Hamarivani.com

बच्चों का कोना

(विश्व पर्यावरण दिवस पर)आओ पर्यावरण बचायें,धरती माँ का क़र्ज़ चुकायें.सब कुछ पाया धरती माँ से,बदले में क्या दिया है हमने?कुदरत की सौगात के बदले,दूषित आँचल किया है हमने.नदियों के निर्मल पानी मेंबहा गन्दगी अपनी हमने.गंगा यमुना को दूषित करदिया विनाश निमंत्रण हमने.जंगल का...
बच्चों का कोना...
Tag :
  June 5, 2012, 1:11 pm
एक नदी पर पुल था सकरा,एक बार में एक जा पाता.एक तरफ से कोई जब आता,दूजा उसी छोर रुक जाता.दो मूरख, जिद्दी थीं बकरी,पुल पर दो छोरों से आयीं.पुल के बीचों बीच पहुँच कर,पीछे हटने पर हुई लड़ाई.वे न पीछे हटने को राजी,दोनों आगे बढ़ती आयीं.लड़ते लड़ते गिरी नदी में,उन दोनों ने जान गंवाई.ए...
बच्चों का कोना...
Tag :
  March 16, 2012, 2:48 pm
             अभ्युदय के जन्म दिन पर नाना और नानी का                               ढेरों प्यार और आशीर्वाद                                            हर वर्ष खुशी के हों मेले,                                           हर दिन खुशियाँ लेकर आये.                                           गंगा सी तुम शुचिता पाओ,                                           सूरज प्रक...
बच्चों का कोना...
Tag :
  March 5, 2012, 7:44 am
मामा बनते हो तुम चंदामेरे घर पर कभी न आते.तारों साथ रात भर रहतेपर बच्चों के पास न आते.घटते बढ़ते रोज रोज क्यों,पूरे तुम अच्छे लगते हो.इसका राज बताओ हमको,क्या तुम दूध नहीं पीते हो?कभी चांदनी लेकर आते,कभी अँधेरे में क्यों रहते?सारी रात जागते हो तुम,दिन में किसके घर में रहते...
बच्चों का कोना...
Tag :
  February 22, 2012, 2:22 pm
गहरे दोस्त लोमड़ी सारस,रहते थे एक नदी किनारे.कहा लोमड़ी ने सारस से,खाने पर घर आओ हमारे.सूट, बूट और टाई पहन कर,सारस घर से निकला सजकर.भूख जग गयी थी सारस की,पहुंचा जब वो उसके घर पर.खीर लोमड़ी लेकर आयीएक बड़ी चौड़ी थाली में.खीर न उसके मुंह में आतीचोंच ड़ालता जब थाली में.भूखा सा...
बच्चों का कोना...
Tag :
  February 3, 2012, 2:41 pm
ओढ़े त्रय रंगी चुनरी,छब्बीस जनवरी आयी.पूरे भारत ने मिलकरगणतंत्र की खुशी मनायी.यह धरती माँ हम सबकीजीवन से भी प्यारी है.इसकी मिट्टी की खुशबूसोंधी जग से न्यारी है.आज़ाद करने इसकोकोटिक बलिदान दिये हैं.शत-शत प्रणाम हम सबका,उन पूर्वज जन के लिये है.इसकी रक्षा को हम सब मिलकर त...
बच्चों का कोना...
Tag :
  January 25, 2012, 4:02 pm
ओढ़े त्रय रंगी चुनरी,छब्बीस जनवरी आयी.पूरे भारत ने मिलकरगणतंत्र की खुशी मनायी.यह धरती माँ हम सबकीजीवन से भी प्यारी है.इसकी मिट्टी की खुशबूसोंधी जग से न्यारी है.आज़ाद करने इसकोकोटिक बलिदान दिये हैं.शत-शत प्रणाम हम सबका,उन पूर्वज जन के लिये है.इसकी रक्षा को हम सब मिलकर त...
बच्चों का कोना...
Tag :
  January 25, 2012, 4:02 pm
सूरज छिपा रजाई अन्दर,धरती धूप बिना ठिठुराती.जाना पड़ता स्कूल ठण्ड में,तुमको दया नहीं क्यों आती.सुबह सुबह कोहरा होता है, शाम ठण्ड में खेल न पाते.जब भी तुम गायब होते हो,बादल भी बारिस कर जाते.मम्मा ने हम को समझाया,मौसम आते जाते हैं रहते.हर मौसम का मजा है अपना,हर मौसम हमको कु...
बच्चों का कोना...
Tag :
  January 5, 2012, 1:30 am
शेर खान ने हुक्म सुनाया,जंगल में नव वर्ष मनेगा.सामिल होंगे सब पशु पक्षी,नाच गान का रंग जमेगा.जंगल में मैदान बड़ा था,हुए इकट्ठे सब पशु पक्षी.बिल्ली चूहा भूल दुश्मनी,मिल कर नाचे खुशी खुशी.भालू ने जब किया भांगड़ा,मीठा कोयल ने गीत सुनाया.और लोमड़ी लगी नाचने,बन्दर डमरू ले कर ...
बच्चों का कोना...
Tag :
  December 30, 2011, 2:29 pm
हैप्पी क्रिसमस है जब आता,घर बाहर सब है सज जाता.क्रिसमस ट्री है घर में लाते,मिलकर उसको सभी सजाते.सेंटा क्लॉज हैं कितने प्यारे,लाते गिफ्ट हैं कितने सारे.लाल कोट और लाल है टोपी,भारी गठरी कंधे पर होती.लम्बी सफ़ेद दाढ़ी है प्यारी,है मुस्कान भी उनकी न्यारी.बच्चे उनको प्यार है...
बच्चों का कोना...
Tag :
  December 24, 2011, 2:09 pm
जब भी मोर नाचता वन में,खुशियाँ छा जाती हैं मन में.पंख खोल जब नाच दिखाता,रंग बिखर जाते हैं वन में.नीली प्यारी लम्बी गर्दन,उस पर बिखरे सोने के कण.सिर पर सुन्दर ताज सजा है,तुम्हें मानते राजा पक्षी गण.इतने सुन्दर पंख न देखे,जैसे चन्द्र उगे अम्बर में.पीले, हरे रंग भी बिखरे,इन लम...
बच्चों का कोना...
Tag :
  December 14, 2011, 2:19 pm
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3694) कुल पोस्ट (169759)