Hamarivani.com

kalp verma'S ♥ KALPANA ♥

बहुत कुछ देखा है घर की इन दीवारों ने ,हँसी - ठहाकों की गुँजे कभी , और ग़मों का सैलाब कभी !बच्चोँ की किलकारी , कभी माँ का प्यार दुलार ,भाई बहनों के झगड़े और पिता से टकरार कभी ,दोस्तों का आना जाना , कभी नये रिश्तों को निभाना ,दो अजनबी जिस्मों का , एक रूह में समा जाना कभी ,बहुत कुछ ...
kalp verma'S ♥ KALPANA ♥...
Tag :
  March 18, 2016, 4:13 pm
INTERNATIONAL YOGA DAY 21-06-2015ये एक अच्छी शुरुआत हैइसकी सराहना करता हूँलेकिन ये महज एक "दिन "बनकर न रह जाय इसका मुझे डर हैकल 21  JUN  को जितने लोग योग करेंगे मुझे लगता है उसका महज़ 1 % लोग ही शायद 22 JUNE  या उसके बाद इसे अपने दैनिक दिनचर्या में शामिल करेँगेवैसे तो में भी योग करता हूँ लेकिन "प्...
kalp verma'S ♥ KALPANA ♥...
Tag :
  June 20, 2015, 4:37 pm
हथेलियों से सरक के खो गए कई लम्हें ,चलो उनकी तलाश करें ,टूट कर बिखर गए है जो ख़्वाब ,चलो उनकी एक पोटली बनाएं ,फिर किसी दरिया , समन्दर किनारे चलें ,डूबते सूरज तले कहीं इन्हें भी दफना दें !!फिर ज़िन्दगी के पार कहीं ज़िन्दगी की तलाश करें ,चलो हर हँसी के पीछे छुपे दर्द की तलाश...
kalp verma'S ♥ KALPANA ♥...
Tag :
  June 10, 2014, 11:28 am
!! ये बीते हुए लम्हें !!लोग कहते हैं ज़िंदा लम्हों में ही ज़िन्दगी है ,बीते हुए लम्हें तो कब के मर गये ,मैंने जो कागज़ों पे लिख दिये , तो साँस लेते हैं ,तन्हाई में कभी आवाज़ दी , तो बात करते हैं ,पास बुलाया तो गले लग के रोते हैं ,थपकियाँ देके सुलाया कभी , तो रात सो गई ,क...
kalp verma'S ♥ KALPANA ♥...
Tag :
  February 28, 2014, 2:29 pm
दिन भर धूप में जलता रहा सूरज ,हथेलियों तले जो ढका , तो थोड़ा आराम आया ,वक़्त ने पार कर ली अपनी सारी हदें ,उनकी ज़ुल्फों तले जो शाम ढली , तो थोड़ा आराम आया ,अंधेरे डराते  रहे रात भी जागती रही तन्हा ,ज़िंदा लम्हों को जो याद किया , तो थोड़ा आराम आया ,भागते - दौडते उलझनों में ग़ुजरते रहे र...
kalp verma'S ♥ KALPANA ♥...
Tag :
  February 12, 2014, 1:29 pm
ज़िन्दगी के हर मोड़ पर ,वादे बदलते हैं कभी इरादे बदलते हैं ,वक़्त की हर दहलीज़ पर ,खुशियाँ बदलती हैं कभी तन्हाइयाँ बदलती हैं ,घुमते-फ़िरते भागते-गिरते राहों में ,क़दमों के निशां बदलते हैं कभी आसमां बदलते हैं ,ये ज़िन्दगी तन्हा सफ़र है दोस्तों ,हमसफ़र बदलते हैं कभी हमनवां ...
kalp verma'S ♥ KALPANA ♥...
Tag :
  January 31, 2014, 11:58 am
नज़रें झुका के बैठे न रहो ,राज़-ए-दिल यूँ छुपाये न रहो ,दम निकलने को है मेरा , अब कुछ बोल भी दो ,यूँ ज़ुबां तले इज़हार-ए-मोहब्बत दबाये न रहो !!~ ♥ कल्प वर्मा ♥ ~ ...
kalp verma'S ♥ KALPANA ♥...
Tag :
  January 27, 2014, 1:45 pm
ये दिल हमेशा कुछ ढूँढता है ,किसी को चाहता है , किसी को पुकारता है ,एक ख्वाहिश पूरी नहीं होती , और दूसरी आ जाती है ,कभी कभी तो सोचता हूँ , कि , ये ख्वाहिशें न हो तो शायद ज़िन्दगी कहीं ठहर जाये ,किसी लम्हें में , कोई वक़्त रुक जाये !!~ ♥ कल्प वर्मा ♥ ~ ...
kalp verma'S ♥ KALPANA ♥...
Tag :
  January 7, 2014, 12:23 pm
हर हाल में ज़िन्दगी को जीते गये ,बीते सालों के पन्नें पलटते गये ,ज़िन्दगी हमें , और हम , ज़िन्दगी को निहारते गये ,आज ज़िन्दगी का एक और पन्ना पलट गया , एक और साल बीत गया ,हम हर हाल में ज़िन्दगी को जीते गये !खट्टे , मीठे पल , जैसे भी मिले जीते गये ,ज़िन्दगी के हर पल हम हँसते - हँसते पीते...
kalp verma'S ♥ KALPANA ♥...
Tag :
  January 2, 2014, 12:53 pm
मेरे सभी मित्रों को , सम्बन्धियों को , एवं उनके परिवार के सभी सदस्य़ों को नव वर्ष २०१४ की बहुत बहुत बधाइयाँ एवं शुभकामनाएं ..सभी का नव वर्ष मंगलमय हो .....
