POPULAR ENGLISH+ SIGNUP LOGIN

Blog: HAAL BAYAN HAI

Blogger: brajesh kumar
खतरों के संकेत के लिए लाल रंग के प्रकाश का प्रयोग होता है कुहासे के मौसम में पीली बत्तियां काम करती हैं क्युँ भला ?? सीधा सा जवाब तीव्रता के कारण ये आदमी को जल्दी दिखायी देती हैं! ऐसा ही कुछ सम्बोधन के साथ भी है! कुछ सम्बोधन अत्यंत नरम और कुपोषित होते हैं बड़ी मुश्किल से ही ... Read more
clicks 134 View   Vote 0 Like   2:05pm 21 Feb 2014 #
Blogger: brajesh kumar
कल शाम से ही मन में अजीब सी हलचल मची थी ,मचनी ही थी , दुःख जैसे विषय पर एक नहीं दो दो कवितायेँ पढ़ ली!इनमे एक कविता में कवि का  दुःख शायद कुछ तरल रूप में था आंसुओ के बहाव में बह जा रहा था वहीँ दूसरी कविता में कवि का  दुःख कुछ ठोस रूप में था और आँसुओं के बहाव में बह नहीं पा ... Read more
clicks 177 View   Vote 0 Like   11:21am 11 Jul 2013 #
Blogger: brajesh kumar
उसकी उम्र महज तीन साल की थी ड्रम के पीछे खड़ा दिख भी नहीं रहा था ,पर ड्रम पर उसकी कलाइया बड़ी निपुणता के साथ जादू बिखेर रही थी ! उम्र -7 साल नन्ही  सी बच्ची जिसे दो वक्त की रोटी भी नहीं मिल पाती ,बिजली की फुर्ती से नाच रही थी !....अद्बुत अद्भुत- इंडिया गोट टैलेंट - के मंच पर जब भ... Read more
clicks 140 View   Vote 0 Like   9:31am 25 Oct 2012 #
Blogger: brajesh kumar
वैज्ञानिक  सर जान गार्डन जिन्हें चिकित्सा के क्षेत्र  में अतुलनीय योगदान के लिए इस साल नोबल सम्मान दिया जा रहा है,जब वे स्कूल में थे तो उनके विज्ञानं के शिक्षक ने उनके कार्य को घटिया कहा  था और परीक्षा में सबसे कम अंक दिए थे और कहा था ---"यह समय की बर्बादी है और हास्यास्... Read more
clicks 139 View   Vote 0 Like   2:12am 16 Oct 2012 #
Blogger: brajesh kumar
एक अलसाई सी सुबह थी,आँख  पूरी तरह  से  खुली भी नहीं थी! दरवाजे पर कुछ सरसराहट का स्वर आया, देखा ,अख़बार वाले ने अखबार सरकाया था! जैसे ही अखबार उठाने चला,जोर का झटका लगा ,नहीं  नहीं कोई दुर्घटना नहीं घटी थीबात दरअसल यह है किअखबार के ऊपर पत्रिका इंडिया टुडे पड़ी थी और उसके क... Read more
clicks 143 View   Vote 0 Like   3:02am 10 Apr 2012 #
Blogger: brajesh kumar
चंद लाइने जो दिल्ली के वरिष्ठ  ips अधिकारी तजेंद्र सिंह लूथरा  के प्रथम काव्य संग्रह --अस्सी घाट का बांसूरी वाला -- से ली गयी हैं ...स्रोत ...इंडिया टुडे ढूँढोगे तो सन्दर्भ भी मिल जायेंगे मेरी कविताओं के निकालोगे अर्थ तो निकल आएंगे मेरे प्रतीकों केकोशिश करोगे तो पहचान ही ल... Read more
clicks 157 View   Vote 0 Like   3:13am 29 Mar 2012 #
Blogger: brajesh kumar
चंद लाइने जो दिल्ली के वरिष्ठ  ips अधिकारी तजेंद्र सिंह लूथरा  के प्रथम काव्य संग्रह --अस्सी घाट का बांसूरी वाला -- से ली गयी हैं ...स्रोत ...इंडिया टुडे ढूँढोगे तो सन्दर्भ भी मिल जायेंगे मेरी कविताओं के निकालोगे अर्थ तो निकल आएंगे मेरे प्रतीकों केकोशिश करोगे तो ... Read more
clicks 80 View   Vote 0 Like   3:13am 29 Mar 2012 #
Blogger: brajesh kumar
