Deprecated: mysql_connect(): The mysql extension is deprecated and will be removed in the future: use mysqli or PDO instead in /home/hamariva/public_html/config/conn.php on line 13
नन्हे फरिश्तों के लिए;हम तो हर पल जिए: : View Blog Posts
Hamarivani.com

नन्हे फरिश्तों के लिए;हम तो हर पल जिए:

[गूगल से साभार ]एक गिलहरी ..नाम था लहरी चली घूमने मेले में .संग सहेली ...करें ठिठोली धूम मचाती मस्ती में .माँ ने रोका .....उसको टोका कहाँ चली  तुम सर्दी में ?सुनकर लहरी ...थोडा ठहरी  फिर वह बोली ..जल्दी में टोपी-मफलर और स्वेटर कौन पड़े  झमेले में ?ये कह माँ...
नन्हे फरिश्तों के लिए;हम तो हर ...
Tag :
  March 16, 2015, 1:13 pm
टॉमी -जॉनी दो चूहे थे टॉमी-जॉनी हर पल करते थे शैतानी;कभी किसी के कपडे काटें कभी वो रोटी लेकर भागें ;एक दिन आ गयी बिल्ली रानी दोनों को हो गयी परेशानी ;कैसे इससे जान बचाएं ?कैसे फिर से धूम मचाएं ?इतने में आ गया गृह स्वामी ;भागी देख के बिल्ली रानी ,चूहों ने फिर मन में ठानी...
नन्हे फरिश्तों के लिए;हम तो हर ...
Tag :
  February 3, 2015, 10:13 pm
मम्मी ने सुबह जगाकर कहा पापा ने गलेलगाकर कहा दादा ने टॉफी देकर कहा दादी ने गोद बिठाकर कहा आया बाल दिवस ;मुबारक हो तुमको .तुम हो आशाओं के दिएँकुछ न मुश्किल  तुम्हारे लिए जो सपने 'चाचा'के अब तक अधूरे तुमको ही तो अब करने हैं पूरे बगिया के फूलों ने हँसकर ...
नन्हे फरिश्तों के लिए;हम तो हर ...
Tag :
  November 13, 2014, 9:51 pm
...
नन्हे फरिश्तों के लिए;हम तो हर ...
Tag :
  November 9, 2014, 10:21 pm
       काम पप्पा ने कितना  चंगा किया ,लाकर मुझको ये प्यारा तिरंगा  दिया !................................................................इस तिरंगे की शान निराली बड़ी ,इसको छत पर फहराने की हसरत चढ़ी ,                                                     वानर दल से मैंने  पंगा लिया !&nbs...
नन्हे फरिश्तों के लिए;हम तो हर ...
Tag :
  June 22, 2014, 4:44 pm
एक गिलहरी प्यारी-प्यारीनाम है उसका चुनमुनसुबह सुबह उठ  जाती  है वोफुदकती    फिरती वन वन *********************एक रोज वो फुदक रही थीदेखा उसने बाजथर थर कांपी  जोर से  हालत हुई ख़राब******************फिर भी उसने जोर सेसबको दी आवाज  यहाँ नहीं आना को...
नन्हे फरिश्तों के लिए;हम तो हर ...
Tag :
  June 1, 2014, 1:43 pm
    पिंकी  बिल्ली गई  थी दिल्ली ,लेकर सूटकेस ,सूटकेस में थे गहने, कंगन, रिंग, नेकलेस ,ऑटो में  वो ज्यों ही बैठी ,साथ चढ़ा एक चोर ,सूटकेस लेकर वो भागा , मचा जोर का शोर पिंकी भागी उसके पीछे , मारा पीठ पे पंजा ,चोर गिरा वही सड़क पर, पापी नीच लफंगा ,पिंकी ने फिर गला दबाकर उस...
नन्हे फरिश्तों के लिए;हम तो हर ...
Tag :
  April 16, 2014, 12:28 pm
मम्मी ने सुबह जगाकर कहा पापा ने गलेलगाकर कहादादा ने टॉफी देकर कहादादी ने गोद बिठाकर कहाआया बाल दिवस ;मुबारक हो तुमको .तुम हो आशाओं के दिएँकुछ न मुश्किल  तुम्हारे लिएजो सपने 'चाचा'के अब तक अधूरेतुमको ही तो अब करने हैं पूरेबगिया के फूलों ने हँसकर कहाकोयल ने कू...
नन्हे फरिश्तों के लिए;हम तो हर ...
Tag :
  November 14, 2013, 4:36 pm
विक्की घोडा तेज़ दौड़ता ;खुद पर था इतराता ,हिन्-हिनाकर जोर-जोर से ;हाथी पर रौब जमाता !***********************हाथी ने फिर अर्जी लिखकर ;शेरू से करी शिकायत ,जंगल के राजा ने रखी ;जंगल में पंचायत !***********************विक्की बोला इतराने कामुझको पूरा हक़ है ,हाथी भी चिंघाड़ के बोलातू तो नालायक है !************************दोनो...
