Hamarivani.com

चिकोटी

भूतमुझे बेहद पसंद हैं। बचपन से आकर्षित करते रहे हैं। भूतिया फिल्में देखना। भूतों पर आधारित किस्से-कहानियां सुनना। भूतिया जगहों पर जाना। बड़ा आनंद आता है इन सब में मुझे।अक्सर खुद को मैं इसलिए भी गरियाता हूं कि मैंने मनुष्य-रूप में जन्म क्यों लिया? भूत क्यों नहीं बना? भ...
चिकोटी...
Tag :
  June 16, 2017, 10:09 am
जितनापसंद मुझे व्यंग्य लिखना है, उतना ही क्लीवेज देखना भी। कभी-कभी तो मुझे व्यंग्य और क्लीवेज एक-दूसरे के पूरक नजर आते हैं। उत्मुक्तता और उत्तेजना दोनों में एक समान होती है। जैसे- व्यंग्यकार को व्यंग्य लिखे बिना चैन नहीं पड़ता, वैसे ही हीरोईनों को क्लीवेज दिखाए (अपवाद...
चिकोटी...
Tag :
  May 21, 2017, 7:13 am
सचपूछो तो मुझे वायरस का डर नहीं। हंसी तो मुझे इस बात पर आ रही है कि इंसान अपने ही फैलाए वायरस से खुद डर रहा है। जगह-जगह चेतावनियां देता फिर रहा है कि रेन्समवेयर वायरस से बच कर रहें। ऐसी-वैसी कोई फाइल या इ-मेल न खोलें। जरा-कुछ खतरा दिखे तो तुरंत अपना कंप्यूटर बंद कर दें। हां...
चिकोटी...
Tag :
  May 19, 2017, 7:28 am
पिछलेकई दिनों से अखबार और खबरिया चैनल ‘चिप-मय’ दिख रहे हैं। तेल के खेल में प्रयोग की जानी वाली ‘चिप’ की खबरें खोद-खोद कर छापी-दिखाई जा रही हैं। लोग कभी चिप को तो कभी तेल मालिकों को ‘कोस’ रहे हैं। चिप-कांड ने न केवल सरकार बल्कि चिप-धारकों की नींद भी हराम कर रखी है। क्या तो त...
चिकोटी...
Tag :
  May 18, 2017, 9:47 am
वोतो एंवई लोग छोड़ते रहते हैं कि इंडिया गरीब मुल्क है। जबकि ऐसा कतई नहीं है। इंडिया राजा-महाराजाओं के जमाने में भी ‘सोने की चिड़िया’ था, अब भी है। फर्क सिर्फ इतना आया है कि अभी सोने की चिड़िया को चंद बड़े लोगों ने हैक कर रखा है। पर कोई नहीं…। कभी-कभी छोटे लोग भी सोने की चि...
चिकोटी...
Tag :
  May 17, 2017, 2:25 pm
हालांकिचीते को पीते कभी देखा तो नहीं मगर एक ऐड में दिखाया गया था कि चीता भी पीता है। यों, पीने पर किसी के ‘रोक-टोक’ नहीं। इंसान हो या जानवर कभी भी, कहीं भी, कैसे भी पी सकता है। बहुत से तो पीने को अपना ‘लोकतांत्रिक अधिकार’ मानते हैं। हां, यह बात अलग है कि पीने के बाद वे खुद ‘ह...
चिकोटी...
Tag :
  May 9, 2017, 7:39 am
आजजिधर भी निगाह उठाकर देख लीजिए, सबसे अधिक चर्चे कटप्पा के बाहुबली को मारने के ही मिलेंगे। हालांकि बाहुबली-2 सिनेमा घरों तक पहुंच चुकी है। लोगों ने देख भी ली है। लोग देख भी रहे हैं। किंतु यह सवाल अब भी वहीं का वहीं है कि कटप्पा ने बाहुबली को क्यों मारा? लुत्फ देखिए, बाहुब...
चिकोटी...
Tag :
  May 5, 2017, 10:00 am
जब सेअखबार में खबर पढ़ी है कि फेसबुक ‘ब्रेन सेंसिंग तकनीक’ पर काम कर रहा है। मतलब, हमारा दिमाग जो सोचेगा, वही हमारी फेसबुक वॉल पर उतरता चला जाएगा। तब से मैंने दिमाग से सोचना ही बंद कर दिया है! दिमाग को खोपड़ी से अलग कर एक कोठरी में ताला-बंद कर दिया है। न सांप होगा, न लाठी टू...
चिकोटी...
