Hamarivani.com

प्यार

अपने घर का एहसास कुछ अलग ही होता है ऐसी शांति मन को मिलती हैजिसे शब्दों में बयां करनानामुमकिन हैएक अजीब सा रूहानीसुकून महसूस होता हैहर एक ज़र्रे हर एककोने से प्यार हो जाता हैघर का ईट ईटलगता है हमारे एहसासोंसे जुड़ा हैअपना एक कोना मिलजाता हैजो कोई नहीं छीन सकताज़िन...
प्यार ...
Tag :
  May 9, 2019, 1:50 pm
बंद करो रक्त पातबंद करो युद्ध की बातबंद करो अहंकार का ये खेलकहीं कोई भी मरे सब इंसान हैकम से कम ये तो देख माँ का भाल न लाल के खून सेलाल करोइंसान हो जानवरों सी बात न करोबंद करो रक्त पातबंद करो युद्ध की बात#रेवा...
प्यार ...
Tag :
  March 11, 2019, 6:08 pm
हाँ मैं हूँ एक माँखड़ी ढाल की तरहअपने बच्चों के साथ उनके हर तकलीफ़ मेंडट कर सामना करने कोउन्हें बचाने को तैयारचाहे हालात कैसे भी होचाहे मुसीबत कैसी भी होपर फिर भी हूँ इन्सानउस दिन उस शामकुछ मिनट पहले हीदेखा था अपनी दस साल कीबच्ची को खेलते हुएऔर बाद के कुछ मिनटों नेदु...
प्यार ...
Tag :
  March 5, 2019, 2:41 pm
उलझे रहे हम ज़िन्दगी के सफर में इस कदर न दिन की रही खबर न ही शाम का रहा ख्यालथक कर हर रात बस ख़्वाबों की गोद में पनाह ले ली कभी देखा ही नहींसुबह की सिंदूरी रोशनी कभी सुना ही नहीं पंछियों का कलरव कभी महसूस नहीं किया सुहाना मौसम भागते रहे बस हर रोज़ चिन्ता लिए कैसे होगा सब ??सी...
प्यार ...
Tag :
  February 26, 2019, 11:12 am
कभी ध्यान सेदेखा है उन भिखारियों को जो कटोरा लेकर पीछे पीछे आते हैं गिड़गिड़ाते रहते हैं किसी भी तरह पीछा नहीं छोड़ते चाहे उनका अपमान करो या डांट लगाओ तरह तरह से कोशिश करते रहते हैं वैसा ही हाल होता है उन लोगों का जो वोट मांगते हैं तरह तरह से प्रलोभन देते हैं ५ साल में काया ...
प्यार ...
Tag :
  February 8, 2019, 5:57 pm
लिखने के लिए बहुत कुछ है राजनीति, समाज मैं फैली गंदगी का सचआँखों में रड़कते धूल के कण का सचनक़ाब के पीछे चेहरे का सचमिट्टी का सचसादा लिबास और रंग का सच मंदिर, मस्जिद ,चर्च और गुरुद्वारे का सच नाजायज़ शब्द का सच रिश्तों में पनपते रिश्ते का सच फ़कीर और भिखारी का सच इट पत्थर और घ...
प्यार ...
Tag :
  February 4, 2019, 4:34 pm
मैं एक गृहिणी हूँ सुबह के आकाश का रंग देखना चाहती हूँपर नहीं पहचानती नहीं छू पाती सूरज की किरण नहीं सुन पाती मधुर संगीतनहीं महसूस कर पाती वो ताज़ी हवा नहीं जी पाती सुबहवो उठते ही दौड़ती है रसोई में वही है उसका आकाश सूरज की बजाय वो आग का रंग देखती है संगीत की बजाय सुनती है ...
प्यार ...
Tag :
  January 31, 2019, 12:20 pm
तुम्हें ये महज़ बातें लगती हैं मुझे एहसास तुम्हें ये बरसात नज़र आती है मुझे मिट्टी की खुश्बूतुम्हें सिर्फ़ आँखें नज़र आती हैं मुझे उनमें घुलते जज़्बात तुम्हें एक ख़याल छू कर चला जाता है मुझे रेशमी याद तुम्हें ज़रूरत समझ आती है मुझे इश्क़ तुम्हें लॉजिक चाहिए मुझे प्यार और ख...
प्यार ...
