POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: DAANAPAANI

Blogger: माधवी रंजना
महादेव शिव के देश के अलग अलग हिस्सों में अनूठे मंदिर हैं। उनमें से एक है देहरादून शहर का टपकेश्वर महादेव मंदिर। यह महादेव शिव का अनूठा मंदिर है। गुफा में स्थित इस मंदिर में शिवलिंग पर लगातार गुफा से चल टपकता रहता है। इस तरह शिव का अनवरत जलाभिषेक होता रहता है।दरअसल टपक... Read more
clicks 19 View   Vote 0 Like   6:30pm 19 Sep 2019
Blogger: माधवी रंजना
लैंसडाउन चौक से चली सिटी बस पैवेलियन ग्रांउड, कर्जन रोड, राजापुर रोड होते हुए देहरादून के  कैंटोनमेंट इलाके से गुजरने लगी। इस क्षेत्र में उत्तरखंड सरकार के कई मंत्रियों के निवास हैं। आगे साफ सुथरा कैंट का इलाका आ गया। इस इलाके में ही उत्तराखंड सरकार का स्टेट गेस्ट ह... Read more
clicks 2 View   Vote 0 Like   6:30pm 17 Sep 2019
Blogger: माधवी रंजना
नीर झरना से लौटकर तपोवन पहुंचने के बाद लक्ष्मण झूला की तरफ चल पड़ा। वैसे तो यहां कई बार आ चुका हूं। पर हर बार यहां आना सुखकर और कुछ नया लगता है। लक्ष्मण झूला के इस पार प्रकाशानंद का मंदिर और धर्मशाला है। झूला के इस पार लक्ष्मण जी की विशाल प्रतिमा भी है। यहां पर फ्रूट ... Read more
clicks 19 View   Vote 0 Like   6:30pm 15 Sep 2019
Blogger: माधवी रंजना
हरिद्वार के देव संस्कृति विश्वविद्लाय से सुबह सुबह ऋषिकेश के लिए निकल पड़ा। हालांकि ऋषिकेश तो कई बार पहले भी आना हुआ है। पर इस बार हमारा लक्ष्य था नीर झरना तक पहुंचना। सुबह सुबह शांतिकुंज के बाहर आटो रिक्शा मिला गया उसने मुझे ऋषिकेश में लक्ष्मण झूला तक छोड़ दिया। अब ल... Read more
clicks 19 View   Vote 0 Like   6:30pm 13 Sep 2019
Blogger: माधवी रंजना
हरिद्वार ऋषिकेश मार्ग पर शांतिकुंज से थोड़ा आगे देव संस्कृति विश्वविद्यालय का परिसर है। सन 2002 में गायत्री परिवार ने इस विश्वविद्यालय की शुरुआत की। यह विश्वविद्यालय 70 एकड़ में आम बाग में बना हुआ है। कभी यह बिड़ला परिवार का आम का बगान हुआ करता था। विश्वविद्यालय के तमाम... Read more
clicks 20 View   Vote 0 Like   6:30pm 12 Sep 2019
Blogger: माधवी रंजना
हरिद्वार ऋषिकेश मार्ग पर स्थित शांतिकुंज आध्यात्मिक चेतना का प्रमुख केंद्र है। यहां जितनी बार भी जाएं नई प्रेरणा और नई ऊर्जा मिलती है। मैंने शांतिकुंज का नाम बचपन में पांचवी-छठी कक्षा में पढ़ाई के दौरान सुना था। वैशाली जिले के कन्हौली में हमारे घर एक सज्जन आते थे वि... Read more
clicks 49 View   Vote 0 Like   6:30pm 11 Sep 2019
Blogger: माधवी रंजना
दिल्ली की बस्ती निजामुद्दीन। हजरत निजामुद्दीन रेलवे स्टेशन से बाहर निकलकर मुख्य सड़क पर आने के बाद सड़क के उस पार एक बस्ती गुलजार है जिसका नाम है निजामुद्दीन। उसे यह नाम महान सूफी संत हजरत निजामुद्दीन के नाम पर मिला। कौन थे हजरत निजामुद्दीन। महान शायर अमीर खुसरो के ... Read more
clicks 36 View   Vote 0 Like   6:30pm 9 Sep 2019
Blogger: माधवी रंजना
दिल्ली की बस्ती निजामुद्दीन। हजरत निजामुद्दीन रेलवे स्टेशन से बाहर निकलकर मुख्य सड़क पर आने के बाद सड़क के उस पार एक बस्ती गुलजार है जिसका नाम है निजामुद्दीन। उसे यह नाम महान सूफी संत हजरत निजामुद्दीन के नाम पर मिला। कौन थे हजरत निजामुद्दीन। महान शायर अमीर खुसरो के ... Read more
clicks 15 View   Vote 0 Like   6:30pm 9 Sep 2019
Blogger: माधवी रंजना