नन्हे फरिश्तों के लिए;हम तो हर ...
Tag :
  October 3, 2013, 10:39 am
    चींटी  मैडम ने सोचा मॉडल  मैं बन जाऊं !!चींटी  मैडम ने सोचा किस्मत  आजमाऊँ  ,जीरो मेरी फिगर है मॉडल  मैं बन जाऊं !!हाई हील पहनकर चली थी वो इतराकर ,मुड़ी हील सैंडिल की धम्म से गिरी धरा पर  !!उसे देखकर हंसी सहेली ,बोली उसे उठाकर ,काम नहीं ये सीधा-सादा कुछ तो तू समझ...
नन्हे फरिश्तों के लिए;हम तो हर ...
Tag :
  August 5, 2013, 10:48 pm
  शैंकी मंकी ने खोली, जंगल में दुकान ,चारों और खबर है फैली,बनकर के तूफ़ान .****************************************खाने पीने की नहीं ,नहीं घर का सामान ,शॉप खुली है बैंगिल की ,रेट हैं एक समान .****************************************बैंगिल,कंगन,टीका,झूमर सब कुछ यहीं मिलेगा ,बिल्लियों के मुखपर ये सुन ,आई है मुस्कान .**********************...
नन्हे फरिश्तों के लिए;हम तो हर ...
Tag :
  June 23, 2013, 4:14 pm
  टीटू बन्दर चला एक दिन बन-ठन कर ससुराल ,जेठ की गर्मी में लू खाकर हाल हुआ बेहाल !सासू माँ ने  पिलवाई  उसको   कोकाकोला ,दम में दम आई तब जाकर टीटू बन्दर बोला !सासू माँ तुम कितनी अच्छी ठंडा मुझे पिलाया ,मैं भी गठरी में रखकर कुछ तुम को देने आया !गठरी खोली सासू माँ ने उसमे था...
नन्हे फरिश्तों के लिए;हम तो हर ...
Tag :
  May 28, 2013, 12:22 am
चुन्नी और चुन्नू का बेटा ,चीनू बन्दर बड़ा शैतान  ,मोबाइल पर गेम खेलता ,पढने का न लेता नाम !हालत उसकी हो गयी पतली ,सिर पर जब आये एक्जाम ,मॉम ने उसको गोद बिठाकर ,याद कराये पाठ तमाम !डैडी बोले चीनू बेटा ,आगे से तुम रखना ध्यान ,खेल के चक्कर में पढाई का ,करना मत अब नुकसान !माफ़ी मां...
नन्हे फरिश्तों के लिए;हम तो हर ...
Tag :
  May 16, 2013, 11:40 pm
    पिंकी  बिल्ली गई  थी दिल्ली लेकर सूटकेस ,सूटकेस में थे गहने कंगन, रिंग, नेकलेस ,ऑटो में  वो ज्यों ही बैठी साथ चढ़ा एक चोर ,सूटकेस लेकर वो भागा , मचा जोर का शोर पिंकी भागी उसके पीछे , मारा पीठ पे पंजा ,चोर गिरा वही सड़क पर पापी नीच लफंगा ,पिंकी ने फिर गला दबाकर उसको...
नन्हे फरिश्तों के लिए;हम तो हर ...
Tag :
  May 11, 2013, 12:53 pm
'हौले हौले बह समीर मेरा लल्ला सोता है 'नन्हे फरिश्तों रामनवमी का पर्व आप सभी ने आनंद  के साथ मनाया होगा .राम जी जब छोटे से थे तब उनकी माँ भी उन्हें लोरी सुनाकर सुलाती होगी जैसे आपकी माँ आपको सुलाती हैं .तो आज ये लोरी आप सभी के लिए -हौले हौले बह समीर मेरा लल्ला सोता है ,मीठी ...
नन्हे फरिश्तों के लिए;हम तो हर ...
Tag :
  April 23, 2013, 11:03 pm
    गोलू है  डॉगी शैतान , करता सबको है परेशान ,सारे बच्चे डरते उससे ,इसे मानता अपनी शान .निकली एक दिन अकड़ थी सारी ,गाड़ी ने जब टक्कर मारी ,हालत पतली हो गयी उसकी ,बिगड़ी सूरत प्यारी प्यारी  गिरा सड़क पर हाय ! धडाम .बच्चों ने इलाज कराया ,हल्दी  वाला दूध पिलाया ,गोलू डॉगी &...
नन्हे फरिश्तों के लिए;हम तो हर ...
Tag :
  April 17, 2013, 9:45 am
आँख चुराकर ,मुहं छिपाकर ,मुझसे थोडा बच-बचकर ,आस-पास के बच्चे देखें ,मेरी बगिया को ललचाकर .कुर्सी पर जो बैठकर देखूं ,घर से आगे बढ़ जाएँ ,टहल-टहल जो छिपूं कभी मैं ,बगिया के द्वारे आ जाएँ . मैं भी पक्की हूँ शरारती ,लुका-छिपी तो खेलूंगी ,फूल खिले जो हैं बगिया में ,उनको आज बचा लूंगी ....