Tag :
  January 22, 2019, 7:51 pm
चलो बादलों कीजेब सेसूरज चुरा लायेंरख दे फिर उसेउन गरीबों की बस्ती मेंताकि कोई भीठंड से न होउन्ही बादलों के हवालेरात फिर ठण्डीहवाओं कोभर देंबादलों केजैकेट मेंऔर ओस की बूंदों कोचाँद की टोपीमें छुपा देंताकि ठंड में भीसो सके फुटपाथों परसुकून की नींद#रेवा#ग़रीब...
प्यार ...
Tag :
  January 20, 2019, 9:15 pm
वो लम्हा वो पलकुछ उसमें मैं रह गयी हूँ कुछ वो मुझ में समा गया है उस पल को जितना जीती हूँ वो मुझे उतनी ही ऊर्जा से भर देता है चाहे वो पल क्षणिक ही थापर धीरे धीरे दिल की तहों में घुल  करजीने का बहाना बनगया हैमैं जानती हूँ जीवन में अब कभी वो पल दोबारा नहीं आएगा मैं चाहती भी नह...
प्यार ...
Tag :
  January 1, 2019, 6:32 pm
दर्द जब करवट बदलता था सीने में और आँखें नम रहती थीं तब तुम आए थेदर्द के समंदर सेखिंच लाये मुझेबैठाया मुझे अपने पासपूछा दिल की बातमैं अपनी दर्द की डायरी केसफे पलटने लगीऔर तुम्हें सुनाती रही कितने दिन तुम बस मूक सुनते रहे जब तूफ़ान आता तो मुझे डूबने से बचाते रहे उदास आं...
प्यार ...
Tag :
  December 28, 2018, 1:58 pm
मैंने अपने दिल में तिनका तिनका जोड़ कर तेरे इश्क़ का एक घोसला बनाया है जिसमें हम रह रहे हैं साथ साथअपनी दुनिया बसा करहर दुख सुख साझा करते हुए समय आने परबच्चे उड़ कर चले जाएंगेअपने अपने घरौंदों की ओर रह जाएंगे बस तुम और मैंएक चाहत है मेरी जब हमारी उड़ने की आये बारीतो हम उड़े ...
प्यार ...
Tag :
  December 25, 2018, 10:44 am
मेरे लिए वो सिर्फ एक कपड़ा था जिसका अब कोई महत्व नहीं था ,बिल्कुल फीका पड़ चुका था और इसलिए मेरी अलमारी में वो अपनी जगह खो चुका था,लेकिन उसके लिए वो तन ढकने का उसे ठंड से बचाने का सामान था बक्से में पड़े चीथड़ों के बीच एक पूरा बिना फटा कपड़ा#रेवा...
प्यार ...
Tag :
  December 23, 2018, 5:17 pm
जब पहली बार थामा था तुमने मेरा हाथहम दोनों कि रेखाओं की भी हुई थी वो पहली मुलाकात उस दिन से आज तक रोज़ जब जब वो मिलते हैं वो एकाकार होते जाते हैं जब जीवन के डगर में आते है टेढ़े मेढ़े रास्ते और हम दोनों विश्वास से भरपूरथामते हैं एक दूजे का हाथ तब और मजबूत हो जाता है इन रेखाओं क...
प्यार ...
Tag :
  December 22, 2018, 7:04 pm
कब तक खेलोगे ये सारे खेल आख़िर कब तक ??घर परबाहर भी ऑफ़िस में आम जनता के साथ भी दोस्तों के साथसभा में भी अपनी बातों सेअपनी नज़रों से भी अपनी हर हरक़त से बोलो न कब तक खेलोगे ये खेल ??क्या तुम ऊब नहीं जातेबोलो न #रेवा ...
प्यार ...
Tag :
  December 13, 2018, 7:18 pm
कोहरा यानीपृथ्वी का आकाश से आलिंगन ....शाम यानीदिन और रात का मिलन ...बरसात यानीआसमान का धरती को प्यार भरा संदेश ....भोर यानी रात के आगोश से निकलझिलमिलाती सूर्य की किरणें ...समुन्दर यानीगीली नदी का बहताप्यार .......आँखें यानी असंख्य मोतियों से भरासीप......इश्क यानीमैं, तुम और एहसास ...
प्यार ...
Tag :
  December 12, 2018, 6:12 pm
नदी हूँ मैं हाँ नदी हूँ अविरल बहनामेरी नियति है.... तुम हाँ तुमतुम भी तो समुन्द्र होमुझे अपने में सामनातुम्हारी भी नियति है....पर तुमने नियति के विरुद्धअपना रुख मोड़ लियामुझे तन्हा छोड़अपनी मौज में बहने लगे ,न तुमने कभी अपनारुख मोड़ा न मेरी सुध लीपर मैं तो नदी हूँसहत...
