Hamarivani.com

प्यार

वो देखो मदारी आयाबच्चों को बहुत भायातरह तरह के खेल दिखाताकभी बन्दर को दुल्हन बनाताकभी खुद बन्दर बन हँसताबच्चों को बहुत भाता खेल खेल मे सिख सिखाई कभी न करना तुम सब लड़ाई मिल जुल कर सदा रहना जैसे एक माचिस मे रहती अनेक सलाई  !!रेवा ...
प्यार ...
Tag :
  April 17, 2017, 8:17 pm
अपने शरीर से आजझाड़ ली है मैंनेवो सारी कही अनकहीबातों की धूल  ,अब मुझे साफ़दिख रहा हैअपना  वजुद ,पर घर की तरहइस धूल को भीमुझे रोज़ झड़ना होगा ,वार्ना ये फिरमेरे शरीर को अपनाबना लेंगेऔर धुँधला जायेगामेरा वज़ूदरेवा...
प्यार ...
Tag :
  April 12, 2017, 11:59 am
सीपों मे बंदमोतीजैसे आँसूआज ढुलक करबिखर गए हैंहमारे चारों तरफ ,उन्हें जमा करएक माला बनाई है मैंने ,जिसमे कुछमेरे मोती हैं औरकुछ तुम्हारे ,क्या तुम बता सकते होकौन सा मोती बेहतरीन है ?       किस मोती का क्या मोल है ?          ठीक वैसे हीतुम नहीं अंतर कर सकतेहमारे प्...
प्यार ...
Tag :
  April 6, 2017, 1:06 pm
आज खुद को गलेलगा कर सोने कोजी करता है ,अपने कंधे परसर रख कररोने कोजी करता  है ,अपने आंसुओं सेशिवालय धोने कोजी करता  है ,समुन्द्र के रेत सेबनाया था जो आशियानाउसे समुन्द्र कोसौंपने काजी करता है ,बिन पहचान जीतेरहे आज तकअब अपनी पहचानके साथ मरने कोजी करता है ,आज खुद क...
प्यार ...
Tag :
  March 27, 2017, 11:57 am
वो देखो फ़ाग आया संग अपने अनेकों रंग लाया पेड़ों को फूलों से नहलाया वो देखो फ़ाग आया गोरी के गालों को रंगों से सहलाया आँखों को हया का कजरा लगाया वो देखो फ़ाग आया सूनी धरती को वृंदावन बनाया राधा और कान्हा के प्यार से सजाया वो देखो फ़ाग आया !!!!! रेवा ...
प्यार ...
Tag :
  March 22, 2017, 2:57 pm
याद है नवो पहली होलीजब तुमनेअपनी अंजुरी भरी थीपलाश से और रख दिया थामेरी हथेली परकहा थाआज तुम्हे इनफूलों जैसा चटकरंग दे रहा हूँऐसा रंग जोहमारे अस्तित्वको प्रेम मेरंग देगा ,जब भी हमएक दूजे सेदूर होंगेये रंग हमे सदाकरीबी का एहसासदिलाएगा .......आज इतने सालों बादतुमसे एक ...
प्यार ...
Tag :
  March 20, 2017, 11:01 am
अपने बारे मेंआज सोचनेबैठी तो....कुछ समझ ही नहीं आयामुझे क्या पसंद क्या नापसंदकुछ याद ही नहीं ???एक वो ज़माना थाजब माँ खिचड़ीया मेरी नापसंद की कोई भी चीज़ बनाती थी तो मैंहल्ला कर के साराघर सर पर उठा लेती थीऔर एक आजजो बन जाता हैखा लेती हूँ ....न किसी चीज़ कीज़िद न कोईशिकाय...
प्यार ...
Tag :
  March 8, 2017, 1:06 pm
लिखा जब भी मैंने खुद को ........ मेहसूस कियाइस कागज़ ने तब मुझको ,लिखे जबदर्द भरे अल्फ़ाज़इसके दिल पर ,तकलीफ़ इसे भी हुईशब्दों से मिल कर ,जब  हुई इसकीमुलाकातमेरे आँसुओं के साथस्याहीने भी बिखर करकिया एहसास ,पर अब बसबहुत कर लियाहमने दर्द का सफ़र आज से ये वादा है एक द...
प्यार ...
