Hamarivani.com

Sanskritbhashi संस्कृतभाषी

जीवनी 1. गौतम बुद्ध का जन्म कब हुआ था? (क)  563 ई०पू०            (ख) 780 ई०पू० (ग)  175 ई०पू०            (घ) इनमें से कोई नहीं उत्तर : 563 ई०पू० 2. गौतम बुद्ध का जन्म स्थान का नाम क्या है? (क)  कपिलवस्तु के लुम्बनी (ख) कुशीनगर (ग)  वाराणसी                (घ) गया उत्तर : कपिलवस्तु के लुम्बिनी 3. गौतम बुद...
Sanskritbhashi संस्कृतभाषी...
Tag :
  May 17, 2019, 11:51 am
श्रीमद्भागवत महापुराण महर्षि  वेदव्यास द्वारा रचित ग्रन्थ है।  इसमें 12 स्कन्ध 335 अध्याय और 18 हजार श्लोक हैं। इस पुराण में वेदों, उपनिषदों व दर्शन शास्त्र की विस्तारपूर्वक व्याख्या की गई है। इसे सनातन धर्म तथा संस्कृति का विश्वकोष भी कहा जाता है। भारतीय सनातन संप्रदा...
Sanskritbhashi संस्कृतभाषी...
Tag :
  May 16, 2019, 2:26 pm
 अधोलिखित नियमों को हिन्दी में जानने के लिए संस्कृत शिक्षण पाठशाला 2 पर क्लिक करें।  तव्यत् प्रत्ययः   Ø  विधिलिङ् लकारस्य स्थाने कर्मणि प्रयोगे तव्यत् प्रत्ययस्य प्रयोगः भवति ।   Ø  तव्यत् प्रत्ययस्य प्रयोगः आवश्यकतायाः अर्थे भवति ।   Ø   ‘तव्यत्’ प्रत्ययस्य ‘त्’ ...
Sanskritbhashi संस्कृतभाषी...
Tag :
  May 13, 2019, 3:35 pm
मैं अनेक बार लखनऊ से नैमिषारण्य जा चुका हूँ। लोग इसे संक्षेप में नैमिष कहते हैं। स्थानीय बोलचाल में इसका नाम नीमसार है। कल वैशाख कृष्ण त्रयोदशी 2076 तदनुसार 02 मई 2019 को फिर मैं नैमिषारण्य में था। यह उत्तर प्रदेश के लखनऊ से 85 कि. मी. दूर गोमती नदी के किनारे स्थित है। यह एक वैष्...
Sanskritbhashi संस्कृतभाषी...
Tag :
  May 3, 2019, 12:17 pm
1.   ईपुस्तकालय से संस्कृत की पुस्तकों को PDF में फ्री डाउनलोड कर सकते हैं। 2. इस भारतविद्या वेबसाइट पर योग, षड्दर्शन, उपनिषद्, जैन, बौद्ध आदि विषयों पर संस्कृत की पुस्तकें उपलब्ध हैं। 3. संस्कृत विकिस्रोत पर वेद, पुराण, स्मृति , उपनिषद् , आगम, साहित्य, दर्शन, आदि विषयों पर ...
Sanskritbhashi संस्कृतभाषी...
Tag :
  April 30, 2019, 4:56 pm
काव्य की आत्मा पर विविध काव्यशास्त्रकारों में मतभेद रहा है। इस मतभेद के कारण भरत (500 ई. पू. से लेकर प्रथम शती तक) से लेकर 1750 तक के काल खण्ड में रस, अलंकार, वक्रोक्ति ,ध्वनि और औचित्य संप्रदाय इन 6 सिद्धान्तों / संप्रदायों की स्थापना हुई।   साहित्यशास्त्र के मुख्य 41 आचार्य इनम...
Sanskritbhashi संस्कृतभाषी...
Tag :
  April 27, 2019, 12:41 pm
वागर्थाविव संपृक्तौ वागर्थप्रतिपत्तये । जगतः पितरौ वन्दे पार्वतीपरमेश्वरौ ॥ १-१॥ क्व सूर्यप्रभवो वंशः क्व चाल्पविषया मतिः । तितीर्षुर्दुस्तरं मोहादुडुपेनास्मि सागरम् ॥ १-२॥ मन्दः कवियशः प्रार्थी गमिष्याम्युपहास्यताम् । प्रांशुलभ्ये फले लोभादुद्बाहुरिव...
Sanskritbhashi संस्कृतभाषी...
Tag :
  April 26, 2019, 7:56 am
मैं सीखने के लिए रेडियो, पत्र-पत्रिकाओं या टेलिविजन पर आने वाले कार्यक्रमों जैसे संसाधनों का उपयोग करता हूँ। पाठ्यपुस्तक से परे संसाधनों का बार-बार और प्रासंगिक उपयोग मुझमें बेहतर सीखने की प्रक्रिया को बढ़ावा देता है। क्योंकि संस्कृत संसाधन सस्ते होते हैं और वे मे...
Sanskritbhashi संस्कृतभाषी...
