Hamarivani.com

निर्झर लेखनी, जिससे अक्षर और शब्द निरन्तर झरते रहते हैं...

इसब्लॉग का नाम “निर्झर-लेखनी” है, अतएव इसका पहला पोस्ट भी “निर्झर लेखनी” ही होना चाहिए ना! परन्तु चलिए मैं इस निर्झर लेखनी से आपका परिचय करा देता हूँ। हाँ, यह वही निर्झर लेखनी है, जिसे आप फाउन्टेन पेन के नाम से जानते हैं। वाटरमैन के फाउन्टेन पेन के आविष्कार से पहले एक खर...
निर्झर लेखनी, जिससे अक्षर और श...
Tag :निर्झर लेखनी
  February 21, 2013, 8:27 pm
इस ब्लॉग का नाम “निर्झर-लेखनी” है, अतएव इसका पहला पोस्ट भी “निर्झर लेखनी” ही होना चाहिए ना!परन्तु चलिए मैं इस निर्झर लेखनी से आपका परिचय करा देता हूँ। हाँ, यह वही निर्झर लेखनी है, जिसे आप फाउन्टेन पेन के नाम से जानते हैं। वाटरमैन के फाउन्टेन पेन के आविष्कार से पहले एक खर...
निर्झर लेखनी, जिससे अक्षर और श...
Tag :
  February 19, 2013, 8:37 am
नाम गुम जाएगा, चेहरा यह बदल जायेगा; मेरी आवाज़ ही पहचान है, ग़र याद रहे...। क्या आपको १९७७ की हिन्दी फिल्म "किनारा" का भूपिन्दर और लता मंगेशकर द्वारा गाये, हेमा मालिनी और धर्मेन्द्र / जितेन्द्र पर फिल्माए, गुलज़ार द्वारा लिखे और आर० डी० वर्मन द्वारा संगीतबद्ध किये गए इ...
निर्झर लेखनी, जिससे अक्षर और श...
Tag :इतिहास
  February 15, 2013, 9:29 pm
श्रोत: http://cardillowiki.pbworks.comमुनादीकी जाती है जनता के लिए और खास-ओ-आम के लिए... यह बताने के लिए कि सजदे में झुके रहें...जब तक कमर और रीढ़ की हड्डी टूट न जाये...। कब तक निरीह जनता जानवर, ढोर-डंगरों की तरह हाँकी जाती रहेगी...?धर्मवीर भारती द्वारा 1975-77 के आपातकाल के समय लिखी गयी यह एतिहासिक कवि...
निर्झर लेखनी, जिससे अक्षर और श...
Tag :समसामयिक
  January 7, 2013, 11:39 pm
श्रोत: http://www.atlasmissilesilo.comक्याआपने परमाणु परीक्षण देखा है?मेरे इस प्रश्न से चौंकिये मत! आप इसे शायद अतिप्रश्न समझने की भूल कर सकते हैं। ऐसे अतिप्रश्न जिनका उत्तर हाँ में देना सम्भव ही नहीं है।उदाहरण के लिए, -- क्या आप सो गये हैं?-- क्या आप मर गये हैं? आप सोच सकते हैं कि परमाणु परीक...
निर्झर लेखनी, जिससे अक्षर और श...
Tag :प्रकृति
  November 4, 2012, 12:52 pm
श्रोत: http://app.cku.dkभारतमें प्राचीन काल से विदूषकों की एक लम्बी परम्परा रही है। विदूषक को भारतीय नाट्य शास्त्र में एक हँसाने वाले पात्र या हास्य कलाकार के रूप में देखा जाता रहा है। वह कभी स्वयं का या कभी अपने परिवेश का मजाक बनाता है या माखौल उड़ाता है। यह एक ओर नाटक की नीरसता ...
निर्झर लेखनी, जिससे अक्षर और श...
