Hamarivani.com

खामोशियाँ...!!!

रानीसार, बीकानेर से करीब सौ किलोमीटर पश्चिम की तरफ पाकिस्तान सीमा पर बसा एक छोटा सा गाँव। जहां गर्मी मे तापमान करीब 45 डिग्री रहता तो ठंड मे दुबुक कर 5 डिग्री तक चला जाता। सीमा पर होने की वजह से यह क्षेत्र कुछ ज्यादा ही संवेदनशील था।अनिल अग्रवाल अपने छोटे से परिवार के साथ...
खामोशियाँ...!!!...
Tag :
  December 29, 2016, 11:17 am
Memories laden wind usually prevails when my feet cross the old bridge.An aromatic bliss hover throughout the region. Something want to nudge my soul. Do braided tighten with colourful ribbons. A sweet charming smiles scattering few yellowish flavours to sunflower, the envy of her.Hands Full of Cherished Balloon getting higher with the lovedrogen gas filled up.Something unnatural occurs when i cross the old bridge.- Misra Raahul...
खामोशियाँ...!!!...
Tag :
  November 14, 2016, 11:56 am
पकड़ कर तलवार तू चल कभी ए यार,जीनीे है तंग गलियां कोई दोष न दे बार।गर फलसफा होगा यही भंग करना है तुझे,हाँ मोड़ दे तू अब लकीरें दोष न दे यार।ज़िन्दगी हैं जब चलेगी चलती ही जाएगी,खेंच कर दे पतवार कोई दोष न दे यार।जिल्लतों की पर्ची फाड़ कर दे फेक तू,सामने बैठा मुक़द्दर है अब दोष न दे ...
खामोशियाँ...!!!...
Tag :
  November 14, 2016, 11:55 am
इश्क़ के बुखारमिलता कहाँ है इतवार,कोई आये लेता जाएयादों के थर्मामीटर* की रीडिंग*।*thermometer*reading- राहुल...
खामोशियाँ...!!!...
Tag :
  November 14, 2016, 11:55 am
अंजू नें बालों की क्लिप उतार कर उन्हें हवाओं में तैरने के लिए छोड़ दिया। इधर सुनील की पल्सर हवाओं से बातें कर रही थी वही बातें अंजू की जुल्फें सुलझाते कानों में समां रही थी।तभी अंजू नें सवाल किया सबसे कीमती चीज क्या है तुम्हारी सुनील बोल पड़ा बातें। इधर अंजू नें ठहाके मा...
खामोशियाँ...!!!...
Tag :
  November 14, 2016, 11:52 am
काफी देर से बेंच पर बैठे कबीर की आँखों को किसी ने अचानक से आकर अपनी नर्म हथेलियों से ढंक लिया।गिन्नी फिर तू मुझे पहचानने को कहेगी और मेरा जवाब भी यही रहेगा, "सोते , जागते, उठते, बैठते गिन्नी गिन्नी रहती इर्द-गिर्द।गिन्नी के हाथ को हटाते हुए कबीर हिचकते हुए बोल पड़ा।गिन्नी ...
खामोशियाँ...!!!...
Tag :
  November 14, 2016, 11:51 am
श्रुति नें जैसे ही बैग में अपनी साइंस की नोटबुक निकलने को हाथ डाला। उसके हाथों में सफ़ेद बैकग्राउंड पर उभरा गुलाब से लिपटा एक शानदार कार्ड आया। ऊपर की जिल्द ही इतनी खूबसूरत थी की मानो काफी कुछ खुद ही बयाँ कर रही हो।श्रुति नें कार्ड खोल दिया। उलटे हाथों से लिखे गए उस कार्...
खामोशियाँ...!!!...
Tag :
  November 14, 2016, 11:49 am
तेज़ वाईफ़ाई और कड़वी कॉफी के बीच अमितेश मानो खो गया। वो जिस टेबल पर बैठा था। उसके ठीक सामने दीवाल पर टंगी पेंटिंग अजीब सा अपनापन झलका, उसे खीचने का प्रयास कर रही थी। पर उसकी कूँची और कैनवास उसकी उंगलियां छोड़ने की इज़ाज़त देने को तैयार ना थी।पेंटिंग भी अजीब सी उलझी उलझी।मानो...
खामोशियाँ...!!!...
Tag :
  November 14, 2016, 11:47 am
इंजन की सीटी नें अचानक विनय को जगा दिया। सामने बोर्ड पर बड़े लाल अक्षरों में लिखा था "विश्व के सबसे लंबे प्लेटफॉर्म पर आपका स्वागत है"। विनय की ख़ुशी का ठिकाना ना था कलाई घुमा के देखा सुबह के नौ बजे थे। वो खुश इसलिए नहीं था कि वह अपने गोरखपुर को विश्व के नक़्शे पर गौरवान्वित ...
