Deprecated: mysql_connect(): The mysql extension is deprecated and will be removed in the future: use mysqli or PDO instead in /home/hamariva/public_html/config/conn.php on line 13
मेरा मन जो कहता है : View Blog Posts
Hamarivani.com

मेरा मन जो कहता है

मातम   फैला   देश   में  जो  है  ये  कैसे  अब  जाएगाभ्रष्ट   और   अत्याचारी   को   फांसी   कौन   चढ़ाएगापग-पग  पर  जाकर  देखो  जो  छाया  घना अन्धेरा हैइस  अंधियारे  से  भारत  को  मुक्ति  कौन  दिलाएगाभ्रष्टाचारी    अत्याचारी    आ   &nb...
मेरा मन जो कहता है...
Tag :
  November 19, 2013, 7:41 pm
वो  तो  कहते   हैं  हमको  दीवाना  मगरखुद दीवानों सी हरकत को  करते  हैं  वोमुझपे   मरने    का  इल्जाम  झूठा लगाखुद से ज्यादा तो मुझ पर ही मरते हैं वोमुख  से  कहते  हैं  हमको मोहब्बत नहींलाख   अरमान  फिर  भी  सजाएँ  हैं  वोहै  वजह  क्या  स...
मेरा मन जो कहता है...
Tag :
  August 9, 2013, 7:49 am
मेरी किस्मत में मोहब्बत को ना लिखा रब नेमेरी    उम्मीद   को  तो  तोड़  डाले   हैं   अपने जिनके इक हाँ पे मै  ऊचाईयां  छूने  था  चलाउसी   के  न  ने  चूर  कर   दिए   सारे    सपने उन्हें  भाता  था   खेलना   मेरा   जज्बातों  से फरक   पड़ता &...
मेरा मन जो कहता है...
Tag :
  August 2, 2013, 8:03 am
हंसी   पल    थे    वो    तेरे  संग   जो   गुजारे   हैंबचे   पल   को   भी  यूँ  ही  हंस  के  ही  गुजारेंगे होगे   तुम   दूर   मगर   याद   तो   रह   जायेगी तेरे     यादों    के    सहारे    ही    दिन   गुजारेंगे तेरी   जब   प्यार   भरी    बोली    याद   आयेगी दिल  को  इक  मीठा  सा   वो  दर्द देकर जायेगी दिय...
मेरा मन जो कहता है...
Tag :
  April 27, 2013, 1:53 pm
किसी ख़ास के जन्मदिवस पर उसके लिए मेरी कुछ दुआएं......हो  मुबारक   मुबारक       मुबारक    तुम्हेंहो  मुबारक  तुम्हें आज कि शुभ घरीतेरा खुशियों से  दामन  भरा  यूँ  रहेइस  सुहानी  घडी  है  दुआ  ये  मेरीगम  का  साया  तुझे छू सके ना कभीतुझको खुशियां मिले हर कदम हर घडीतेरे आँखों से  ...
मेरा मन जो कहता है...
Tag :
  April 20, 2013, 8:21 pm
कभी   तनहाइयों   में   तेरी   बातें   सोच   हंस   देताडसी तनहाइयाँ  हैं  जब  तो  तनहा  दिल  है  ये  रोतामोहब्बत  के  सफर  में  थी  लिखी तनहाइयाँ ही जबमोहब्बत   करना  तन्हाई  से  क्यूँ न  तू  सिखा  देतातेरे  खातिर  ही  दुनिया  से  किया  मैंने  बगावत  थाकिया तूने भी अब तनहा और दुनिय...
मेरा मन जो कहता है...
Tag :
  April 16, 2013, 7:08 am
न   तो   चीन   से   डरत्ता   हूँ   न   मै   पाक   से    डरताजहाँ  की  कोई  ताकत  हो  किसी   से   मै   नही   डरतामुझे डर  लगता  है  अब  दुनिया  में  बस  एक  इंसा  सेजो  है  सरदार  दिखता  पर   मुझे   सरदार   न   लगताशहीदों   की   शहादत   की   ये   तो   कीमत   लगाते   हैंअता  कीमत  बलि  की  कर   उन्हें   ...
मेरा मन जो कहता है...
Tag :
  April 12, 2013, 10:04 pm
उम्र  रपता  तुम्हारे  बिन  अब  हम कैसे गुजारेंगेभुलाना भी जो  चाहेंगे  तब  भी  ना  भूल पाएंगेसजा  कैसी  दिया  तुमने  मुझे  मेरी वफाई कारहें महफ़िल में या तनहा तुम्हें ही बस पुकारेंगे सुमन  कोई  खिला  देखूं तो तुम ही याद आते होमेरी  यादों  में  आकर के बहुत हमको सताते होकिय...
