Hamarivani.com

अशोक पुनमिया का ब्लॉग

   विधानसभाओं में बैठ कर राज्य का भविष्य लिखा जाता है.किन्तु आजकल  "राजस्थान विधान सभा "में बैठ कर  "भूतों "का लेखाजोखा किया जा रहा है !चार सालों तक सोये हुए  'भूत 'अब पांचवें साल में अचानक जाग गए हैं !लोगों को इसमें आश्चर्य हो रहा है,जबकि इसमें आश्चर्य की कोई बात ही न...
अशोक पुनमिया का ब्लॉग...
Tag :
  February 26, 2018, 5:44 pm
खैरात में नहीं मिली है स्वतन्त्रता !...
अशोक पुनमिया का ब्लॉग...
Tag :
  August 16, 2017, 10:04 pm
जब कमरे तक सिमट जाए 'मां'की दुनिया-------------------------------------------------     बुढापे की दहलीज़ पर पहुंची माँ की दुनिया अक्सर अपने कमरे तक ही सिमट जाती है.उगते और डूबते सूरज को कमरे की दीवारें ढक देती हैं तथा सुबह से शाम और लम्बी रात तक का सफ़र कमरे के पलंग पर एकाकी सा कटता रहता है,क्योंकि आधु...
अशोक पुनमिया का ब्लॉग...
Tag :
  May 14, 2017, 3:54 pm
जनकल्याणकारी सरकारें आखिर क्यों 'दारु'पिलाने पर आमादा है?-------------------------------------------------------------      एक तरफ न्यायालय हाईवे पर नशे के चलते होने वाली दुर्घटनाओं को रोकने के लिए जनहित में निर्णय दे रहे हैं तो दूसरी तरफ राज्य सरकारें हाईवे के नाम बदल कर दारु की बिक्री को यथावत रखने की ...
अशोक पुनमिया का ब्लॉग...
Tag :
  April 15, 2017, 5:05 pm
आदित्यनाथ ने सचमुच ‘योगी’ की तरह सरकार चला दी तो ???-------------------------------------------------------------------------------     ये प्रश्न आज बहुत से लोगों के मन में उठ रहा है और कईंयों के दिलो दिमाग में तूफ़ान पैदा कर रहा है! तथाकथित ‘सेक्युलरिस्टों’की जमात ने अल्पसंख्यक समुदाय, खासकर मुसलमानोंके मन में भग...
अशोक पुनमिया का ब्लॉग...
Tag :
  March 28, 2017, 5:19 pm
 !! देशभक्ति का खुमार !! ================== देशभक्ति का हमारा सारा खुमार,फुटपाथिया दुकानों पर सजे,चमचमाते,सस्ते किन्तु घटिया "चाईनीज"माल को देखते ही उतर जाता है ! कुम्भकार द्वारा मेहनत से बनाए गए सुन्दर,पारंपारिक दीयों और लाईट की देशी झालरों को देख कर उबकाई आती है,...
अशोक पुनमिया का ब्लॉग...
Tag :
  October 6, 2016, 9:24 pm
शहादत की कीमत***************शहादत की कीमतबहुत हैदो-चार लाख रुपये !सरहद पर शहीद हुआवीर जवान आखिरइस देश के किसी सेठ-साहूकार,पूंजीपति,दबंग,मंत्री-नेता-अफसरया किसी और प्रजाति केहरामखोर की औलादथोड़े ही था !शहीद नहीं आया थाकिसी बंगले,कोठी,महल से,वो टाई,सूट,बूट पहनकंधे उचका-उचका क...
अशोक पुनमिया का ब्लॉग...