परीक्षा  फल  के भय से आदमी को जीवन भर मुक्ति नहीं मिलती ,ऐसा मसूस होता है  जब अपने बच्चो का परीक्षा  फल  देखने उनके स्कूल जाता हूँ !वही भय और बेचैनी  महसूस  करता हूँ !कल ये भय अपने लिए था आज बच्चो के लिए है और इस प्रकार लगता है की उम्र भर रहेगा !..........आज जाना है स्कूल ........ Read more
clicks 122 View   Vote 0 Like   2:43am 19 Mar 2012 #
Blogger: brajesh kumar
कल की 52 रनों की पारी ने सचिन के आलोचकों को एक बार फिर से जवाब दे दिया है !और आज उनके खिलाफ ज्यादा कुछ दिख भी नहीं रहा है !पता नहीं कुछ बुध्धिजीवी ऐसी प्रतिक्रिया देने में क्यों लगे है मानो सचिन ने 100 शतक बंगलादेश के खिलाफ ही लगाये है !........मैं हैरान रह जाता हूँ कि....कैसे 22 सालो तक... Read more
clicks 122 View   Vote 0 Like   2:28am 19 Mar 2012 #
Blogger: brajesh kumar
कल स्टार न्यूज़ पर घटिया पत्रकारिता देखने को मिली ,जब उसके दो होनहार पत्रकार इतने उत्तेजित दिखे मानो वो विनोद काम्बली और सबा करीम के मुह में उंगली डालकर बस एक ही बात कहलवाना चाह रहे थे... कि सचिन कि धीमी बल्लेबाजी ही भारत कि हार का कारण बनी !कोई उन गधो से ये पूछे कि क्या दो... Read more
clicks 140 View   Vote 0 Like   2:57am 17 Mar 2012 #
Blogger: brajesh kumar
इंडिया  टुडे  पर पढ़ा देश के अरबपति वारिसो के बारे में  आप भी रूबरु हो लीजिये               नाम                उम्र             समूह                              मार्केट पूँजी१. आदित्य बर्मन          ३२ वर्ष          डाबर                             18000  करोड़२.करण अदानी            २४ वर्ष          अदानी                           82800  करो... Read more
clicks 130 View   Vote 0 Like   3:48am 15 Mar 2012 #
Blogger: brajesh kumar
मनुष्य स्वाभाव से ही रोऊ प्राणी है ,उसे तो   बस रोने का बहाना चाहिए !आप आश्चर्य करेंगे की कैसे छोटी छोटी चीजे जीवन में दुःख का कारण बन  जाती हैं !आजकल मैं दुखी हूँ कि मेरे नसीब में रिमोट का सुख नहीं है !आप हँसिये पर मेरा दर्द भी महसूस कीजिये,रिमोट कोई साधारण सी चीज  नहीं रही... Read more
clicks 144 View   Vote 0 Like   5:05am 4 Mar 2012 #
Blogger: brajesh kumar
गुलाब के साथ मेरा   ३६ का आंकड़ा रहा है , ऐसा पूरे विश्वास के साथ इसलिए कह रहा हूँ की इतने valentine बीत गए कभी मेरे लिए कोई गुलाब नहीं आया और न ही मैं कभी किसी के लिए खरीद पाया ,दोनों ही सूरत में हथेलिया गुलाब से मरहूम ही रही !ढाई अक्षर का पिद्दी सा शब्द प्रेम कितना जटिल है मैं कभी ... Read more
clicks 138 View   Vote 1 Like   3:16am 15 Feb 2012 #
Blogger: brajesh kumar
इत्तेफाकन एक ही समय में ,एक ही विषय पर दो गुनीजनो के विचार पढ़े .शायद हमारे जैसे युवा माता पिताओ के लिए काफी प्रेरक है आज की आक्रामक युवा पीढ़ी पर हम अपने सपने नहीं लाद सकते.मोहन श्रोत्रिय जी ने युवा पीढ़ी का बेबाक प्रश्न रखा है .........  Mohan Shrotriyaतीनों बच्चों-- दो बेटियों और एक ब... Read more
clicks 136 View   Vote 0 Like   3:56am 31 Jan 2012 #
Blogger: brajesh kumar
