Hamarivani.com

धुर में लट्ठ

दो दन पेला म्हारा एक दोस्त घरे आया. वात नवी पीढ़ी री चाल री थी. केवा लागा म्हारा छोरा ये  फ़ैक्ट्री हमार ली हे. एक दन नानो फ़ैक्ट्री जई रियो थो तो देख्यो कि वणीरी कार पंक्चर.केवा लागो अबे कई करूँ ? म्हें बोल्यो पहियो बदली ले.ऊ केवा लागो अबार थोड़ीक देर में आपरो ड्रायवर अई जायगो,...
धुर में लट्ठ...
Tag :नवी पीढ़ी.
  May 30, 2012, 9:09 pm
अई गी हे रामादादा की याद ! रामनारायण उपाध्यायनिमाड़ी लोक साहित्य का अनूठा चितेरा था.जीवन भर गाँधीवादी दर्शन का उपासक रिया.दिखावटी खद्दरधारी कोनी वसो जीवन जियो. एक ती बढिया एक निबंध और लेख लिख्या पण वणी में लोक-जीवन री गंध हमेशा जिन्दा री. नईदुनिया में भी रामा दादा का एक ...
धुर में लट्ठ...
Tag :निमाड़
  May 27, 2012, 10:07 am
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3652) कुल पोस्ट (163599)