Hamarivani.com

my dreams 'n' expressions.....याने मेरे दिल से सीधा कनेक्शन.....

बदलते दौर में सब कुछ अलग सूरत अख्तियार करता जा रहा है.....यहाँ तक की भावनाएं भी बदल गयी हैं....सोच तो बदली ही है|प्रेम जैसा स्थायी भाव भी कुछ बदला बदला लगने लगा है...दैनिक भास्कर की पत्रिका अहा! ज़िन्दगी में प्रकाशित मेरी लिखी आवरण कथा आपके साथ साझा कर रही हूँ| उम्मीद है आपको पस...
my dreams 'n' expressions.....याने मेरे दिल से सी...
Tag :
  January 10, 2017, 12:26 pm
दैनिक भास्कर की पत्रिका - अहा ! ज़िन्दगी  में प्रकाशित मेरी एक आवरण कथा.... बदलाव में छुपा है भविष्यसमूचे ब्रह्माण्ड में जो भी बना है उसे मिटना होता है,नव निर्माण के लिए ये एक आवश्यक शर्त है और प्रकृति का नियम भी|वक्त के साथ संस्कृति बदलती है, समाज बदलता है, साहित्य बदलता ...
my dreams 'n' expressions.....याने मेरे दिल से सी...
Tag :
  April 24, 2016, 8:45 am
बहुत दिनों से कविता या नज़्म लिखना जैसे बंद ही हो गया था.....कहानियाँ लिखते लिखते जैसे छंद रूठ गए हों मुझसे.....मन के सारे भाव गद्य बन कर ही निकलते....मगर शायद मन को मनाना आता है......लिखी है एक कविता आज....अच्छा लगा ब्लॉग पर आना भी.....सितोलियाखेलने की उम्र थीहाँ! तो?खेल कर ही बिताई !! पील...
my dreams 'n' expressions.....याने मेरे दिल से सी...
Tag :
  April 4, 2016, 12:44 am
+++++++++हंसती हुई लड़कियों के भीतरउगा होता है एक दरख़्तउदासियों का,जिनमें फलते हैं दर्द बारों महीने...और ठहरी हुई उदास आँखों वाली लड़कियों के भीतर बहता है एक चंचल झरनामीठे पानी का...आसमान की ओर तकती लड़कियों मेंनहीं होती एक भी ख्वाहिशएक भी उम्मीद ,कि उसने नाप रखी हैअपने मन से क्...
my dreams 'n' expressions.....याने मेरे दिल से सी...
Tag :
  June 22, 2015, 7:34 pm
इस बार "विश्व पुस्तक मेला "देखने दिल्ली जाना हुआ.....अपने पहले काव्य संग्रह "इश्क़ तुम्हें हो जाएगा "को प्रकाशक "हिन्दयुग्म"के स्टाल पर सजा हुआ देखने का अपना ही सुख था... कुछ प्रिय पाठकों  को हस्ताक्षरित प्रति देते समय जो अनुभूति हुई वो अविस्मर्णीय है!काव्य संग्रह इन्फीबी...
my dreams 'n' expressions.....याने मेरे दिल से सी...
Tag :
  February 26, 2015, 12:01 pm
एक दर्द सा बहता आया हैकुछ चीखें उड़ती आयीं है दहशत की सर्द हवाओं के संगखून फिजां में छितराया है....कुछ कोमल कोमल शाखें थींकुछ कलियाँ खिलती खुलती सींएक बाग़ को बंजर करने को ये कौन दरिंदा आया है ?हैरां हैं हम सुनने वालेआसमान भी गुमसुम है,कतरा कतरा है घायल हर इक ज़र्रा घबराया ह...
my dreams 'n' expressions.....याने मेरे दिल से सी...