मेरा मन जो कहता है...
Tag :
  April 10, 2013, 5:10 pm
सभी को महाशिवरात्रि की हार्दिक शुभकानाएं सुन  भोले  तूने  ये  क्या  कियासबको  तू  भंगिया  पिला दियासब  नाचे  होकर  मस्त   मस्तहो  रही  है  ये   कैसी   शिकस्तखुद   पीने   के   खातिर   भोलातैयार    किया    अपना   टोलाखुद   भंगिया  पीकर  नाच  रहेऔर संग  में सबको नाचाय रहेभंगिया  क...
मेरा मन जो कहता है...
Tag :
  March 10, 2013, 12:44 am
      मेरी यह पोस्ट १२/१२/१२ स्पेशल पोस्ट है | आज इस विशिष्ट समय पर इजाजत मांगने की इच्छा हुई तो मांग ले रहा हूँ ..............                            तुम दो  इजाजत तो कुछ आज कह दूँ                         दिल की जुबाँ से बयां  कुछ  मै कर दूँ                         ये चाहत  समेटी  न अब  जा  रही है       ...
मेरा मन जो कहता है...
Tag :
  December 12, 2012, 5:25 pm
( यह मेरे अपने व्यक्तिगत विचार है किसी को कोई आपत्ति नहीं होनी चाहिए अगर है तो उनसे क्षमा प्रार्थी हूँ )       २६/११ के हमले के दोषी अजमल कसाब को आज लगभग ४ साल बाद एकाएक फांसी की सजा सुनकर मन को तो बहुत शुकुन मिला | फांसी दी गयी इस बात से पूरे हिन्दुस्तान नहीं अपितु पूरे विश्...
मेरा मन जो कहता है...
Tag :
  November 22, 2012, 8:36 am
             रात्रि बारह बजे से ही जन्मदिन के बधाइयाँ कोई सन्देश से तो कोई कॉल करके दे रहा है | सबसे पहली शुभेच्छा उसकी ही थी जिसका पिछले छः सालों से पहला होता है | कुछ लोग उपहार स्वरुप कुछ दिए |फिर यूँ ही बैठा था तो किसी ने  कहा आज के दिन का सबसे अच्छा उपहांर तुम्हारे लिए कौन सा ह...
मेरा मन जो कहता है...
Tag :
  November 13, 2012, 11:36 am
                         ना   ही   तुम्हे   कल   तो  मै  जानता  था                          ना  ही   तुम्हे   कल   मै   पहचानता   था                         मिले कब  थे कैसे और किस राह पर  हम                         न  अब   जानता  हूँ  न  कल  जानता  था                         सूरत   तुम्हारी  थी   मन  को  मेरे  भायी                        तेरी ...
मेरा मन जो कहता है...
Tag :
  November 1, 2012, 6:34 pm
                                                  मईया  की  महिमा  को  हम  कैसे तुम्हे  सुनाये                                                  सुख  सारा  वो  है  पाता  जो  दर  पे सर झुकाए                                                   चन्दा  सा  माँ  का  मुखडामन के सभी को भाये                                                   लाली  चुनरिया  ओढकर  भक्त...
मेरा मन जो कहता है...
Tag :
  October 22, 2012, 7:08 pm
तनहाइयों    में    आज    तुझे    याद   कर रहे हैं रब   से   तुम्हारे   खातिर  फ़रियाद  कर   रहे  हैंकभी  याद ना  किया मै  खुद  के  लिए  खुदा  कोपर   आज   तेरे   खातिर   उसे   याद   कर रहे हैं मासूम   सी   अदा   में   तेरी   उलझे  जा  रहे  हैंमासूमियत   तेरी   हम   रब   से   बता   रहे   हैं करूँ  शुक...
मेरा मन जो कहता है...
Tag :
  September 27, 2012, 3:53 pm
नजर  उनसे  जो मिली बात कुछ हो गयीचैन  मेरा   गया  नीद  मेरी   खो  गयी     नज़रों से उसने जादू  क्या किया    दिल  मेरा  उसका पीछा  किया चली  वो  चली  गयी  नीद  मेरी ले गयी चैन   मेरा   गया  नीद  मेरी  खो  गयी     मुस्कान उसकी जा दिल में धंसी    दिल  मेरा  सोचा  अब वो फंसी फिसल वो फिसल गय...
मेरा मन जो कहता है...