नन्हे फरिश्तों के लिए;हम तो हर ...
Tag :
  April 7, 2013, 1:33 am
आँख चुराकर ,मुहं छिपाकर ,मुझसे थोडा बच-बचकर ,आस-पास के बच्चे देखें ,मेरी बगिया को ललचाकर .कुर्सी पर जो बैठकर देखूं ,घर से आगे बढ़ जाएँ ,टहल-टहल जो छिपूं कभी मैं ,बगिया के द्वारे आ जाएँ . मैं भी पक्की हूँ शरारती ,लुका-छिपी तो खेलूंगी ,फूल खिले जो हैं बगिया में ,उनको आज बचा लूंगी ....
नन्हे फरिश्तों के लिए;हम तो हर ...
Tag :
  April 7, 2013, 1:33 am
 चंदा मामा चंदा मामा बतला दो अपना मोबाइल नंबर !!"ओ बी ओ लाइव महा उत्सव" अंक - 30विषय - "शिशु/ बाल-रचना" में मेरे द्वारा प्रस्तुत रचना  चंदा मामा चंदा मामा तुम हो कितने सुन्दर !जल्दी से बतला दो अपना तुम मोबाइल नंबर !!मिला के नंबर रोज़ करेंगें दिन में तुमसे बात ,छत पर चढ़कर ...
नन्हे फरिश्तों के लिए;हम तो हर ...
Tag :
  April 6, 2013, 1:55 pm
फूलों जैसे कोमल मन के तितली जैसे चंचल हैं ,हम बच्चे हैं प्यारे-प्यारे सदा ह्रदय से निर्मल हैं .होंठों पर मुस्कान सजाये उछल-कूद हम करते हैं ,अपनी मीठी बोली से सबका मन हर लेते हैं .पापा के हम राज दुलारे माँ की आँख के तारे हैं ,हमको ही तो सच करने अब उनके सपने सारे हैं शिखा कौशि...
नन्हे फरिश्तों के लिए;हम तो हर ...
Tag :
  January 27, 2013, 1:49 pm
       काम पप्पा ने कितना  चंगा किया ,लाकर मुझको ये प्यारा तिरंगा  दिया !इस तिरंगे की शान निराली बड़ी ,इसको छत पर फहराने की हसरत चढ़ी ,वानर दल से मैंने  पंगा लिया !जब फहरता है ताली बजता हूँ मैं ,मम्मी-पप्पा को पास बुलाता हूँ मैं ,मैंने अब न कोई भी दंगा किया !     ...
नन्हे फरिश्तों के लिए;हम तो हर ...
Tag :
  January 25, 2013, 3:09 pm
                 तोता चाचा   चले बाज़ार साइकिल पर होकर सवार , साइकिल को नहीं किया चैक साइकिल के थे फेल ब्रेक ,  तेज चलाकर जाते थे हवा से वे बतियाते थे , तभी सामने दिखी थी बस ब्रेक दिए थे हाथ से कस , हुई न जब धीमी रफ़्तार छोड़ साइकिल भरी उड़ान , बस-साइकिल...
नन्हे फरिश्तों के लिए;हम तो हर ...
Tag :
  January 14, 2013, 3:52 pm
नन्ही चिड़िया देर से जागी,जाना था स्कूल ,जल्दी जल्दी बैग उठाया ,गई वो पुस्तक भूल .क्लास में मैडम उससे बोली चलो सुनाओ पाठ ,नन्ही चिड़िया रोकर बोली पुस्तक भूली आज . मैडम ने फिर पास बुलाकर प्यार से था समझाया ,काम करो सब सोच समझकर क्यों पीछे पछताया ! नन्ही चिड़िया ने रखीमैडम क...
नन्हे फरिश्तों के लिए;हम तो हर ...
Tag :
  January 3, 2013, 10:30 pm
 मैडम बिल्ली मुंबई वाली पहने हाई हील मटक मटक कर चलती हैं जब होता गुड गुड फील एक दिन पीछे पड़ गया उनके डॉगी  एक शैतान दौड़ी लेकर हाथ में सैंडिल तभी बची फिर जान  उस दिन से वे घूम रही हैं बच्चो नंगे पैर इसी वजह से बिल्ली मैडम का डॉगी से बैर                &...
नन्हे फरिश्तों के लिए;हम तो हर ...
Tag :
  December 29, 2012, 3:34 pm
.टिंकू चूहा करे शरारत ;शैतानी की उसको आदत ,मम्मी जब भी डांटे उसको ;टिंकू को लगती वे आफतएक दिन लेकर लम्बा डंडा उसने चारो और घुमाया ,टकराया दीवार से जाकर धक्का खा वो संभल न पाया . लगी चोट फिर नाक पर आगे ,खून निकल कर बाहर आया ,दर्द हुआ फिर बड़ी जोर से ,रोकर टिंकू था चिल्लाया . पा...
नन्हे फरिश्तों के लिए;हम तो हर ...
Tag :
  December 6, 2012, 12:52 am
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3712) कुल पोस्ट (171555)