Deprecated: mysql_connect(): The mysql extension is deprecated and will be removed in the future: use mysqli or PDO instead in /home/hamariva/public_html/config/conn.php on line 13
बातें दुनिया की... : View Blog Posts
Hamarivani.com

बातें दुनिया की...

अगर आप यह जानना चाहते हैं कि जेएनयू‬ में ऐसा क्या है जो इसे तमाम दूसरे विश्‍वविद्यालयों से अलग करता है तो कल हुए छात्र प्रदर्शन के बारे में सुनिए। इस विश्‍वविद्यालय के छात्रों को आज जब यह पता चला कि नौसेना में पत्नियों की अदला-बदली की लगभग संस्थागत रूप ले चुकी परंपरा क...
बातें दुनिया की......
Tag :
  July 28, 2013, 3:01 pm
शीर्षक में 'यानी' के बाद आप कुछ भी जोड़ सकते/सकती हैं - गुलाम मानसिकता के शिकार लोगों का समूह, पस्त होने के बाद तटस्थ हो जाने वालों का समूह, ऐसा समुदाय जिसके नायक या तो भूख से मरते हैं या उपेक्षा से, ऐसे लोगों का समूह जो अपनी पहचान भूल चुका है...। आशावादियों के शब्द होंगे - ऐसा ...
बातें दुनिया की......
Tag :
  June 5, 2010, 1:18 pm
कल 'मीडिया में साहित्य की खत्म होती जगह'विषय पर हुई बहस में मुझे राजेंद्र यादव की यह बात सही लगी कि साहित्य और मीडिया की लड़ाई असल में दो वर्गों की लड़ाई है। मीडिया साधनसंपन्न वर्ग है और साहित्य हमेशा से साधनहीन वर्ग रहा है।साधनसंपन्न वर्ग के पास साधन क्यों है, इस पर कि...
बातें दुनिया की......
Tag :
  May 19, 2010, 2:40 pm
एक दौर था जब राजेश खन्ना के नाम पर लोग मर-मिटने को तैयार थे। ज़ाहिर-सी बात है कि इन लोगों में लड़कियों की संख्या अधिक थी। एक बार सिनेमा हॉल में फ़िल्म देखते समय राजेश खन्ना के एक दीवाने पर मेरा ध्यान गया। वह हर दृश्य पर ऐसे झूम रहा था जैसे उसे किसी अलौकिक आनंद की प्राप्ति ...
बातें दुनिया की......
Tag :
  May 18, 2010, 1:57 pm
आज श्रम दिवस है और इस मौके पर आर.डी. बर्मन को याद करना कुछ लोगों को अटपटा लग सकता है। मैं ऐसे लोगों को पहले उनके एक गाने के बोल पढ़ने को कहूँगा।"ऐसा क्यों होता है / कोई हँसता है, कोई रोता है / दौलत वालों के हाथों में / हर दिन हम बिकते हैं / बस्ती-बस्ती यही सबकी / तकदीरें लिखते हैं ...
बातें दुनिया की......
Tag :
  May 1, 2010, 11:55 am
आप सोच रहे होंगे कि इस अजीब शीर्षक में गठरी का क्या मतलब है। यह गठरी भारत और दुनिया भर के उन छात्रों की 'सामूहिक शक्ति' है जिसके बल पर वे सत्ता की दमनकारी नीतियों को बदलने में सफलता पाते आए हैं। इस सामूहिक शक्ति से डरने वाली सत्ता नियम-कायदों के नाम पर छात्रों की आवाज़ दब...
बातें दुनिया की......
Tag :
  April 4, 2010, 1:10 pm
पहले पेट की बात करते हैं। आजकल सरकार मटर की दाल का गुणगान करने में लगी हुई है। अरहर की दाल बहुत महँगी हो गई है और अब तो ऐसा लगता है कि आने वाले दिनों में केवल गंधर्व (सत्ताधारी) ही इस दाल से अपनी सेहत बना सकेंगे। किसानों को गरीबी के कारण आत्महत्या करने को मजबूर करने वाली सर...
बातें दुनिया की......
Tag :
  March 10, 2010, 4:28 pm
कभी-कभी यह तय करना मुश्किल हो जाता है कि कानून इनसान के लिए बना है या इनसान कानून के लिए। जर्मनी की एक दंपति की व्यथा सुनकर आप भी शायद इस सवाल से जूझने को मजबूर हो जाएँगे। यह दंपति संतान पैदा करने में असमर्थ थी। अपनी संतान का मुँह देखने की उसकी चाहत भारत आकर पूरी हुई। यहा...
