Hamarivani.com

.मेरी अभिव्यक्ति

चल पड़ता हूँ सफ़र पर एक अजनबी के साथ ,अपनी मंजिल पर पहुचने के लिए ।ठहर जाता हूँ एक रात अनजान सराय पर ,दिन भर की थकान मिटाने के लिए ।खरीद लाता हूँ सामान नुक्कड़ की दुकान से ,तुरंत की भूख और प्यास मिटाने के लिए।पहुच जाता हूँ एक अनजान वैध के पास ,बीमार और बिगड़ी सेहत सुधरवाने के लि...
.मेरी अभिव्यक्ति...
Tag :
  February 17, 2018, 2:09 pm
#साहिल पर तो आये #रिश्तों की #कश्तियाँ ।यूँ ही अनजाने में जो कर बैठे हैं गुस्ताखियाँ ।अब तो बढ़ चले हैं  फासले और रूसवाइयां ।कुछ तो कम हो ये पल पल सताती दुशवारियाँ।आओ तोड़े अब ये चुप्पी और खामोशियाँ ।दूर करें ग़लतफ़हमी जो है तेरे मेरे दरमियान ।न हो सकें सुलह ऐसी तो न होगी मज...
.मेरी अभिव्यक्ति...
Tag :
  February 10, 2018, 7:16 am
सपनों के पीछे भागती भीड़ से परे ,जहां कोई व्याकुल कोलाहल न करे ,जहाँ कोई सफलता का अभिमान न धरे ,जहाँ निश्चल मन की मासूमियत न मरे ,अनुकूल  वातावरण में फैले क्षितिज के तले , आपसे अकेले में बातें करनी है !कभी रोज की दौड़धूप से फांका तो करो ,सपनों की दुनिया से बाहर  झाँका तो क...
.मेरी अभिव्यक्ति...
Tag :
  February 2, 2018, 9:14 am
तेरी फ़िक्र इस कदर किये जाते है ,जहां भी जायें तेरा जिक्र किये जाते हैं ।महफ़िलों का दौर है सजा , जाम पर जाम है छलका ।इस हंसी दौर में तेरे होने की ख्वाइश  किये जाते है ।             तेरी फ़िक्र इस कदर किये जाते है ,..............|कुछ तो है तेरे नाम का नशा , हर जगह है तेरी ही सदा ।ते...
.मेरी अभिव्यक्ति...
Tag :
  January 9, 2018, 11:14 pm
जब तक थे तुम साथ तुम्हारे होने की न हुई कद्र।तेरे न होने पर समझ आई तेरी अहमियत।साथ चलते रहे कदम कभी न किया कोई फ़िक्र ।तेरे जाने के बाद समझ आई तेरी काबिलियत।यूँ ही मिलते रहे रोज, कभी न मनाया  शुक्र।तेरी कमी से रिश्तों की समझ आई असलियत ।सुनते रहे ख़ामोशी से हर बात कभी न किय...
.मेरी अभिव्यक्ति...
Tag :
  December 24, 2017, 11:57 am
#कम न हो #नये की #चाहत ।।कुछ अलग और नये की चाहत , पुराने से ऊबने और उबरने की चाहत । तो कर गुजरते है कुछ अलग ,मिलती तसल्ली और होती है राहत ।छूटते है अपने और  होते आहत , कुछ टुटता है बिखरती है सहूलियत । जब चल पड़ते करने को कुछ अलग ,होती है ख़ुशी हर लम्हा सुखद । उड़ती है नींदे हो...
.मेरी अभिव्यक्ति...
Tag :
  December 17, 2017, 11:08 pm
मस्तियाँ और खुमारियों का छाया है आलम ,रंग बिरंगी रोशनियाँ से बरात ए जश्न है रोशन ,अपनी पसंद की बाराती बजवा रहे है धुन ,बच्चे, महिलाएं और बुजुर्गों के थिरके है कदम ।बरातियों के नकारात्मक व्यवहार  से न होकर खिन्न  ,हो पसीने से तरबतर बजा रहे है हर पसंदीदा धुन ,बिजली के तार...
.मेरी अभिव्यक्ति...
Tag :
  December 10, 2017, 11:42 pm
दिन भर की कड़ी मेहनत से थक कर चूर ,शाम ढलते ही सभी चिंताओं से दूर ,कर रहें है सब मिलकर सामना भरपूर ,ठण्ड जो कुछ ज्यादा ही हो रही क्रूर ।तन पर गर्म कपड़े लिबास नही है प्रचुर ,जो बेशक फुटपाथ पर रहने को है मजबूर ,जलाकर अलाव से गर्मी का पाया सुरूर ,आग की लौ से चेहरे पर सुकूँ का है नूर ...
.मेरी अभिव्यक्ति...
