Deprecated: mysql_connect(): The mysql extension is deprecated and will be removed in the future: use mysqli or PDO instead in /home/hamariva/public_html/config/conn.php on line 13
हिंदी ब्लॉगर्स चौपाल : View Blog Posts
Hamarivani.com

हिंदी ब्लॉगर्स चौपाल

कच्चे धागे से उलझा - सा यह रिश्ता कैसा रिश्ता है,चक्की के दोनों पाटों में केवल अपनापन पिसता है, यही नियति थी,इसकी परिणति आखिर होती और भला क्या,तू घर में बैठा एकाकी मैं भी भटक रहा हूँ तनहा,था जो, जो कभी खून का रिश्ता वह मवाद - सा फूट रहा है!मेरा हाथ,हाथ से तेरेधीरे - धीरे छूट रह...
हिंदी ब्लॉगर्स चौपाल...
Tag :
  October 3, 2013, 6:55 am
छोटटो घर खानी मने की पड़े सुरंगमा मने की पड़े,मने की पड़े जालानाय नील आकाश झड़े सारा दिन रात हावाय झड़े सागर दोला .............(उस छोटे से कमरे की याद है सुरंगमा ?बोलो,क्या अब कभी उस कमरे की याद आती है ?जहाँ कि खिड़की से नीलाकाश बरसता कमरे में रेंग आता था सारे दिन-रात तूफ़ान समुद्र...
हिंदी ब्लॉगर्स चौपाल...
Tag :
  October 1, 2013, 6:45 am
एक गुल्लक भर गया है, दस के सिक्कों से,साल भर लग गए,और मंहगाई भी बढ़ गयी है,बंद गुल्लक में भरते सिक्कों की तरह,कुछ डॉलर खरीद लेता हूँ,और अबकी बार गुल्लक में,डॉलर डालूँगा.........., डॉलर भरूँगा.......... मंहगाई और बढ़ गयी,..............................................................................................................................................मंदिर के ...
हिंदी ब्लॉगर्स चौपाल...
Tag :
  September 30, 2013, 12:41 pm
यह जिन्दगी विभाजित हैटुकड़ों - टुकड़ों में जबकि हम सोचते हैं, यह एक हैजो अभी जिया, वो थोड़ी देर बाद नहीं कल नहीं, परसों नहीं, कभी नहीं मुझे जो दिया गया है मौका प्रकृति ने उसे आगे देखने को बढ़ाता हूँ कदम शेष रह जाता है कुछ भी नहीं । ==============================================================नमस्कार म...
हिंदी ब्लॉगर्स चौपाल...
Tag :
  September 29, 2013, 5:00 am
उनको ये शिकायत है कि हम कुछ नहीं कहते ....जब हम कुछ कहते हैतो कहते के ये क्यूँ कहते हो ,चुप हो जाने पर कहते है किचुप क्यूँ रहते हो ...उनको हमारी हर बात पर हीशिकायत है किहम क्या कहते हैया क्यूँ नहीं कहते ...
हिंदी ब्लॉगर्स चौपाल...
Tag :
  September 28, 2013, 7:06 am
जह्नो - दिल में रेंगती हैं अनकही बातें बहुत दिन तो कट जाते हैं लेकिन सख्त हैं रातें बहुत !!तुम अभी से बदगुमां हो दोस्त ! ये तो इब्तिदा है जिंदगी की राह में होंगी अभी घातें बहुत !!दिल की पथरीली जमीं पर फिर भी उरियानी रही सब्ज गालीचे बिछाने आईं बरसातें बहुत !!कोई बतलाए कहाँ संज...
हिंदी ब्लॉगर्स चौपाल...
Tag :
  September 26, 2013, 6:00 am
समय भाग रहा है, या फिर हम, गौर कीजियेगा समय से कहीं तेज हम भाग रहे हैं और अपनी परम्पराएं, अपने आदर्श, सब कुछ पीछे छूटते जा रहे हैं जैसे रेलगाड़ी के डिब्बे से पीछे छूटता लैंडस्केप। कल बिटिया दिवस था, बहुत सारे दिवस आते हैं और चले जाते, सच कहूँ तो उनके आने और जाने से मुझे ज्याद...
हिंदी ब्लॉगर्स चौपाल...
Tag :
  September 23, 2013, 9:02 am
आज से शुरू करेंगे जीनाउसी पुराने ढग से हमन किसी की फ़िक्रन किसी से बिछड़ने का डरवही हमारी साथी किताबेवही पुरानी दोस्ती हमारीजिसने दिया हमें जग मेंइतना यश और मानउन्ही दोस्तों के संग बितायेगेपास कर लेंगे फिरदुनिया के सारे इम्तिहानक्योकि दुनिया चाहे छोड़ देपर ये सच्...