बातें दुनिया की......
Tag :
  March 7, 2010, 4:56 pm
क्या फ़िल्में सचमुच समाज की असलियत सामने लाती हैं? मुझे तो ऐसा लगता है कि करोड़ों की लागत से बनने वाली फ़िल्मों में असलियत को छिपाने का ही काम किया जाता है।हमारे समाज में ऊँच-नीच, शोषण आदि का यथार्थ चित्रण करने में फ़िल्मकार या तो असमर्थ होते हैं या किसी दबाव के कारण वे ...
बातें दुनिया की......
Tag :
  February 22, 2010, 2:42 pm
जाति प्रथा ने हमारे समाज में ऊँच-नीच की भावना को मज़बूत करने का काम किया है। मेरे एक मित्र ने हाल में मुझे एक पढ़े-लिखे और 'सुसभ्य' व्यक्ति के बारे में ऐसी बात बताई जिससे यह साबित होता है कि आधुनिक शिक्षा भी इस सामाजिक रोग को दूर नहीं कर पाई है। इस शिक्षित व्यक्ति ने अपने ब...
बातें दुनिया की......
Tag :
  February 1, 2010, 11:14 am
अगर मैं आपसे यह कहूँ कि दुनिया के हर व्यक्‍ति की मानसिक उम्र दो या तीन लाख वर्ष या शायद इससे अधिक है तो शायद आप मुझे मूर्ख समझेंगे। लेकिन जब आपको यह पता चलेगा कि यह बात बीसवीं सदी के महानतम मनौवैज्ञानिकों में से एक कार्ल गुस्ताव जुंग के मुँह से निकली थी तो शायद आप इस बात ...
बातें दुनिया की......
Tag :
  October 7, 2009, 6:21 pm
आज गूगल इतना महत्वपूर्ण हो गया है कि इसके बिना इंटरनेट की कल्पना भी नहीं की जा सकती है। इस वेबसाइट के माध्यम से हर तरह की जानकारी मिलती है। आप गूगल पर जानकारी प्राप्त करने के लिए निम्नलिखित तरीकों का इस्तेमाल कर सकते हैं :1. पदबंध या अनेक शब्दों वालीखोज के लिए उद्धरण च...
बातें दुनिया की......
Tag :
  October 2, 2009, 4:43 pm
कुछदिनपहलेएकविज्ञापनमेंकिसीकोयहकहतेसुना : "जबरामूकाकाहैतोमेहनतक्यों? जबसॉरीहैतो ..."।मेरेदिमागमेंयहबातआईकिइसविज्ञापनकेआधारपरहरउसव्यक्तिकोमेहनतनहींकरनीचाहिएजिसकेघरमेंकोई 'रामूकाका' है।ऐसेविज्ञापनोंसेसमाजकोकैसासंदेशदियाजारहाहै? क्यामेहनतकरनासिर्फ...
बातें दुनिया की......
Tag :
  March 31, 2009, 11:39 am
प्राइवेटस्कूलकामेराअनुभवइतनाखराबहैकिमैंतोपूरेदेशमेंशिक्षाकीइनदुकानोंकोबंदकरवानाचाहूँगा।अंग्रेज़ीऔरसत्ताकेघालमेलसेउपजीइनदुकानोंकीघृणितहरकतोंकाअंदाज़ातोइनखबरोंसेहीलगजाताहै:http://khabar.josh18.com/news/10369/3http://khabar.ndtv.com/2009/02/28134202/Delhi-school-280209.htmlइनस्कूलोंमेंपढ़ाईकेस्तरकीसच्चा...
बातें दुनिया की......
Tag :
  March 26, 2009, 11:49 am
जे.एन.यू. के बारे में सुना था कि यहाँ लोग कुछ अलग तरह से सोचते हैं। यह जानकर अच्छा लगा था कि मैं ऐसी जगह आ गया हूँ जहाँ आधुनिक व मानवतावादी मूल्यों को महत्त्व दिया जाता है। मगर मेरी यह धारणा गलत निकली। यहाँ के अधिकतर छात्र जाति और धर्म के आधार पर बँटे हुए हैं। यह जातिवाद हो...