Tag :
  May 4, 2017, 7:40 am
वेहार गए। बहुत ही बुरी तरह से हारे। ऐसा हारे की चारों खाने चित्त हुए पड़े हैं। ईमानदारी धरा पर धरी की धरी रह गई। न केवल टोपियां उछलीं बल्कि झाड़ू तक जब्त हो गई। ये सब उनकी आंखों के सामने होता रहा। अफसोस, न वे ईंट से ईंट ही बजा पाए न ईवीएम के कथित झूठ को जनता के सामने ला पाए। ...
चिकोटी...
Tag :
  May 3, 2017, 9:39 am
मुझेचप्पलों- विशेषकर ‘हवाई चप्पल’- से बेहद लगाव है। हवाई चप्पल न केवल मेरी जिंदगी बल्कि मेरे लेखन का भी ‘आईना’ है। एक ऐसा आईना जिसमें बैठे-ठाले मैं अपनी सूरत निहारता रहता हूं। जितना ‘सुकून’ मुझे हवाई चप्पल पहनकर मिलता है, उतना ब्रांडेड जूते पहनकर भी नहीं।हवाई चप्पल म...
चिकोटी...
Tag :
  May 2, 2017, 7:29 am
यों, दुनिया में मूर्खों की कमी नहीं। सबसे अधिक मूर्ख अब सोशल मीडिया पर ही पाए जाने लगे हैं। सोशल मीडिया पर पाए जाने वाले मूर्खों की अजब ही कहानियां है। ये मूर्ख यहां या तो एक-दूसरे से लड़ते-भिड़ते रहते हैं या फिर लाइक-कमेंट की आस में ‘दुबले’ होते रहते हैं। किसी का खुद पर ...
चिकोटी...
Tag :
  April 1, 2017, 7:50 am
न केवलमेरे मोहल्ले बल्कि समूचे उत्तर प्रदेश के रोमियों पर ‘विकट संकट’ आन खड़ा हुआ है। एंटी रोमियो स्कावॉयड बन जाने से उनकी इज्जत पर ‘तगड़ा हमला’ हुआ है। बेचारे अब न खुलकर लड़कियों के स्कूल-कॉलेजों के आसपास टहलकदमी कर सकते हैं न अपनी महबूबा को बाइक पर बैठा कोचिंग छोड़...
चिकोटी...
Tag :
  March 23, 2017, 7:30 am
मुझमेंऔर शरारत में छत्तीस का आंकड़ा बचपन से रहा है। बताते हैं- जब मैं पैदा हुआ था तब गोदी में आने के बहाने मैंने नर्स को डाइरेक्ट तमाचा जड़ दिया था। बस तभी से मुझे शरारती टाइप बच्चा माना जाने लगा। बचपना गुजर जाने के बाद जवानी आ जाने पर भी मैंने अपनी शरारतों को नहीं छोड़ा...
चिकोटी...
Tag :
  March 21, 2017, 3:30 pm
मेरेएक वामपंथी मित्र हैं। पेशे और स्वभाव दोनों में केवल वामपंथ को ही जीते हैं। वामपंथ के अतिरिक्त पूरी दुनिया उन्हें नश्वर और पूंजीवादी टाइप नजर आती है। भीतर से लेकर बाहर तक लाल वस्त्र पहनते हैं। पैरों में लाल चप्पल और सिर में लाल तेल लगाते हैं। खाने में या तो लाल टमा...
चिकोटी...
Tag :
  March 18, 2017, 7:57 am
मैंनेइस मसले पर तमाम लोगों से बात की। बीवी से लेकर गर्लफ्रेंड तक की राय ली। सभी छंटे हुए वरिष्ठ व्यंग्यकारों को पढ़ा-सुना। फेसबुक-टि्वटर तक छान मारा। किंतु व्यंग्य में सरोकार का तड़का कैसे डाला जाए- यह बताने को कोई राजी नहीं। अरे, मैं तो उस बंदे को रिश्वत तक देने को तैय...
चिकोटी...
Tag :
  March 16, 2017, 7:36 am
आजकल‘अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता’ हर किसी की खूब जोर मार रही है। सोशल मीडिया पर तो अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर ‘नागिन डांस’ टाइप ही चल रहा है। जिसे देखो वो अपने गले में तख्ती लटकाए झूमे पड़ा है, अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के गाने पर। स्टेप कहीं के कहीं पड़ रहे हैं तब भी मन ...
चिकोटी...
Tag :
  March 10, 2017, 9:42 am
एंवईसब मिलकर बिचारी छिपकली को ‘बदनाम’ करे पड़े हैं। इसमें छिपकली का क्या ‘दोष’? छिपकली को क्या मालूम कि वो एक ऊंची कंपनी के फ्रेंच फ्राइज में ‘शहादत’ देने जा रही है। छिपकली अपने नेचर में कतई ‘स्वतंत्र’ होती है। बेरोक-टोक कहीं भी आ-जा सकती है। कहीं भी गिर या निकल सकती है...