Tag :
  January 31, 2017, 12:39 pm
इतने सालों के साथऔर प्यार के बाद ,आज एक अजीब सीहिचकिचाहटमहसूस हो रही है ,तेरी  वहीँरूहानी आवाज़जिस पर मैं मरती हूँअजनबी सीलगने लगी  ,समझना नामुमकिनसा हो गया है कीऐसा क्योंक्या मेरी सोच मेफर्क आ गया  !या हालात ने करवटबदल ली .............."जैसे भी हों हालत-ओ -जज़्बातरिसते हैं ...
प्यार ...
Tag :
  January 24, 2017, 11:42 am
मुझे रहने दो मेरे घर मे अकेलेये बखूबी जनता है मेरे मिज़ाजजब भी ख्याल बिखरते हैंबटोर कर सहेज लेता है उन्हेंसजा देता है करीने से अलमारियों मेताकि झाड़ू बुहार न ले जाये उन्हेंमुझे रहने दो मेरे घर मे अकेले ,भरी बरसात मे और गर्म दुपहरिया मेमाँ की तरह देखभाल करता है मेरीधूप ...
प्यार ...
Tag :
  January 11, 2017, 5:00 pm
हँस केहम अपना हरदर्द छिपा लेते हैहमे प्यार हैतुमसेये बात हम अपनीनिग़ाहों से भी बचा लेते हैं तुम्हें इंकार तो नहींपर मैं अपनेरिश्तों से बंधीहर बार इनकारकर देती हूँ और दिल की चाहतअपने आहों मे भररूह के हवालेकर देती हूँरेवा...
प्यार ...
Tag :
  January 2, 2017, 12:03 pm
जाने क्यूँ इन शीत केशुरुआती दिनों मेमन अजीब सा हो जाता है ....दिल का एक ख़ाली कोनासर उठाने लगता हैउसे जितना समझाने कीकोशिश करती हूँवो ऊन के गोले साउतना ही उलझता जाता है.....एक अनभुझ पहेलीसाहर रोज़ साथचलता रहता हैक्या तुम सुलझासकते हो ?भर सकते हो मेरे दिल कावो खाली कोना ?करा स...
प्यार ...
Tag :
  December 21, 2016, 5:21 pm
मैंने इन्द्रधनुष से कुछ रंग चुरायाउनमे तेरे साथ बितायेपलों को मिलायाऔर बनायीदो तस्वीरएक तेरीएक मेरी ,उन दो तस्वीरोंसे फिर रंग चुरायाउसमे मिलायेसारे गिले शिकवेऔर प्यारफिर बनायी दो तस्वीरएक तेरीएक मेरी ,तस्वीरों को देखातो दोनों लगे एक दुजे की पहचानक्यूंकि तू क...
प्यार ...
Tag :
  December 9, 2016, 10:51 am
आईने  के सामने खड़े होआज खुद सेबात करने की कोशिश करी .......जब गौर से देखा तोसमझ ही नहीं आया कीये मैं हूँ !!न पहले सा रंग रूपन निर्छल हंसीन वो अल्हड़पनन जिद्दन वो बचकानी बातेंन कुछ कर गुजरने की चाहबस एक उदासी ओढ़ेयथावत अपने काम हो अंजामदेती एक स्त्री  ,ये मैं तो हरगिज़ नह...
प्यार ...
Tag :
  December 4, 2016, 6:45 pm
शाम का मंज़रकितना सुहाना होता न ,मन मोह लेता हैसारे पंछी अपनेघरोंदों की तरफउड़ान भरते हैं ,सूरज भी थकाहाराअपने घर लौटने कीतैयारी में रहता है ,पर मुझे ये शामखालीसुनसान साप्रतीत होता है ,भरी है तो बसये आँखेंजिसके कारन सब धुंधलानज़र आ रहा है  ,सोचती हूँआजबहने देती हूँ ...
प्यार ...
Tag :
  November 22, 2016, 11:59 am
आज ऐसे हीमैं पुरानेमेल चेक कर रही थीउसमे मेरे एक भाई कामेल पढ़ा ,वो भाई जिसेमैंने कभी देखा नहींजिसकी आवाज़कभी सुनी नहीं ,जिससे मेरा खूनका रिश्ता भी नहीं ,बस इस नेट कीदुनिया से रिश्ताजुड़ गया .......मेरी कविताओं मेउसने मेरी उदासीपढ़ ली थी ,उसके मेल मेखुश रहने कीप्यार भरी मनुहा...
प्यार ...
