Hamarivani.com

भूली-बिसरी यादें

वे सब भी हमारी ही तरह थे,अलग से कुछ भी नहींकुदरती तौर परपर, रात अँधेरी थीऔर, अँधेरे में पूछी गईं उनकी पहचानेंजो उन्हें बतानी थींऔर, बताना उन्हें वही था जो उन्होंने सुना थाक्योंकि देखा और दिखाया तो जा नहीं सकता था कुछ भीअँधेरे मेंऔर, अगर कहीं कुछ दिखाया जाने को था भीतो उस...
भूली-बिसरी यादें ...
Tag :कविता
  May 20, 2017, 2:42 pm
"ॐ नमः शिवाय "आप सभी को महाशिवरात्रि की हार्दिक मंगलकामनायें ।महाशिवरात्रि का पर्व भगवान शिव के दिव्य अवतरण का पर्व है। उनके निराकार से साकार रूप में अवतरण की रात्रि ही शिवरात्रि कहलाती है। शिव पुराण की ईशान संहिता में वर्णित है कि फाल्गुन कृष्ण चतुर्दशी को आदिदेव भ...
भूली-बिसरी यादें ...
Tag :बोध कथाएँ
  February 24, 2017, 5:30 pm
सभी भारतवासियों को गणतंत्र दिवस (26 जनवरी) की हार्दिक शुभकामनायें।  समस्त भारतवासियों के लिए ये राष्ट्रीय पर्व खुशहाली और सम्रद्धि का सन्देश लेकर आये, यही इस पावन पर्व पर आप सभी के लिए हमारी हार्दिक शुभकामनाएं हैं।  तिरंगा हमारा शान है, इस पर हमें गर्व है। ...
भूली-बिसरी यादें ...
Tag :
  January 26, 2017, 8:40 am
"Great person to live forever among us, the useful life of the world, several scholars have said the things we say in simple language that precious word for the precious things in our lives and by which we can communicate and new enthusiasm. this page is dedicated to those great great men."Change your thoughtandyou change the worldContinuous............
भूली-बिसरी यादें ...
Tag :Thought
  December 22, 2016, 1:20 pm
एक कहावत है की आगे वाला गिरे तो पीछे वल होशियार हो जाये। जो बुद्धिमान होते हैं वे दूसरों के हालात देखकर शिक्षा ले लेते हैं। यदि हम भी चाहें और अपने ज्ञानचक्षु खुले रखें तो हम कदम-कदम दुसरो शिक्षा ले सकते हैं। दूसरों का परिणाम देखकर नसीहत ले सकते हैं क्योकि प्रत्येक शिक...
भूली-बिसरी यादें ...
Tag :
  May 28, 2016, 3:50 pm
आप सभी दोस्तों को महाशिवरात्रि की हार्दिक शुभकामनाएँऊँ त्रयम्बकं यजामहे सुगंधिम पुष्टिवर्धनमउर्वारुकमिव बन्धनान मृत्योर्मुक्षीय मा मृतातमहाशिवरात्रि पर एक कथा इस प्रकार भी प्रचलित है। पुराणों में महाशिवरात्रि के बारे में कई कथाएँ हैं. उनमें से एक कथा के अनु...
भूली-बिसरी यादें ...
Tag :शिव
  March 7, 2016, 9:26 am
हमारी ज्यादा रूचि सिर्फ दूसरों को जानने और अपनी जान पहचान बढ़ाने में ही रहती है, खुद अपने को जानने में नहीं रहती। हमारी यह भी कोशिश रहती है कि अधिक से अधिक लोग हमें जानें, हम लोकप्रिय हों पर यह कोशिश हम जरा भी नहीं करते कि हम खुद के बारे में जानें कि हम क्या हैं, क्यों हैं, क्...
भूली-बिसरी यादें ...
Tag :Perception fiction
  February 28, 2016, 10:42 am
मशहूर शायर और फिल्म गीतकार निदा फाजली का 78 वर्ष की उम्र में सोमवार को मुंबई के वर्सोवा स्थित घर पर निधन हो गया। वे काफी दिनों से बीमार चल रहे थे। सोमवार दोपहर को हार्ट अटैक से उनकी सांसे थम गईं। निदा फाजली साहित्य अकादमी, पद्म श्री सम्मान से सम्मानित थे।निदा फाजली का जन...
भूली-बिसरी यादें ...
Tag :निदा फाजली
  February 9, 2016, 5:50 pm
 मकर संक्रान्ति हिन्दुओं का प्रमुख पर्व है। मकर संक्रान्ति पूरे भारत में किसी न किसी रूप में अवश्य मनाया जाता है। पौष मास में जब सूर्य मकर राशि पर आता है तभी इस पर्व को मनाया जाता है। यह त्योहार जनवरी माह के चौदहवें या पन्द्रहवें दिन ही पड़ता है क्योंकि इसी दिन सूर्य ...
