Hamarivani.com

"seemadani ke kalam se"

" दुनिया के छूटने का कोई ग़म नही मुझेतुझसे जुदा हुई हूँ ये एहसास है अभी ""Dunya ke chootne ka koi gham nahi mujheTujhse juda huee hu ye ehsaas hai abhi "...
"seemadani ke kalam se"...
seema gupta
Tag :
  June 1, 2013, 4:05 pm
"आग-पानी है मिट्टी है हवा है मुझमें मेरे खालिक का कोई राज़ छुपा है मुझमें ।""Aag pani hai mitti hai hawa hai mujh meinmere khalik ka koi raaz chupa hai mujh mein"...
"seemadani ke kalam se"...
seema gupta
Tag :
  June 1, 2013, 4:03 pm
" हो न जाए तहो -बाला कहीं दुनिया सारी ,एक तूफ़ाने -बला ख़ेज़ छुपा है मुझमें ""Ho na jaye tahoe-bala kahin duniya sariEk tufan-e-bala kheez chupa hai mujh mein"...
"seemadani ke kalam se"...
seema gupta
Tag :
  June 1, 2013, 4:01 pm
" उसका हर रूप निगाहों में बसा है मेरी ,उसका हर रंग भी सदियों से रहा है मुझमें""Uska har roop nigahon mein basa hai meriUska har rang bhi sadiyon se raha hai mujh mein"...
"seemadani ke kalam se"...
seema gupta
Tag :
  June 1, 2013, 3:57 pm
"Nazm""मुकामात हैं कुछ ऐसे भीजहाँ तुम नही मगर तुम जैसे हैं मचल जाती हें यादें बादल बन करखिलने लगते हें फूल मुझ मैंजो तुम नहीं मगर तुम जैसे हैं फैला है हिज़र का सेहराखिलते हें खार ही ज़ा बा ज़ा कुछ तेरी याद के संदल भी हैं जो तुम नहीं तुम जैसे हैं कुछ अपना सा है पास दिल केकुछ प...
"seemadani ke kalam se"...
seema gupta
Tag :
  June 1, 2013, 3:55 pm
' मौत मुझको चुका न पायेगी ,ज़िन्दगी पर उधार निकलूंगी ''Maut mujhko chuka na payegi zindagi par udhar nikloongi'...
"seemadani ke kalam se"...
seema gupta
Tag :
  June 1, 2013, 3:52 pm
"Jo daaman pe moti sajaye huay hainvo aansu hamaree bahaye huay hain""जो दामन पे मोती सजाए हुए हैंवो आँसू ह्मारे बहाए हुए हैं"...
"seemadani ke kalam se"...
seema gupta
Tag :
  June 1, 2013, 3:50 pm
Poetry Published in a one of famous literary magazine ""Hindi Pushp" from Australia victoria" Jan 2013 edition.."Mrigtrishna "................Kaisi yeh mrig trishna meridundha tumko takdiron meinchanda ki sab tehriron meinhathon ki dhundhli lakeeron meinmojud ho tum mojud ho tumin ankhon ki tasweeron meinkaisi ye.............ambar k jhilmil taron meinsawan mein rimjhim fawaron meinlehron k ujlay kinaron meintumko paya tumko payaprem vireh ashrudharon meinkaisi ye .................dhundha tumko din raaton meinkhwabon khyalon zazbaton meinuljhay se kuch swalaton meinbaste ho tum baste ho tumsanson ki lai mein baaton meinkaisi ye .......................dhundi sab khamosh addayeingumsum khoyi kh...
"seemadani ke kalam se"...
seema gupta
Tag :
  January 8, 2013, 10:54 am
"मैं और तुम" ...............मुट्ठी भर किरणों की बारिश मै और तुम तुमसे मिलने की एक ख्वाइश मैं और तुम शबनम के ये कतरे फूल की पत्ती पर आब है अश्कों का ये मेरे मैं और तुम पानी पानी अब के भी है सारा कुछ रोते दिल और बहती आँखें मैं और तुम पारा पारा अब तो पूरा ज़ामा है एक उम्मीदों का दाम...
