Hamarivani.com

hindi kavita

बाईक तो मेरी थीपर मैं चला नहीं रहा थाएक्सीडैंट हुआ वो मर गयापर मैं वहां नहीं था।मैं मैट्रिक पास हूँमुझे कानून नहीं आता ì...
hindi kavita...
Tag :
  August 2, 2017, 9:23 pm
रात का समय थाचौरासी में बैठा थाकृत्रिम रौशनी की झालरों मेंमंदिर परिसर चमक रहा थाउस मनमोहक दृष्य को देखकरयूंही मन में ख...
hindi kavita...
Tag :मिलाप सिंह भरमौरी
  June 9, 2017, 9:43 pm
अगर साथ नहीं है कोईतो अकेले ही चलते रहिए।इक दिन मंजिल मिल जाएगी जरूरबस प्रयास करते रहिए।मेहनत करने से कोईकमजोर नहीं हो...
hindi kavita...
Tag :मिलाप सिंह भरमौरी
  May 5, 2017, 11:21 am
यह कैसी शिक्षा पा रहा है युवादेशभक्ति पर छा रहा है धुँआदोस्त और दुश्मन में फर्क मालूम नहीं हैलगता है खूब गांजा अफीम खा र...
hindi kavita...
Tag :
  March 1, 2017, 7:17 am
भूल जा कश्मीर का सपना,,अबके इस्लामाबाद में तिरंगा फहराऐगें।।बंगला देश तो रख नहीं पायाऔर अब कश्मीर की बात करता हैअरे ओ बé...
hindi kavita...
Tag :milap bharmouri hindi kavita
  February 27, 2017, 6:34 am
दहेज में कार-------------------औकात नहीं है कौडी कीऔर दहेज में मांगे कारअरे थोडा भूमि पर रह रे बंधूजरा नियत अपनी सुधारमाना मिल भी गई गाड...
hindi kavita...
Tag :milap singh bharmouri
  May 21, 2016, 11:10 pm
रक्तदान के महत्ब का तब पता चलता हैजब कोई अपनाआई सी यू में जिंदगी के लिएसंघर्ष कर रहा होता हैजन्म देने वाली मां भीअपने बच...
hindi kavita...
Tag :image for blood donation
  November 18, 2015, 7:55 am
मंदिर में भगवानहमारी परोक्ष रूप सेसहायता करते हैंऔर हम पूरी श्रद्धा के साथदानपात्र को भरते हैंऔर मंदिर के परिसर कोसा&#...
hindi kavita...
Tag :milap singh hindi kavita
  November 2, 2015, 9:39 am
आज के जमाने में जबलोग एक एक इंच जमीन के लडते हैंलेकिन कुछ लोग ऐसे भी हुए हैंजो सैंकडो एकड भुमि दान करते थेऐसे ही एक दानी थे&...
hindi kavita...
Tag :rajender prasad govt medical collage kangra
  October 23, 2015, 10:59 am
बैठा हूँ चौरासी मेंभोले के मंदिर के आगे।तांबे के नंदी के पासतख्ती से पीठ लगा के।----- मिलाप सिंह भरमौरी...
hindi kavita...
Tag :मिलाप सिंह शायरी
  July 23, 2015, 7:39 pm
पानी बहने की आवाज सुनाई देती हैगाडिय़ों का यहाँ कोई शोर नहीं है।शुद्ध हवा के झोंके सरसराते हैं यहाँदम घोटता धुआँ किसी ओर...
hindi kavita...
Tag :milap bharmouri hindi kavita
  July 23, 2015, 7:15 am
गिर रहा था अमृत सा पानी यहाँ झरनों सेहमने दो हाथ जोड कर झुक कर पी लिया ।हो चुका था तार- तार इमान खींच तानी मेंहमने बैठ कर चौर...
hindi kavita...
Tag :milap singh kavita
  July 21, 2015, 5:42 am
ढूँढ रहे थे इधर उधरजन्नत तो यहीं बसी हैइससे सुंदर कुदरत की कायाशायद ओर कहीं नहीं हैयही तो है वादिए भरमौरयही तो है वादिए ...
hindi kavita...
