Hamarivani.com

Ladli

बड़ा नज़दीक का रिश्‍ता है जिन्‍दगी से जिन्‍दगी का इसके बिना जिन्‍दगी के अर्थ समझ ही नहीं आते व्‍यर्थ लगता है सबकुछ ... जिन्‍दगी की आंखों में आंखे डालकर  जब भी कभी जिन्‍दगी हंसती है  सपने सजाती है अपनी उंगलियों से उसका सर सहलाती है  समझती है उसके मौन संवाद को पढ़ती है उसक...
Ladli...
sada
Tag :
  June 29, 2012, 3:39 pm
आपने देखा होगा,आपने जाना होगा,दिल ने इजाजत दी हो,या नहीं,पर आपने माना होगा ।रिवाज के नाम पर,रस्‍मों की दुहाई देते लोग ।लहू के नाम पर,रिश्‍तों  की दुहाई देते लोग ।जन्‍म देने वाली,होती एक मांफिर भी बेटे को,कुल का दीपक,बेटी को पराई ही,सदा कहते लोग.... थाम के उंगली चलना छोड़ दे ......
Ladli...
sada
Tag :
  May 1, 2012, 5:11 pm
उसे लिखना तो नहीं आता पर वो अश्‍कों की नमी के बीच हिचकियों के साये में अटक - अटक कर बोल रही थी इन शब्‍दों को मन द्रवित हो गया ... माँ  मुझे तुम खेलने को खिलौना मत दो पर मेरे मन को यह मत कहो कि वह खिलौना देखकर मचलना छोड़ दे  ... मेरे मन का बच्‍चा अभी भी तुम्‍हारे साये में चलता है उस...
Ladli...
sada
Tag :
  May 1, 2012, 4:24 pm
                 कोई बिटिया मां के आंचल में छिपी कोई मेरे कांधे चढ़ी,मैं इनकी हंसी के बीच यूं सदा हंसता खिलखिलाता रहा ।खबर पढ़ता कोई बुरी अखबार में या सुनता कहीं तोमैं रह-रह के वक्‍त और हालात पर तिलमिलाता रहा ।कोई मासूम जान आने से पहले धरा पर कत्‍ल होती, तब-तब कोई आंसू मेरी आ...
Ladli...
sada
Tag :
  March 13, 2012, 11:30 am
विश्‍वास का मंत्र बचपन से ही मेरे कानों में पढ़ा था मॉं ने जब भी उछालते थे बाबा हवा में मुझे मैं बिना भय के मुस्‍कराते हुए  इंतजार करती  कब वो मुझे अपनी हथेलियों में थाम लेंगे ...देखा था मेले में मैने उस छोटी लड़की को जो पतली सी रस्‍सी पर आगे बढ़ते हुए विश्‍वास के साथ हर कद...
Ladli...
sada
Tag :
  March 2, 2012, 11:27 am
मॉं कैसे तुम्‍हेंएक शब्‍द मान लूँदुनिया हो मेरी पूरी तुम ऑंखे खुलने से लेकर पलकों के मुंदने तक तुम सोचती हो मेरे ही बारे में हर छोटी से छोटी खुशी समेट लेती हो अपने ऑंचल में यूँ जैसे खज़ाना पा लिया हो कोई सोचती हूँ ...यह शब्‍द दुनिया कैसे हो गया मेरी पकड़ी थी उंगली जब ...
Ladli...
sada
Tag :मां का साथ / लाडली
  February 8, 2012, 3:16 pm
मां जब भी कोई पल मुझे तन्‍हा मिलता हैवो सिर्फ तेरी ही बात कर लिया करता है ।तेरा अहसास मेरे साथ चलता है वर्ना ये मासूम बच्‍चे सा हर कदम पर डरता है ।तेरे साथ होने का जज्‍बा दिल में इस कदर है,मन ही मन हर पल तुझे पुकार लिया करता है ।तुम कभी दुआ बनती कभी जिन्‍दगी हो जाती,तभी तो ख...
Ladli...
sada
Tag :लाडली/ मदर्स डे
  February 8, 2012, 12:31 pm
मॉं कैसे तुम्‍हेंएक शब्‍द मान लूँदुनिया हो मेरी पूरी तुम ऑंखे खुलने से लेकर पलकों के मुंदने तक तुम सोचती हो मेरे ही बारे में हर छोटी से छोटी खुशी समेट लेती हो अपने ऑंचल में यूँ जैसे खज़ाना पा लिया हो कोई सोचती हूँ ...यह शब्‍द दुनिया कैसे हो गया मेरी पकड़ी थी उंगली जब ...
Ladli...
sada
Tag :मां का साथ / लाडली
  February 8, 2012, 12:45 am
हौसले उम्‍मीद भरेपंजे के बल उछलनापकड़ना टहनी कोये ज़ौहर है  उनका जोकुछ कर गुज़रना चाहते हैंऐसे ही एहसास हैंमेरे आंगन मेंहर खुशी को पकड़तीचंचल हंसी सेमन को मोहती नन्‍हीं कली के  ...!!कोशिशें जब सेदस्‍तक देना सीख गई थीं, तभी तो वह जब तबहारकर भी नहीं हारती थी हिम्‍मतनिराश...
Ladli...
sada
Tag :
  January 2, 2012, 11:05 am
शब्‍दों को अर्थ देने का मन करे तो मां कह दो जब कुछ करने में असमर्थ हो तो मां कह दोचोटिल हो मन से तन से तो मां कह दो सुकून की तलाश हो जब तो मां कह दो तुम्‍हें कुछ भी असंभव लगे जब तो मां कह दो सज़दे में हो जब भी तो मां कह दो रक्षा के मंत्र जब अभिमंत्रित करने होतो मां कह दो सुन लेत...
Ladli...
sada
Tag :
  December 16, 2011, 1:05 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3652) कुल पोस्ट (163776)