चिकोटी...
Tag :
  March 9, 2017, 9:59 am
फेसबुकपर लाइक के मसले तगड़े हैं। आए-दिन अखबारों में छपने वाली रपटें बताती रही हैं कि लाइक की चाह में लोग ‘डिप्रेशन’ तक का शिकार होने लगे हैं। लोगों में अपने काम एवं नींद के प्रति इत्ता उत्साह देखने में न आता, जित्ता एक लाइक को लेकर रहता है। लाइक पाना मानो उनकी जिंदगी का ...
चिकोटी...
Tag :
  March 7, 2017, 9:48 am
उसरोज मेरे मोबाइल पर एक कॉल आई। कॉल चूंकि अनजान नंबर से थी, सो मैंने रिसिव नहीं की। दस मिनट बाद उसी नंबर से पुनः कॉल आई। मैंने यह सोचकर रिसिव कर ली कि शायद किसी अखबार के संपादक का फोन रहा, मुझसे कुछ लिखवा हो।कॉल रिसिव करते ही, उधर से बंदा बोलता है। सर, ‘मैं फलां मार्केटिंग ...
चिकोटी...
Tag :
  March 6, 2017, 9:37 am
कृश्न चंदर गधे की वापसीमें लिखते हैं- ‘इंसानों की दुनिया में वही लोग प्रसन्न रह सकते हैं, जो गधे बनकर रहें।‘वाकई। गधे बनकर रहने का ‘सुख’ क्या है, यह कोई मुझसे पूछे। मैं अपने खानदान का एक मात्र गधा हूं, जिसे स्कूल से लेकर परिवार तक हमेशा गधा ही कहा-माना जाता रहा है। किंतु ...
चिकोटी...
Tag :
  February 23, 2017, 10:13 am
मेरेपड़ोस में एक ‘दुमदार बुद्धिजीवि’ रहते हैं! नहीं.. नहीं..उनकी सचमूच की ‘दुम’ नहीं है। हैं वो हमारी-आपकी तरह ही सामान्य इंसान। दुमदार उन्हें इसलिए कह रहा हूं क्योंकि वे हर वक्त मुझे यह एहसास करवाते रहते हैं कि उनकी बुद्धिजीविता उनकी दुम (विचारधारा) में बसा करती है। यो...
चिकोटी...
Tag :
  February 22, 2017, 10:13 am
टि्वटरपर बाबाओं की धूम है। ये बाबा धरती पर पाए जाने वाले भगवा-धारी बाबाओं से भिन्न होते हैं। ज्यादातर बाबा ‘ट्रौलर्स’ हैं पर हैं ‘मजेदार’। उनके ट्वीटस पढ़कर तबीयत हरी हो जाती हैं। विषय चाहे राजनीति का हो या कोई और बाबा किसी को नहीं बख्शते। टि्वटर पर सबसे उम्दा वनलाइन ...
चिकोटी...
Tag :
  February 16, 2017, 10:38 am
बातेंचाहे कित्ती ही क्यों न बना लें पर दुनियां-जहां में चलती लाठी के वीरों की ही है। लाठी के वीरों से आम तो क्या खास भी ‘कंपता’ है। उचित दूरी बनाकर रहता है। न उनका साया खुद पर, न खुद का साया उन पर पड़ने देता है। लाठी के वीरों का क्या भरोसा कब में अपना ‘ब्रहमास्त्र’ चल दें। ...
चिकोटी...
Tag :
  February 14, 2017, 9:59 am
ज्ञानलेने या देने के मामले में मैं जरा ‘चूजी’ हूं। एंवई, हर किसी से न ज्ञान लेता हूं, न देता है। आज के डिजिटल युग में लोग ज्ञानियों की शरण में न जाकर सीधा गूगल करना ज्यादा पसंद करते हैं। सही भी है। अपना ज्ञान, अपना रिस्क।लेकिन संसद में प्रधानमंत्रीजी से ‘रेनकोट’ वाला जो ...
चिकोटी...
Tag :
  February 10, 2017, 9:34 am
डिसक्लेमर- यह किस्सा नितांत काल्पनिक है। अतः रत्तीभर भी दिल पे न लिया जाए।तो प्यारे, किस्सा कुछ यों है। हमारे पड़ोस में रहने वाले एक सज्जन अचानक से स्वर्ग सिधार गए। बतला दूं, सज्जन हर काम अचानक से ही किया करते थे। अचानक से ही हमारे घर आ धमकते थे। अचानक से ही कहीं भी चल पड...
चिकोटी...
Tag :
  February 8, 2017, 10:05 am
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3666) कुल पोस्ट (165905)