Hamarivani.com

The Bishnoism

Amar Jyoti Patrika Edition : April 2013 Page No : 10 ...
The Bishnoism...
Tag :
  May 25, 2013, 10:31 am
गुरु जम्भेश्वर भगवान की तपो स्थली पर पधारे समस्थ भक्त जनो का हार्दिक अभिन्दन आज आप उस पावन धरा पर है जहाँ से ही हमारे धर्म की शुरुआत होती है । हर मनुष्य के कुछ संकल्प होते है तो वह संकल्पो कि शुरुआत किसी विशेष दिन या विशेष स्थान से करना चाहता है तो आज वोदोनो बाते आपके साथ...
The Bishnoism...
Tag :मुकाम
  March 10, 2013, 2:13 pm
इस संसार में हम भी सुखमय जीना चाहते है। प्रकृति के आँचल में स्वच्छद विचरण करना चाहते है। संस्कृति की अनुपम छटा को सुशोभित करना चाहते है। कैसे कहें हम..............हे मानुष, भगवान ने तुम्हें रक्षक बनाया पर तुम भक्षक बनना चाहते हो। हमारे सुखमय जीवन में तुम दस्तक देना चाहते हो। इ...
The Bishnoism...
Tag :
  March 3, 2013, 6:49 pm
बिश्नोई कलेंडर- त्योंहार,मेले और अमावस्या 2013दिनांकदिनत्योंहारसमयजगह2013(संवत् 2069-2070)नोट:- वार व तारीख सुर्योदय होने पर बदले गए है। अमावस्या का समय निर्णयसागर पंचाग अनुसार।11.3.13सोमवारअमावस्या फाल्गुणलगेगी- 10.3.13 रविवार रात्रि 2.29 बजे उतरेगी- 11.3.13 सोमवार रात्रि 1.20 बजे फाल्गुण म...
The Bishnoism...
Tag :
  February 26, 2013, 11:40 am
Santosh Punia is an Economics post graduate, amateur freelancer and blogger of twenty six years. Along with her family she put up in the city of waterfalls that is the capital city of Jharkhand, Ranchi. Her areas of interests include microeconomics, History, Religion, Philosophy, Symbology, children fiction, poetry and above all Bishnoism. She started writingon Bishnoism in September 2010 and her first article “Aayiye apani pahchan banaye:1” was published in the January 2011 issue of the prestigious magazine of Bishnoism Amar Jyoti. The widely popular series of her articles “Aayiye apani pahchan banaye” concluded in January 2012 with the publication of ten articles highlighting diver...
The Bishnoism...
Tag :
  February 24, 2013, 10:46 pm
Santosh Punia is an Economics post graduate, amateur freelancer and blogger of twenty six years. Along with her family she put up in the city of waterfalls that is the capital city of Jharkhand, Ranchi. Her areas of interests include microeconomics, History, Religion, Philosophy, Symbology, children fiction, poetry and above all Bishnoism. She started writingon Bishnoism in September 2010 and her first article “Aayiye apani pahchan banaye:1” was published in the January 2011 issue of the prestigious magazine of Bishnoism Amar Jyoti. The widely popular series of her articles “Aayiye apani pahchan banaye” concluded in January 2012 with the publication of ten articles highlighting diver...
The Bishnoism...
Tag :
  February 24, 2013, 10:46 pm
Twenty Nine (29) Commandments of bishnoisS No29 नियम29 Rules in English130 दिन सूतकObserve 30 days state of untouchability after child's birth25 ऋतुवन्ति न्यारो Observe 5 days segration while a woman is in her menses 3 सेरा करो स्नान bath early morning4शील पालनाObey the ideal rules of life: Modesty5संतोष रखनाObey the ideal rules of life: Patience or satisfactions6शुचि प्यारोObey the ideal rules of life:Purifications7व्दिकाल सन्ध्या करो Perform Sandhya two times a day 8सान्झ आराती गुण गाओEulogise ...
The Bishnoism...
Tag :
  February 20, 2013, 11:38 am
बिश्नोईज्मको विश्वपटल पर पहचान दिलाने में इंटरनेट एक सशक्त जरिया बनाहै। नेट पर बिश्नोईयों को हर किसी ने चाहा तथा सम्मान दिया है। विदेशियोंकी वेबसाइटों पर भी अबबिश्नोईज्म के बारे में देखने को मिल रहा है।बिश्नोईज्यमइस पहल की शुरुवाती वेबसाइट है। इस वेबसाइट पर बिश्...
The Bishnoism...
Tag :
  February 18, 2013, 6:05 pm
आओ मिल कर नए सालमें, माँगे यही दुआएं। प्यार मोहब्बत और अमन की, जग में चले हवाएं।। नदियों में बहती रहे, निर्मल जल की धारा। प्रदूषण से मुक्त रहें, पर्यावरण हमारा।। जड़ी बूटियां फूलें फलें, अमृत हो दवाएं। हर दिन हो खुशियों भरा, उत्सव सी निशाएं।। इस धरती की मिट्टी भी, उगले कोर...
The Bishnoism...
Tag :
  January 1, 2013, 10:25 am
शब्द 1.शब्द 1.शब्द 2.शब्द 3.शब्द 4.शब्द 5.शब्द 6.शब्द 7.शब्द 8.शब्द 9.शब्द 10.शब्द 9.शब्द 11शब्द 12.शब्द 13शब्द 13.शब्द 14.शब्द 15.शब्द 16.शब्द 18.शब्द 19.शब्द 20.शब्द 21.शब्द 22....
The Bishnoism...