kalp verma'S ♥ KALPANA ♥...
Tag :
  January 1, 2014, 10:19 am
कुछ अधूरी सी लाइने .... कुछ अधूरे से अरमान ...आधी - अधूरी सी ज़िन्दगी में ... ढूंढें पूरे ख़ाब ...ज़िन्दगी ने बहुत खूबसूरत लम्हें दिए ... जीने के लिए ....साँसे दी ...हंसी दी , ख़ुशी दी ... और साथ में कुछ ग़म भी दिए ...वक़्त के हर उस लम्हे को हमने जकड़ के रखा ...जहाँ ग़मो ने अपनी चादर फैला रखी थी ....
kalp verma'S ♥ KALPANA ♥...
Tag :
  June 14, 2013, 11:06 am
मेरे शहर की गलियां बहुत तंग हैं  !!हर तरफ शोर है , ज़िन्दगी कहीं खामोश है ,बदलते वक़्त की तस्वीर है , कुछ नये लोग , नयी भाषा है ,तहज़ीब के मिटने लगे अब कुछ निशां हैं ,छिन गया है सुकून परिंदों का भी ,अब बचने वाला कहाँ इन्सां है !!मेरे शहर की गलियां बहुत तंग हैं  !!ज़िन्दगी इतनी व्य...
kalp verma'S ♥ KALPANA ♥...
Tag :kalp
  April 28, 2012, 11:56 am
कुछ अपनी बोल-चाल की भाषा में लिखने की कोशिश की है... दिल के कुछ अरमान निकाले हैं...ज़रा ग़ौर फ़रमाएगा...और मेरी त्रुटियों को कृपया मुझे जरूर बताएं... जब तुम पास होत हौ अपने , तो हमका कौनव साथी की जरूरत नाही ,तुम्हार नैन खुबसूरत हैं इतने , कि निगाह हमार हटत नाही !!ज़िन्दगी की ग...
kalp verma'S ♥ KALPANA ♥...
Tag :kalp
  April 6, 2012, 1:07 pm
एक छोटी सी कोशिश अपने ज़ज्बात को कहने की....कुछ आधी-अधूरी सी है , लेकिन सीधी और सच्ची है...चलो धरती का सीना चीर कर कुछ बीज बोयें ,आने वाली नस्लों को कुछ मीठे फल दे जायें ,बातों में ही जाया करते हैं हम , कीमती वक़्त को अपने ,चलो कलम छोड़ कर अब हाथों में , फावड़े - कुदाल उठायें !!चलो ध...
kalp verma'S ♥ KALPANA ♥...
Tag :kalp
  March 28, 2012, 12:42 pm
हर लम्हें में ख़ुशी नहीं होती , हर रिश्ते में प्यार नहीं मिलता ,हर शाख़ पे गुल नहीं खिलते , हर शख्स अजीज़ नहीं होता ,हर रात की सुबह तो होती है लेकिन , हर राह पे मंज़िल नहीं मिलती !!हर दिल में प्यार नहीं होता , हर सीप में मोती नहीं मिलता ,हर परवाने को शमा नहीं मिलती , हर जख्म का मरह...
kalp verma'S ♥ KALPANA ♥...
Tag :kalp
  March 2, 2012, 5:29 pm
मैं उसे चाहता हूँ जो मेरा नहीं है...उसे माँगता हूँ जो मुझे मिल नहीं सकता...ज़िन्दगी के उन हसीन ख़्वाबों की ताबीर चाहता हूँ...जिसे वक़्त ने कभी अपने लम्हों में लिखा ही नहीं...!! ~♥ कल्प ♥~...
kalp verma'S ♥ KALPANA ♥...
Tag :kalp
  February 27, 2012, 5:11 pm
आओ एक नयी कहानी लिखेंफिर से अपनी ज़िन्दगी की एक रवानी लिखें...मुददतें गुजर गई हैं खुद से बात कियेपास मेरे बैठो , ख़ामोश लबों से कुछ बात करेंआइना देखे भी अब तो बरसों बीत गए हैंपहलू में आओ , तेरी आखों में अपना दीदार करेंचलो फिर से एक नयी कहानी लिखें...फिर से हम - तुम अजनबी बनें...
kalp verma'S ♥ KALPANA ♥...
Tag :kalp
  February 27, 2012, 11:29 am
~♥ कल्प ♥~ की कल्पनाओं की उड़ान......जमीं से आसमां तक ... कभी इस जिस्म से रूह तक ...मचलती हुई ......वक़्त की हर दहलीज पर ... कभी उस चौखट पर ... जहाँ मेरी खुशियाँ रहती हैं......ज़िन्दगी के हर अनछुए पहलू पर...उन हर अनदेखे ख्वाबों पर... जो कभी मेरी पलकों पे सजा करते थे ...... जो मुझे मिले नहीं ...उन्हीं ...
kalp verma'S ♥ KALPANA ♥...
Tag :kalp
  February 10, 2012, 10:58 am
kalpana...
kalp verma'S ♥ KALPANA ♥...
Tag :
  February 10, 2012, 10:14 am

...
kalp verma'S ♥ KALPANA ♥...
Tag :
  January 1, 1970, 5:30 am
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3685) कुल पोस्ट (167977)