"seemadani ke kalam se"...
seema gupta
Tag :
  January 5, 2013, 3:19 pm
"Dil kay nagar main ak talatum sa bhapa haiLab par hai muhar zinat-e-akhbaar ham nahen"दिल के नगर में एक तलातुम सा बपा हैलब पर है मुहर ज़ीनत-ए-अखबार हम नहीं...
"seemadani ke kalam se"...
seema gupta
Tag :
  January 2, 2013, 10:34 am
ना सियासतों के ये ज़ुल्म हों ना रफाकतों में ही खोट हो ना बुराईयों का हिसाब हो ना ही नेकियों का शुमार हो "Na siyasatoN ke ye zulm hoN Na refaqatoN meN hi khot ho na buraiyoN ka hisab ho na hi nekiyoN ka shumaar ho "...
"seemadani ke kalam se"...
seema gupta
Tag :
  December 26, 2012, 10:58 am
"नज़्म ""दिसम्बर बहता है " ----------------------दश्त-ए -दर्द के मंज़र खुश्क हवाओं के लश्कर ज़र्द पत्तों की आहट रगे लहू मौसम मौसम दिसम्बर बहता है .....बिखरते हैं नर्म हथेलियों पे शबनम की तरह तुम्हारे लम्स के सराब दहकते हैं पलाश मेरे माज़ी में गये दिनों की तरह दिसम्बर रहता है ...........श...
"seemadani ke kalam se"...
seema gupta
Tag :
  December 8, 2012, 3:29 pm
Good Luck SeemaThe boy you met,with sparking eyesdidn't open his mouth but smiled!But volumes of spoken words ariseFrom his silent smile hope filled2what 's the use of voice,when,mounconveys stories of romance in a minuteIn to his eyes you see a fine gardenOf love,spirit and every thing cute3when two pairs of eyes meet,thereTakes place an internal conflagrationwhich doesn't burn but do assureComfort,and unalloyed fascination...
"seemadani ke kalam se"...
seema gupta
Tag :
  December 5, 2012, 10:56 am
नज़्म -----------------जान - ए -जहां , है तेरा ही ख्याल ,तु मेरा शोक़ कहाँ ....तेरा ,शोक़ -ए -तमाशा हूँ मैं मेरे ज़ब्त का मुदावा है तु.... दश्त -ए -दिल में , उतर आई है फ़िराक के लम्हों की रोनक है तु ...जलवा - ए - बेक़रारी है ,निगाह गाफ़िल है तुझसे ,तुझ में मुझ में खुलता है ,मजबूर तकाज़ा लेकिन ,यही फर्...
"seemadani ke kalam se"...
seema gupta
Tag :
  December 3, 2012, 4:30 pm
"kabhi hijr ho ke wisaal ho nai qurbatoN ki misaal honaya dooryoN meN bhi ho maza naya qurbatoN meN weqaar ho "कभी हिज़्र हो के विसाल हो नई  कुर्बतों की मसाल हो नया दूरियों में भी हो मज़ा नया कुर्बतों में वकार हो ...
"seemadani ke kalam se"...
seema gupta
Tag :
  November 26, 2012, 3:30 pm
"Tajweez wo agar koi meri sazaa kareydil ki adalatoN meiN WO khud bhi raha karey""तजवीज़ वो अगर कोई मेरी सज़ा करे दिल की अदालतों में वो खुद भी रहा करे "...
"seemadani ke kalam se"...
seema gupta
Tag :
  November 26, 2012, 3:28 pm
"kahkashaaN se aaj dil ki kon ye guzar gayazarra zarra reshmi shuaa'oN se nikhar gaya""कहकशां से आज दिल की कौन ये गुज़र गया ज़र्रा ज़र्रा रेशमी शुआओं से निखर गया "...
