Deprecated: mysql_connect(): The mysql extension is deprecated and will be removed in the future: use mysqli or PDO instead in /home/hamariva/public_html/config/conn.php on line 13
khamoshi ke khilaf : View Blog Posts
Hamarivani.com

khamoshi ke khilaf

एक भयभीत नागरिक की भय भरी श्रृद्धांजली उसके लिए जिसके मरने के बाद भी लोग उससे डरते हैं. डरो ! थर थर कांपो, कि वो चला तो गया है,पर छोड़ गया है दबंगई और गुंडई की विरासत !डर ही जन्मेगा तुम्हारे भीतर श्रृद्धा के फूल,डर ही सनातन सत्य‍ है मुंबा देवी की नगरी का, क्या फर्क पड़ता है ...
khamoshi ke khilaf...
Tag :कविताएं
  November 20, 2012, 11:14 pm
मैंने कभी समंदर नहीं देखा था. बचपन से समंदर को महसूस करने की तलब थी जो आज देश के पूर्वी तट पर जगन्‍नाथ पुरी में जाकर पूरी हुई. समंदर से अपने प्रथम मिलन की अभिलाषा में मैं रात भर ठीक से सो भी न सका. समंदर पर खिलते सूर्योदय को देखने से न रह जाऊं...इस डर से रात में दो बार जाग कर घड...
khamoshi ke khilaf...
Tag :यात्रा वृतांत
  November 3, 2012, 10:50 pm
फ़र्ज कीजिए आप ट्रेन या बस में अकेले ही कोई लंबी यात्रा पर हैं और वक्‍़त काटने के लिए कुछ पढ़ना चाहते हैं तो अब तक हिन्‍दी के पाठकों के लिए केवल दो विकल्‍प मौजूद थे । या तो आपको हिन्‍दी के प्रख्‍यात साहित्‍यकारों की कालजयी कृतियां पढ़नी पडती थीं या फिर सड़क छाप साहित्‍...
khamoshi ke khilaf...
Tag :बातें किताबों की
  October 12, 2012, 10:57 am
आज तो गज़ब हो गया. मेरा दोस्‍त, मेरा अपना चाय का कप जो आफिस में दो दिन पहले खो गया था......आज वापस मिल गया. कसम से ऐसा लग रहा है कि कोई बिछड़ा हुआ बरसों बाद मिल गया हो. पिछले कुछ रोज में अपने चाय के कप से मेरी गहरी दोस्‍ती हो गई थी . दरअसल कप एक अजीज दोस्‍त ने सिकिम्‍म या दार्जिलिं...
khamoshi ke khilaf...
Tag :कुछ यूं ही
  October 4, 2012, 2:28 pm
ओसियान एक बार फिर दिल्‍ली की जमीन पर लौटा है और सिरी फोर्ट ऑडिटो‍रियम एक बार फिर गुलजार है देश दुनिया की नायाब फिल्‍मों से. फिल्‍मों का समंदर सिरी फोर्ट में लहरा रहा है और फिल्‍मों के दीवाने इसमें डूब डूब कर मोती चुन रहे हैं. लगभग 50 देशों की 200 से अधिक फिल्‍मों के साथ 12 वां ...
khamoshi ke khilaf...
Tag :फिल्‍म समारोह
  July 30, 2012, 2:25 pm
इस होली पर मैं कुछ ऐसे रंग लाया हूंचढ़ें जो मन पर, महकें तन पर संग लाया हूं।रंग है अहसास का, आस का, विश्‍वास कारंग सबके मन में खिलने वाले इस मधुमास का,कष्‍ट में भी मुस्‍कुराकर आगे ही बढ़ते रहेंरंग ऐसे हर्ष का, उत्‍साह का, उल्‍लास का । रंग शक्ति के, आसक्ति के और प्रेम की अभिव...
khamoshi ke khilaf...
Tag :कविताएं
  March 8, 2012, 1:47 pm
‘आम जनता’- सौरभ आर्यआम जनता नित्‍य पिसती, ज्‍यों मसाले पिस रहे होंचंद टुकडों के सहारे, जिंदगी को घिस रहे हों,भूख के आधार पर प्रगति की कैसी कथा हैवंचितों के स्‍वर से फूटी, कष्‍ट की अद्भुत व्‍यथा है। राष्‍ट्र प्रगति कर रहा है, कहना तो आसान हैपर फांसियों पर झूलता क्‍यों, इस ...
khamoshi ke khilaf...
Tag :कविताएं
  September 20, 2011, 5:57 pm
        ब्रिटेन का एक अख़बार ‘न्‍यूज ऑफ द वर्ल्‍ड’जो 168वर्ष पूर्व शुरू हुआ और कई पीढि़यों का संगी-साथी बना अंतत: चंद रोज पहले बंद कर दिया गया। अपने अंतिम अंक ‘थैंक यू एण्‍ड गुड बाय’के साथ 27 लाख की प्रसार संख्‍या और न्‍यूज कार्पोरेशन की दुधारू गाय ‘न्‍यूज ऑफ द वर्ल्‍ड’का अ...
khamoshi ke khilaf...
Tag :आलेख
  July 13, 2011, 4:54 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3710) कुल पोस्ट (171503)