Hamarivani.com

नव अंशु

बाल कविता-264जंगलमे फैशनलाल टॉपमे ललिया लुक्खीलागि रहल छै सुन्नरजिंस चढ़ा क'दड़बड़  मारैमुसरी और छुछुन्नरलंहगा-चुनरी पहि&#...
नव अंशु...
Tag :
  May 23, 2017, 9:04 pm
बाल कविता-263पप्पा जी यौ पप्पा जीकीन दिअ गोलगप्पा जीदेखिते मुँहमे आबय पानिएकरा खाइमे नहियें हानिखटगर नुनगर पप्पा जीपप्...
नव अंशु...
Tag :
  May 23, 2017, 7:49 pm
बाल कविता-262बच्चा सपना देखै छैछोट   घरमे    संग चच्चा छैमाए   एकटा   एक बच्चा छैचच्चा भरि दिन खेत जोतै छैबच्चा  खाली  मा&#...
नव अंशु...
Tag :
  May 3, 2017, 8:19 pm
बाल कविता-261हमर मम्मीभोरे उठै देरसँ सूतै कनिको नै अलसाबै छैहमर मम्मी हमरा खातिर बहुते कष्ट उठाबै छैबर्तन-बासन चौका-पीढ़ì...
नव अंशु...
Tag :
  April 30, 2017, 5:15 pm
बाल कविता-260रेलगाड़ीपाछू डिब्बा आगू इंजनचढ़िते होइ छै मनोरंजनछौड़ै  धुआँ  मारै  सीटीटिकट देखै करिया टीटीचाना-भाजा खोबिë...
नव अंशु...
Tag :
  April 24, 2017, 4:20 am
बाल कविता- 259आमकिछु खट्टा किछु मिट्ठा आमलेर    चुबै   छै   लैते    नामहरियर  पीयर   नम्हर   छोटछोटकी   आँठी   गुद्दा  म...
नव अंशु...
Tag :
  April 21, 2017, 6:22 pm
बाल कविता-257हमर गुड़ियाई देखू ई हमर गुड़ियारंग-बिरंगी सुन्दर गुड़ियानम्हर नम्हर केश छैबहुते सुन्दर भेष छैहमरा लागै सुपर ग...
नव अंशु...
Tag :
  April 15, 2017, 8:01 pm
258. सूरज चच्चा सूरज चच्चा सूरज चच्चाकिए उठै छी एते सबेरअहींक चलते मम्मी हमरासूत'नै दै कनिको देरअपन नीन तोड़ै छी अहाँहमरो नीन तोड़ाबै छीकी अहूँकेँ मम्मी सूत'नै दैतें दोसरोकेँ जगाबै छीअमित मिश्र...
नव अंशु...
Tag :
  April 15, 2017, 8:00 pm
बाल कविता- 256अंगूररसगर मिठगर सुन्दर अंगूरचौकोपर बिकाइ छै ।छुबिते एकरा टुभ द'खसैबहुते ई लजाइ छै ।मोती जकाँ लागै छै अनमनद...
नव अंशु...
Tag :
  April 11, 2017, 8:56 pm
बाल कविता-255हमर गामसबसँ सुन्दर हमर गामजत'पाकै छै मिठगर आमठंढा ठंढा हवा चलै छै,आंगनकें गमकाबै ।गाछी-बिरछी कोइली रानी,सुन...
नव अंशु...
Tag :
  April 11, 2017, 8:56 pm
हे प्रभु हमरा दिअ वरदान एते मोनसँभेंटै हमरा ज्ञान ओते पढ़ी जते मोनसँनै करी हम काज कोनो लोक जकरा दूसि दैजीउ सदिखन सत्त बì...
नव अंशु...
Tag :
  April 11, 2017, 8:54 pm
गीतपिया जी रहै छै घूसल, हरदम ह्वाटसेप परफेसबुक बाला एप पर ना1राखै छथि घरपर नै ध्यान, जाइ के छलै आइ दोकानखतम भ'गेल सबटा आटा, न...
नव अंशु...
Tag :
  April 11, 2017, 8:53 pm
बाल कविता-254चन्ना बनि क'चोरसाँझेसँ ओ संगे छलथिकखन पड़ेलथि बनि क'चोरऔर बतियबितौं हम चन्नासँकत'गेलाह ओ भोरे भोरगर्मीसँ भरì...