साल 2019 में दिल्ली में सैलानियों के लिए एक नया आकर्षण तैयार हुआ। वह है स्क्रैप टू वंडर पार्क। यह एक ऐसा पार्क है जहां दुनिया के सात अजूबे एक ही जगह देखे जा सकते हैं। सेवेन वंडर्स ऑफ वर्ल्ड पार्क पर्यटकों के लिए 22 फरवरी 2019 खोल दिया गया। यहां दुनिया के सात अजूबों की रेप्लिका ... Read more
clicks 20 View   Vote 0 Like   6:30pm 7 Sep 2019
Blogger: माधवी रंजना
चरखा बापू के लिए स्वदेशी और स्वावलंबन का प्रतीक था। बापू और उनसे जुड़े हुए चरखों का संग्रह दिल्ली के राजघाट में और पटना के चरखा संग्रहालय में देखा जा सकता है। पर अब एक नया चरखा संग्रहालय दिल्ली के कनाट प्लेस में भी बन गया है। खादी ग्रामोद्योग भवन के उस पर पालिका मार्के... Read more
clicks 34 View   Vote 0 Like   6:30pm 5 Sep 2019
Blogger: माधवी रंजना
दिल्ली के अलीपुर रोड पर जहां बाबा साहेब आंबेडकर ने आखिरी दिन गुजारे थे अब शानदार स्मारक बन गया है।  13 अप्रैल 2018 को बाबा साहेब की जयंती की पूर्व संध्या पर प्रधानमंत्री ने दिल्ली के अलीपुर रोड पर डॉक्टर आंबेडकर राष्ट्रीय स्मारक का उद्घाटन किया। यह स्मारक 100 क... Read more
clicks 35 View   Vote 0 Like   7:00pm 3 Sep 2019
Blogger: माधवी रंजना
दिल्ली के इंडिया गेट पर करीब 40 एकड़ में 180 करोड़ की लागत से तैयार इस वॉर मेमोरियल आजादी के बाद हुए युद्ध में शहीदों की याद में बनाया गया है। 25 फरवरी 2019 को देश के पहला वॉर मेमोरियल राष्ट्र को समर्पित किया गया। यह राजधानी दिल्ली के केंद्र में एक नया स्मारक है।कई युद... Read more
clicks 64 View   Vote 0 Like   6:30pm 2 Sep 2019
Blogger: माधवी रंजना
दिल्ली के रोशन आरा पार्क से आगे बढ़ते हुए आप कमला नगर की तरफ पहुंच जाते हैं। देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरु की पत्नी के नाम पर बसा ये इलाका दिल्ली के सबसे पुराने महंगे बाजारों में शुमार है। यहां खरीददारी के लिए बड़े शोरूम तो खाने पीने के कुछ प्रसिद्ध रे... Read more
clicks 29 View   Vote 0 Like   6:30pm 1 Sep 2019
Blogger: माधवी रंजना
दिल्ली के पुल बंगश मेट्रो स्टेशन के पास पहुंच गया हूं। यहां से रोशन आरा पार्क जाने की सोच रहा हूं। बर्फखाना चौक से बैटरी रिक्शा वाले शक्तिनगर की तरफ जा रहे हैं। उसमें बैठ जाता हूं। देख रहा हूं सड़क का नाम रोशन आरा रोड ही है। थोड़ी देर बाद रोशन आरा पार्क की बाउंड्री आ गई ह... Read more
clicks 32 View   Vote 0 Like   6:30pm 31 Aug 2019
Blogger: माधवी रंजना
उत्तरी दिल्ली के बाड़ा हिंदुराव अस्पताल। यूं तो यह दिल्ली का एक व्यस्त सरकारी अस्पताल और मेडिकल कालेज का कैंपस है। पर इस अस्पताल के कैंपस के अंदर और आसपास कई ऐतिहासिक इमारते हैं। इन इमारतों में प्रमुख है पीर गायब की मजार और एक पुरानी बाउली। ये दोनों स्मारक अस्पताल पर... Read more
clicks 28 View   Vote 0 Like   6:30pm 30 Aug 2019
Blogger: माधवी रंजना
राजधानी दिल्ली में हजारों ऐतिहासिक स्मारक हैं। इनमें कई सौ मकबरे भी शामिल हैं। पर आपको पता है कि इनमें कई मकबरे गुमनाम भी हैं,  यानी ये किसका मकबरा है सही सही नहीं पता चलता। तो आज चलते हैं ऐसे ही एक गुमनाम मकबरे की  ओर। यूं तो साउथ एक्सटेंशन दिल्ली का ग्लैमरस बाजार बन... Read more
clicks 6 View   Vote 0 Like   6:30pm 30 Aug 2019
Blogger: माधवी रंजना
दिल्ली के पुलबंगश मेट्रो स्टेशन से उतरिए और बाड़ा हिंदुराव अस्पताल की ओर चलिए। इस इलाके में आपको इतिहास के कुछ पन्ने दिखाई देंगे। इनमें से एक है अशोक स्तंभ।दिल्ली में हैं दो अशोक स्तंभ - वैसे तो दिल्ली में सम्राट अशोक द्वारा स्थापित दो स्तंभ है। हालांकि मूल रूप से द... Read more
clicks 35 View   Vote 0 Like   6:30pm 29 Aug 2019