Tag :milap singh bharmouri
  July 20, 2015, 5:58 am
महसूस यूँ हुआ कुछआकर अपने गांव मेंजैसे गोदी में भर लिया होप्यार से मां ने ।इसकी मिट्टी के कण-कण सेमेरा रिश्ता गहरा  हैसा...
hindi kavita...
Tag :milap singh kavita
  July 19, 2015, 5:10 pm
इस आग उगलती गर्मी सेकुछ दिन राहत पा आते हैंलेकर के कुछ छुट्टियांठंडी भरमौर की वादियों में जा आते हैंटेक आते हैं चौरासी ë...
hindi kavita...
Tag :milap singh bharmouri
  March 25, 2015, 8:18 am
भीतर चला द्वंद्वबाहर चले श्लोक।इह लोक में फंसे हुए कोमिले कैसे परलोक।जीना है तो अंदर की सुन लेथोडा सा तू पगला बन ले।देख...
hindi kavita...
Tag :milap singh shayari
  March 21, 2015, 5:40 am
जल जाने से अच्छा हैसड जाना ।उससे भी अच्छा हैजंगली जानवरों कानिवाला बन जाना ।किसी का तो पेट भरेगातृप्त हो जाएगा रूह तक ।é...
hindi kavita...
Tag :मिलाप सिंह शायरी
  March 18, 2015, 8:54 pm
रोक रखा है मुझेयह जाने नहीं देती रोक रखा है मुझेयह जाने नहीं देती ।इस बारिश की जिद्द पेकिसका जोर चलता है ।----- मिलाप सिंह भरë...
hindi kavita...
Tag :
  March 1, 2015, 6:05 pm
एक रुपये का सिक्काउसने झट से जेब से निकाल करकाउंटर पर रखाऔर बडे मासूमियत से बोलीमैंने पैसे दे दिए हैंआप रहने दो पापाकित...
hindi kavita...
Tag :मिलाप सिंह शायरी
  January 8, 2015, 8:17 pm
यूंही नहीं कहता जमानामेरे देश को हिन्दुस्तानहिंदू से ही यहां बने इसाईहिन्दू से ही मुसलमानहर इंसान में है यहां हिन्दू &...
hindi kavita...
Tag :हिन्दी शायरी
  December 21, 2014, 2:55 pm
क्यों न गमजदा हो यह दिलआखिर वो बच्चे ही तो थेऐसा क्या जुर्म किया था उन्होंनेजो अब इस दुनिया में न रहेया रव उतर आ अब जमीं पर&...
hindi kavita...
Tag :
  December 16, 2014, 10:46 pm
जब कोई तेरी बहन को छेडेया बुरी नजर से देखेआग लग जाती है सीने मेंखून बहने लगता है पसीने मेंकब तू सब्र कर पाता हैदो चार उसी व&...
hindi kavita...
Tag :milap singh hindi kavita
  December 8, 2014, 9:16 pm
जब कोई तेरी बहन को छेडेया बुरी नजर से देखेआग लग जाती है सीने मेंखून बहने लगता है पसीने मेंकब तू सब्र कर पाता हैदो चार उसी व&...
hindi kavita...
Tag :milap singh hindi kavita
  December 8, 2014, 9:16 pm
शराब पीते हैं और झूमते हैं गाते हैंइस तरह हम अपने गम छुपाते हैंकोई पूछे जो सबब हमसे पीने काबेबफा को याद करते हैं मुस्कुर...
hindi kavita...
Tag :milap singh shayari
  November 30, 2014, 9:35 am
घोंसलों से निकल के पंछियों नेछेडा है सुंदर रागसुबह हो गई है जगउठ बिस्तर से तू अब जागबुला रही है कर्म भूमि तुझेकर सुर्यवæ...
hindi kavita...
Tag :milap singh shayari
  November 30, 2014, 7:05 am
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3693) कुल पोस्ट (169633)