Tag :
  November 10, 2016, 9:10 pm
उफ़्फ़ ये प्यार .........  गुनगुना सा एहसासऔर उस परये पहले पहलेठण्ड की दस्तक .........  जो दिल मेबुनती जाती हैफंदा दर फंदाप्यार की स्वेटर.........  जिसे पेहेन लेती हूँहर दिनऔर भर लेती हूँअपने रूह मेतेरे प्यार की गर्माहट !!!!!!!!रेवा  लिखने को लिख दूँ तुझ पर कवितायेँ हज़ार...
प्यार ...
Tag :
  October 25, 2016, 3:52 pm
हम गृहणियाँकवितायेँ लिखते लिखते कब रसोई में जा कर सब्जी बनाने लगती हूँ आभास नहीं होता ......और वो अधूरी कवितापक जाती है सब्जियों के साथ ....रात जब सोने जाती हैंख्वाबों में फिर बुनती हैं कवितासुबह होते तककुछ शब्द ही रहते हैंजेहेन मे जोनाश्ते में परोस देती हैं ...
प्यार ...
Tag :
  October 15, 2016, 3:23 pm
You are theFull stop to allMy searches....You are theVoice of my heart....You are the shoulderTo lean on ....You are oneWith whomI am me....You are theSoulWith whom mySoul wants to bIn its journey .....Rewa...
प्यार ...
Tag :
  October 6, 2016, 8:13 pm
लाड़ प्यार से जाई बेटियांक्यों होती है परायी बेटियां ??बचपन के खेल खिलौनेमीठी बातों की लड़ियाँछोड़ जाती हैं आँगन मे बेटियांक्यों होती है परायी बेटियां ??भाईओं की कलाइयों मे राखीबहनों की बाँहों में प्यारदादा दादी के गले का हारहोती हैं बेटियांक्यों होती है परायी बेटियां ...
प्यार ...
Tag :
  September 30, 2016, 9:04 pm
आज अचानकसफाई करते करतेअपनी शादी का जोड़ादिख गया .....उसे देखएक अजीब सीसिहरन महसूस हुई ....उसे हाँथ मे लेकरसहलायाह्रदय से लगाया तोएक क्षण मेबाबुल का आँगनयाद आ गया....माँ की एक एकसीखपिता का दुलारबड़े भाई बहन  सेअनबनसहेलियों का प्यारसबआँखों के आगेघूमने लगा,फिर इस जोड़ेको पह...
प्यार ...
Tag :
  September 22, 2016, 9:12 pm
कुछ प्रश्न हैं जोमन को बार बारपरेशां करते हैं ......कागज़ कलम उठाती  हूँलिखती भी हूँपर दूसरे ही पलमिटा देती हूँ .....लगता है जो लिखा हैसीधे सरल शब्दों मेवो कविताकहलाने लायक नहीं .....सुना हैकविता जटिल शब्दों कामायाजाल हैकई अर्थ छुपे शब्दोंसे ही ये बुने जा सकते हैं ......तभी व...
प्यार ...
Tag :
  September 16, 2016, 11:03 am
चंदा ने आज लजाते हुएसुनाई मुझेअपनी चाँदनी से हुई मुलाकात........पुर्णिमा कि हर रातचंदा और चाँदनी कीहोती है प्यार भरी बात !!उसके बाद धीरे धीरेचाँद हो जाता है मसरूफ़और चांदनी उदास........अमावस के दिन तोबंद ही हो जाती है उनकी बातपर चाँद भी ठहरा मजनू  ,मना ही लेता है अपनी लैला...
प्यार ...
Tag :
  August 31, 2016, 11:20 am
काफी दिनों से खुदको टटोल रही हूँ ,ढूंढ रहीं हूँ वो शब्द जिसे अपने एहसासो मे पिरो कर कविता बना सकूँ ,ऐसी कविता जो मेरे रूह को सुकून दे ,जिसे पढ़ कर मेरी आत्मा तृप्त हो जाये ,पर हर बार कोई कमी रह जाती है ,और मैं फिर निकल पड़ती हूँ शब्दों की तलाश में !!रेवा ...
प्यार ...
Tag :
  August 25, 2016, 8:20 pm
बहुत दिनों बादतुमसे मुलाकात हुईऐसा लगामानोज़िन्दगी से बात हुई ,इतने करीब से तुझे बससुना ही थाआज पहचान हुयी ,कैसे बयां करूँअपने एहसास .....तेरे साथ उसचाय के कप का स्वाद !!प्यार भरी तेरी मनुहारजिसमे न थी कोईतकरार......आह !!वो पल जोक्षण मे बीत गए .....उन पलों मेरूह को सुकूनदेता साथ ......
प्यार ...
Tag :
  August 17, 2016, 2:16 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3652) कुल पोस्ट (163775)