हिंदी ब्लॉगर्स चौपाल...
Tag :
  September 22, 2013, 5:11 am
क्या ये बात किसी को भी हास्य प्रद नहीं लगती कि बेटी का जन्म सिर्फ इस लिए होना चाहिए कि हमे बहू लानी है या संतति आगे बढ़ानी है। सभी यह कहते है कि बेटी होनी चाहिए, पर दूसरे के यहाँ ही। हम सब शोर तो बहुत मचाते है कि बेटियां है तो जहाँ है या और भी बहुत कुछ। लेकिन जब भी किसी के यह...
हिंदी ब्लॉगर्स चौपाल...
Tag :
  September 21, 2013, 5:09 am
दिशाओं की खिड़की खुली एक नन्ही सी परी मेरे सपनों से बाहर आकरहंसती रही,हंसती रही-देर तक मेरे साथ फिर समय बदला,रूप बदला,दृश्य बदला डुगडुगी बजाई आकाश ने मौसम ने घोषणा की एक अपरिचित,अनोखा न जाने किस देश का कवि अवतरित हुआ मेरी आत्मा में (साभार - भारत यायावर )...
हिंदी ब्लॉगर्स चौपाल...
Tag :
  September 19, 2013, 6:30 am
ज़िन्दगी में खुशियों की कमी सी होती जा रही है, जैसे प्यार की कमी नफरत से पूरी होती जा रही है, हर तरफ उदासी का आलम छाया है, हँसते हुए ज़िन्दगी ने बी भी हमारा मज़ाक उड़ाया है। खिल-खिलते हुए ज़िन्दगी ने यूँ मुड़कर देखा, मेरी आँखों की नमी देख मुझसे पूछा, आँखों में बस...
हिंदी ब्लॉगर्स चौपाल...
Tag :
  September 15, 2013, 7:30 am
क्या बतलाऊँ अपना परिचयमैं हूँ जलता अंगार एकमैं हूँ चिर शोषितचिर संतापितमुझमें न रक्तमुझमें न मांसचलती कराह या घुट-घुटकरमेरे प्राणों की साँस - साँसजलता ! हाँ तिल -तिल जलता हूँ  अपनी ही अंतर्ज्वाला मेंजाने अधरों से लगा मस्तअमृत या कि विष प्याला में !!   ***********नमस्कार  !...
हिंदी ब्लॉगर्स चौपाल...
Tag :
  September 12, 2013, 6:00 am
मैंने समझा जिसको अपना, निकला वो बेगाना। जिंदगी के सफर पर अकेला ही चलना पड़ रहा है, दिल में उसकी यादें लिए, जिसको निभाना था साथ मेरा हर बात का होती है एक वजह बेवजह नहीं होती कोई बात बस यही बात सोचता हूं जब तब याद आती है पुरानी बातें कभी अपने अहम के कारण न...
हिंदी ब्लॉगर्स चौपाल...
Tag :
  September 8, 2013, 5:00 am
क्या बात करें किससे बात करें जब किसी ने सुनना ही नहीं है तो कितना भी विरोध प्रदर्शन कर लो, कुछ नहीं होने वाला लेकिन इतना तो जानते ही है वक्त किसी का नहीं होता. आज उनका तो कल हमारा कर लीजिये कितने भी जुल्म। अभी वक्त तुम्हारा है। हम भी जिद के पक्के है, इस गु...
हिंदी ब्लॉगर्स चौपाल...
Tag :
  September 1, 2013, 6:30 am
हिम्मत करने वालो की हार नहीं होती लहरों से डर कर नैया पार नहीं होती। नन्ही चींटी जब दाना ले कर चलती हैचढ़ती दीवारों पर सौ बार फिसलती हैमन का विश्वास रगों में साहस भरता है चढ़ कर गिरना, गिर कर चढ़ना न अखरता है आखिर उसकी मेहनत बेकार नहीं होती कोशिश करने वालों की ह...
हिंदी ब्लॉगर्स चौपाल...
Tag :
  August 25, 2013, 6:30 am
!!! हिंदी ब्लॉगर्स चौपाल {चर्चामंच}  परिवार आपका स्वागत करता है !!!प्रिय दोस्तों, आप सबके लिए “हिंदी ब्लॉगर्स चौपाल {चर्चामंच}” तैयार है। आज मैं अपना नया ब्लॉग नही छोटा सा ब्लॉग चर्चामंच ही कहा जायें तो अच्छा है, को आप सब के सामने प्रस्तुत कर रहा हूँ। हर दिन इस कोशिश में ...
हिंदी ब्लॉगर्स चौपाल...
Tag :
  August 22, 2013, 4:22 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3709) कुल पोस्ट (171408)