भूली-बिसरी यादें ...
Tag :शुभकामनायें
  January 14, 2016, 9:55 am
आप सबको नया साल 2016 की हार्दिक शुभकामनायें । नूतन बर्ष आपके एवं आपके परिवार के लिए हर्षोल्लास,अच्छा स्वास्थ्य,सम्पन्नता ,सुरक्षा, नव ज्योत्स्ना,नव उल्लास और समृधि लेकर आए ।मित्रों इस नव वर्ष के आगमन पर हम सब एक संकल्प लें कि आज से हम आपने नकारात्मक विचारों को त्याग कर&n...
भूली-बिसरी यादें ...
Tag :नववर्ष
  December 31, 2015, 6:07 pm
जनता का हक़ मिले कहाँ से, चारों ओर ‪दलाली है |‪चमड़े का दरवाज़ा है और ‪कुत्तों की रखवाली है ||‪मंत्री, नेता, अफसर, मुंसिफ़ सब जनता के सेवक हैं |ये जुमला भी प्रजातंत्र के मुख पर ‪भद्दी गाली है ||उसके हाथों की ‪कठपुतली हैं सत्ता के ‪शीर्षपुरुष |कौन कहे संसद में बैठा ‪गुंडा और मवाली...
भूली-बिसरी यादें ...
Tag :Ghazal
  November 29, 2015, 10:49 am
वह आनन्द क्या है,जिसे मैं खोज रहा हूँ?दौड़ जीतना  तो नहीं,बल्कि असफलता का परिचय पाना है,क्योकि इसी के द्वारा  मैंने दौड़ना सीखा है। संदेहों से भयभीत नही होना है,क्योकि इन्होने ही मुझे दिखाया कि कहाँ पथ संकीर्ण है-निकल पाना दुष्कर है। जब भी क्लान्ति और पीड़ा न...
भूली-बिसरी यादें ...
Tag :आनन्द
  October 24, 2015, 12:57 pm
प्रिये मित्रों, कुछ लोग ऐसे होते हैं जो विचार तो अच्छे रखते हैं पर उन पर अमल नही करते या कर नही पाते। यूँ अच्छे विचार रखना अच्छा तो होता है पर जब तक अमल में न लिया जाए तब तक विचार फलित नही होता, निष्काम रहना है। मात्र रोटी का ख्याल करते रहने से भूख मिटती नहीं, बढ़ जाती है। भू...
भूली-बिसरी यादें ...
Tag :इच्छा शक्ति
  September 10, 2015, 10:42 am
जैसा की आप सब जानते ही होंगे की मैं करीब १३ सालों से आबू धाबी में कार्यरत हूँ, इन सालों में पहली बार अपने प्रधानमंत्री की आबू धाबी की यात्रा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का रविवार को संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के अबू धाबी पहुंचने पर जोरदार स्वागत हुआ। एयरपोर्ट पर ...
भूली-बिसरी यादें ...
Tag :संयुक्त अरब अमीरात में नरेंद्र मोदी
  August 17, 2015, 2:19 pm
प्यार का आलम भी क्या आलम होता है की आदमी उसमें डूबता है तो फिर डूबता ही चला जाता है। दोनों एक दूसरे पर सब कुछ निछावर करने के लिए ही गोया जिन्दा रहते हैं। उनका जिन मरना भी एक दूसरे के लिए होता है। प्यार का समर्पण आसमान की ऊचाइयों तक उठा देता है तो उसकी ठोकर गर्त में मिला दे...
भूली-बिसरी यादें ...
Tag :
  April 27, 2015, 3:25 pm
बसंती परिधान में सजकर आया  आज गणतंत्र दिवस हमारा है हिन्दू मुस्लिम सिख इसाई सबको भाईचारे का पाठ पढता आज गणतंत्र दिवस हमारा है हम एक हैं एक रहेंगे का देता संदेश आज गणतंत्र दिवस हमारा है रखना है तिरंगे मान और अभिमान आज गणतंत्र दिवस हमारा है सत्य अहिंसा...
भूली-बिसरी यादें ...
Tag :
  January 26, 2015, 8:46 am
ॐ श्री सरस्वती शुक्लवर्णां सस्मितां सुमनोहराम्।।कोटिचंद्रप्रभामुष्टपुष्टश्रीयुक्तविग्रहाम्।वह्निशुद्धां शुकाधानां वीणापुस्तकमधारिणीम्।।रत्नसारेन्द्रनिर्माणनवभूषणभूषिताम्।सुपूजितां सुरगणैब्रह्मविष्णुशिवादिभि:।।वन्दे भक्तया वन्दिता च मुनीन्द्रम...
