POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: HINDI KAVITAYEN ,AAPKE VICHAAR

Blogger: Rajesh kumari
२१२२  ११२२  ११२२  २२रमल मुसम्मन मखबून मकतूअडूबते वक़्त दिया जिसको सहारा उसनेकर लिया पार उतरते ही किनारा उसनेफालतू आज समझकर जो मुझे काट रहा मेरी ही छाँव में बचपन था गुजारा उसनेदेख बदले हुए हालात हवाओं  के रुखमौज में छोड़ दिया जिस्म-ए शिकारा उसनेबात होने ... Read more
clicks 218 View   Vote 0 Like   6:24am 3 Apr 2016 #
Blogger: Rajesh kumari
 सतरंगी चुनरी पहन,आई फागुन भोरसतरंगी चुनरी पहन,आई फागुन भोर पिचकारी के मेह में,भीगे मन का मोर होली के सद्भाव में ,मुखड़े मिले अनेक नीले पीले रंग से ,हो जाते सब एक एक सूत्र में बाँधती,कई रंग की  डोर  सतरंगी  चुनरी पहन,आई फागुन भोर द्वेष क्लेश का त्याग ही,होली मूल प्रती... Read more
clicks 127 View   Vote 0 Like   6:14am 3 Apr 2016 #
Blogger: Rajesh kumari
रिमझिम सावन की फुहार आज मेरा भैय्या आएगाआया तीजो  का त्यौहार साथ मुझे  लेके जाएगाअम्बर पे बादल छायेसखियों ने झूले पाएभाभी ने गायी कजरीबाबा जी घेवर लाएकर लूँ अब मैं तनिक सिंगार आज मेरा भैया आएगाआया तीजो  का त्यौहार साथ मुझे  लेके जाएगादीवार पे कागा बोलेयादों की... Read more
clicks 149 View   Vote 0 Like   5:09pm 22 Aug 2015 #
Blogger: Rajesh kumari
जैसे ही कोई छुट्टी आती थी गाँव जाने का अवसर मिल जाता था चेहरा खिल उठता था  मन की मुराद पूरी जो हो जाती थी एक तो दादा जी, चाचा,चाची से मिलने की उत्सुकता दूसरे खेलने कूदने मस्ती करने की स्वछंदता हमेशा गाँव की ओर खींचती थी| उत्सुकता का एक कारण और भी था वो था  कौतुहल से बच्चो... Read more
clicks 177 View   Vote 0 Like   4:59pm 27 Jul 2015 #
Blogger: Rajesh kumari
कुण्डलिया छंद ==========सखियाँ झूला झूलती ,मिलकर देखो चार|तीजो के त्यौहार में ,करके नव सिंगार||करके नव सिंगार ,पहन परिधान सजीला|सजे किनारी लाल ,रंग साड़ी का पीला||गजरा पहने श्वेत ,श्याम कजरारी अखियाँ|बढ़ा रही दो पेंग ,साथ बैठी दो सखियाँ||... Read more
clicks 151 View   Vote 0 Like   1:47pm 21 Jul 2015 #
Blogger: Rajesh kumari
 बुरा णा मान्नो होळी सः खेल्यां खेल्यां मैं तो पक गी ,इन शहरां की होळी तः म्हारे गाम की बात निराळी,ये भी कोई होळी सः रंग णा चोक्खे इन शहरां के ,केमीकल की झिक झिक सः म्हारे गाम का गोबर कीचड, ही सबते ओरगेनिक सः ह्याँ होळी में डरें छोरियाँ,खुली हवा णा पावैं सः आँख मार दी किसी ... Read more
clicks 180 View   Vote 0 Like   5:23pm 7 Mar 2015 #
Blogger: Rajesh kumari
त्रिभंगी छंद हे भोले बकुले , श्यामल नकुले, अभिनय तेरा चोखा  है|यूँ बैठा उखडू ,जैसे कुकडू ,कर को  जोड़े  ,धोखा है|| तेरे हथकंडे ,मत के फंडे, जाने सब ये, नारी है| हे उजले तन के, गिरगिट मन के, जनता तुझपे, भारी है|| भांडे धुलवाओ,कुछ करवाओ, वोट मुझी को ,देना जी| सड़कें जापानी, बिजली प... Read more
clicks 192 View   Vote 0 Like   1:00pm 26 Feb 2015 #
Blogger: Rajesh kumari
लोग हुनरमंद कितने किसी को गुमाँ तक नहीं होता आग लगाते वो कुछ इस तरह जो धुआँ तक नहीं होता जह्र फैलाते हुए उम्र गुजरी भले  बाद में उनकी मैय्यत उठाने कोई यारों का कारवाँ तक नहीं होता आज यहाँ की बदल गई आबो हवा देखिये कितनी वृद्ध की माफ़िक झुका वो शजर जो जवाँ तक नहीं होता मूक ... Read more
clicks 184 View   Vote 0 Like   4:24pm 17 Dec 2014 #
Blogger: Rajesh kumari
लोग हुनरमंद कितने किसी को गुमाँ तक नहीं होता आग लगाते वो कुछ इस तरह जो धुआँ तक नहीं होता जह्र फैलाते हुए उम्र गुजरी भले  बाद में उनकी मैय्यत उठाने कोई यारों का कारवाँ तक नहीं होता आज यहाँ की बदल गई आबो हवा देखिये कितनी वृद्ध की माफ़िक झुका वो शजर जो जवाँ तक नहीं होता मूक ... Read more
clicks 191 View   Vote 0 Like   4:24pm 17 Dec 2014 #
Blogger: Rajesh kumari
आज तुमने बुलाया तो चली आई  मगर ये तुम भी जानते हो  न तुमने बुलाया दिल से न मैं दिल से आई  अच्छा हुआ जो तुम मेरी महफ़िल में नहीं आये क्यूंकि तुम अदब से आ नहीं सकते थे और मैं औपचारिकता निभा नहीं सकती थी आयोजन में कस के गले मिले और बोले  अरे बहुत दिनों बाद मिले हो अच्छा लगा... Read more
clicks 216 View   Vote 0 Like   5:03pm 16 Nov 2014 #
Blogger: Rajesh kumari
क्षमता से भारी-भरकम लेके सवारियाँ, खड़ी हुई स्टेशन पे लोहपथगामिनीडिब्बों में मारामारी ठूँस-ठूँस भरके चली,भीड़ से बेहाल करे भोर हो या यामिनी सीट नहीं मिले कोई छत पे छलांग रही ,बड़ी है निडर लाल साड़ी वाली कामिनी दूजे बाजू उसका लाल डिब्बों का अंतराल,बनी डोर ममता की द्रुत गत... Read more
clicks 213 View   Vote 0 Like   6:38am 6 Nov 2014 #
[ Prev Page ] [ Next Page ]


Members Login

Email ID:
Password:
        New User? SIGN UP
  Forget Password? Click here!
Share:
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3930) कुल पोस्ट (194346)