"seemadani ke kalam se"...
seema gupta
Tag :
  November 26, 2012, 3:27 pm
"Ye aur baat SEEMA wo nazroN se door haiDil meiN to uski yaad ka charcha rah kare""ये और बात सीमा वो नज़रों से दूर है दिल में तो उसकी याद का चर्चा रहा करे "...
"seemadani ke kalam se"...
seema gupta
Tag :
  November 26, 2012, 3:25 pm
"Teri dehleez se suraj ko nikalta dekhoonEk diya door talak raah mein jalta dekhoon"" तेरी देहलीज़ से सूरज को निकलता देखुं ,इक दिया दूर तलक राह में जलता देखुं" ...
"seemadani ke kalam se"...
seema gupta
Tag :
  November 26, 2012, 3:22 pm
GHAZAL PUBLISHED IN " SAADAR INDIA" "GEET GHAZAL" EDITION NOVEMBER 2012, along with great legenads of literature...
"seemadani ke kalam se"...
seema gupta
Tag :
  November 26, 2012, 3:20 pm
"Rang zakhamo ka mere khoon se unnabi hoor har zakham ko ek phool sa khilta dekhoon"" रंग ज़ख्मों का मेरे खून से उन्नाबी हो और हर ज़ख्म को एक फूल सा खिलता देखूं "...
"seemadani ke kalam se"...
seema gupta
Tag :
  November 26, 2012, 3:19 pm
"Dil jlaao ke dishaon mein ujala failemanzron main bhi tere aks ko dhalta dekhon"'दिल जलाओ की दिशाओं में उजाला फैले मंज़रों में भी तेरे अक्स को ढलता देखू"...
"seemadani ke kalam se"...
seema gupta
Tag :
  November 26, 2012, 3:16 pm
"GHAZAL  PUBLISHED IN ONE OF FAMOUS LITERARY MAGAZINE "ABHINAV PRAYAS " JULY-SEPT 2012 EDITION (ALIGARH)" कभी  ख्याल  में  मंज़र  जो  एक   रहता  था वही  झुकी  हुई  शाखें  वही  दरीचा  था उसी  ने  फूल  खिलाये  तमाम  खुशियों    के वो  मुस्कुराता  हुआ  जो  तुम्हारा  लहजा  था किसी  की  आँखें  कहानी  सुना  रही  थीं  मुझे मोहब्बतों  का  रव...
"seemadani ke kalam se"...
seema gupta
Tag :
  August 27, 2012, 10:26 am
My Ghazal published in BAZM E SAHARA MAGAZINE in AUGUST 2012 EDITION http://bazmesahara.com/01082012/Home.aspx  (PAGE-64)1) रौशनी  से  भला  जुगनू  ये  निकलता  क्यों   है अक्स  इसका  मेरी  आँखों  में  बिखरता  क्यों  है गुफ्तुगू  में  जो  तेरा  ज़िक्र  कभी  आ  जाए दर्द  तूफ़ान  की  तरह  दिल  में  मचलता  क्यों  है रात  भर  चाँद  ने  चूमी  है  तेरी  पेशा...
"seemadani ke kalam se"...
seema gupta
Tag :
  August 23, 2012, 9:41 am
My Ghazal published in BAZM E SAHARA MAGAZINE in AUGUST 2012 EDITION http://bazmesahara.com/01082012/Home.aspx  (PAGE-64) रौशनी  से  भला  जुगनू  ये  निकलता  क्यों   है अक्स  इसका  मेरी  आँखों  में  बिखरता  क्यों  है गुफ्तुगू  में  जो  तेरा  ज़िक्र  कभी  आ  जाए दर्द  तूफ़ान  की  तरह  दिल  में  मचलता  क्यों  है रात  भर  चाँद  ने  चूमी  है  तेरी  पेशा...
"seemadani ke kalam se"...
seema gupta
Tag :
  August 23, 2012, 9:38 am
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3666) कुल पोस्ट (165838)