Deprecated: mysql_connect(): The mysql extension is deprecated and will be removed in the future: use mysqli or PDO instead in /home/hamariva/public_html/config/conn.php on line 13
चिकोटी : View Blog Posts
Hamarivani.com

चिकोटी

प्याजसे मुझे उतनी ही मोहब्बत है जितनी शीरीं को फरहाद से थी। व्हाट्सएप्प चलाए बिना दो पल को फिर भी रह सकता हूं किंतु प्याज बिना एक पल भी नहीं। प्याज मेरा आदि और अंत है। प्याज के बिना न मुझे खाना हजम होता है न लिखने का आईडिया ही आता है। बोते होंगे लोग बाग अपनी जिंदगी में चर...
चिकोटी...
Tag :
  December 6, 2017, 9:43 am
मुझेअपनी नाक पर कभी गर्व नहीं रहा! रहे न रहे। कटे न कटे। नाक ही तो है कोई इतिहास थोड़े ही कि हर वक़्त ध्यान रखता फिरूं- कौन इसके साथ छेड़छाड़ कर रहा है, कौन सम्मान दे रहा है। यह मैं अच्छे से जानता हूं कि दुनिया में चाहे कुछ हो जाए मेरी नाक जहां है वहां सही सलामत ही रहेगी। फिर क्य...
चिकोटी...
Tag :
  December 4, 2017, 9:52 am
पत्नीको रसगुल्ला बेहद पसंद है। इतना पसंद कि एक दफा बहसबाजी के दौरान उसने रसगुल्ले को मुझसे बेहतर करार दिया था। उसकी मिठास को मेरी मिठास से दस गुना उम्दा बताया था। पसंद चूंकि पत्नी की है, इस नाते मैं उससे अधिक बहस बही नहीं कर सकता। यों भी, पत्नियों से बहस के दौरान बहुत-सी ...
चिकोटी...
Tag :
  November 30, 2017, 10:12 am
उसकहावत 'इंसान गलतियों का पुतला है'को हमने मोबाइल फोन के 'की-पैड'में मौजूद 'ओटो-करेक्ट'फीचर पर डाल- छोटी-मोटी गलतियों से कम्पलीट मुक्ति पा ली है। शब्दों-वाक्यों में अगर किसी को कहीं कोई गलती मिलती है और उसके लिए अगला हमें टोकता भी है तो हम यह कहकर- 'यार, ऐसा 'ऑटो-करेक्ट'के का...
चिकोटी...
Tag :
  November 24, 2017, 9:36 am
कहते हैं, मोक्ष स्वर्ग जाकर ही मिलता है! धरती पर रहकर इंसान कर्म चाहे कैसे भी करे पर अंतिम इच्छा उसकी स्वर्ग जाने की ही रहती है। स्वर्ग से मनुष्य का मोह अब का नहीं आदि काल से है। नरक में जाने की तमन्ना तो चोर-अपराधी भी नहीं रखना चाहते। जो भी हो पर स्वर्ग का हमारे जीवन में अ...
चिकोटी...
Tag :
  November 14, 2017, 11:45 am
उस दिनमोहल्ले में दो पड़ोसी आपस में सिर्फ इस मुद्दे पर भिड़ लिए कि तूने मेरे घर के आगे कूड़ा क्यों डाला! दोनों के मध्य बहुत देर तक इस मुद्दे पर हल्की-फुल्की गालियों के साथ विचार-विमर्श चलता रहा। बात कूड़े के रास्ते होती-होती कभी एक दूसरे के खानदान तक पहुंच जाती तो कभी एक-दूसर...
चिकोटी...
Tag :
  November 8, 2017, 9:44 am
मंदड़ियोंसे 'सहानुभूति'रखने का कोई भी मौका मैं हाथ से नहीं जाने देता। मंदड़ियों से सहानुभूति रख मुझे ऐसी ही 'शांति'मिलती है जैसे भक्त को अपने ईश्वर की उपासना कर। मैं उन 'मतलबी'लोगों में से नहीं हूं जो टेढ़े वक़्त में 'मजबूर आदमी'का साथ छोड़ दे। आजकल मंदड़ियों की स्थिति लगभग मजब...
चिकोटी...
Tag :
  November 7, 2017, 9:33 am
तबउस जमाने में बीरबल की खिचड़ी कब और कितनी गली मुझे नहीं मालूम! अकबर के राज में खिचड़ी के कितने अच्छे दिन रहे, इसका भी कोई खास प्रमाण नहीं मिलता। या फिर तब के राजा-महाराजाओं ने खिचड़ी को 'राष्ट्रीय फूड'बनाने के लिए कितने और कहां तक प्रयास किए, ये भी पता नहीं चलता।पर इतना तो पक...
चिकोटी...