Tag :
  December 6, 2017, 10:13 pm
यह इंसान की  पतित विकृत मानसिकता का प्रभाव है ,या भौतिकवादी इंसान की नैतिक सोच का आभाव ?यह धड़ल्ले से परोसी जा रही अश्लीलता का प्रभाव है ,या इंसान के अच्छे बुरे में अंतर की सोच का आभाव ?यह मन में सुलग रही हवस की चिंगारी का प्रभाव है ,या मन की अनैतिक इक्च्छाओं पर नियंत्रण का...
.मेरी अभिव्यक्ति...
Tag :
  September 13, 2017, 6:27 pm
आज़ादी के अपने मायनों का जहान,  मेरा प्यारा हिन्दुस्तान ।कोई देश के लिए जी जी जान से लड़ता ,कोई देश के खिलाफ जहर उगलता ।कोई अपने कर्तव्यों पर खरा उतरता ,कोई सिर्फ अपने हकों के लिए लड़ता ।कोई अभावों में भी खुश रह जाता ,किसी को सब कुछ मिलने पर भी डर सताता ।फिर भी मेरा देश महान , ...
.मेरी अभिव्यक्ति...
Tag :
  August 13, 2017, 7:22 pm
💐भाई- बहिन के अपार  स्नेह और अटूट बंधन के पावन पर्व की कोटिशः बधाइयाँ एवं शुभकामनाएं । 💐🌹🌷शुभ एवं मंगलमय रक्षाबंधन । 🌺🙏...
.मेरी अभिव्यक्ति...
Tag :
  August 7, 2017, 3:11 pm
खुलकर मुस्कुराने दो हमें ,न दबे बचपन किताबों के बोझों  के  तले ।फूलों की तरह खिलने दो हमें ,न झुलसे  मासूमियत  बड़ों के अरमानों के तले ।बातें करने दो  आसमानों से हमें ,न गुजरे ये बचपन चाहरदीवारों के तले  ।भीग जाने दो बारिश में हमें ,न रोको लेने दो मौसम के खुलकर मजे ...
.मेरी अभिव्यक्ति...
Tag :
  July 25, 2017, 4:24 am
अब तो आदत सी हो गई है  इस दिल#dil को समझाने की ।नहीं होती है मुकम्मिल मंजिल जिंदगी के हर फंसाने की ।होती है बात पत्थर उछालकर आसमान में छेद कर जाने की।बातें है बातों का क्या सब बातें है दिल को भरमाने की ।चार किताब पढ़कर तमन्ना की उन बातों को आजमाने की ।पर इन सबसे से इतर कुछ और...
.मेरी अभिव्यक्ति...
Tag :
  July 20, 2017, 9:12 pm
कुछ यूँ ही बढ़ गयी है दूरियां मेरे ही अपनों से ।जब से गढ़ ली है  दुनिया छोटे बड़े सपनों से ।जिन रिश्तों ने संभाला था मुझे बड़े जतनों से ।सब कुछ पाने की आपाधापी में हो गए अनजानों से ।वक्त नहीं की कर सकूँ खुलकर बातें आसमानों से ।बस उलझते रहता हूँ कल मिलने वाले परिणामों से ।वाप...
.मेरी अभिव्यक्ति...
Tag :
  July 17, 2017, 12:00 am
ग़ुम हो गए हैं कहां  मेघा , कहां रूठ चली गयी है वर्षा ।इंतज़ार मैं आँखे सूखी ,  कैसे मिटे तन मन की तृष्णा ।है नीर बिना ताल सूखा , ना कल कल करे  सरिता ।ताप्ती हुई है ये धरती,  बिन पानी है सब तरसना ।है खेतों ने  खोई रौनक , बिलकुल भी चले बस ना ।उदासी में गुम है प्रकृति , कैसे दु...
.मेरी अभिव्यक्ति...
Tag :
  July 9, 2017, 2:35 pm
डिअर व्हाटसअप/ फेसबुक ,तुम हर दिन हर पल 24 घंटे मैसेज को बिना रुके एवं बिना थके भेजने और लेने का काम करते हो  । टेक्स्ट , चित्र और ऑडियो वीडियो ,यंहा तक की आजकल  तुम्हे  पीडीएफ और डॉक्यूमेंट फ़ाइल से भी परहेज नही है । सोते जागते आजकल तुम हमेशा हमारे साथ रहने लगे हो , यंहा त...
.मेरी अभिव्यक्ति...
Tag :
  July 8, 2017, 9:22 am
डिअर व्हाटसअप/ फेसबुक ,तुम हर दिन हर पल 24 घंटे मैसेज को बिना रुके एवं बिना थके भेजने और लेने का काम करते हो  । टेक्स्ट , चित्र और ऑडियो वीडियो ,यंहा तक की आजकल  तुम्हे  पीडीएफ और डॉक्यूमेंट फ़ाइल से भी परहेज नही है । सोते जागते आजकल तुम हमेशा हमारे साथ रहने लगे हो , यंहा त...