Tag :इतिहास
  October 31, 2012, 2:59 am
हिन्दीदिवस आने वाला है। इसके उपलक्ष्य में "हिन्दी सप्ताह", "हिन्दी पखवाड़े" जैसे आयोजन प्रारम्भ हो चुके हैं। क्या इन सब आयोजनों से हिन्दी को कोई वास्तविक लाभ पहुँचता है? मुझे इसमें सन्देह है। परन्तु इसके आयोजकों को लाभ अवश्य पहुँचता है। यह अवसर होता है, इन हिन्दी के तथाक...
निर्झर लेखनी, जिससे अक्षर और श...
Tag :निर्झर लेखनी
  September 12, 2012, 8:14 am
श्रोत: http://1.bp.blogspot.com/कृपा!आज कृपा एक ऐसी वस्तु (Commodity) है, जिसकी आवश्यकता हम सब हो है। जावेद अख्तर के स्टाइल में "कृपा है तो धन्धा है, धन्धा है तो धन है, धन है तो चढावा है, चढावा है तो निर्जल बाबा है, निर्जल बाबा हैं तो उनका दरबार है, दरबार है तो कृपा" है। इस कृपा के पूरे चक्र में निर्ज...
निर्झर लेखनी, जिससे अक्षर और श...
Tag :निर्झर लेखनी
  August 22, 2012, 10:28 pm
श्रोत: http://www.adaptgov.comक्याकिताबों में लिखा सब सच होता है? विगत दिनों प्रकाशित हुई कुछ पुस्तकों और इसके उपरान्त मचा तहलका यह सोचने पर विवश कर देता है की क्या किताब में लिखा सब सच ही होता है? मेरे इस कथन का उद्देश्य किसी महापुरुष, विभूति या माननीय पर उँगली उठाना नहीं है। पर उनके ...
निर्झर लेखनी, जिससे अक्षर और श...
Tag :निर्झर लेखनी
  July 11, 2012, 9:52 pm
साहित्यऔर इतिहास में एक बड़ा अन्तर है। इतिहास में ईस्वी सन् और स्थान को छोड़कर बाकी चीजें गलत रहती हैं (गलत से मेरा तात्पर्य इतिहासकर की दृष्टि, विचार, कल्पना और पूर्वाग्रह से है, जो कभी-कभी इतिहासकार के संज्ञान के बिना ही इतिहास का हिस्सा बन जाती हैं), जबकि साहित्य में ...
निर्झर लेखनी, जिससे अक्षर और श...
Tag :निर्झर लेखनी
  July 2, 2012, 1:05 am
श्रोत: http://zeropassiveincome.comजबमैं किसी दरिद्र को देखता हूँ, तो सहज ही दरिद्रनारायण के दर्शन हो जाते हैं। इसी तरह एक बार कहीं जाते हुए सहज ही शिव के दर्शन हो गये, पर बड़े ही भयावह रूप में। शिव अशुभ लक्षणों से युक्त हैं, भयंकर हैं, महाकाल हैं। पर शिव सबसे बड़े शुभंकर भी हैं, जो हलाहल पीकर ...
निर्झर लेखनी, जिससे अक्षर और श...
Tag :निर्झर लेखनी
  June 22, 2012, 8:50 pm
श्रोत: http://www.thaindian.comसामान्य तौर पर मैं किसी भी दस्तावेज, प्रस्ताव, मसौदे आदि के किसी ब्लॉग पर पुनर्प्रकाशन का पक्षधर नहीं हूँ। पर कई तथ्य ऐसे होते हैं, जो बार-बार चर्चा के विषय बनते हैं और इनपर सम्यक चिन्तन और मन्थन आवश्यक है। ऐसे कई मुद्दे बार-बार गोष्ठियों और सम्मेलनों मे...
निर्झर लेखनी, जिससे अक्षर और श...
Tag :निर्झर लेखनी
  June 20, 2012, 4:19 pm
श्रोत: http://days.jagranjunction.comआधुनिकभारतीय परिपेक्ष्य में साहित्य की बात करें या थोड़ा आत्मकेन्द्रित होकर केवल हिन्दी की बात करें, तो आत्म-गौरव के क्षणों की विरलता कई विषमताओं, अधूरेपन और भटकाव को रेखांकित करता है। आत्म-गौरव क्षणों से मेरा अभिप्राय कभी भी हिन्दी के क्षेत्र में म...