Tag :
  September 24, 2016, 3:11 pm
ओल्ड इज गोल्ड !पुरानी चीजों को बड़ी हिकारत भरी नज़रों से देखा जाता है।साइकिलों,घोड़ा गाड़ियों,बैल गाड़ियों को आउट ऑफ डेट करार दिया जा चुका है,लेकिन मज़ेदार बात ये है कि जहां पर आधुनिक चीजें भी फ़ैल हो जाती है या ज़वाब दे जाती है,वहां फिर से पुरानी चीजों की सहज याद आती है,क्योंकि ...
अशोक पुनमिया का ब्लॉग...
Tag :
  August 30, 2016, 2:20 pm
जीवन तो है ही संघर्ष का नाम !       'क्या आप परेशान है? बिमारी,आर्थिक तंगी, असफलता,घरेलू झगड़े,आपका पीछा नहीं छोड़ रहे?बेटा-बेटी आपकी आज्ञा के विरुद्ध काम करते हैं?पति-पत्नी में झगड़ा होता रहता है?भाई-बहनों से मनमुटाव है?आपसी संपत्ति का झगड़ा है?भाड़े के फ्लेट में रहते हैं? ...
अशोक पुनमिया का ब्लॉग...
Tag :
  August 23, 2016, 10:12 pm
टूटी सड़क पर 'अच्छे दिनों'की बैलगाड़ी ! -------------------------------------------------    पचास साल पुरानी सड़क,लगभग पैंसठ-सत्तर साल के,मोटा ऐनक चढ़ाये "बा'सा"ड्राईवर साहब, मूसलाधार बारिश और बाबा आदम के ज़माने की,बिना 'वाइपर'की बस,जिसमें हार्न के अलावा सबकुछ बजता है!और पैसेंजर फुल्ली भगवान् भरोसे !!य...
अशोक पुनमिया का ब्लॉग...
Tag :
  August 4, 2016, 2:17 pm
      !! फुटपाथ पर कराहता इन्साफ !!      पता नहीं लोग फुटपाथों पर क्यूँ सोते हैं ! क्या फुटपाथों पर सोने वालों को इतना भी पता नहीं कि फुटपाथ 'रईसजादों', 'बेवडों'के कारनामों के लिए बने हैं ! अरे भाई, मरने का इतना ही शौक है तो कोई अन्धेरा कुंआं ढूंढ लो, किसी मल्टी स्टोरी ...
अशोक पुनमिया का ब्लॉग...
Tag :
  December 11, 2015, 2:24 pm
अच्छे दिनों का सरकारी चुटुकला*******************************.....माना जाता है कि हास-परिहास करना सेहत के लिए ठीक रहता है. इस लिहाज़ से केन्द्रीय सरकार सही पटरी पर है. वो अवाम के अच्छे दिन लाने को सतत प्रयत्नशील है. अवाम के अच्छे दिन तो आयेंगे तब आयेंगे,किन्तु अवाम के एक महत्वपूर्ण हिस्से ‘केन...
अशोक पुनमिया का ब्लॉग...
Tag :
  December 7, 2015, 9:07 pm
देख मलाई-रबड़ी जब मुंह में आये पानी,कैसे करे कोई,दूध का दूध पानी का पानी!*********************************.....'दूध का दूध पानी का पानी'मुहावरा केवल विपक्ष के लिए बना है.जिसके पक्ष में कुर्सी आई,उसके लिए इस मुहावरे का कोई अर्थ नहीं.बल्कि तब तो ये मुहावरा पक्ष के लिए 'अनर्थ'बन जाता है.इस लिए पक्ष वा...
अशोक पुनमिया का ब्लॉग...
Tag :
  July 4, 2015, 1:40 pm
!! मारक मोदी-तारक मोदी !!**************************.....आजकल देश में 'मोदी'का बोलबाला है!एक मोदी देश को अच्छे दिनों की और लेजा रहा है तो एक मोदी देश में भूचाल ला रहा है!विदेश में बैठा मोदी ट्विटर नाम का लट्ठ लेकर हिन्दुस्तान के तथाकथित जनसेवकों के पीछे ऐसे पडा है कि राज महलों के सुख भोगते भोगत...