.मेरी अभिव्यक्ति...
Tag :
  June 25, 2017, 8:24 pm
#happyfathersdayवो बात बात पर उनकी डांट,  और बार बार रूठना मेरा ।ऐसे ही कई बार शुरू होता , उनका और मेरा  सबेरा ।कभी मैं गिरता और , उठता उनकी उंगली  पकड़ दुबारा ।हो कोई बात मनवाना , लेता माँ का इमोशनल सहारा ।ऐसे होती मेरी कई ख्वाइश पूरी , लगता मैं जीता वो हारा ।कभी भी मेरा हार जाना , ना...
.मेरी अभिव्यक्ति...
Tag :
  June 18, 2017, 12:23 pm
💦न कार धोये पानी के नल से , न पानी नहाये शावर के जल से ।💥पर रंगो की होली खेलें जम से ।💦न कुएं खत्म हो घर आँगन से , न तालाब घटे खेत खलिहान  से ।💥पर रंगो की होली खेलें जम से ।💦न बहे बारिश का पानी शहरों से , न शहर गांव पटे सीमेंट से ।💥पर रंगो की होली खेलें जम से ।💦न पानी बर्बाद ...
.मेरी अभिव्यक्ति...
Tag :
  March 12, 2017, 11:01 pm
💥बड़ी सी आजादी थोडा सा बंधन ,अधिकारों और कर्तव्यों का हो गठबंधन । 💥थोड़ी सी मस्ती थोड़ी मनमानी ,अपनों की खुशियों का न हो अतिक्रमण । 💥हँसता खिलता रहे जन गण मन ,अमर रहे मेरे देश का गणतंत्र । 💥देश के सच्चे सपूतों को शत शत नमन ,शुभ और मंगलमय हो दिवस ये गणतंत्र ।🙏🌷जय हिन्द ...
.मेरी अभिव्यक्ति...
Tag :
  January 26, 2017, 5:53 pm
हमारे देश में धार्मिक स्थलों पर त्योहारों एवं उत्सवों के अवसर पर श्रद्धालुओं की बड़ी संख्या अपनी उपस्थिति दर्ज कराती है । और हमेशा की तरह शासन और जनसमुदाय द्वारा बरती गई असावधानी और सजगता का आभाव  किसी बड़े हादसों का कारण बनती है । इन हादसों पर फोरी तौर पर कई सुरक्षात्...
.मेरी अभिव्यक्ति...
Tag :
  January 15, 2017, 10:41 pm
कचरोंके ढेरों मैं से प्लास्टिक व धातु के टुकड़े बीनते बच्चेबेपरवाह गंदगी और सडन के दुष्प्रभाव से , सिर्फ कुछ रुपयों की आस मैंइस बात से बेखबर से की उम्र का अगला पड़ाव हमें कंहा ले जायेगा ||चाय की दुकानों व होटलों मैं ग्राहक की हर एक आवाज पर दौड़ते बच्चेबेपरवाह लोगों की डांट ...
.मेरी अभिव्यक्ति...
Tag :बेपरवाह बच्चे
  February 7, 2012, 5:48 pm
हाल ही मैं देश के कई हिस्सों से बच्चों द्वारा आत्महत्या जैसे अप्रिय और दुखद कदम उठाने की खबर आती रही है । इस तरह की घटनाओं मैं समय दर समय इजाफा होते जा रहा है । पढ़ाई मैं स्वयं की अथवा माता पिताओं की आशा अनुरूप परिणाम न आने अथवा थोपी गई शिक्षा या अधिक नंबर की होड़ वाली शिक्...
.मेरी अभिव्यक्ति...
Tag :
  January 22, 2010, 11:12 pm
बढती मंहगाई पर मीडिया और समाचार पत्र लगातार ख़बरें पर ख़बरें दिखा रहें हैं और छाप रहें हैं । महंगाई है सुरसा की मुख की तरह दिन दूनी और रात चोगुनी कहावत को चरितार्थ करते हुए गुणात्मक वृद्धि करती जा रही है , आवश्यक वस्तुओं के दाम आसमान छू रहें है चाहे अनाज की बात करें या फिर ...
.मेरी अभिव्यक्ति...
Tag :
  January 13, 2010, 11:01 pm
असंतोष और उपेक्षा से उपजी हताशा का परिणाम है - प्रथक राज्य की मांग !तेलंगाना राज्य को प्रथक राज्य बनाने की घोषणा के बाद , अब देश के हर कोने से प्रथक राज्य गठन की मांग उठने लगी है । कुछ लोग प्रभावशाली और कारगर प्रशासनिक व्यवस्था क्रियान्वयन और नियंत्रण के मद्देनजर प्रथक ...
.मेरी अभिव्यक्ति...
Tag :
  December 20, 2009, 4:16 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3733) कुल पोस्ट (173829)