Tag :
  September 23, 2012, 5:00 pm
कब तक ऑंखें ही नाम  करके हम शांत होक्या  हमे  जीने   का   हक   नहीं   है   यहाँक्यूँ   नहीं   सुन   रहा   कोई   आवाज   कोबोलने   का   हक   हमे   क्या   नहीं है यहाँकल   पढ़ा   था  हर  कोई  यहाँ  आजाद  हैथा  जहाँ  ये  लिखा  वो   संविधान  है कहाँबोलने की सजा  अब  तो  मौत  मिल  रहीन्यायदाता    ध...
मेरा मन जो कहता है...
Tag :
  September 18, 2012, 8:11 pm
    जिसके लिए लिखा है काश उसके पास तक पहुच जाए | वैसे ब्लॉग पर बहुत दिन बाद आ रहा हूँ आता तो नहीं लेकिन किसी की खूबसूरती का बखान करने से खुद को रोक नहीं पाया इसलिए आ गया हूँ और हाँ अगर वो नजर के सामने से गुजरती रहेगी तो आता रहूँगा |                                          तुम तो हो रूप की ...
मेरा मन जो कहता है...
Tag :
  September 12, 2012, 7:41 pm
                                    दोस्ती  के  नाम  पर   अभिमान  करना सीख लो                         दोस्ती  लेती   है   जान   जान    देना    सीख  लो                         आसान  होता  निभाना  तो करोड़ों में दोस्त होते                         रिश्ता बड़ा अनमोल है दिल से निभाना सीख लो                                             ...
मेरा मन जो कहता है...
Tag :
  June 18, 2012, 11:45 am
कांटे  मिलई  हर  राह  में,  देहि   बहुत बिधि पीर |झेलत   जे   चलि   जात  है ,     पाछे   पावै   हीर ||१||दीमक   के  जे  वास  दे ,  करहिं   आपना   नाश |दीमक  के  बसि  जाये से , मिले न सुख के सास ||२||अब  तो  साधु  स्वार्थ  बस,   देत   फिरे   उपदेश |स्वार्थ    के     साधे    बिनु,    साधु   चले   प्रदेश  ||...
मेरा मन जो कहता है...
Tag :
  May 31, 2012, 1:57 pm
                                     इस पद्य का  कौवाली के रूप में गायन किया जा सकता है                                            साईं  का  धाम  पावन  चलो शीश झुकाएं                                            साईं    हैं   बड़े    दानी   साईं   को  मनाये                                            साईं   के   दर ...
मेरा मन जो कहता है...
Tag :
  May 10, 2012, 7:48 pm
मेरी  तन्हाई  से तेरी याद का है क्या लेनाहुआ जब भी मै तनहा तो ये चली जाती हैजिंदगी के सफ़र में जब भी अकेले निकलासाथ  देने  क्यूँ  चुपके  से  ये  चली आती हैमेरी  यादें  तेरी  तन्हाई  भी  मिटाती  क्याजिस तरह तेरी  याद  मेरी  मिटा  जाती  हैमेरी  यादें   गर   काट  दे   तेर...
मेरा मन जो कहता है...
Tag :
  May 8, 2012, 8:03 am
प्रिया  कि  प्रीति  में  हमने  सजा  क्या  खूब  पाई है मिलन  इक  पल  का  था केवल और लंबी जुदाई है रूमानी   गीत   मेरे   लब   अगर छेड़े  तो ये समझो प्रिया  की  प्यारी  सूरत  दिल में मेरे  ली अंगडाई है प्रिया  की  प्रीति  में  जब  भी  मै कोई रात जगता हूँ तभी उस रात की तन्हाई पर  कवित...
मेरा मन जो कहता है...
Tag :
  May 4, 2012, 6:36 pm
     आज हमारे समाज में तरह तरह के भेदभाव व्याप्त हैं | क्या हम लोगों ने कभी सोचा जो इस संसार में कुदरत की बनाई हुई चीज  है वो कभी किसी के साथ कोई भेदभाव करती है ? अगर कुदरती चीजें कोई भेदभाव नहीं करती हैं तो हम भी तो उसी कुदरत के बनाये हुए हैं तो हम भेदभाव क्यूँ करते हैं ? अगर इ...
मेरा मन जो कहता है...
Tag :
  April 26, 2012, 2:38 pm
जिसकी  साया  में  पले  बढे  उसका सम्मान न कम करनादुःख लाख सहे जिसने तेरे बिन उसकी ऑंखें न नम करनाखुद भूखे  पेट  रहकर  जिसने  तुझको  भर  पेट  सुलाया  हैममता  के  ऐसे  मंदिर  में  गम  का   अंधियारा   न   करनाजब  कदम   लड़खड़ाते   तेरे   तब   माता   दौडी   आती   हैगोदी  में  उठा  करके  ...
मेरा मन जो कहता है...
Tag :
  April 17, 2012, 9:51 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3710) कुल पोस्ट (171496)