Tag :
  April 25, 2019, 2:28 pm
आज हर व्यक्ति को जीवन में आगे बढ़ने के लिए हर पल प्रतिस्पर्धा और संघर्ष का सामना करना पड़ रहा है। हर कोई शिखर पर पहुंचने के लिए संघर्ष रत है। इसका समाधान गीता में है। नियतं कुरु कर्म त्वं कर्म ज्यायो ह्यकर्मणः। शरीरयात्रापि च ते न प्रसिद्ध्येदकर्मणः।।3.8    मय्येव मन ...
Sanskritbhashi संस्कृतभाषी...
Tag :
  April 25, 2019, 11:41 am
Education of typing special characters of Unicode hindi font हमलोग जैसे जेल पेन, वॉल पेन,नीब के पेन, पेंसिल, स्केच आदि कई माध्यम से कागज पर लिखते हैं वैसे ही अनेक तरह के कीबोर्ड के माध्यम से कम्प्यूटर पर देवनागरी लिपि में हिन्दी, संस्कृत,मराठी या अन्य भाषाओं को लिख सकते हैं। अन्तर वही है, जो एक कलम, पेंसिल य...
Sanskritbhashi संस्कृतभाषी...
Tag :
  April 19, 2019, 8:09 am
 विश्वविद्यालय अनुदान आयोग,नई दिल्ली के द्वारा आयोजित नेट एवं जेआरएफ परीक्षा जून 2019 का नया पाठ्यक्रम जारी हुआ है। यह परीक्षा कम्प्यूटर के माध्यम से संपन्न कराई जायेगी। अभ्यर्थियों की सुविधा के लिए नया पाठ्यक्रम एवं सम्बन्धित पाठ्यसामग्री यहाँ दिया गया है। यहाँ  पे...
Sanskritbhashi संस्कृतभाषी...
Tag :
  April 5, 2019, 8:12 am
महाकवि अश्वघोष, महाकवि होने के अतिरिक्त उद्भट दार्शनिक आचार्य और बौद्ध धर्म को उत्कृष्ट एवं नई दिशा प्रदान करने वाले मत प्रवर्तकों में स्वीकार किए जाते हैं। इन्होंने एक ओर बुद्धचरितम्, सौंदरानन्दम् जैसे महाकाव्यों को लिखकर भगवान बुद्ध के जीवन के वैचारिक उत्कर्ष क...
Sanskritbhashi संस्कृतभाषी...
Tag :बौद्ध
  April 3, 2019, 12:44 pm
अलभ्यं हीनमुच्यते। अंगूर खट्टे हैं। अल्प आयो व्ययो महान्। अस्सी की आमद चौरासी का खर्च। अन्धस्यान्धानुलग्नस्य विनिपातः पदे पदे। अन्धा गुरु बहरा चेला दोनों नरक में ठेलम ठेला। अन्धस्य वर्तकीलाभः। अन्धे के हाथ बटेर। अर्धोघटो घोषमुपैति शब्दम् । अधजल गगरी छलकत ...
Sanskritbhashi संस्कृतभाषी...
Tag :
  April 1, 2019, 1:52 pm
अँगुली   अंगुल्‍य:  अँगूठा   अँगुष्‍ठ:  अंगरखा अंगरक्षिका अंगीठी हसन्‍ती अंगूठी अंगुलीयकम् , उर्मिका अंगूठी मुद्रिका अंगूर द्राक्षाफलम्‚ मृद्वीका अंगोछा गात्रमार्जनी अंजीर अंजीरः, अंजीरम्  अखरोट अक्षोटः अचार सन्धितम् अच्छा लेख सुल...
Sanskritbhashi संस्कृतभाषी...
Tag :
  March 29, 2019, 5:05 pm
उपसर्गवृत्तिः प्र प्रत्यपिपरापोपपर्यन्ववविसंस्वति । निर्न्युदधिदुरभ्याङ् उपसर्गाश्च विंशतिः ॥ प्र प्रति अपि परा अप अप उप परि अनु अव वि सम् सु अति निर् नि उत् अधि दुर् अभि आ । इनमें से निस् में निर् तथा दुस् में दुर् शेष रहता है। अतः निर् तथा दुर् उपसर्ग का ही उदाह...
Sanskritbhashi संस्कृतभाषी...
Tag :संस्कृत शिक्षा
  March 23, 2019, 3:10 pm
 इस लेख में मैं भारत में स्थित गुरुकुलों का परिचय देने जा रहा हूँ। यहाँ आप नामांकन कराकर संस्कृत विषयों का अध्ययन कर सकते हैं। इन विद्यालय में  छात्र किस कक्षा में प्रवेश ले सकते हैं? विद्यालय में किस कक्षा से किस कक्षा तक पढ़ाई होती है? विद्यालय में सह शिक्षा की व्यवस...
Sanskritbhashi संस्कृतभाषी...
