बोरी लेकर क्यों आया है ? देख सभी हमारी तरह पागल तो नहीं होंगे जो आधी रात की जंगले में रेव पार्टी में शामि...
छद्मलेखक !...
Tag :
  August 26, 2013, 5:17 pm
‘ट्रेन की बोगी खून से सनी थी , हर दीवार हर जर्रा सूख के काला पड चूके खून से सना हूवा था ,इंस्पेक्टर सुजीत मुआइना कर रहा था , ‘’अय लड्की वही रूक जा , कौन है तू ? और यहा क्या हूवा था , ये लाशे किसकी है ‘’ सुजीत ने अचानक दिखी लड्की को देख के कहा ,‘ पीछे मूड ,चेहरा क्यो छिपाया है , मूड ?...
छद्मलेखक !...
Tag :
  August 26, 2013, 5:14 pm
‘’ प्यार ‘’ जैसे विषय पर जो भी लिखा जाये वह कम ही होगा ! इसके स्वरूप हमेशा बदलते रहते है , प्यार किसी एक रिश्ते का मोहताज नहीं रहा है ,यह जरुरी नही के प्यार सिर्फ आशिक –माशुका तक ही सिमित हो .यह भाई –बहन का भी हो सकता है ,दोस्तों का भी हो सकता है ,बाप का बेटे से बेटे का बाप से , म...
छद्मलेखक !...
Tag :
  August 26, 2013, 5:11 pm
''राहुल ''यह क्या कर रहे हो , ?''चाची , यह ''हरिया भईया 'ने लड्डू भेजे है ,उनके यहाँ ''पोता ''हुवा है ना ,आप भी लीजिये आपके लिये ही तो भेजा है ''''राहुल पगला गया है क्या ? अभी अभी मै पूजा करके निकली हु ,रामलला को भोग लगाया है ,और तू मुझे यह खिला रहा है '';तो इसमें बुरा क्या है चाची ?''''अरे पगले त...
छद्मलेखक !...
Tag :
  August 26, 2013, 5:06 pm
मेरे मित्र ''मोहित शर्मा ''जी जो के एक उभरते हुये लेखक है ,इन्होने मेरे पेज चलते, चलते ,जिसके वे भी सह एडमिन है ,उसपर उन्होंने एक पोस्ट की थी कुछ देर पहले , जिसका मुद्दा था साहित्य की घटटी लोकप्रियता ( यह मुद्दा मैंने जोड़ दिया )और लेखको का बढ़ता चोरी का रवैय्या  , के किस तरह से ल...
छद्मलेखक !...
Tag :
  April 25, 2013, 4:03 am
एक छोटी सी बात जो मुझे सबसे ज्यादा हैरान करती है , कभी आप भी सोचिये इस बारे में यकीं से कहता हु के आप खुद हैरान हो जायेंगे .वह है हिन्दू पंचांग ,अप खुद ही देख लीजिये अगर आपके घर में कोई हिन्दू पंचांग हो तो ,उसमे सूर्योदय और सूर्यास्त तक समय निर्धारित बताया गया है , और आप जांच ...
छद्मलेखक !...
Tag :
  April 11, 2013, 4:35 am
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3693) कुल पोस्ट (169654)