खामोशियाँ...!!!...
Tag :
  November 14, 2016, 11:45 am
साक्षी के गोरे से हाथों को अपनी बड़ी हथेली में बिछाकर, संजय लकीरों से लुका छिपी खेल रहा था।कुछ देर चुप रहा। फिर अचानक से बोल पड़ा। अपनी तेरी जोड़ी सुपरहिट है। हथेलियों के मकड़जाल में से एक धागे को छूकर उसने साबित भी किया।साक्षी चुपचाप हंसनें लगी और बात बड़े शायराना लह...
खामोशियाँ...!!!...
Tag :
  November 14, 2016, 11:45 am
इतनी भी बेरुखी से देखा ना करो,मैं रोता हूँ शौक से पूछा ना करो।थोड़ी सी गुजाइश मुझसे भी रखो,मैं खुदा का बंदा हूँ खुदा ना करो।लकीरें उभरेंगी कुछ और कल तक,आज को देख कल तौला ना करो।काफिर नहीं हूँ जो गुजरता जाऊँ,हर बार बढ़ने को बोला ना करो।सुलझाने में और उलझ गयी तू,गांठ चढ़ने दो उ...
खामोशियाँ...!!!...
Tag :
  September 8, 2016, 7:48 pm
जानती हो श्रेया हेडफोन का बायाँ शिरा तुम्हारी कानों में क्यों लगाता ? गानों की इमोशनल बातें बाए कानो तक जल्दी पहुँचती। "अच्छा जनाब, फिर दाहिने कानो का कॉन्सेप्ट समझाइये"श्रेया नें पूछामेरा हेडफोन का दाहिना शिरा खराब है। गानों की लब्ज़ों को तुम्हारे होंठों से टटोलकर, त...
खामोशियाँ...!!!...
Tag :लप्रेक
  June 1, 2016, 12:03 pm
एनफील्ड की पिछली सीट पर बैठी दिव्या पिछले दस मिनट से बोले जा रही थी। कुछ रेस्पॉन्स ना आता देख उसनें खीजते हुए कहा, "या तो अपनी ये फटफटी बेंच दो या मेरे साथ पैदल चला करो। दोहराने में फिर से वही इमोशन नहीं ला पाती मैं।"रिशब नें मुस्कुराते कहा, "याद है इसी एनफील्ड पर तुम्हे सब...
खामोशियाँ...!!!...
Tag :
  June 1, 2016, 11:56 am
धूधली सी शाम में श्याम के कंधों पर सर रखकर बैठी थी। काफी देर तक की खामोशी को चीरते हुए। नीतू नें आसमान में आकृति दिखाते हुए कहा चलो न उस बादल के पीछे चले। एक बादल से दूसरे पर आइस-पाइस खेलेंगे। तुम सूरज ओढ़ लेना मैं चाँद पॉकेट में छुपा लूँगी। फिर अदला बदली करेंगे दोनों का...
खामोशियाँ...!!!...
Tag :
  June 1, 2016, 11:51 am
रेनॉल्ड्स 045 अब तो सफ़ेद से पीला पड़ गया हैं। करन नें उसकी नीली कैप भी बड़ी सम्हाल के रखी। पिछले बार आशीष से उसकी कट्टी भी इसी बात पर हुई थी। उसनें एक दिन के लिए पेन उधार मांगी थी। करन से दिल पे पत्थर रखकर उसे एक दिन खातिर अपना रेनॉल्ड्स 045 दिया था। आजकल दूकान दूकान ढूंढता ह...
खामोशियाँ...!!!...
Tag :
  June 1, 2016, 11:46 am
जैसे ही कार का दरवाजा बंद होता। अंगूठे और दोनों उंगलियां सीधा म्यूजिक की वॉल्यूम नॉब ही घुमाती।आवाज़ धीरे धीरे तेज़ होती की कैसेट को फ़ास्ट फारवर्ड लगा दिया जाता। अक्सर दोनों में इसी को लेकर लड़ाई होती थी कि उसने जो पसंद के गाने पर्ची में नोट करवाये थे वो क्यों नहीं भरवाय...
खामोशियाँ...!!!...
Tag :
  June 1, 2016, 11:43 am
जान ली हो तो जान अब आओ भी,लेके जान तुम ए जान ना जाओ भी।तमन्ना है तेरी बिखरे जुल्फे सुलझाऊँ,हौले से उन्हें कान के पार लगाओ भी।लुका छिपी खेलता है देख ये चाँद मेरा,आज अमावस में भी टिप लगाओ भी।ख्वाइश है सर रख लेटा रहूँ तेरी गोद में,हाथ बढाकर ज़रा मेरे बाल सहलाओ भी। - मिश्रा राहु...