Tag :
  January 14, 2015, 10:08 pm
सुनिये मेरी लिखी कहानी -"शिवकन्या "नीलेश मिश्रा की जादुई आवाज़ में........:-)just click the link.. आप मेरी लिखी सभी कहानियां you tube पर सुन सकते हैं ! मेरा नाम और यादों का इडियट बॉक्स सर्च करें बस :-)यादों के इडियट बॉक्स में - मेरी लिखी कहानी "शिवकन्या "*******************************************************************************...
my dreams 'n' expressions.....याने मेरे दिल से सी...
Tag :
  December 8, 2014, 3:18 pm
पढ़िए मेरी लिखी कहानी -  "मिष्टी' जो मध्यप्रदेश जनसंदेश के साप्ताहिक "कल्याणी "में आज प्रकाशित हुई है | “ मिष्टी “मुझे इसी घर में रहना है , इसी घर में...बस !! कहते हुए मिष्टी अमोल के गले से झूल गयी | अरे बाबा रुको तो ज़रा,देखने तो दो कि घर में कमरे कितने हैं, कैसे हैं , किराया कि...
my dreams 'n' expressions.....याने मेरे दिल से सी...
Tag :
  November 2, 2014, 12:05 am
बदल रहा है मौसमसर्द हवा की छुअन !ठीक उस लड़की के नर्म स्पर्श की तरहजिसने अभी अभी सीखा है प्रेम करना.....यूँ आते हैं त्योहारों वाले दिन !और यूँ आती हैं खुशियाँ............................................दैनिक जागरणके राष्ट्रीय संस्करण में "रचनाकर्म "में मेरी किताब"इश्क तुम्हें हो जाएगा "की समीक्षा सी...
my dreams 'n' expressions.....याने मेरे दिल से सी...
Tag :
  October 12, 2014, 8:08 pm
आजकल लिख रही हूँ कहानियाँ  नीलेश मिश्रा के याद शहर के लिए....92.7 BIG FM में ये कहानियां पढ़ते हैं नीलेश अपनी रूहानी आवाज़ में...................आप भी सुनिये मेरी लिखी कहानी "महक मिट्टी की "लिंक दे रही हूँ.....पढने से ज्यादा आपको सुनने में आनंद आएगा ! https://www.youtube.com/watch?v=cvPYY9jqcmo&index=2&list=PLRknjC5MPHa29hPAM0Mg1IfFEUuFkqeBxमहक मि...
my dreams 'n' expressions.....याने मेरे दिल से सी...
Tag :
  September 19, 2014, 11:55 am
दुष्यंत संग्रहालय, भोपाल में सरोकार संस्था द्वारा बेटियों पर आधारित समारोह - मेरी जिस कविता को सम्मान और सराहना मिली वो साझा कर रही हूँ....."भेदभाव "मिट्टी नहीं करती भेदभावअपने भीतर दबे बीजों पर...होते हैं सभी बीज अंकुरितऔर लहलहाते हैंफूलते हैं, खिलते हैं....मनुष्य ऐसा न...
my dreams 'n' expressions.....याने मेरे दिल से सी...
Tag :
  September 9, 2014, 9:09 am
आप सभी को ईद मुबारक.....साथ ही एक तोहफ़ा, मेरी तरफ से ईदी :-)सुनिए मेरी लिखी कहानी "दीदी की ईदी"नीलेश मिश्रा की ज़बानी ! 92.7 big fm यादों का इडियट बॉक्स में.बस इस लिंक पर क्लिक करें.....https://www.youtube.com/watch?v=SRh9qcmgV7g&list=PLRknjC5MPHa0ORz6ublg_ll9OciXprAjA&index=1दीदी की ईदी  नाज़ , नगमा, और आलिया के बाद पैदा हुआ था अनवार | ज़ाहिर ह...
my dreams 'n' expressions.....याने मेरे दिल से सी...
