Hamarivani.com

काश...

वो तेरी खुमारी का ही था असर जोताउम्र रहावरना मयखानो से तो कई बार गुज़रा हूं मैपहली बार इतने भीतर तक उतरी हैवरना तस्वीरे तो कई और भी देखी हमनेवो तेरे चेहरे का ही नूर था जो हमे रोशन कर गयावरना चांद रातें तो कई बार देखी हमनेइतने भीतर तक उतरने की साजिश थी तुम्हारीवरना सिर्फ...
काश......
Tag :
  October 16, 2017, 5:13 pm
वो जो मेरे हिस्से का आसमां तुमने चुरा लिया थाउसे कुछ वक्त के लिये वापस चाहता हूं मैबहुत दिनो से चांद देखने की मेरी ख्वाहिश अधूरी हैकुछ हसरते बाकी रह जाये जीने मेंतो मज़ा और ही हैये क्या कि दीदार-ए-यार के मरीज़ बन गयेकभी वादा करके जो वो ना आये तोउसका  इंतज़ार तो कुछऔर ह...
काश......
Tag :
  October 16, 2017, 4:54 pm
बहुत रश्क होता हैहमे उनके झुमके सेकमबख्त घंटे मेंहज़ार दफेउनके गालो को छू जाता हैतुम्हारी आँखो मे बार बारडूबकर मरना चाहते हैबस यही खता  बार बारकरने को जी चाहता है...
काश......
Tag :
  October 16, 2017, 4:38 pm
जानते है लाइलाज है पर क्या करेतुम्हारे सिर पर ये इल्ज़ाम भी तो अच्छा नही लगताइसीलिये दवा के बहाने ही सहीदर्द को हम घूंट घूंट पिये जा रहे हैमुलाकात से पहले ही मालुम थाये इल्ज़ाम लगने वाला हैइसीलिये यारो ये  गुनाह हमखुद-ब-खुद कर बैठे...
काश......
Tag :
  October 16, 2017, 4:33 pm
क़ीमत का सही अंदाज़ा लगाना हो तोकभी बेमौसम होकर देखनासर्दी मे आम बहुत महँगेबिका करते हैबहार जब हर दम रहे तोबेदम हो जाती हैये मौसमों का सिलसिलाकिसी ने यूँ ही नही बनाया है...
काश......
Tag :
  October 16, 2017, 4:31 pm
वो तो बस बेइरादा निकले थे घर सेना जाने क्यों कई क़त्लों का इल्ज़ाम उनके सिर आ गयाना जाने कितनों को बेमौत मार डालाआज वो बेमौके छत पे जो आ गयेकुछ इस क़दर मैंने चाहा है उनकोमानो कोई पुराना क़र्ज़ चुकाने की कोशिश की हैहिसाब बराबर करने का इरादा नही है मेराये क़र्ज़ तो बार बा...
काश......
Tag :
  October 16, 2017, 4:18 pm
मै ना होता मैउनका आइना ही हो जातासँवरने के बहाने सहीउन्हें मेरी याद तो आतीकुछ शामें उधार हैइस शहर कीवो चुकाने आया हूँमै तेरे शहर मेइसी बहाने आया हूँ...
काश......
Tag :
  October 16, 2017, 4:15 pm
वो तेरा ख्याल ही है जो खूबसूरती ले आता हैवरना बाज़ारो मे लाली तो कब से बिका करती हैये कमबख़्त अल्फाज़ अक्सर बिगाड़ देते हैखूबसूरती जज़्बात कीकलम को दिल से यूं मुकाबिल ना करकलम से एहसासो को यूं बयां ना करये शौक तो आँखो के हिस्से आने दे...
काश......
Tag :
  October 16, 2017, 4:14 pm
वो तेरे चेहरे का ही नूर थाजो हमें रोशन कर गयावरना चाँद रातें तो कई बार देखी हमनेइतने भीतर तक उतरने की साज़िश थी तुम्हारीवरना सिर्फ मुलाक़ात के बहानेकोई इस क़दर नही मिलता...
काश......
Tag :
  October 16, 2017, 4:12 pm
उस धागे मे अब भी बाकी हैतुम्हारे लबो की थोडी सी नमीमेरी शर्ट में बटन टांकते वक्त जिसेझटके से खींच दिया था तुमनेजब भी याद आती है उसपे नज़रचली जाती हैनिशानिया छोड़ने की आदत तोहमेशा से रही है तुम्हारी...
काश......
Tag :
  October 16, 2017, 4:10 pm
जिस अखबार पर जलेबी रख केखिलाई थी तुमनेवो टुकड़ा अब भी तुम्हारीउंगलियो की चाशनी से भीगा पड़ा हैना रद्दी मे बेच सकते है उसेना उमर भर वो हमसे संभाला जायेगा...
काश......
Tag :
  October 16, 2017, 4:07 pm
...
काश......
Tag :
  July 2, 2015, 10:18 am
...
काश......
Tag :
  July 2, 2015, 10:17 am
जिया ने जिस गम को जियाजिस दुख ने बुझा दियाउसकी जिंन्दगी का दियासच तो ये है कि उस गम कोअकेली जिया ही नहीकई और लोगोने भी जियाजरूरत से ज्यादा औरउम्मीद से चार गुनापाने की ख्वाहिश मेंजो भी जियाउसने कुछ ऐसा हीकड़वा घूँट पियामेले के बीचजो भी खुद को अकेला समझकर जियाउनने बाद म...
