Hamarivani.com

Bole to...Bindas....बोले तो....बिंदास

   कई बार किसी के जाने के बाद आपको एहसास होता है कि उससे आप कितने इम्प्रेस थे। उसका जाना आपको विचलित कर देता है। वो झटका ऐसा होता है जो लगता तो धीरे से है, पर उसका असर गहरा होता है। ऐसा ही कुछ हुआ विनोद खन्ना के जाने से। एक हैंडसम सुपरस्टार जो हमेशा हंसता मुस्कुरता दिखत...
Bole to...Bindas....बोले तो....बिंदास...
boletobindas
Tag :HIndi Film Actors
  May 1, 2017, 7:51 am
  आखिर रीगल भी इतिहास हो गया। वही रीगल जो दिल्ली के कनॉट प्लेस में शान से पिछले 85 साल से जमा हुआ था। वही रीगल जिसमें न जाने हम में से कितनों ने अपनी कई शामें गुजारी थी। हम में से कई के माता-पिता या दादा-दादी ने इसमें अपनी गर्ल फ्रैंड या नई नवेली दुल्हन के साथ फिल्म देखी ह...
Bole to...Bindas....बोले तो....बिंदास...
boletobindas
Tag :connaught place
  April 15, 2017, 4:34 am
हिंदी साहित्य ने कभी भी जासूसी उपन्यासों को जीवन का हिस्सा नहीं माना। संस्कृत साहित्य में जासूसी उपन्यासों का जिक्र नहीं के बराबर मिलता है। जिन किताबों में दांवपेंचों का जिक्र रहा, उनमें भी बड़े राजाओं की जिंदगी, कर्तव्य, समाज के आदर्श और नीति शास्त्रों की प्रधानता ...
Bole to...Bindas....बोले तो....बिंदास...
boletobindas
Tag :हिंदी लेखक hindi
  April 2, 2017, 7:11 pm
   ये सच है कि आज भी जासूसी किताबों की गिनती हिंदी साहित्य में नहीं होती। हिंदी जगत जासूसी को विधा ही मानने से इनकार करता रहा। इसकी कसक जासूसी उपन्यासकारों को हमेशा रही। समय-समय पर वो अपने उपन्यासों के लेखकीय में अपनी आवाज भी उठाते रहे। बावजूद इसके की जासूसी उपन्यास...
Bole to...Bindas....बोले तो....बिंदास...
boletobindas
Tag :Hindi Writer
  March 16, 2017, 12:55 am
62 की उम्र जाने की नही होती, फिर भी वेद प्रकाश शर्मा  ने अलविदा कह दिया। वही वेद प्रकाश शर्मा जिनको गुजरे जमाने के ‘लुगदी साहित्य’ का सफलतम उपन्यासकार माना जाता था। दस-पंद्रह साल पहले तक साधारण और सस्ते कागज पर छपने के कारण जासूसी उपन्यासों को 'लुगदी साहित्य'कहा जाता थ...
Bole to...Bindas....बोले तो....बिंदास...
boletobindas
Tag :Hindi Writer
  February 22, 2017, 12:39 am
    जिंदगी का एक साल और विदा हो गया। हमने 2016 को अलविदा कह दिया। 2017 ढाई घंटे का हो गया। घंटे, मिनट उसके आगे सेकेंड में समय बीतता चला जा रहा है। घड़ी की सूइंया एक तरफ बीतते पल का अहसास करा रही हैं, तो एक तरफ आगे का रास्ता तय करने की तैयारी को कह रहा है। जो रास्ता गुजर गया, वो व...
Bole to...Bindas....बोले तो....बिंदास...
boletobindas
Tag :HAPPY NEW YEAR
  January 1, 2017, 5:23 am
आखिरकार मनमोहन सिंह जी भी बोल ही पड़े। कई दिन बाद संसद को ठप करने और शोर शराबा मचाने वाले सांसदों को किनारे कर, कांग्रेस को पूर्व पीएम मनमोहन सिंह को आगे करना ही पड़ा। मोर्चे पर तैनाती के बाद मनमोहन सिंह को बोलना पड़ा, और जब वो बोले तो लोगो को सुनना पड़ा। मनमोहन सिंह ने क...
Bole to...Bindas....बोले तो....बिंदास...
boletobindas
Tag :current affair
  November 28, 2016, 11:07 pm
    लगता है कि आखिरकार पप्पा ने बेटे को सीख के साथ सियासत सौंप दी है। कुछ मनमुटाव और नाराजगी के साथ बेटे की ख़ता माफ कर दी। तमाशा तब शुरू हुआ था जब चचा पप्पा बनने के चक्कर में भतीजे से भिड़ गए। जनता के बीच संदेश गया कि देर-सबरे परिवार बंटने वाला है। जब घर में बर्तन-भांड...
Bole to...Bindas....बोले तो....बिंदास...
boletobindas
Tag :Just Politics
  October 26, 2016, 12:55 am
देवानंद साहब जब तक जिए, तब तक जिंदादिल रहे। स्टार का रूतबा उनसे कभी नहीं छिना। मरते दम तक वो स्टार हीरो ही रहे। अमूमन दुनिया को इसकी कोई परवाह नहीं होती कि उनके जाने के बाद दुनिया का क्या होता है। लेकिन देवसाहब उन लोगो में थे, जो चाहते थे कि वो हमेशा अपने चाहने वालों की नज...