Tag :
  July 29, 2014, 8:21 am
आप सभी के स्नेह और आशीर्वाद से मेरा पहला काव्य संग्रह प्रकाशित हो गया है....                                        ~ "इश्क़ तुम्हें हो जाएगा "~ बड़े अरमानों से ये पहला कदम बढ़ाया है......आप सभी के स्नेह और आशीर्वाद के आकांक्षी हूँ...अगर आप मेरी लिखी कवितायें पढ़ना च...
my dreams 'n' expressions.....याने मेरे दिल से सी...
Tag :
  July 12, 2014, 10:46 pm
सरसराती ,फन उठाती बिन बुलाये ,अनचाही  एकयाद गुज़री.....जाने कब कीबीती बितायीबासी पड़ी एक बात गुज़री...ले गयी वोचैन मन काआंसुओं मेंरात गुज़री.....भीगे भीगे ख्वाब सारेभीगे थे हर सू नज़ारेबादलों में भीगतीबारात गुज़री.....महके गुलाबीकागजों मेंझूठी एकसौगात गुज़री....बंद करकेरख दिए थेम...
my dreams 'n' expressions.....याने मेरे दिल से सी...
Tag :
  June 17, 2014, 12:52 pm
गुनगुना रही थी झीलएक बंदिश राग भैरवी कीकि पानी में झलक रहा था अक्सउसके ललाट की बिंदी का |उसके डूबे हुए तलवों नेपवित्र कर दिया था पानीकि घुल रही थी पायलों की चांदीधीरे धीरे.....झील की सतह पर उँगलियों से अपनीवो लिखती रहीप्रेम !!पढ़ा था झील ने ,और उसकोफ़रिश्ता करार दिया |~अनुलता...
my dreams 'n' expressions.....याने मेरे दिल से सी...
Tag :
  June 6, 2014, 11:53 am
 दुनिया में सबसे सुन्दर रिश्ता माँ और उसके बच्चे के बीच होता है......इस रिश्ते की वजह से जीवन में कई खट्टे मीठे अनुभव होते हैं.....सुनिए मेरी कहानी "स्नेहा "Neelesh Misraकी जादुई आवाज़ में.......जिसे सुनकर आपकी पलकें भीगेंगी मगर होंठ मुस्कुराएंगे......ये कहानी मैंने "यादों का इडियट बॉक्स ...
my dreams 'n' expressions.....याने मेरे दिल से सी...
Tag :
  May 25, 2014, 8:04 pm
पढ़िए दैनिक भास्कर के डीबी स्टार (extra shot) में प्रकाशित मेरा व्यंग..............व्यंग लिखने का ये मेरा पहला प्रयास था :-)पार्टी पूरे जोर पर थी......ग्लास पर ग्लास खाली किये जा रहे थे......म्यूजिक ज़रा सा धीमा हुआ तो शर्मा जी ने अपने लाडले बेटे को आवाज़ दी......फिर फ़ख्र से दोस्तों की ओर मुखातिब होक...
my dreams 'n' expressions.....याने मेरे दिल से सी...
Tag :
  May 19, 2014, 7:41 am
स्त्री के भीतरउग आती हैं और एक स्त्रीया अनेक स्त्रियाँ.....जब वो अकेली होती हैऔर दर्द असह्य हो जाता है |फिर सब मिल कर बाँट लेती हैं दुःख !औरत अपने भीतर उगा लेती है एक बच्चाऔर खेलती हैं बच्चों के साथखिलखिलाती है,तुतलाती है  घुलमिल कर !रूपांतरण की ये कला ईश्वर प्रदत्त है |कभ...
my dreams 'n' expressions.....याने मेरे दिल से सी...
Tag :
  April 27, 2014, 10:18 am
"मेरी प्रिय लेखिका मन्नू भंडारी जी पर लिखा मेरा ये आलेख आधी आबादी पत्रिका के ताज़ा अंक में प्रकाशित"जन्म- 3 अप्रैल 1931“एक कहानी यह भी” के पन्ने पलटते-पलटते मैं डूबती जा रही थी हिन्दी की एक बेहद लोकप्रिय कथाकार महेंद्र कुमारी - ”मन्नू भंडारी” की जीवन सरिता में | मन्नू जी की य...
my dreams 'n' expressions.....याने मेरे दिल से सी...