Tag :
  November 4, 2017, 8:58 am
जबदूल्हा बिक सकता है, खिलाड़ी बिक सकते हैं तो नेता क्यों नहीं बिक सकते? समझ नहीं आता- नेताओं के बिकने पर ही इतना हंगामा क्यों खड़ा किया जाता? मीडिया से लेकर समाज-सुधारक तक बिके नेता के पीछे यों पड़ जाते हैं मानो उसने बिककर बहुत बड़ा गुनाह कर दिया हो!जरा-सी बात लोग नहीं समझते, न...
चिकोटी...
Tag :
  November 2, 2017, 9:36 am
सेंसेक्स 33 हजार के पार निकल गया और आप कह रहे हैं कि विकास होता दिखाई नहीं दे रहा! निफ्टी 10 हजार के शिखर पर चढ़ इठला रही है और आप कह रहे हैं अच्छे दिन कहां आए हैं! वित्तमंत्री जी ने बैंकों को दो लाख करोड़ रुपये का बूस्टर दे दिया और आप कह रहे हैं कि अर्थव्यवस्था खड्डे में जा रही ह...
चिकोटी...
Tag :
  October 30, 2017, 10:13 am
आजकलताजमहल पर खूब जिक्र छिड़ा हुआ है तो यह किस्सा याद आ गया।कुछ साल पहले पत्नी ने भी ऐसी ही एक तमन्ना मुझ पर जाहिर की थी कि मैं उसके खर्च होने के बाद उसकी याद में 'ताजमहल'जैसा कुछ बनवाऊं! तब इस मसले पर हमारे बीच तगड़ी बहस हुई थी। बात तलाक के रास्ते होती हुई थाना-कोतवाली तक पह...
चिकोटी...
Tag :
  October 27, 2017, 11:52 am
समस्यादेश में नहीं होती। लोगों के 'दिमाग'में होती है। दिमाग से होते-होते समस्या जब ज़बान पर आती है तब वह 'देश की समस्या'बन जाती है। देश की समस्याओं को हल करने के लिए बड़े-बड़े 'दिमागदार'लोगों की सहायता ली जाती है। दिमागदार लोग समस्या को हल करने में अपना अगला-पिछला सारा जो...
चिकोटी...
Tag :
  October 26, 2017, 12:50 pm
फेस्टिव सेलसिर्फ ऑनलाइन या ऑफलाइन ही नहीं लगा करती, सोशल मीडिया पर भी लगती है। सोशल मीडिया पर लगी फेस्टिव सेल तरह-तरह के शुभकामना संदेशों से भरी पड़ी रहती है। पांच-सात तरह के शुभकामना संदेश एक-दूसरे को खूब व्हाट्सएप्प किए जाते रहते हैं।व्हाट्सएप्प युक्त इन संदेशों का ...
चिकोटी...
Tag :
  October 25, 2017, 10:50 am
नॉर्थ कोरियाका तानाशाह गजब का 'बमचक'बंदा है। चेहरे से जितना 'भोला-भाला'जान पड़ता है, दिमाग का उतना ही 'टेढ़ा'। किस बात का कब बुरा मान जाए, उसके फरिश्ते भी न जानते। लोग गुस्से को 'नाक'पर रखकर चलते हैं मगर वो 'हाइड्रोजन बम'पर रखता है। तुरंत हाइड्रोजन बम से उड़ाने का अल्टीमेटम ...
चिकोटी...
Tag :
  October 13, 2017, 9:35 am
साहित्यका नोबेल एक दफा फिर से मेरे देश के साहित्यकारों के हाथों से फिसल गया। एक विदेशी साहित्यकार उस पर कब्जा जमा बैठा। यह जितना क्षोभप्रद हमारे साहित्यकारों के लिए है, उससे कहीं ज्यादा बेचैनी का विषय मेरे लिए है। अपनी बेचैनी का आलम मैं शब्दों में बयां नहीं कर सकता। ज...
चिकोटी...
Tag :
  October 10, 2017, 9:58 am
श्राद्धनिपटते ही सेल ने दरवाजे पर दस्तक दे दी है। खरीद-बेच का दौर शुरू हो गया है। ऑफलाइन से अधिक ऑनलाइन मार्केट हमें लुभाने में लगा है। ऑनलाइन मार्केट की सेल में किस्म-किस्म के ऑफर्स हैं। डिस्काउंट्स हैं। जीरो ईएमआई के सुनहरे वादे हैं। सारा जोर इस बात पर टिका है कि कस्...
चिकोटी...
Tag :
  September 29, 2017, 10:03 am
सरकार'अच्छे दिन'लाने को 'कृत-संकल्प'है। हर काम में जी-जान से जुटी है। स्वयं प्रधानमंत्री जी भी अपने प्रत्येक संबोधन में 'अच्छे दिन'लाने की अपनी 'भीष्म-प्रतिज्ञा'को दोहराए बिना नहीं रहते। जनता भी यह सोचकर संतोष कर ही लेती है कि आज नहीं तो कल उसके 'अच्छे दिन'आ ही जाएंगे। जबक...