खामोशियाँ...!!!...
Tag :
  March 27, 2016, 2:00 pm
प्रेम में इस्तेहार बन बैठे हैं हम,भोर के अखबार बन बैठे है हम।सब पढ़ते चाय की चुस्की लेकर,हसरतों के औज़ार बन बैठे हैं हम।सुर्खियां जलकर ख़ाक हो गयी,सोच के गुलज़ार बन बैठे है हम।बदलता जाता नक़ाब हर घड़ी,काठ के पतवार बन बैठे हैं हम।...
खामोशियाँ...!!!...
Tag :
  January 6, 2016, 7:18 pm
एक जैसी लगती तेरी चित्रकारीऔर मेरी कलमकारी।लिखता हूं तो एहसासकैनवास हो जाता।अल्फ़ाज़मेरी कूंची बन जाती।क्यूँ नाकभी ऐसा हो,तेरी स्केचिंग के कैनवास पर,मैं शब्दों के गौहर सजा दूं।और तू मेरीग़ज़ल पर अपने रंगो का टीका कर दे। - मिश्रा राहुल...
खामोशियाँ...!!!...
Tag :
  January 6, 2016, 7:16 pm
एक कार्बन रखकरएहसासों को गाढ़ा कर,कुछ सफ़ेद पन्ने पेउभरेंगी तारीखें।नज़र का टीका करके गोला मार देना। आजकल जमाना खराब है।- मिश्रा राहुल...
खामोशियाँ...!!!...
Tag :
  January 3, 2016, 5:52 pm
पूरे कापी के बंडल को उँगलियों से गिन रहा था। कापी नंबर 24 मेरी गणित के हिसाब से 30 मिनट में साइन होगी मेरी कापी। ऊपर से तिवारी सर की क्लास वो तो बिना दंडहरे छोड़ेंगे नहीं। कलाई घुमा के घड़ी देखा तो 14 मिनट छुट्टी होने में थे। हे भगवान !! आज लेट करा दे उसकी जीप। बड़े शातिरता से उसने...
खामोशियाँ...!!!...
Tag :
  November 30, 2015, 8:23 pm
फुर्सत में ठहरो तो कुछ हम भी कहे,आँखों में उतरो तो कुछ हम भी कहे। बेतरतीब उलझन फैली हैं इर्द-गिर्द,आ सुलझें खुद सुलझानें को भी कहे।फ़लक नें रोक रखे बहुत टूटे सितारे,ऊपर झांकों तो गिराने को भी कहे।शाम की जुल्फें कान के पार लगाए,वादे किए है जो निभाने को भी कहे।अच्छा है जो थम...
खामोशियाँ...!!!...
Tag :
  November 24, 2015, 7:38 am
पुरानी दस्तख़त में अपने सुनाया होता,कोई अपना अगर मिलने बुलाया होता।कितने कलपुर्जे और चलते हुए मिलते,नज़्मों को तुमने आवाज़ लगाया होता।इंतज़ार करता रहता हूँ हर रोज़ तेरा,प्यार कम कर थोड़ा और सताया होता।वशीहत लिख रहा हूँ अपनी यादोँ का,कीमत कितनी कुछ तो सिखाया होता।ज...
खामोशियाँ...!!!...
Tag :
  October 27, 2015, 11:50 am
codesgesture.com & The Maestro Productions presents Talentrix - An online Contest to Explore your TALENT..!!Photography ... Painting ... Dancing ... Singing ... or Any Talent you think YOU HAVE...!!Record it ... Send itApart from Generic Talent Drawing, Singing, Photography, Dancing Talentrix other section includes Like- Mimicry- Bike Stunt - Funniest Selfie - Dubsmash - Acting with Famous Dialogue...So Why to wait Just PERFORM RECORD UPLOAD...!!And Become THE TALENTRIX Season - I WinnerFor More Detail - Competition Link ...
खामोशियाँ...!!!...
Tag :Maestro Productions
  October 16, 2015, 3:42 pm
कानो के दो सूराखों में झुमके भरते हुए बोला।  देखो कैसे मस्ती से झूम रहा तुम्हारे कान को पकड़ के। लाल सूरज, तरंग फ़्लाइओवर, नीचे तेज रफ्तार ट्रेन और ऊपर ये बेहतरीन अकेली हवाएँ।हवाएँ अकेली नहीं देखो नीले बैक्ग्राउण्ड में दूर कबूतर के जोड़े खोल दिये है अपने पंख। नीचे ...
खामोशियाँ...!!!...
Tag :
  October 16, 2015, 3:27 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3652) कुल पोस्ट (163572)