                                   आखिर मैंने पढ़ ही लिया  मोहन शोत्रिया जी की कविता --- ६३ बरस पहलेकी बात है ,डरते दुबुकते सुबुकते सुबुकते रुक रुक कर विराम लेकर .क्योंकि आसान   नहीं है इस कविता की तपिश से गुजरना . मैं फस गया हूँ भावनाओ के तूफ़ान में . एक एक कर याद आ रही ह... Read more
clicks 197 View   Vote 0 Like   3:28am 23 Jan 2012 #
Blogger: brajesh kumar
१५ जनवरी पटना का सबसे ठंडा दिनकमबख्त सर्दी तो इस बार किसी सनकी गर्लफ्रेंड की तरह गले ही पड़  गयी है लौटतीहै दो कदम पीछे ,फिर दुने वेग से वापस आकर लिपट जाती है, समझ नहीं आ रहा है की इससे पीछा कैसे छुडाऊ .दुबका रहता रजाई के आड़ में भोर तक , पर बकरे की माँ खैर  मनाये कब तक .घुसता ... Read more
clicks 137 View   Vote 0 Like   3:42am 16 Jan 2012 #
Blogger: brajesh kumar
मैं भूखा हूँ ,भूख मिटाने को,लिखता हूँ ,फिर मिटा देता हूँ,क्यूँकिअपने लेखन में मुझे ही ,नजर आते हैं खोट ,भूख और बढ़ जाती है ,दौड़ पड़ता हूँआसपास बहतेकाव्य के सागर की ओर,कुछ बूंदे भरता हूँ,मुग्ध होता हूँ  पढ़ कर,जो मेरी सोच से ऊपर ,बहुत ऊपर है ,लौटता हूँ और,फाड़ देताहूँअपना ही ... Read more
clicks 150 View   Vote 0 Like   5:22am 14 Jan 2012 #
Blogger: brajesh kumar
देख तुम्हारा अंकपत्र बस इतना ही कह सका,मैं अछ्छा पापा नहीं बन सकायकीं कर पाना है मुश्किल,बड़ी बेचैनी है बेटेतुम्हारे अंक कम कैसे,सोचता हूँ लेटे लेटेसाधारण से प्रश्न और ढेरो गलती ,जाने  दुविधा कैसी तुममे पलतीतुम्हारी दुविधाओं का समाधान ,मैं नहीं कर सकामेरे बेटे मैं ... Read more
clicks 104 View   Vote 0 Like   1:55pm 23 Nov 2011 #
Blogger: brajesh kumar
दुनिया में आदमी दो तरह के होते है.  एक जो समस्या की आह्ट पाते ही उसके निदान में लग जाते हैं , दूसरे मेरी तरह के बतफरोश,निकम्मे लोग जो समस्या के साथ  तब तक नैन मटक्का करते हैं जब तक समस्या  तांडव न  करने लगे . हमारी  सबसे बड़ी समस्या  हमारी धर्मपत्नी है  और उनकी सबस... Read more
clicks 97 View   Vote 0 Like   9:29am 24 Oct 2011 #
Blogger: brajesh kumar
Let's Blog: The secret of Happy Life: Once upon a time a married couple celebrated their 25th marriage anniversary. They had become famous in the city for not having a single ...... Read more
clicks 99 View   Vote 0 Like   11:28am 12 Oct 2011 #
Blogger: brajesh kumar
मैं  कमोड हूँ . आदमी  की  असंख्य  अद्भुत  अविष्कारों  में  से  एक .जी  हाँ  कलयुग  की  सबसे  बड़ी  खोज , बिलकुल  facebook   की  तरह  जहाँ ,कम  से  कम  एक  बार  जाना  तो  आदमी  की  मजबूरी  है .मैं  वो   HOT SEAT हूँ  जिसे  ग्रहण  करते  ही  आदमी... Read more
clicks 124 View   Vote 0 Like   3:01pm 11 Oct 2011 #
Blogger: brajesh kumar
जानकी पुल: ‘कामसूत्र’ सिर्फ सेक्स की किताब नहीं है... Read more
clicks 126 View   Vote 0 Like   3:34am 7 Oct 2011 #
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:

Members Login

    Forget Password? Click here!
  • Latest
  • Week
  • Month
  • Year
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3954) कुल पोस्ट (193543)