बातें दुनिया की......
Tag :
  July 3, 2008, 4:41 pm
यह ख़बर इक्कीसवीं सदी की है! इंग्लैंड के चर्च का एक पादरी-वर्ग चर्च में महिला बिशपों की नियुक्ति के लिए कानून बनाने का विरोध कर रहा है। जब इंग्लैंड जैसे विकसित देश में ऐसा हो सकता है, तो अन्य पिछड़े देशों के बारे में क्या कहा जाए?विरोध कर रहे पादरी-वर्ग का यह कहना है कि अगर ...
बातें दुनिया की......
Tag :
  July 1, 2008, 11:24 am
क्या आपने कभी यह सोचा है कि बचपन में दादी-नानी से सुनी गई कहानियाँ छोटे बच्चों के मन पर नकारात्मक प्रभाव भी डाल सकती हैं? ये कहानियाँ कल्पना की उड़ान-मात्र नहीं हैं। मैं यहाँ सिर्फ़ भारत के प्रसंग में बात नहीं कर रहा हूँ। इन कहानियों में पूरी मानवता का सच छिपा होता है। ...
बातें दुनिया की......
Tag :
  June 26, 2008, 2:28 pm
क्या आपने कभी यह सोचा है कि बचपन में दादी-नानी से सुनी गई कहानियाँ छोटे बच्चों के मन पर नकारात्मक प्रभाव भी डाल सकती हैं? ये कहानियाँ कल्पना की उड़ान-मात्र नहीं हैं। मैं यहाँ सिर्फ़ भारत के प्रसंग में बात नहीं कर रहा हूँ। इन कहानियों में पूरी मानवता का सच छिपा होता है। ...
बातें दुनिया की......
Tag :
  June 26, 2008, 2:28 pm
हिंदीऐसीमाँकीतरहहैजिसकेबच्चेउससेप्यारनहींकरतेहैं।यहएककड़वासचहै।फादरकामिलबुल्केजैसेहिंदी-प्रेमीनेहिंदीबोलनेवालोंकेबारेमेंकहाथाकिवेअपनीभाषासेउतनाप्यारनहींकरतेहैंजितनाप्यारअन्यभाषाबोलनेवालेअपनीभाषासेकरतेहैं।अधिकतरहिंदीभाषीऐसीसंतानकीतरहहोत...
बातें दुनिया की......
Tag :
  June 22, 2008, 9:47 pm
शीर्षककोपहलेस्पष्टकरदूँ।यहाँसोनेकीजंजीरकामतलबहै "सुख-सुविधाकेऐसेसाधनजोबंधनकीवजह बनजातेहैं"।जे.एन.यूमेंपढ़ाईकरतेसमयनारीवादकेकईरूपोंकोकरीबसेदेखनेऔरसमझनेकामौकामिला।ऐसीकईछात्राओंसेमुलाकातहुईजोसमाजमेंअपनीस्थितिसेसंतुष्टनहींहैं।मगरआजमैंएकऐसीप्र...
बातें दुनिया की......
Tag :
  June 19, 2008, 11:31 pm
अगलेजन्ममेंऔरतकेरूपमेंपैदाहोनेकीकल्पनासेहीमैंकांपउठताहूँ।हिंदीकेप्रसिद्धसाहित्यकारनागार्जुननेअगलेजन्ममेंऔरतहोनेकीइच्छाप्रकटकीथी।मगरमुझमेंइतनीहिम्मतनहींहै।औरतोंकोक्यानहींसहनापड़ताहै।आजभीउन्हेंपैदाहोनेसेपहलेपेटमेंहीमारदियाजाताहै।ऐसाकरने...
बातें दुनिया की......
Tag :
  June 14, 2008, 11:13 am
[ Prev Page ] [ Next Page ]

Share:
  हमारीवाणी.कॉम पर ब्लॉग पंजीकृत करने की विधि बहुत सरल हैं। इसके लिए सबसे पहले प्रष्ट के सबसे ऊपर दाईं ओर लिखे ...
  हमारीवाणी पर ब्लॉग-पोस्ट के प्रकाशन के लिए 'क्लिक कोड' ब्लॉग पर लगाना आवश्यक है। इसके लिए पहले लोगिन करें, लोगिन के उपरांत खुलने वाले प...
और सन्देश...
कुल ब्लॉग्स (3710) कुल पोस्ट (171500)