प्यार ...
Tag :
  December 11, 2018, 1:44 pm
कभी कभी जब मैं आत्मविश्लेषण करती हूँतो स्वतः ही एक सवाल मन में उठता है मैं क्यों कविताएं लिखती हूँ क्यों हर रोज़ लगता है कुछ न कुछ लिखना है ही ? क्या सिर्फ वाह वाही के लिए या समाज के लिए या बस यूँ ही या ख़ुद के लिए लिखती हूँ ?जवाब अभी तक स्पष्ट नहीं लगता है मैं खुद की तलाश म...
प्यार ...
Tag :
  December 8, 2018, 1:48 pm
हर बार जाने किस तलाश में ये वाक्या बयान करती हूं पर जितनी बार लिखती हूँ लगता है कुछ रह गया लिखनामिले थे हम वहाँ जहां मिलती हैं झीलेंअजनबी से उस शहर मेंथी ये हमारी पहली मुलाकात लेकिन पहचान लिया था भीड़ में भीदो जोड़ी आंखों को तुमनेचले थे फिर हम कुछ दूर साथ पी थी कॉफी और कि थ...
प्यार ...
Tag :
  December 7, 2018, 12:32 pm
बाजार सजा हैतुम्हारी  प्यास बुझाने कोतुम वहां रोज़ जाते होफिर भी उसे वैश्या कहतिरस्कृत करते होऔर ख़ुद सम्मानितकहलाते होबीवी के रहते हुए भीरासलीला रचाते होऔर ख़ुद को कृष्णसरीखे बताते होइतने सब पर भीजाने क्या बाकीरह जाता है कीतुम बलात्कारपर बलात्कारकरते होख़ुद को त...
प्यार ...
Tag :
  November 24, 2018, 12:30 pm
मेरे दिल काएक खाली कोना जो कभी भरा नहीं पर जब वो मिला तुम्हारे दिल  केखाली कोने से तो अनायास ही दोनों कोने भर गए और साथ हम भीहर खुशी और ग़मसाझा करते रहे बातों में खिलखिलाहट की लड़ियाँ पिरोते रहेऐसा लगा ज़िन्दगीआसां हो गयी पर अचानक तुमने खींच लिया अपने दिल के कोने को अपनी...
प्यार ...
Tag :
  November 16, 2018, 1:45 pm
हर रोज़ की तरह आज भी छत पर टहलने आयी मेरे दोस्त चाँद के समय परहम दोनों का यही तो समय होता है बेफिक्री का जब बतियाते हैं एक दूजे से दिन भर की तमाम बातें उलझने बांटते हैं ,पर आज वो दिखा ही नहींमैं बैचैन आस लगाएकरती रही इंतज़ार तभी देखा चुपके से मेरा दोस्त आया पर आज वो बिल्कुल ...
प्यार ...
Tag :
  November 14, 2018, 3:10 pm
मकड़ी एक चालाक बुनकर हैबुनती रहती है जाल फंसाती रहती है उस जाले मेंकीड़े मकोडों को जो फंसकर गँवा बैठते हैं अपनी जान वे बेचारे कीडे़ मकोडे़जो मकड़ी बुनती है जालाबनाती है फंदाइतराती है अपनी बुनकारी पर जीवन भर,वो भी एक दिन इसी जाले के साथ ख़त्म हो जाती हैमकड़ी की लाशउसी के...
प्यार ...
Tag :
  November 12, 2018, 1:26 pm
दीये की रौशनी सेजगमगाता रहे हमारेदेश का हर कोनासब के दिलों मेंजलती रहेप्यार की लौइंसानियत कीखुशबू से  महकता रहेहर इंसानग़रीब की झोपड़ीमें भी सुनाई देखुशियों की झंकारदीपोत्सव लाए ऐसी बहारमुबारक को आप सबकोदीवाली का त्योहार#रेवा#दीवाली...
प्यार ...
Tag :
  November 10, 2018, 11:47 am
कछुए के नाम से एक कहानी बहुत प्रसिद्ध है वो सही भी है पर सही ये भी है किकछुआ धीरे चलता है पर बुद्धू नहीं होता है खरगोश की चपलता को भली भांति समझता है जब उसका मन होता है अपने खोल में जा कर चिंतन मनन करता है और फिर दुगने जोश के साथचल पड़ता है और पहुंच जाता हैखरगोश से पहलेउस ठ...
प्यार ...
Tag :
  November 5, 2018, 3:51 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3875) कुल पोस्ट (188705)