Hamarivani.com

क्रांतिदूत

कह दो दिल से कैसे मानूकि मन में तेरे गिले नहीं हैं.हम साथ साथ भले बैठे होंदिल अभी भी मिले नहीं हैं.अब भी दबे हैं स्वर भावों केछलक रहे हैं दर्द घावों के.होठों पर दिखते हंसी नदारदखुशियों के फ़ूल खिले नहीं हैं.दिल अभी भी मिले नहीं हैं.उद्घोष ही न हो विजय कीजीत का फ़िर अर्थ क्या ...
क्रांतिदूत...
arvind
Tag :कविता
  January 31, 2012, 3:28 pm
शुभकामनायेंशुभ वर्ष 2012----------- मंगल वर्ष 2012--------------- नूतन वर्ष 2012नई आशाएं, नयी योजनायें, नये प्रयास, नयी सफ़लता, नया जोश, नई मुस्कान, नया वर्ष बीस-बारह .समृद्धशाली, गौरवपुर्ण, उज्ज्वल, सुखदायक, उर्जावान, विस्मयकारी, स्मृतिपुर्ण नव वर्ष बीस -बारह।जीवन-मरण की सीमाओं मे बंधा हुआ नगण्...
क्रांतिदूत...
arvind
Tag :
  December 30, 2011, 5:47 pm
नौकरी का आवेदन पत्र भेजने के सात साल बाद चन्द्राकर को साक्षात्कार के लिये बुलाया गया.अब उसे नौकरी की जरूरत नहीं थी क्योंकि वह बिजनेस करने लगा था , लेकिन अनुभव प्राप्त करने के लिये वह साक्षात्कार बोर्ड में उपस्थित हुआ.एक सदस्य ने पूछा..."इस पद के लिये आपमे कितनी काबिलियत ...
क्रांतिदूत...
arvind
Tag :लघुकथा
  December 26, 2011, 4:40 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3685) कुल पोस्ट (167835)