Tag :
  December 30, 2012, 10:11 pm
सेरा उठे सुजीव छाँण जल लीजिए, दातण कर करे सिनान जिवाणी जल कोजिये"बत्तीस आंखड़ी(वील्हाजी) । प्रातःकाल ब्रह्म मुहूर्त में उठकर सर्वप्रथम शौचादि क्रिया से निवृत होकर दांतुन करें, फिर छाँण कर जल ग्रहण करके स्नान करें। यहीं से जीवन गति प्रारंभ होती है। स्नान करने के पश्चात ...
The Bishnoism...
Tag :
  November 1, 2012, 11:16 pm
सेरा उठे सुजीव छाँण जल लीजिए, दातण कर करे सिनान जिवाणी जल कोजिये" बत्तीस आंखड़ी(वील्हाजी) । प्रातःकाल ब्रह्म मुहूर्त में उठकर सर्वप्रथम शौचादि क्रिया से निवृत होकर दांतुन करें, फिर छाँण कर जल ग्रहण करके स्नान करें। यहीं से जीवन गति प्रारंभ होती है। स्नान करने के पश्चात...
The Bishnoism...
Tag :
  November 1, 2012, 11:16 pm
हम हमारी जानकारी के अनुसार वर्णन करने की कोशिश करेंगे और आशा है कि यह सहायक होगी।नवण/निवण स्थानीय राजस्थानी शब्द है,नमन (झुक कर प्रणाम) नम्रता के साथ, जैस किहिन्दी में नमस्कार इसी का भाग है।इसलिए नवण/निवण करने से आश्य आदरपूर्वकअंहकार शुन्य भाव से प्रणाम करने से है।दूस...
The Bishnoism...
Tag :
  October 31, 2012, 5:47 pm
मानव और पशु प्रेम की यह उद्भुत लीला जाजीवालबिश्नोइयान में गांव से एक किलोमीटर दूर पश्चिम दिशा में एक बहुत बड़ाधोरा पर स्थित जम्भेश्वर भगवान के मंदिरमें रह रोज साकार होता है। यहां हर रोज 120 शब्दों का यज्ञ(हवन) होता है और हर रोज गाँवके लोग यज्ञ में आहुति देने आते है। यज्ञ क...
The Bishnoism...
Tag :
  October 31, 2012, 5:15 pm
°°वन सम्पदा का संरक्षण समय कि पुकार°° वन, वनस्पति और जीव-जन्तुओं का जीवन अन्य पर आश्रित है, अतः मानव मात्र का कर्तव्य है की वनस्पति या वन-सम्पदा का विकास एवं संरक्षण करें ! ज्यों-ज्यों वन सिमटते जा रहें है, पर्यावरण प्रदूषित हो रहा है, जलवायु में विनाशकारी परिवर्तन आने लग...
The Bishnoism...
Tag :
  October 31, 2012, 5:13 pm
हमारे समाज में आज भी अधिकतर नारी शिक्षा से वंचित है। ऐसा लगता है कि नारी शिक्षा, नारीत्व के लिए अभिशाप है। नारी अशिक्षित है तो इसका कारण है कि हमारे पूर्वज अशिक्षित थेइसलिए उनके ख्यालात रूढ़िवादी थे। गाँवों में स्कूलों की कमी भी थी लेकिन आज भी अधिकतर बालिका शिक्षा से व...
The Bishnoism...
Tag :
  October 31, 2012, 4:39 pm
हमारे समाज में आज भी अधिकतर नारी शिक्षा से वंचित है। ऐसा लगता है कि नारी शिक्षा, नारीत्व के लिए अभिशाप है। नारी अशिक्षित है तो इसका कारण है कि हमारे पूर्वज अशिक्षित थेइसलिए उनके ख्यालात रूढ़िवादी थे। गाँवों में स्कूलों की कमी भी थी लेकिन आज भी अधिकतर बालिका शिक्षा से व...
The Bishnoism...
Tag :
  October 31, 2012, 4:39 pm
प्रकृति से खिलवाड़ का नतीजा सभी को भुगतना पड़ रहा है। विकास के लिए वृक्ष काटे जा रहे हैं। फैक्ट्रियां और वाहन जहर उगल रहे हैं। पानी में भी हमने जहर घोल दिया है। ऎसे में इंसान का ही नहीं दूसरे जीवों का भी जीवन संकट में पड़ गया है। मौसम का मिजाज बदल रहा है। कहीं बारिश की आस ...
The Bishnoism...
Tag :
  October 31, 2012, 4:18 pm
जागती आँखों से सोने वालों मिथ्या जीवन को भोगने वालों! मुड के अपने आधार को सोच ज़रा आवाज़ लगा, पर्यावरण बेसुध है कहाँ पड़ा? जो आज, सिसक-सिसक दम तोड़ रहा तू फिर भी क्यूँमौन रहा? याद नहीं! तेरे जन्म पर हवाएँ रागीनिया गाई थीदिशायें ख़ुशी से झूम उठी थी मोरनी नाच के मन हरषाई थी हर...
The Bishnoism...
Tag :
  October 31, 2012, 4:15 pm
पाँव पङूँ पूजा करूँ, सुण जाम्भेश्वर राय | कलजुग मुझ पर कोपियो दुःख देवे दिन-रात || किण रे आगे वीणती, कर जोङूं करतार | तुझ किरिपा बिन जीवणो,दोहरो जग म जाण || शरणां तेरी देवजी, हूँ आयो जगधार | साँस-साँस अरपण करूँ, पल-पल सौंपू प्राण || तूंही मेरे एक हो,दूजो नाही ठाण |अपणेपण री आण में, ...
The Bishnoism...
Tag :
  October 31, 2012, 4:13 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3652) कुल पोस्ट (163688)