निर्झर लेखनी, जिससे अक्षर और श...
Tag :निर्झर लेखनी
  June 15, 2012, 12:17 pm
श्रोत: http://static.weadapt.orgदावानल!जंगल की आग। सुना है बड़ा ही भयावह होता है। हो सकता है कि आप में से कुछ ने उसे देखा और प्रत्यक्ष अनुभव भी किया हो। परन्तु अधिकतर ने इसे केवल सुना होगा या टेलीविजन पर ही देखा हो। इसकी भयावहता को पूर्ण अनुभव इससे साक्षात होने पर ही होता है। हमारे देश म...
निर्झर लेखनी, जिससे अक्षर और श...
Tag :प्रकृति
  June 15, 2012, 11:41 am
http://wikimedia.orgआजशनिवार है यानि कि शनिदेव का दिन! शनिदेव देवताओं में उसी प्रकार सबसे अधिक कुख्यात हैं, जिस प्रकार ऋषियों में दुर्वासा, परशुराम आदि! इनकी कृपा पाने में भले ही वर्षों लगते हों, इनके कोप पात्र आप क्षण भर में बन सकते हैं। यह चाहें तो क्षण भर में शाप देकर आपको भस्म कर ...
निर्झर लेखनी, जिससे अक्षर और श...
Tag :विविधा
  June 2, 2012, 3:10 pm
श्रोत: http://1.bp.blogspot.comदूरदर्शनके उदघोषकों को श्रद्धांजलि! यह दूरदर्शन के उन उदघोषकों को समर्पित नहीं है जो दिवंगत हो गए या यह श्रद्धांजलि उनके लिए भी नहीं है, जो सेवा निवृत हो गए या हाशिए पर धकेल दिए गए। भगवान उनको लम्बी आयु दें।यह श्रद्धांजलि वास्तव में दूरदर्शन के उन उदघो...
निर्झर लेखनी, जिससे अक्षर और श...
Tag :विविधा
  June 1, 2012, 1:14 pm
श्रोत: http://egov.eletsonline.comआपको जीने के लिए क्या चाहिए - रोटी, कपड़ा और मकान। शायद आपका कोई प्रियजन भी...। आप अपनी पत्नी या किसी महिला मित्र की चापलूसी और खुशामद में उसका नाम भी जोड़ सकते हैं या फिर पुत्र-पुत्री जैसे किसी प्रियजन का। आप अपनी हॉबी जैसे क्रिकेट, पेन्टिंग, संगीत आदि के ...
निर्झर लेखनी, जिससे अक्षर और श...
Tag :विविधा
  May 9, 2012, 12:18 am
श्रोत: http://thelowcountriesblog.onserfdeel.beनाममें क्या रखा है? (What's in the name?) ऐसा शेक्सपियर ने रोमियो और जूलियट में कहा था। आगे उन्होंने कहा था कि हम गुलाब को कोई और नाम क्यों ना दे दें, उसका रूप और खुशबू वही रहेगी। इसका अर्थ तो यही हुआ न कि नाम से ज्यादा काम महत्वपूर्ण है। एक महापुरुष ने कहा कि उन...
निर्झर लेखनी, जिससे अक्षर और श...
Tag :विविधा
  April 15, 2012, 12:59 pm
इसब्लॉग का नाम “निर्झर-लेखनी” है, अतएव इसका पहला पोस्ट भी “निर्झर लेखनी” ही होना चाहिए ना! श्रोत: http://4.bp.blogspot.comपरन्तु चलिए मैं आपका इस निर्झर लेखनी से परिचय करा देता हूँ। हाँ, यह वही निर्झर लेखनी है, जिसे आप फाउन्टेन पेन के नाम से जानते हैं। वाटरमैन के फाउन्टेन पेन के आविष्...
निर्झर लेखनी, जिससे अक्षर और श...
Tag :निर्झर लेखनी
  March 28, 2012, 2:22 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]


Members Login

Email ID:
Password:
        New User? SIGN UP
  Forget Password? Click here!
Share:
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3904) कुल पोस्ट (190742)