Tag :
  April 22, 2014, 6:47 pm
रख कर हाथनीले चाँद के सीने परहमने खायीं थीं जो कसमेंवो झूठी थीं |मुझे लगा तुम सच्चे हो,तुम्हें यकीन था मुझ पर....इसलिए तो खाई जाती हैं कसमेंअपने अपने झूठ परसच की मोहर लगाने को !~अनुलता ~...
my dreams 'n' expressions.....याने मेरे दिल से सी...
Tag :
  April 17, 2014, 12:20 pm
चुप थे तुमजब पूछा था लोगों नेमेरा तुम्हारा रिश्ता...चुप लगा जाते हैं लोगअक्सर यूँ हीकि वो एक सुरक्षा कवच है उनका !गूंगी हो जाती है रातजब चीखती है कोई बेबस..चुप रहता है समाजसिसकियाँ सुन कर भी !बादलों के फट जाने परसवाल करती हैं लाशें...और मौन रहता है आसमान |खामोश रहते वृक्षपत...
my dreams 'n' expressions.....याने मेरे दिल से सी...
Tag :
  April 9, 2014, 3:20 pm
“शेल सिल्वरस्टीन” की एक प्रसिद्द कविता है – जो संवाद है एक बच्चे और बुज़ुर्ग के बीच |बच्चा कहता है – मैं खाते वक्त कभी चम्मच गिरा देता हूँ|बुज़ुर्ग कहता है - मैं भी बच्चा फुसफुसाता है - मैं कभी अपनी पैंट गीली कर देता हूँ |बुज़ुर्ग- मैं भीबच्चा- मैं रोता हूँबुज़ुर्ग- मैं भी बच्च...
my dreams 'n' expressions.....याने मेरे दिल से सी...
Tag :
  March 15, 2014, 12:28 pm
अंगूरी हो रक्खे थे बादल उस रोज़,गहरे नीले आकाश मेंगुच्छा गुच्छा छितरेजमुनी गुलाबी रंगत लिएधूसर बादल....तुमने कहाये बादलतुम्हारे आंसुओं की वाष्प से बने हैं !मैंने मान लिया था उस रोज़ कि तुम दुनिया कीसबसे दुखी लडकी थी |वो बड़ी स्याह रात थीतूफानी,खूब बरसे थे वो बादलगुलाबी जम...
my dreams 'n' expressions.....याने मेरे दिल से सी...
Tag :
  March 12, 2014, 7:24 pm
आज एक उदास दिन था..... कि मन की उदासियों को ज़रा आराम मिला....जब शाम को मार्च कीअहा ! ज़िन्दगीहाथ में आयी!इस बार की अहा! ज़िन्दगी की थीम थी जीवन में सुख की सीढियाँ !और एक सूत्र "संवेदना"की बागडोर पत्रिका ने  हमारे हाथ में सौपीं.आप भी पढ़िए अहा! ज़िन्दगी में प्रकाशित मेरा आलेख !!~संव...
my dreams 'n' expressions.....याने मेरे दिल से सी...
Tag :
  March 5, 2014, 7:32 pm
टीना मुनीम अम्बानी कभी मेरी पसंदीदा अभिनेत्री नहीं रहीं | मगर उन पर एक आलेख लिखा | बस एक अनचाहा assignment मान कर उनके बारे में पढना शुरू किया तो लगा कि एक ठीक-ठाक सी अभिनेत्री होने के अलावा उन में कई खूबियाँ हैं .......आलेख के पूरा होते होते मुझे पसंद आने लगीं "टीना" :-) पढ़िए "आधी आबादी"...
my dreams 'n' expressions.....याने मेरे दिल से सी...
Tag :
  February 19, 2014, 2:04 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3652) कुल पोस्ट (163572)