Blogger: माधवी रंजना
जब 1857 में सिपाही विद्रोह हुआ तो विद्रोही सैनिकों ने दिल्ली की ओर कूच कर दिया था। इस विद्रोह में ब्रिटिश सेना के कई सिपाही मारे गए थे। उनकी याद में दिल्ली में एक स्मारक बना है। इसे कहते हैं म्युटिनी मेमोरियल। यह म्युटिनी मेमोरियल दिल्ली के कश्मीरी गेट बस अड्डे से ज्या... Read more
clicks 40 View   Vote 0 Like   7:00pm 28 Aug 2019
Blogger: माधवी रंजना
दिल्ली का अति व्यस्त महाराणा प्रताप अंतरराष्ट्रीय बस अड्डा। पर आप बस अड्डे के आसपास कुछ सुकुन के पल गुजारने के लिए किसी हरे भरे स्थान पर जाना चाहते हैं तो एक विकल्प हो सकता है कुदुसिया बाग। ये कुदुसिया बाग कश्मीरी गेट बस अड्डे से यमुना पुल की ओर जा रहे फ्लाईओवर के उत्त... Read more
clicks 29 View   Vote 0 Like   6:30pm 28 Aug 2019
Blogger: माधवी रंजना
क्या आपको पता है कि मौलाना अबुल कलाम आजाद की मजार कहां है। स्वतंत्र भारत के पहले शिक्षा मंत्री, आईआईटी, आईआईएम, यूजीसी जैसी संस्थाओं की शुरुआत करने वाले मौलाना आजाद की मजार दिल्ली के जामा मसजिद के पास मीना बाजार में है। हालांकि आसपास के बहुत कम लोगों को इस मजार के बारे ... Read more
clicks 26 View   Vote 0 Like   6:30pm 27 Aug 2019
Blogger: माधवी रंजना
आपको पता ही होगा दिल्ली भारत की राजधानी कब बनी। वह 1911 का साल था। जब ब्रिटिश शासन ने राजधानी को कोलकाता से दिल्ली लाने की योजना बनाई। इस मौके पर भव्य दिल्ली दरबार का आयोजन किया गया। पर यह दिल्ली दरबार कहां हुआ था। इसका जवाब है कोरोनेशन पार्क। यह कोरोनेशन पार्क कहां है। ज... Read more
clicks 26 View   Vote 0 Like   6:30pm 26 Aug 2019
Blogger: माधवी रंजना
देश के कई हिस्सों में मंदिर के नाम पर झगड़े होते हैं। दो धर्मों के लोग लड़ते हैं। राम जन्मभूमि और बाबरी मसजिद का विवाद तो सैकड़ों सालों से चलता आ रहा है। पर बरेली की पहचान एक ऐसे मंदिर से है जो सांप्रदायिक सौहार्द का प्रतीक है। शहर में एक ऐसा मंदिर है जिसे एक मुस्लिम परि... Read more
clicks 29 View   Vote 0 Like   6:30pm 25 Aug 2019
Blogger: माधवी रंजना
देश के कई हिस्सों में मंदिर के नाम पर झगड़े होते हैं। दो धर्मों के लोग लड़ते हैं। राम जन्मभूमि और बाबरी मसजिद का विवाद तो सैकड़ों सालों से चलता आ रहा है। पर बरेली की पहचान एक ऐसे मंदिर से है जो सांप्रदायिक सौहार्द का प्रतीक है। शहर में एक ऐसा मंदिर है जिसे एक मुस्लिम परि... Read more
clicks 7 View   Vote 0 Like   6:30pm 25 Aug 2019
Blogger: माधवी रंजना
हेलियोडोरस स्तंभ देखने के बाद विदिशा शहर में पहुंच गया हूं। आटोरिक्शा ने हमें विदिशा शहर के उत्तरी छोर पर उतार दिया है। यहां पर मेला लगा हुआ है। मैं पैदल चलता हुआ शहर को देखता हुआ आगे बढ़ रहा हूं।कुशवाहा धर्मशाला से थोड़ा आगे चलने पर मैंने एक दुकानदार से पूछा कि मुझे स... Read more
clicks 45 View   Vote 0 Like   6:30pm 24 Aug 2019
Blogger: माधवी रंजना
उदयगिरी से हमलोग विदिशा की राह पर हैं। पर हमारी उत्सुकता पहले हेलियोडोरस स्तंभ देखने की है। खास तौर पर विदिशा का रहा हमने इसी स्तंभ को देखने के लिए पकड़ी है। तो हमारा आटो रिक्शा विदिशा शहर में नहीं प्रवेश करता है। दरअसल यह स्तंभ विदिशा शहर से चार किलोमीटर बाहर स्थित ह... Read more
clicks 27 View   Vote 0 Like   6:30pm 22 Aug 2019
[ Prev Page ] [ Next Page ]


Members Login

Email ID:
Password:
        New User? SIGN UP
  Forget Password? Click here!
Share:
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3911) कुल पोस्ट (191547)