Bole to...Bindas....बोले तो....बिंदास...
boletobindas
Tag :Bollywood Legands
  September 27, 2016, 12:57 am
   29 अगस्त को दद्दा ध्यानचंद का जन्मदिन था। सुनने में आया है कि खेल मंत्रालय भारत रत्न के लिए दद्दा के नाम की सिफारिश करेगा। इस खबर को सुनकर एक कहावत याद आ गई ‘देर आयद, दुरूस्त आयद’, लेकिन इस फैसले पर ये कहावत चरितार्थ नहीं होती। उल्टा इस मसले पर, जिसपर सालों से सिर्फ चर...
Bole to...Bindas....बोले तो....बिंदास...
boletobindas
Tag :Dhyanchand
  August 31, 2016, 2:33 pm
    कई बार जीवन में आसपास की घटनाओं पर इतना शोरगुल मचता है कि कुछ कहना-सुनना बेकार होता है। इन हालात में इंसान की समझ में नहीं आता की वो बोले या चुप रहे। कई बार बंदा बातें तो बहुत करता है, पर जो कहना होता है, वो कह नहीं पाता। असली बात इधर-उधर हो जाती है। कई बार तो बात का उल्ट...
Bole to...Bindas....बोले तो....बिंदास...
boletobindas
Tag :blogger
  August 12, 2016, 12:55 am
हिंदी का असली ज्ञान लेना है तो कालजयी कवियों को पढ़ें। वो तो निराला थे, जिन्होंने कविता को व्याकरण के कड़े नियमों से आज़ाद कर दिया। उसके बाद भी शब्दों को ऐसे जोड़ा कि कविता व्याकरण मुक्त होकर भी बलखाती नदियों की तरह बहती रही। निराला के बाद कई बड़े कवि हुए, जिन्होंने छंद...
Bole to...Bindas....बोले तो....बिंदास...
boletobindas
Tag :Hindi Writer
  July 9, 2016, 12:47 am
    आजकल घर में बिना पढ़ी 60 किताबों को ढेर लगा हुआ है। इसी तरह कई जगह घूमने कि लिस्ट लंबी होती जा रही है। मेरे लिए किताबें, लिखना और घूमना सबसे बड़ी खुशी है। (चौथी ख़ुशी नसीब ही नहीं हुई..हीही 😊😊) ऐसा नहीं है कि इसके लिए समय नहीं मिल रहा हो। दरअसल पढ़ना, लिखना और घूमना तीनों ...
Bole to...Bindas....बोले तो....बिंदास...
boletobindas
Tag :
  June 18, 2016, 9:02 pm
courtsey-twitter.com/preeti_simoes से साभारदुनिया में कई  कलाकार होते हैं, जो बड़े सितारे नहीं होते। कई कलाकार फिल्मों में छोटे-मोटे रोल करके चुपचाप दुनिया छोड़ देते हैं। कई कलाकार ऐसे होते हैं, जो कई छोटे-बड़े रोल करके भी अनजान रह जाते हैं। लेकिन कहते हैं कि कलाकार वो होता है जो छोटे रोल म...
Bole to...Bindas....बोले तो....बिंदास...
boletobindas
Tag :HIndi Film Actors
  June 3, 2016, 6:25 pm
      अक्सर ऐसा होता है कि कुछ नाम आपको अनजाने में आकर्षित करते हैं। खासकर वो नाम जो बचपन से सुने हों। जरुरी नहीं कि ये नाम किसी मित्र, रिश्तेदार या दिलरूबा का ही हो। पलाश और अमलताश मेरे लिए ऐसे ही नाम रहे। पेड़ों के नाम हैं ये, पर कैसे, कब और क्यों इन नामों से प्यार हुआ, ...
Bole to...Bindas....बोले तो....बिंदास...
boletobindas
Tag :पलाश
  May 16, 2016, 12:48 am
      दुनिया में कई देशों में लड़कियों से छेड़छाड़ होती है। कई इसे नजरअंदाज कर देती हैं, तो कई बार छेड़खानी करने वाले सरेआम पीटते हैं। मनचले जब भीड़ के हाथ चढ़ते हैं तो भीड़ हाथ के हाथ न्याय कर देती है। कई बार लड़कियां भी मनचले की जूतियों से आरती उतार देती हैं। सरेआम ऐ...
Bole to...Bindas....बोले तो....बिंदास...
boletobindas
Tag :current affair
  April 20, 2016, 7:36 am
बरामद हुई चड्डियों और जुराबों संग चोर    बिल्ली मौसी जो न करे कमाल है..बचपन से देखते आए थे कि बिल्ली मौसी चोरी से सारा दूध पी जाती है। सुनते थे कि बिल्ली नहीं पालनी चाहिए, क्योंकि वो हमेशा सोचती है कि उसका मालिक दुनिया से निकल ले, और वो घर का सारा दूध मक्खन चट कर जाए। जान...