नव अंशु...
Tag :
  April 11, 2017, 8:51 pm
गमकल-253गमगम गमकल गाछी जखनबूझ बसन्त आबि गेलै तखनतोड़ी फूल पियरेलै जखनबूझ बसन्त आबि गेल तखननवका आलू एलै घर घरउड़'लागलै गर...
नव अंशु...
Tag :
  April 11, 2017, 8:49 pm
गजलकिछु एहन सन अपन वेलेंटाइन हेतैप्रेमक अनुबन्धपर दू टा साइन हेतैकिछु माँगब नै अहाँँ, किछु देबो नै करबैबिनु कहने सब लु...
नव अंशु...
Tag :
  February 15, 2017, 8:10 am
बाल कविता-252बौआ बुधियारबौआ हमर बड़ बुधियारनीक हुनक सबटा वेवहारभोरे होइ बबुरक दतमनितखने मम्मी तरथि सजमनिनहा- धोइ क"रहथि...
नव अंशु...
Tag :
  February 7, 2017, 12:32 pm
बाल कविता- 251सिरमामे********************बौआ बौआ कौआ बाजल, भोरे भोरे सिरमामेगाबि पराती खूब सुनेलक, उड़ि उड़ि क'सिरमामेफूल फुलेलै सुन्दर सुनî...
नव अंशु...
Tag :
  January 26, 2017, 4:29 pm
बाल कविता-250ज्ञाने टा के भीख लेबैअ आ इ ई क का कि की लिख लेबैयौ बाबू आब सब किछु पढ़ब सिख लेबैचोरि-डकैती झूठ-फसक्कर, नै लेबैजँ ल...
नव अंशु...
Tag :
  January 26, 2017, 4:28 pm
बाल कविता- 249चुनमुन्नीक खेलचल चुनमुन्नी खेल करै लेलसुग्गा संगे मेल करै लेलहम खेबै गहुँमक दानातखन गेबै नवका गानासुग्गा...
नव अंशु...
Tag :
  January 26, 2017, 4:26 pm
#लप्रेक- अगत्ती- रौ बजरखसुआ, एना घंटी किए टुनटुनाबै छें रौ ?-गै मुहफट्टी, एना ठिठियाइ किए छहीं गै ?- हमर मुँह, हम कुच्छो करब तोह&#...
नव अंशु...
Tag :विहनि कथा
  January 8, 2017, 8:37 pm
#लप्रेक- बन्धन-एकटा बात पुछौं अहाँसँ ?- हँ यै सजनी, एकटा किए, दस टा पुछू ।- ओना त'हमर-अहाँक बन्धन जनम-जनम धरि जुड़ल रहत मुदा जँ अग...
नव अंशु...
Tag :विहनि कथा
  January 8, 2017, 8:36 pm
#लप्रेक - नया साल- ओह, कने काल और सुतू ने ।एखन अन्हारे छै ।एतेक भोरे ऊठि क'कोन पहाड़ तोड़बै !- दुर जाउ, सदिखन अहाँ मजाखे करै छी ।स...
नव अंशु...
Tag :विहनि कथा
  January 8, 2017, 8:33 pm
काज करब नै हम अधलाहनै करब दुखमे हम आहनै लागय घृणा केर धाहतखने जग करतै वाहवाहप्रेम मनुखक पहिल निशानीनै बनब कहियो अभिमान...
नव अंशु...
Tag :
  December 31, 2016, 8:45 pm
चन्ना रौ चन्ना रौखा ले ओलक सन्ना रौकने जमीरी नेबो फेटलतैपर गोट दुगुन्ना रौ...
नव अंशु...
Tag :
  December 31, 2016, 8:44 pm
-रौ बहिं, मलिकबा अन्हराकेँ हाइकोट देखबै छलै ।- की भेलौ से ?- की कहियौ, आइ गजब भ'गेलै ।पिछला सब वकाया द'बोनस सेहो देलकै...मुदा...-मुê...
नव अंशु...
Tag :
  December 31, 2016, 8:43 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3666) कुल पोस्ट (165890)