Hamarivani.com

छाँव

ऐ मानव तू एक मानव है, जो मानव हो एक बलशालीनहीं डरेगा नहीं झुकेगा, जो आये कोई विपदा भारीचलाना तूने सीख लिया है, अब कब तक बाँट संजोयेगाउंगली की इक आस में अब तू, क्या अपना भविष्य भी खोएगापग-पग पर घने अँधेरे हैं, सब जाती-धर्म के फेरे हैंबिक गया ये देश हमारा है, कौन कहेगा अंग्रे...
छाँव...
Tag :
  November 10, 2012, 11:29 pm
मैंने सोंचे थे, कदमों के निशान छोड़ जाने कोबस यादें ही नहीं, हर एक मक़ाम छोड़ जाने को भींगी रेत पे रास्ता, इक ऐसा बनाऊंगा बीती पीढ़ी को, इक एहसास ऐसा कराऊंगाजिस रास्ते से, मंजिल तेरे अपनों ने पाई हैवो मैंने ही, भींगी रेत पे खुद से बनाई  हैनिराशाओं को आशाओं में, कुछ यूँ बदल ...
छाँव...
Tag :
  November 5, 2012, 7:53 am
इक अजीब पहेली बन बैठी है ये जिंदगीचाहत क्याकिस्मत कि कश्ती बन बैठी है ये जिंदगीजहाँ मुसाफिर को हवाओं के रुख की इक आस हैक्या पताकहीं ये मेरा ही झूठा एहसास है  सोंचता हूँक्या ऊपर वाले ने सोंच रखा कुछ खास हैया दिलासों के संकलन में, ये मेरा इक प्रयास है ...
छाँव...
Tag :
  November 4, 2012, 10:04 pm
तू जिन्दा है, तो जिन्दगी की जीत में यकीन कर  अगर कहीं है स्वर्ग तो, उतर ला जमीन पर ये गम के और चार दिन, सितम के और चार दिन ये दिन भी जायेंगे गुजर, गुजर गए हजार दिन कभी तो होगी, इस चमन पे भी बहार की नजर अगर कहीं है स्वर्ग तो, उतर ला जमीन पर  तू जिन्दा है, तो जिन्दगी की जीत में यकी...
छाँव...
Tag :
  August 29, 2012, 7:01 pm
लहरों से डर कर नौका पार नहीं होती,कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।नन्हीं चींटी जब दाना लेकर चलती है,चढ़ती दीवारों पर, सौ बार फिसलती है।मन का विश्वास रगों में साहस भरता है,चढ़कर गिरना, गिरकर चढ़ना न अखरता है।आख़िर उसकी मेहनत बेकार नहीं होती,कोशिश करने वालों की कभी ...
छाँव...
Tag :
  May 19, 2012, 9:02 am
कभी उफनती हुई नदी हो, कभी नदी का उतार हो माँरहो किसी भी दिशा-दिशा में, तुम अपने बच्चों का प्यार हो माँनरम-सी बाँहों में खुद झुलाया, सुना के लोरी हमें सुलायाजो नींद भर कर कभी न सोई, जनम-जनम की जगार हो माँभले ही दुख को छुपाओ हमसे, मगर हमें तो पता है सब कुछकभी थकन हो, कभी दुखन हो, ...
छाँव...
Tag :
  May 13, 2012, 8:11 am
नर हो, न निराश करो मन को कुछ काम करो कुछ काम करोजग में रह के निज काम करो ।यह जन्म हुआ किस अर्थ अहो समझो जिसमें, यह व्यर्थ न हो ।कुछ तो उपयुक्त करो तन कोनर हो, न निराश करो मन को ।। संभलो कि सुयोग न जाए चला कब व्यर्थ हुआ सदुपाय भला समझो जग को न निरा सपना पथ आप, प्रशस्त करो अपना ...
छाँव...
Tag :
  April 8, 2012, 12:21 am
आज कुछ कमी सी है ..... तुम बिन !!!ना रंग, ना रौशनी ही है ..... तुम बिन !!! वक्त अपनी रफ़्तार से चल रहा है ..... बस, एक धड़कन सिर्फ थमी सी है ..... तुम बिन !!!ना बारिश है, ना धुआं ही .....  फिर भी दिल में तपीश सी है ..... तुम बिन !!!बहुत रोका है मैंने बदल को, बरसने से .....  फिर भी, आँखों में नमी सी है ..... तुम...
छाँव...
Tag :
  December 9, 2011, 11:20 pm
एक अदनी सी सोंच, एक ऐसी कहानी जिस दिल को छू ले, उसे कर दे पानीयूँ तो, तुम हमसे-हम तुमसे जुड़े हुए हैं ऐसे बस दिल के दरख्तों के पत्ते सूखे हुए हों जैसे इतनी बोझिल हैं सांसें, चंद धड़कनों में ऐसे कि, दम घुटता है मेरा अब; जियूं मैं कैसे क्यों इतना बोझ हम सीने में समाये बैठे है...
छाँव...
Tag :
  November 27, 2011, 11:29 pm
क्यों रिश्ते इतने अजनबी हो जाते हैं?कभी जिनपे, खुद से ज्यादा भरोसा था..वो ही, सबसे पहले बेगाने हो जाते हैं क्यों रिश्ते इतने अजनबी हो जाते हैं? हमारी एक मुस्कान पे जान लुटाने वालेक्यों इतने अजीब हो जाते हैं...............?हाय, ये रिश्ते ही तो हैं; जो बड़े अजनबी हो जाते हैं कभी हँस-...
छाँव...
Tag :
  November 27, 2011, 4:29 am
है, कौन-सी कश्ती और दरिया हमारा जो कभी साथ दे-दे, वो जरिया हमारा आज फिर मौज ली है अंगड़ाई दुबारानहीं, मैं नहीं हूँ वो पथिक बेचारा बंद आँखों ने देखें हैं सपने दुबारा मैं वही छोटा लड़का हूँ, जो सबका था प्यारा वो गेंदे का मौसम, वो ठंढी हवाएं बहुत याद आतीं हैं वो पतली राहेंवो ...
छाँव...
Tag :
  November 24, 2011, 8:44 pm
आज दुल्हन के लाल जोड़े में,उसकी सहेलियों ने उसे इतना सजाया  होगा …उसके गोरे हाथों पर, सखियों ने मेहँदी लगाया होगा …क्या खूब.... चढ़ेगा रंग, मेहँदी का;उस मेहँदी में उसने मेरा नाम छुपाया होगा … रह-रह कर रो पड़ेगी, जब भी ख्याल मेरा आया होगा … खुद को देखा होगा, जब आईने में,तो, अ...
छाँव...
Tag :
  October 11, 2011, 6:58 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3676) कुल पोस्ट (166940)