अशोक पुनमिया का ब्लॉग...
Tag :
  July 4, 2015, 1:24 pm
!!पगडण्डी!!********************......क्या आपको गाँव की पगडण्डी याद है?अरे वही जो गाँव में कहीं से भी शुरू हो कर कहीं भी चली जाती थी! सड़कें थी ही कहां! कच्चे रस्ते दूर तलक चले जाते थे.साथ साथ पगडण्डीयां भी चलती रहती थी! गाँव में सुबह सवेरे उठ कर जंगल जाना हो या फिर पनघट पर या कि माता जी के मंदि...
अशोक पुनमिया का ब्लॉग...
Tag :
  June 30, 2015, 3:21 pm
!!फर्जी डिग्री-असली काम.....असली डिग्री-फर्जी काम !!*******************************************......आजकल फर्जी डिग्री खबरों में छाई हुई है.राज्य सरकारों के मंत्रियों से लेकर केंद्र सरकार के मंत्री तक पर फर्जी डिग्री का फर्जीवाड़ा चिपक गया है.दिल्ली के तो एक फर्जी डिग्री वाले असली मिनिस्टर जेल के हवा-प...
अशोक पुनमिया का ब्लॉग...
Tag :
  June 28, 2015, 3:38 pm
*****************************************!!!!! "हाय मॉम,हैप्पी मदर्स डे" !!!!!*****************************************हाय मॉम,आज खुश हो जाओआज आपका दिन है !''अच्छा''!हाँ 'मॉम',आज 'मदर्स डे'है !!''अच्छा''!हां 'मॉम' !बोलो 'मॉम'आपको क्या चाहिए......,मोबाईल भिजवा दूँ.....सलवार सूट.......या कि साडी ठीक रहेगी....!''अरे नहीं-नहीं बेटा.....''अरे 'मॉम' आज तो कुछ ना ...
अशोक पुनमिया का ब्लॉग...
Tag :
  May 11, 2014, 3:14 pm

...
अशोक पुनमिया का ब्लॉग...
Tag :
  March 22, 2014, 10:54 pm
...
अशोक पुनमिया का ब्लॉग...
Tag :
  March 22, 2014, 10:44 pm
...
अशोक पुनमिया का ब्लॉग...
Tag :
  January 2, 2014, 11:57 am
...
अशोक पुनमिया का ब्लॉग...
Tag :
  January 2, 2014, 11:57 am
...
अशोक पुनमिया का ब्लॉग...
Tag :
  December 31, 2013, 1:45 pm
!! अन्धेरे का अट्टहास!!उन अंधेरों का क्या कीजे जो कभी नहीं मिटते! कितनी सुबहा बीत जाती है...कितनी दिवालियाँ आ कर गुज़र जाती है !!और उन दीयों का तो हिसाब ही कहाँ,जो हर रोज जलाए गए !!!रोशनी का कतरा-कतरा निगल जाने वाला अन्धेरा, क्यूँ मज़बूत होता जाता है जलाई गयी हर लौ के साथ ? ...
अशोक पुनमिया का ब्लॉग...
Tag :
  October 28, 2013, 9:59 pm
...
अशोक पुनमिया का ब्लॉग...
Tag :
  October 22, 2013, 12:58 pm
!!! आखिर करता क्या है आदमी???? !!!आखिर करता क्या है आदमी????उठकर सुबह पीता है बैड टी,पलटते हुए पन्ने अखबार के !ये अलग बात है किमुंह अँधेरे आए दूधिये से उसने ले लियी हो दूध और चढ़ा दिया हो गैस पर....या कि नल में आते हुए म्युनिसिपल्टी के पानी को भर दिया हो मटकों मेंअल-सुबह...
अशोक पुनमिया का ब्लॉग...
Tag :
  August 1, 2013, 10:16 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3815) कुल पोस्ट (182954)