काश......
Tag :
  June 7, 2013, 7:45 pm
मेरी बिल्डिंगके फ्लैट्सकी खाली पड़ीखिड़कियों को देखकरबार बार ये ख्यालआता है कि एक दो हरे पेड़-पौधेका गमला रखने मेंइनके बाप का क्याजाता हैमैं तो करता हूअपनी खिड़की मेंरखे पौधौ से अक्सरयही बातेंकि कर के बहाना कम जगह काबड़े शहर वालो नेतोड़ ही लिये हैहरियाली से अपने ...
काश......
Tag :
  November 1, 2012, 3:36 pm
आजादी के 65 साल बाददूर हुआ कन्फ्यूज़नकि  भारत सरकार का गृहमंत्रालयमहात्मा गांधी को राष्ट्र पिता नही मानतातो फिर पहला सवाल किवित्त मंत्रालय हर सालहरे लाल नोटो पर उनकी फोटो क्यों है छापतागर नहीं है महात्मा गांधी इस देश के राष्ट्रपितातो फिर कौन है इस देशका राष्ट्रपि...
काश......
Tag :
  October 26, 2012, 3:55 pm
लो आ गयाएक और घोटालाइस बार तो किसी न्यूज़ चैनलके संपादक ने ही अपना मुंहकाला कर डालासंपादक जी ने खेल खेलाबोले कोयले केघोटाले की खबरेहम अपने चैनल पर नहीं चलायेगेअगर आप हमारेबैंक खाते मे100 करोड़ डलवायेगेमन्त्री जी को मौकाअच्छा लगासोचाअभी तो रहा है ये दहाड.क्या करेगा ज...
काश......
Tag :
  October 25, 2012, 4:04 pm
गर चाहते हो कि चलती रहेजिन्दगी की साइकलतो चलाते रहो दिन मे एक बार साइकलरोज सुबह अपनी साइकलपर आस पास घूमने जानाज़रूरी है पैट्रोल की बढतीकीमतों को ठेंगा दिखानाबढतें प्रदूषण पर जरूरी हैरोक लगानामेरे भाई साइकल ज़रूर चलानाअपनी सेहत को गरतुम्हे अच्छा है बनाना तो साइकि...
काश......
Tag :
  October 25, 2012, 3:23 pm
वो जीत की बात करता हैवो ५ साल सबको लूट करचुनाव जीतने की बात करता हैवो किसान से ज़मीन छीनकरअपना झंडा फहराने की बात करता हैवो गरीब से उसका हक छीनकरजीत की बात करता हैवो विधवाओ (आदर्श घोटाला) सेउनका आसरा छीनकरअपने महल की बात करता हैवो सैकड़ो करोड़ डकार करआपके लिये २८ रूपये ...
काश......
Tag :
  October 24, 2012, 11:32 am
दशहरे के दिन रावण को जलाकरबुराई के खत्म होने की गलतफहमीई एम आई पर घर खरीदकरउसके अपना होने की गलतफहमीकिसी के मुस्कुरा कर मिलने परउसके खुश होने की गलतफहमीएक दिन बदलेगा देशबदलेगी दुनियाइस बात की गलतफहमीवो देश को करा गये आज़ादक्योकि उनको भी थी गलतफहमीउन्हे पता ना थाकि ...
काश......
Tag :
  October 24, 2012, 10:02 am
आफिस मे मुझे देर तकबैठे देख किसी ने पूछाकब तक होतो जवाब निकलापता नहीपूछने वाला तो ये सुनकरचला गयालेकिन मेरा ये जवाबमेरे लिये ही एक सवाल छोड़ गयाकि वाकई कब तक हू मै ये कैसे कहू मैंक्योकि इसका मेरे पासनही है कोई जवाबहर रोज सुबह उठकरसोचना कि कैसा होगा मेराये नया आज और दि...
काश......
Tag :
  June 15, 2012, 3:32 pm
सिमट गई है मेरी दुनियापहले के टेलीफोन से अब के सैलफोन तकतब के टाइपराइटर से अब के लैपटॉप तकमिट गई है दूरियापहले के चरण स्पर्श से अब के आर्कुट स्क्रैप तकपहले की चिठ्ठी से अब के एसएमएस तकबदल गई है मेरी दुनियागोली वाले सोडे से डाइटकोक तकखुली हवा में अखाड़े की कसरत से एयरक...
काश......
Tag :
  September 22, 2008, 11:29 pm
हे सृजनकर्ताहे पालक पोषककरते भरण तुम सबकापाकर तुम्हारीकरूण दृष्टिधूप भी लगती है छायाहे प्रभु अदभुत हैतेरी मायाहोने को तोहो अदृश्य तुमपर मन की दृष्टि सेदृष्टि हीनो के समक्ष भीहोते प्रकट तुमहे माया केपूज्यदेवतुम हो सबके आदरणीयहे सृजनकर्ताइस सृष्टि केतुम दृष्टिह...
काश......
Tag :
  March 6, 2008, 11:19 pm
पल भर को ही सहीजुगनू ने तोड़ा तोरात का अहम...
काश......
Tag :
  March 2, 2008, 8:28 pm
दूरी दूरी सब कहते हैमन से दूर कहे तो जानू...
काश......
Tag :
  March 2, 2008, 3:29 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3693) कुल पोस्ट (169554)