भूली-बिसरी यादें ...
Tag :विद्या की देवी
  January 24, 2015, 9:55 am
बीत गया जो साल, भूल जायें उसे ,इस नये साल को गले लगायें,करते है हम दुआ रब से,सर झुकाऐ ……इस साल के सारे सपने पूरे हो आपके…आप सबको नया साल 2015 की हार्दिक शुभकामनायें । नूतन बर्ष आपके एवं आपके परिवार के लिए हर्षोल्लास,अच्छा स्वास्थ्य,सम्पन्नता ,सुरक्षा, नव ज्योत्स्ना,नव उल्ला...
भूली-बिसरी यादें ...
Tag :शुभकामनायें
  January 1, 2015, 5:30 pm
१. बर्फीली सर्दी ठिठुरते इंसान शीत लहर २. सर्द हवाएँ कपकपाते लोग दुबके हुए ३. सर्दी की रात कंबल न रजाई आफत आयी ४. छिपा सूरज अस्त व्यस्त जीवन धुंध ही धुंध ५. कंपकपाते गरीबो के बदन अलाव प्यारा ६. खून जमाती काटे नहीं कटती जाड़े की रात&...
भूली-बिसरी यादें ...
Tag :हाइकू
  December 15, 2014, 11:07 am
ॐ श्रीं हीं श्रीं कमले कमलालये प्रसीद ।प्रसीद श्रीं हीं श्रीं ॐ महालाक्ष्मै नमः ।।प्रिये मित्रों, आज पावन पर्व दीपावली है।  आप सभी को दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं। भारतवर्ष में मनाए जानेवाले सभी त्यौहारों में दीपावलीका सामाजिक और धार्मिक दोनों दृष्टि से अत्यधि...
भूली-बिसरी यादें ...
Tag :दीप
  October 23, 2014, 11:08 am
खुद की क्षमताओं पर भरोसा होना आत्मविश्वास का जरूरी हिस्सा है। कुछ लोग स्वाभाविक रूप से आत्मविश्वासी होते हैं, तो कुछ को इसे विकसित करने की जरूरत होती है। अपनी काबलियत पर हमें हमेशा विश्वास करना चाहिए, क्योंकि जीवन में हमें अपना आत्म विश्वास और अपनी काबलियत ही आगे ...
भूली-बिसरी यादें ...
Tag :कहानी
  September 30, 2014, 11:46 am
प्रिये मित्रों, आज हम सबका स्वतंत्रता दिवस है, स्‍वतंत्रता दिवस ऐसा दिन है जब हम अपने महान राष्‍ट्रीय नेताओं और स्‍वतंत्रता सेनानियों को अपनी श्रद्धांजलि देते हैं जिन्‍होंने विदेशी नियंत्रण से भारत को आज़ाद कराने के लिए अनेक बलिदान दिए और अपने जीवन न्‍यौछावर कर दि...
भूली-बिसरी यादें ...
Tag :स्वतंत्रता दिवस
  August 15, 2014, 8:24 am
आज रक्षाबंधन का पावन पवित्र पर्व है। इस पवित्र पर्व के अवसर पर मैं तो अपनी मातृभूमि से बहुत दूर परदेश में हूँ। मेरी अपनी बहने तो नहीं हैं पर यहाँ भी हर वर्ष हमारी धर्म बहने हमें अपनी राखियाँ भेजती हैं। रक्षाबंधन का पर्व पारंपरिक रूप से बहनों व भाइयों के आपसी स्नेह के प्...
भूली-बिसरी यादें ...
Tag :
  August 10, 2014, 8:17 am
जीवन में सफल होना कौन नही चाहता, हम अपने अपने तरीके अपना कर जीवन में सफल होने का प्रयत्न करते रहते हैं।हर व्यक्ति की मूलभूत चाहत होती है कि उसके जीने के मायने हों। वह इतना सक्षम हो कि न केवल अपनी वरन अपने परिजनों-परिचितों की भी आवश्यकताओं एवं इच्छाओं की पूर्ति कर सके। स...
भूली-बिसरी यादें ...
Tag :आत्मविश्वास
  July 12, 2014, 10:24 am
हमारे दुःख का एक कारण यह भी है कि हम दूसरों के सुखों से अपनी तुलना करते रहते है कि उसके पास ज्यादा है,मेरे पास कम है। जो हमें मिला है यदि उसी पर ध्यान हो तो दुखी नहीं होंगे क्योंकि दुःख तो तुलना से आता है,जब अपने से ज्यादा खुशहाल व्यक्ति से तुलना करोगे तो दुःख आएगा और अपने ...
भूली-बिसरी यादें ...
Tag :कहानी
  June 18, 2014, 2:21 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3666) कुल पोस्ट (165905)