Hamarivani.com

My Shayari

भूल  कर  सब मसले पलभरआओ आज अमीर बन जाते हैं।अगर वजह नहीं है कोई भी तो चलो  बेवजह  ही  मुस्कुराते हैं।     ...... मिलाप सिंह भरमौरी...
My Shayari...
Tag :हिन्दी शायरी
  August 10, 2019, 9:53 pm
कश्मीरी पंडित*************गाड़ी की खिड़की से बाहर चमन बड़ी देर से एकटक होकर देखे जा रहा था मानो जैसे वह प्राकृतिक दृश्यों में खो गया हí...
My Shayari...
Tag :
  August 10, 2019, 8:16 am
जब जीवन अपना तंग होता हैतब जाकर मोह भंग होता है।वरना खुशियों के मौसम का तोअपना ही अलग रंग होता है।मिलाप सिंह भरमौरी...
My Shayari...
Tag :
  July 27, 2019, 12:55 pm
जगह- जगह आक्रोश हैफिर भी तू खामोश हैतू सत्ता-सुलभ दिखाऊ हैहाँ-हाँ मीडिया तू बिकाऊ है.......
My Shayari...
Tag :
  July 7, 2019, 6:26 am
यह मजदूर नहीं आते सड़कों परजब तक रोजी - रोटी चलती रहेपर जब छीनने लगे सरकार नौकरीतो खुद ही बताओ यह क्या करें???...
My Shayari...
Tag :
  June 28, 2019, 3:33 pm
तेरे वगैर जिंदगी सूनी सी लग रही थी।बोझिल से पल थे सारे मुश्किल हर घड़ी थी।आने से घर में तेरेफिर से रौनक सी आ गई है।सांसे फ...
My Shayari...
Tag :
  June 21, 2019, 6:16 am
जिनसे मोहब्बत होती हैशिकवे भी उनसे होते हैं।वरना गैरों से दुनिया मेंभला कौन शिकायत करता है।तुमको भी पता है इस दिल की हकीकत।यह दिल तुमसे अब भीकितनी मोहब्बत करता है।....... मिलाप सिंह भरमौरी ...
My Shayari...
Tag :मिलाप की शायरी
  April 15, 2019, 11:17 am
रंग - बिरंगे इस धरती परफूल प्यारे सजते हैं।काले- काले बादल जबपानी बन के बरसते हैं।आँखे मन करते हैं आँसूपर फिर भी ठंडक मिलती है।सच तेरी यादों के  पल मुझकोवो अब भी प्यारे लगते हैं।....... मिलाप सिंह भरमौरी...
My Shayari...
Tag :
  March 30, 2019, 4:31 pm
पल भर ही सही लेकिन वाह! क्या समा बन आया था।दिल के हर कोने में जैसे खुशियों का रंग छाया था।जी करता है कि जिंदगी भर न छूटने दूँ उसको।अपने हाथों से मेरे गालों पर कल तुमने जो रंग लगाया था।..... मिलाप सिंह भरमौरी...
My Shayari...
Tag :holi shyari
  March 22, 2019, 9:58 am
मेहनत तो कर्म है तेराफिर किसलिए परेशान हो।नीरस - सा लगेगा जहानमंजिल अगर आसान हो।कुछ तो सिखा के जाएंगीयह रुकावटें भी राह की।प्रयास एक ओर जारी रहेजब तक जिस्म में जान हो।.......मिलाप सिंह भरमौरी।...
My Shayari...
Tag :
  March 16, 2019, 7:02 pm
बस कमी सी तेरी खलती है।पर शामें अब भी ढलती हैं।तुम होते तो शायद ओर अच्छा होताखैर!  दुनिया तो अब भी चलती है।....... मिलाप सिंह भर...
My Shayari...
Tag :
  October 23, 2018, 2:19 pm
अपने जीवन के इस  विस्तृत मैदान में।अवगुणों के आलंवन से खड़े हो चुके शैतान में।आज सतगुणों के अस्त्र से प्रहार करते हैं।र&...
My Shayari...
Tag :
  October 19, 2018, 10:37 am
चलने से टिकती हैऔर रुकने से गिर जाती है।यह जिंदगी बिना स्टैंड की साईकिल है।बिना स्टैंड की साइकिल🚲🚲🚲🚲🚲🚲🚲चलती है तो ट&...