चिकोटी...
Tag :
  September 25, 2017, 12:28 pm
पहलेमैं वंशवाद और वंशवादियों को ‘हेय दृष्टि’ से देखा करता था। जाने कितने ही लेख मैंने ‘वंशवाद के विरोध’ में यहां-वहां लिख डाले। कितने ही दोस्तों से अपनी दोस्ती सिर्फ इस बात पर एक झटके में ‘खत्म’ कर दी कि वे बहुत बड़े वाले वंशवादी थे। हमेशा वंशवाद के समर्थन में खड़े रह...
चिकोटी...
Tag :
  September 22, 2017, 9:50 am
मैंनेअब कम बोलना। कम लिखना। बहस में कम पड़ना शुरू कर दिया है। समय खराब है। किसी का कोई भरोसा नहीं। कब में किस बात या असहमति पर कोई मेरा भी काम तमाम कर डाले। तो प्यारे मेरी भलाई इसी में है कि मैं ‘मुंह पर टेप’ चिपकाए रहूं।लेखक होकर मेरा यों ‘बिदकना’- जानता हूं- बहुत लोगों ...
चिकोटी...
Tag :
  September 8, 2017, 3:28 pm
देखरहा हूं। बैंच पर जमे एक शिरिमानजी निरंतर मुस्कुराए जा रहे हैं। अखबार उनके हाथों में है। मुस्कुराते वक्त उनके दांतों को देख पा रहा हूं। कुछ पीलापन है उन पर। उम्र का तकाजा कह लीजिए या पान-गुटखे की छाप जो उनकी मुस्कुराहट के बीच खुलते-बंद होते दांतों पर साफ दिखलाई पड़ र...
चिकोटी...
Tag :
  September 5, 2017, 1:39 pm
अखबारों में जूली 2का पोस्टर आया और छा गया। ऐसा छाया कि संस्कारवान लोग भी उतावले हो उठे उसे देखने-समझने को। सुनाई में आया है कि लोगबाग बड़ी तबीयत से जूली 2के पोस्टर को अपने-अपने व्हाट्सएपपर एक-दूसरे को आगे-पीछे सरका रहे हैं। पोस्टर पर ‘चटकारे’ यों लिए जा रहे हैं मानो कोई च...
चिकोटी...
Tag :
  September 4, 2017, 1:29 pm
बहरहाल, निजताओं पर चाहे कितने कानून बना लिए लीजिए। कितनी ही बहस कर लीजिए। एक-दूसरे की निजताओं की कितनी ही दुहाईयां दे लीजिए। मगर फिर भी कुछ सवाल न खत्म हुए हैं। न कभी खत्म हो पाएंगे। ये ऐसे गैर-वाजिब सवाल हैं, जिन्हें हम चाहकर भी 'निजी'नहीं बना सकते। समाज एवं घर-परिवार के ...
चिकोटी...
Tag :
  August 30, 2017, 9:57 am
वोखामोश हैं। इतने खामोश कि उनकी आवाज न जमीन न टि्वटर कहीं पर भी सुनाई नहीं दे रही। देश-दुनिया में इतना कुछ घटते रहने के बाद भी उनका खामोश रहना न केवल मुझे बल्कि उनके चहाने वालों को भी अब खलने-सा लगा है।पहले जब वे लगभग हर मुद्दे पर बोलते या ट्वीट करते रहते थे तब हमारे दिलो...
चिकोटी...
Tag :
  August 29, 2017, 7:35 am
आदेशलड़कियों के लिए आया था कि वे रात में घर से बाहर न निकलें। किंतु लागू इसे मैं खुद पर कर रहा हूं। आज से या कहूं अभी से मैंने रात में घर से निकलना एवं घर की खिड़की से मुंह निकालकर बाहर देखना तक बंद कर दिया है। सुन रहा हूं कि बाहर का माहौल खराब है। छेड़छाड़ की वारदातें बढ़त...
चिकोटी...
Tag :
  August 22, 2017, 7:37 am
सड़ककोच्चि की थी। भीड़ भी कोच्चि की थी। मगर सनी लियोनी कोच्चि की नहीं थी। वो तो वहां किसी शोरूम के उद्घाटन के लिए थी। फिर भी उसकी एक झलक भर पाने भर को कोच्चि की सड़क भीड़ से पट गई थी।सड़क पर इतनी भीड़। कि, लोगों के बस सर ही सर दिखलाई पड़ रहे थे। लोग एक के ऊपर एक कूदे जा रहे थ...
चिकोटी...
Tag :
  August 20, 2017, 7:43 am
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3710) कुल पोस्ट (171503)