Bole to...Bindas....बोले तो....बिंदास...
boletobindas
Tag :ऐसा भी होता है
  April 9, 2016, 12:41 am
बालिका वधु की 'आनंदी''का किरदार रही प्रत्यूषा बनर्जी की आत्महत्या ने फिर से ग्लैमर की दुनिया के स्याह पक्ष को चर्चा में ला दिया है। हालांकि इस तरह की चर्चा ग्लैमर वर्ल्ड को बेकार में घेरे में ले लेती है।न ही ग्लेमर वर्ल्ड में, न ही देश में आत्महत्या का सिलसिला नया है, न ह...
Bole to...Bindas....बोले तो....बिंदास...
boletobindas
Tag :It's Life
  April 6, 2016, 12:48 am
कल मेट्रो में बैठे बैठे , कुछ लाइनें दिमाग में घूमने लगीं...जाने क्या बात थी, या बिन बात के, यूं ही...कई शब्द लाइन बनाकर दिमाग में आवारागर्दी करने लगे...ये आवारा इतना घूमे कि मजबूरन मुझे इनको बिना देर किए कागज पर उतारना पड़ा.....तो पेश है खिदमत में, आपके, वो आवारा बिन शक्लो सूरत क...
Bole to...Bindas....बोले तो....बिंदास...
boletobindas
Tag :Kavita...कविता
  April 1, 2016, 12:58 pm
  होली है....भांग है....पिचकारी है..रंग है..गुलाल है....अबीर है....पानी कि बौछार है....तो झूमना बनता है....खुश रहना बनता है।आदमी चार हों, 40 हों...कि फर्क पैंदा ए....इंसान नूं बस मस्त मलंग होना चाहिदा....कम से कम त्योहार के दिन तो जरूर...आखिर इसिलए भी त्योहार की परंपरा रखी गई है। रोज की चि...
Bole to...Bindas....बोले तो....बिंदास...
boletobindas
Tag :Holi
  March 26, 2016, 1:41 am
     ट्विटर बाबा की जय हो..कल ट्विटर बाबा पूरे दस साल के हो गए। आप सोच रहे होंगे कि दस साल के ट्विटर को बाबा क्यों कह रहा हूं। तो आपको याद दिला दूं कि बड़े संतों और बुजुर्गों के अलावा बच्चों को भी बाबा कहा जाता है। जैसे हमारी फिल्मी नगरिया के संजू बाबा। तो ट्विटर बाबा का...
Bole to...Bindas....बोले तो....बिंदास...
boletobindas
Tag :Happy Birthday
  March 22, 2016, 10:23 pm
 तुर्की के तट पर औंधे मुंह समुद्र तट पर चिरनिद्रा में लीन सीरियाई बालक को देखकर, अपने थकेहारे दिन को समेटकर जब बिस्तर के हवाले होने लगा, तो ये लाइनें कलम से निकल कर कागज पर आ गईं....मासूम मौत को देखने के बाद भी खून पीने वाले पिशाचों के समर्थकों की कमी न देश में है, ना गी विद...
Bole to...Bindas....बोले तो....बिंदास...
boletobindas
Tag :Ye Life hai..I
  March 2, 2016, 11:54 pm
लो अब कल का कॉमरेड मुसलमान हो गया। कल तक देश के टुकड़े टुकड़े करने का नारा लगाने वाला, अब बिना सरहदों की दुनिया का हिमायती हो गया है। कमाल का ज्ञान प्राप्त हो गया है, गद्दार को शहीद बताने वाले को, फरारी के दौरान।  उसे ज्ञान प्राप्त हो गया है कि वो मुसलमान है, इसलिए निशाने ...
Bole to...Bindas....बोले तो....बिंदास...
boletobindas
Tag :Dirty Politics
  February 22, 2016, 11:49 am
आतंकवादी अफजल गुरू का महिमामंडन...पाकिस्तान ज़िंदाबाद के नारे...कथित आज़ादी लेने के नारे...ये नजारा पाकिस्तान की सरजमीं  का नहीं है। गला फाड़-फाड़ कर गद्दार अफजल गुरू और दुश्मन मुल्क पाकिस्तान की जयजयकार हिंदुस्तान में हो रही है। वो भी किसी दूरदराज के इलाके में नहीं......
Bole to...Bindas....बोले तो....बिंदास...
boletobindas
Tag :BJP
  February 13, 2016, 12:51 am
    आज पिताजी को गए पांच साल हो गए....जीवन चल रहा है....मगर उसमें उत्साह की भारी कमी हो गई है। लोगो की गाड़ी आगे चलती है, अपनी पीछे की तरफ चलते-चलते रूक गई है। दरअसल पीछे जाने की जगह बची नहीं है, और पीछे होते-होते आगे की राह मिटती चली गई है। इसलिए अब फिलहाल गाड़ी अटक सी गई है। इन...
Bole to...Bindas....बोले तो....बिंदास...
boletobindas
Tag :पिता
  February 2, 2016, 12:19 am
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3666) कुल पोस्ट (165974)