My Shayari...
Tag :
  October 15, 2018, 8:57 am
मैं जब भी तन्हा होता हूँ।तेरे सुंदर सपने बोता हूँ।कभी उड़ता हूँ उन्मुक्त सा होकरकभी देख हकीकत रोता हूँ।कभी लगती है हर राह आसानकभी ठोकर पे ठोकर खाता हूँ।..... मिलाप सिंह भरमौरी...
My Shayari...
Tag :
  October 8, 2018, 10:17 pm
मेरे मन को हल्का करती हैजब कुदरत रंग बदलती है।तुम भी तो कुदरत का हिस्सा होतू भी इक सुंदर दिल रखती है।तेरा गुस्सा तपता सू...
My Shayari...
Tag :
  October 5, 2018, 5:47 am
कुछ दूर चलते हैंफिर कदम रुक जाते हैंमेरी मजबूरियों में सबख्वाब बिक जाते हैं।वो सामने आते हैं तोमिलते हैं बड़ी हमदर्दी स...
My Shayari...
Tag :
  August 26, 2018, 9:19 am
हम बी. पी. एल. जिसे कहते हैंवो आर्थिक आधार पर आरक्षण है।पर अफसोस की बात यह है किइसमें भी बहुत भ्रष्टाचार के लक्षण हैं।         ....... मिलाप सिंह भरमौरी...
My Shayari...
Tag :
  August 26, 2018, 9:17 am
लम्हा लम्हा है मुश्किलकिस किस से लड़ता है ये दिलइक ओर मोहब्बत के धोखेइक ओर अधर में मुस्तकबिल ।कभी तेरे संग के ख्बाब सजाऊæ...
My Shayari...
Tag :
  August 12, 2018, 3:23 pm
बच के निकलता हूँतेरी गली सेकि फिर तुमसे सामना न हो जाए।बड़ी मुश्किल सेसमेटे हैं दिल के टुकड़ेकि फिर वही मामला न हो जाए।बहुत डरता हूँ तेरीझुकी सी पलकों सेअसर बहुत हैतेरी शोख़ नजरों में।जानलेवा है बहुतयह बेरुखी तेरीदर्द सीने में वो फिरवेवजह न हो जाए।....... मिलाप सिंह भर...
My Shayari...
Tag :
  August 10, 2018, 11:47 am
नदी किनारे शाम कोजब दिन ढ़लता है।सूरज धीरे- धीरेपानी के बीच उतरता है।ताजा हो जाती हैं फिरभीगी सी यादें।एक तूफान सा जैसेआँखों के बीच उमड़ता है।........ मिलाप सिंह भरमौरी...
My Shayari...
Tag :हिन्दी शायरी
  August 9, 2018, 1:29 pm
दूरियां बना देती हैंमीलों की दरमियाँबड़ी बतमीज होती हैंयह गलतफहमियां...
My Shayari...
Tag :
  July 24, 2018, 1:08 pm
बैठी हुई आँखें हैंऔर सूखे हुए गाल।कुछ ठीक नहीं लगता तुम्हारा ये हाल।जहर बन जाएगाजो दिल में छुपा रखा है।तू बाहर बहने दे आंसूगम अपना निकल।....... मिलाप सिंह भरमौरी...
My Shayari...
Tag :
  July 2, 2018, 8:15 pm
...
My Shayari...
Tag :
  April 4, 2018, 9:25 am
अच्छा नहीं है ये काम न करो।बेटी किसी की यारो बदनाम न करो।दफ़न करो बातें मिट्टी डालकर ।ये बेआबरू की बातें तुम आम न करो।....... मिलाप सिंह भरमौरी...
My Shayari...
Tag :milap singh bharmouri
  April 4, 2018, 7:34 am
यहां तु ही नहीं अकेला है कहना ओर भी कई मोड चुके हैं।अपने किए हुए वादे महफ़िल में हजार तोड चुके हैं।सुना है तरक्की बहुत प...
My Shayari...
Tag :
  April 1, 2018, 4:09 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]


Members Login

Email ID:
Password:
        New User? SIGN UP
  Forget Password? Click here!
Share:
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3905) कुल पोस्ट (190776)