Tag :
  March 20, 2019, 4:09 pm
श्रद्धावान् लभते ज्ञानम् - श्रद्धावान व्यक्ति ज्ञान प्राप्त करता है। दुर्जनः परिहर्तव्यो विद्ययालङ्कृतोऽपि सन् = दुर्जन व्यक्ति की सदैव उपेक्षा करनी चाहिए, भले ही वह विद्या से अलङ्कृत हो। योगः कर्मसु कौशलम्- कर्मों में कुशलता ही योग है। प्रारभ्य चोत्तमजनाः न परि...
Sanskritbhashi संस्कृतभाषी...
Tag :
  March 15, 2019, 4:58 pm
1. हमारी जीवन पद्धति, परम्परा और संस्कार संस्कृत के ग्रन्थों में लिखित हैं। 2. हमारे पूर्वजों का गौरवमय इतिहास संस्कृत की पुस्तकों में मिलता हैं। 3. हम अपनी विकास यात्रा की कहानी इन पुस्तकों में पाते हैं। 4. इस विद्या के माध्यम से हम अपने पूर्वजों के बौद्धिक चरमोत्कर्...
Sanskritbhashi संस्कृतभाषी...
Tag :
  March 11, 2019, 1:26 pm
आप कई ऐसे स्वतंत्र पत्रकार को जानते होगें, जो सोशल मीडिया पर अपनी पत्रकारिता करते हैं। सोशल मीडिया पर संगठनात्मक या वैयक्तिक संस्कृत पत्रकारिता का स्वरूप कम ही देखने को मिलता है। अन्य भाषा के पत्रकार समसामयिक मुद्दों पर गंभीर चर्चा करते हैं। उपयोगी जानकारी देते है...
Sanskritbhashi संस्कृतभाषी...
Tag :
  March 5, 2019, 5:07 pm
विद्यालयों में परीक्षा का दौर आरंभ हो चुका है। थोड़े ही दिनों के बाद 'स्कूल चलो अभियान'भी आरंभ होगा। निजी विद्यालयों के बैनर, पोस्टर से शहर, गांव मोहल्ला पट जाएंगे। इसमें तमाम लालच भरे संदेश तथा दावे लिखे होंगे। इस शोर के बीच हमारा संस्कृत विद्यालय किसी परी लोक से विद्...
Sanskritbhashi संस्कृतभाषी...
Tag :
  February 27, 2019, 2:19 pm
लौकिक काव्य की उत्पत्ति लौकिक संस्कृत साहित्य का आरंभ वाल्मीकि कृत रामायण से होता है। इसे आदि काव्य कहा गया है। क्रौंच वध की घटना से द्रवित हुए वाल्मीकि ने रामायण की रचना की। जिसमें सरसता, स्वाभाविकता, विविध रसों का समन्वय, समास विहीन वाक्य प्राप्त होते हैं। रामायण ...
Sanskritbhashi संस्कृतभाषी...
Tag :काव्य
  November 28, 2018, 2:13 pm
जब भी बाल साहित्य की चर्चा होती है, बरबस पंचतंत्र की कथा याद आती है। संस्कृत के लगभग प्रत्येक महाकाव्य में बाल प्रसंग मिल जाता है । रामायण में भगवान श्री राम के बाल रूप की कथा, लव कुश का वर्णन तथा महाभारत में पांडवों कौरवों और अभिमन्यु का वर्णन मिलता है। इसी प्रकार परवर...
Sanskritbhashi संस्कृतभाषी...
Tag :
  November 13, 2018, 8:00 am
स्थानसूचकानि  अव्ययानि ( अत्र  तत्र   कुत्र   अन्यत्र   सर्वत्र   एकत्र ) अभ्यासः – 1 अधोलिखितप्रश्‍नानाम् उत्तरं रिक्‍तस्थानेषु लिखत -                            अत्र                                                                  तत्र जलकूपी कुत्र अस्ति ?     जलकूपी अत्र अस्ति ।     वृक्...
Sanskritbhashi संस्कृतभाषी...
Tag :
  November 12, 2018, 4:57 pm
यह पेज संस्कृत शिक्षण पाठशाला पर दिये गये नियमों के अभ्यास के लिए है। संस्कृत भाषा सीखने के लिए संस्कृत शिक्षण पाठशाला पर क्लिक करें। संस्कृत व्याकरण में क्रियाओं के लिए धातु का प्रयोग होता है इसके लिए अलग से धातुपाठ बनाया गया है इसमें लगभग 2000 धातु हैं संस्कृत साहित...
Sanskritbhashi संस्कृतभाषी...
Tag :व्याकरण
  November 12, 2018, 4:10 pm
मैं अपने इस ब्लॉग पर काश्मीर शैव दर्शन के बारे में लिखते रहा हूं। इसका एक साथ संक्षिप्त परिचय इस लेख में उपस्थापित है। काश्मीर शैव दर्शन के गुरु शिष्य परंपरा के बारे में सोमानन्द कृत शिवदृष्टि से बहुत अधिक जानकारी मिल जाती है। इस ग्रंथ में उन्होंने एक ऐतिहासिक घटना क...
Sanskritbhashi संस्कृतभाषी...
Tag :दर्शन
  November 6, 2018, 1:46 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3872) कुल पोस्ट (188668)